8 महीने का बच्चा

Question: 8 महीने मे क्या खिलाना है बेबी को डायट चार्ट बतां दो

1 Answers
सवाल
Answer: ८ महीने का बेबी को घर का बना सारा खाना दे सकते है. बिना नमक शक्कर गुड़ और शहद के. गाय या भेस का दूध १२ महीने पुरे होने तक न दे. सभी फ्रूट्स और शाकभाजी दे. आप घर में रोज जो भी बनाओ उसे दो. उसके लिए कोई अलग डाइट चार्ट फॉलो करने की जरुरत नहीं है.
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: 8 महीने के बेबी का डायट चार्ट बताये
उत्तर: हेलो डियर,,, आप बेबी को अपना दूध या फिर आप फॉर्मूला मिल पिला रही हो तो इसे देते रहें आप बेबी को भोजन में १: सूजी का हलवा २: मूंग दाल की खिचड़ी ३: रागी का हलवा ४: सब्जियों की खिचड़ी ५: सेवैया ६: गाजर का हलवा ७: सूजी का upma 8पिसे हुए ड्रायफ्रूट्स दूध में मिलाकर भी अपने बेबी को आप दे सकते हैं 9 ghar ka bana hua chapati, chawal dal,wibhin prakar ki sabjiya jo acche se paki ho,mausmi phal,dudh,egg,fish,fruit juice,narial paani,milk shake,fruit shake,etc.de sakti hai कोई भी फूड देने से पहले 3 दिन का नियम याद रखें इसका मतलब है आप बेबी को कोई भी फूड 3 दिन तक दे अगर बेबी को कोई भी प्रकार के रिएक्शन होने लगे तो भोजन को देना बंद कर दे दिया गया भोजन किसी भी प्रकार के रिएक्शन नहीं कर रहा है तो आप इसे आगे भी बेबी को दे सकते हैं|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 6 महिने का है डायट चार्ट बतां प्लेस
उत्तर: हेलो डियरसुबह के समय आप अपने शिशु को अपना दूध पिलाएं, क्योंकि इस समय शिशु के लिए स्तनपान सबसे अच्छा माना जाता है। इसलिए शिशु के उठते के साथ ही आप उन्हें स्तनपान कराएं। जब आप शिशु को मालिश के लिए ले जा रही हों यानि कि नहाने से पहले तब आप उन्हें दाल का पानी पीने के लिए दे सकती हैं। क्योंकि यह उनके लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। लेकिन, इस बात का ध्यान रहे कि शिशु को इस समय सिर्फ उबला हु दाल का पानी दिया जाना चाहिए, बिना तड़का लगा हुआ। नहाने के बाद आप अपने शिशु को अपना ही दूध पिलाएं, क्योंकि इस समय शिशु स्तनपान करते करते ही गहरी नींद में सो जाते हैं। क्योंकि, मालिश और नहाने के बाद बच्चे का बॉडी रिलैक्स हो जाता है। दोपहर के समय आप अपने शिशु को घर का बना हुआ ताज़ा जूस या सूप दे सकती हैं। क्योंकि, इस समय जूस देने से शिशु में जुकाम का खतरा नहीं रहता है। लेकिन, इस बात का जरूर ध्यान रखें कि आपअपने शिशु को घर का निकला हुआ ही जूस दें। क्योंकि, बाहरी या डिब्बाबंद जूस से संक्रमण होने का खतरा रहता है। शाम के समय आप अपने बच्चे को मूंग दाल की खिचड़ी दे सकती हैं, क्योंकि इससे शिशु का पेट भरा-भरा सा रहेगा, और साथ ही इसे पचने में भी आसानी होगी। रात में सोने से पहले कोशिश करें कि आप अपने बच्चे को सूजी की खीर या दलिया दे सकती हैं। क्योंकि, इससे शिशु का पेट तो भरा रहेगा ही साथ ही रात में वह बार-बार स्तनपान की डिमांड नहीं करेगा और वह आसानी से सोया रहेगा। क्योंकि, अक्सर बच्चे भूख के कारण ही रात में उठते हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्रैग्नैन्सी में कुछ डायट बतां दो खाना मे क्या लु और कैसे लू
उत्तर: हेलो डियर में आपकी गर्भावस्था के लिए डाइट चार्ट बना कर दे रही हूं उसके अनुसार भोजन करने से आपकी शरीर में पोषक तत्वों की कमी भी नहीं होगी और आपके बच्चे का संपूर्ण विकास होगा 1. नियमित रूप से 2 गिलास दूध पियें इसके अलावा अन्य dairy प्रोडक्ट्स भी लें। 2. मौसमी फल रोज खाएं। 3. एक बड़ा कटोरा सलाद रोज खाएं। 4. रोटी जरुर खाएं लेकिन सिर्फ आटे और बसं की। 5. विभिन्न प्रकार की दालों को रोज के आहार मे शामिल करें। उरद की दाल ना खाएं इससे गैस बनती है। अगर खाएं तो दिन मे खाएं। 6. फाइबर वाले आहार जैसे जई, अनार के बीज आदि खाए इससे कब्ज नही होगा। 7. रोज हरी और ताजी सब्जियां खाएं। 8. आयरन और कैल्शियम वाले आहार खुब लें। 9. अजिनोमोटो से बचें और जंक फूड ना खाएं । 10. ऐसा कोई भी भोजन बहुत ज्यादा ना खाएं जिससे गैस बनें। जैसे आलू, मैदे से बनी चीजे, चाय । 11. खुब पानी पीएं रोज 8 से 10 गिलास। इसके अलावा अन्य पेय पदार्थ भी लें जैसे जूस, छाछ, नारियल पानी आदि। 12. दही, मक्खन और सौंफ़ बीज अपने आहार मे शामिल करें इनसे आपको गैस और हार्ट burn की दिक्कत नही होगी। 13h. कैफीनयुक्त पेय से बचें जैसे कॉफ़ी। 14. रोज 2 बादाम भिगोकर खाएं। इसके अलावा अन्य सूखे मेवे जैसे अखरोट, किसमिस, अन्जीर, काजू, पिस्ता ये सब उचित मात्रा मे लें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें