17 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मम मेरे masudo मै बहुत sujan h kya kru plz btaeye

1 Answers
सवाल
Answer: हार्मोन में होने वाले चेंजेस की वजह से गर्भावस्था के दांतों और मसूड़ों के प्रॉब्लम हो जाती ,ऐसे समय में अपने दांतो का और मसूड़ों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है ,हमारी बॉडी में विटामिन सी और डी की कमी की वजह से भी मसूड़ों में swelling आने लगती है , गर्भावस्था के दौरान दांतों की देखभाल को नजरअंदाज किया तो आपके बच्चे का वजन सामान्य से कम रहने का जोखिम रहता है ,हारमोनल चेंजेस और दांतों की देखभाल ढंग से नहीं करने के कारण मसूड़े बहुत अधिक सेंसिटिव हो जाते हैं, कुछ बातों का ध्यान रखें जैसे कि अपने दांतो को दिन में दो बार फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट से ब्रश करें ,चीनी का सेवन से भोजन तक ही सीमित रखें ,कार्बोनेटेड पेय पदार्थों से दूर रहें फलों के जूस के बजाय फल खाने की कोशिश करें दांतो का जरूरी इलाज करा लें
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mujhe h bahut gum bleeding ho rahi hai . sujan bhi hai masudo me .. kya kru
उत्तर: हेलो गम मे सूजन और दर्द मुंह में होने वाले टाइप का फंगल इनफेक्शन है इससे से राहत पाने के लिए आप यह सब करें ब्रश करते समय हल्के हाथों से करे। ब्रश करने के बाद नमक पानी से माउथवॉश करें बबूल की छाल को पानी में उबालकर उस पानी से माउथवॉश कर सकते हैं। गम में लगाने के लिए आप इन सब चीजों का उपयोग कर सकते है जैसे लौंग का तेल लौंग एंटीऑक्सीडेंट होता है और सूजन कम करने की क्षमता होती है। सरसों के तेल में नमक मिलाकर गम पर लगाएं। मसूड़ों और दातों पर मसाज करें। इसे गम का दर्द और सूजन दोनों कम होता है और दांत भी सफेद हो जाते हैं।। एलोवेरा जेल से भी गम में मसाज करने पर गम मे फंगल इन्फेक्शन के कारण होने वाली सूजन और दर्द ठीक होता है।। एक गिलास गुनगुने पानी में एक चममच अदरक का रस और एक चम्मच नींबू का रस डालकर रात में सोने से पहले माउथवॉश करें। आराम मिलेगा टेक केयर
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam kuch dino से mere masudo me sujan aur unme se khoon nikl rha h kya kru plz help me
उत्तर: हेलो डियर मसूड़े की सूजन को दूर करने के लिए आप घरेलू उपाय अपनाएं ये सूजन को कम करने के लिए कुछ घरेलू टिप्स निम्न प्रकार से हैं जिन्हें अपनाकर आप अपने मसूड़ों के दर्द और सूजन को कम कर सकती हैं... 1.नमक के पानी से कुल्ला करने से मुंह में होने वाले संक्रमण से बचाव होता है जो मसूड़ों में सूजन आने का एक कारण है.. 2. लौंग में यूगेनोल होता है जिसमें एंटीऑक्सीडेंट तथा सूजन को दूर करने का गुण होता है जो सूजन से आराम दिलाने में बहुत प्रभावी होता है.. 3. आप बबूल की छाल को पानी में उबालकर माउथवॉश भी बना सकते हैं तुरंत राहत पाने के लिए दिन में दो से तीन बार इस घरेलू माउथवॉश से गरारे करें.. 4. कैस्टर ऑइल ko दर्द वाले भाग पर इसे लगाने से दर्द तथा सूजन से आराम मिलता है.. 5. मुंह के संक्रमण से बचाव के लिए अदरक एक प्राचीन उपचार hai.. 6. मसूड़ों की सूजन से आराम पाने के लिए प्रतिदिन सुबह नीबू के पानी से कुल्ला करें.. 7. एलोविरा एक हरफनमौला औषधि है जो मसूड़ों की सूजन को दूर करने, मसूड़ों से खून आने तथा मुंह के संक्रमण जैसी समस्याओं को दूर करने में सहायक होती है.. 8. सरसों के तेल में थोडा नमक मिलाएं तथा इस मिश्रण को मसूड़ों पर लगायें.. इस उपचार का बार बार उपयोग करने से आपको जल्द ही संक्रमण से छुटकारा मिल जाएगा..ok
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera masudo dard aur sujan h to hum kya kare
उत्तर: हेलो गम मे सूजन और दांत दर्द मुंह में होने वाले एक टाइप का फंगल इनफेक्शन है इससे से राहत पाने के लिए आप यह सब करें ब्रश करते समय हल्के हाथों से करे। ब्रश करने के बाद नमक पानी से माउथवॉश करें बबूल की छाल को पानी में उबालकर उस पानी से माउथवॉश कर सकते हैं। गम में लगाने के लिए आप इन सब चीजों का उपयोग कर सकते है जैसे लौंग का तेल लौंग एंटीऑक्सीडेंट होता है और सूजन कम करने की क्षमता होती है। सरसों के तेल में नमक मिलाकर गम पर लगाएं। मसूड़ों और दातों पर मसाज करें। इसे गम का दर्द और सूजन दोनों कम होता है और दांत भी सफेद हो जाते हैं।। एलोवेरा जेल से भी गम में मसाज करने पर गम मे फंगल इन्फेक्शन के कारण होने वाली सूजन और दर्द ठीक होता है।। एक गिलास गुनगुने पानी में एक चममच अदरक का रस और एक चम्मच नींबू का रस डालकर रात में सोने से पहले माउथवॉश करें। आराम मिलेगा टेक केयर
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: dono pair me sujan aa gya h kya kru
उत्तर: Changes in blood chemistry cause some fluid to shift into your tissues, and by the third trimester, the weight of your uterus puts so much pressure on your pelvic veins and the vena cava (the large vein on the right side of your body that carries blood from your legs and feet back up to your heart), that blood can pool, forcing fluid retention below the knees.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
Healofy Proud Daughter