17 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: ऐगर 5 मंथ मेन प्लेसंट लो लाइंग की वजह से ब्लीडिंग हो जाती है टु क्या मिस्कैरिय्ज हो ज़ात hai

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो Placenta एक ऐसा ऑर्गन है जो बच्चे को माता से ब्लड सप्लाई करता है और न्यूट्रीशन पहुंचाता है। इसकी पोजीशन यूट्रस में कहीं भी हो सकती है यह तो ऊपर छतरी के सामान रहेगा या आगे या पीछे या फिर कभी कभी किसी किसी केस में yeh नीचे की ओर भी अटैच हो जाता है। लो प्लेसेंटा होने की स्थिति में ज्यादातर माताओं को आराम करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि बच्चा जैसे-जैसे ग्रोथ करता है, उसका दबाव प्लेसेंटा पर पड़ता है और आपको कभी भी ब्लीडिंग स्पोटिंग होने की संभावना रहती है। इसलिए हमेशा माताओं को आराम करने की सलाह दी जाती है । इस केस में माताओं को ज्यादा झुक कर और ज्यादा देर खड़े रहकर काम नहीं करना चाहिए ज्यादा exertion वाले एक्सरसाइज और योगा और वाकिंग भी नहीं करनी चाहिए। लो प्लेसेंटा ज्यादातर स्कैन के द्वारा शुरुआती महीनों में ही पता चल जाता है यह प्रेगनेंसी के अंत अंत तक ठीक भी हो जाता है। क्योंकि हमारी यूटरस का साइज़ बढ़ता है और प्लेसेंटा नीचे से साइड की तरफ शिफ्ट हो जाता है। इसमें घबराने की कोई बात नहीं है इसमें आपको हमेशा नॉर्मल डिलीवरी अवॉइड करने की सलाह देते हैं क्यूकी प्लेसेंटा सर्विक्स को कवर करके रखता है और नॉर्मल डिलीवरी के केस में बच्चा पहले निकलना चाहिए उसके बाद प्लेसेंटा लेकिन लो प्लेसेंटा के केस में प्लेसेंटा पहले होता है और बच्चा बाद में इसलिए हमेशा सी सेक्शन करने की सलाह दी जाती है। डॉ इस समय पर इंटर कोर्स करने से भी हमेशा मना करते हैं पूरी प्रेगनेंसी में आपको अपना खास ध्यान रखना पड़ता है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: agar placenta लो लाइंग की वजह से ब्लीडिंग हो जायें टु क्या baby gir jata hai
उत्तर: हेलो डियर Placenta एक ऐसा ऑर्गन है जो बच्चे को माता से ब्लड सप्लाई करता है और न्यूट्रीशन पहुंचाता है। इसकी पोजीशन यूट्रस में कहीं भी हो सकती है यह तो ऊपर छतरी के सामान रहेगा या आगे या पीछे या फिर कभी कभी किसी किसी केस में yeh नीचे की ओर भी अटैच हो जाता है। लो प्लेसेंटा होने की स्थिति में ज्यादातर माताओं को आराम करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि बच्चा जैसे-जैसे ग्रोथ करता है, उसका दबाव प्लेसेंटा पर पड़ता है और आपको कभी भी ब्लीडिंग स्पोटिंग होने की संभावना रहती है। इसलिए हमेशा माताओं को आराम करने की सलाह दी जाती है । इस केस में माताओं को ज्यादा झुक कर और ज्यादा देर खड़े रहकर काम नहीं करना चाहिए ज्यादा exertion वाले एक्सरसाइज और योगा और वाकिंग भी नहीं करनी चाहिए। लो प्लेसेंटा ज्यादातर स्कैन के द्वारा शुरुआती महीनों में ही पता चल जाता है यह प्रेगनेंसी के अंत अंत तक ठीक भी हो जाता है। क्योंकि हमारी यूटरस का साइज़ बढ़ता है और प्लेसेंटा नीचे से साइड की तरफ शिफ्ट हो जाता है। इसमें घबराने की कोई बात नहीं है इसमें आपको हमेशा नॉर्मल डिलीवरी अवॉइड करने की सलाह देते हैं क्यूकी प्लेसेंटा सर्विक्स को कवर करके रखता है और नॉर्मल डिलीवरी के केस में बच्चा पहले निकलना चाहिए उसके बाद प्लेसेंटा लेकिन लो प्लेसेंटा के केस में प्लेसेंटा पहले होता है और बच्चा बाद में इसलिए हमेशा सी सेक्शन करने की सलाह दी जाती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: 3 मंथ मेन प्लेसनता लो लाइंग है टु क्या ये रिस्की hai
उत्तर: लो लाइन प्लैसेन्टा थोड़ा रिस्की होता है । यह इंटर्नल सर्वीक्स को ढक लेट है जीस्से ब्लीडिंग शुरू हो जाती है । इसलिए ऐसे टाइम में आपको अपन विशेष धयान राखन है । यदि आपका प्लेसेंटा लो लाइन है तो आपको बहुत ही ज्यादा सावधानी रखने की जरूरत है । इसके लिए सबसे पहले आपको प्रॉपर बेड रेस्ट करना है। चलना फिरना बिल्कुल बंद कर दीजिए । बेड पर लेटे सिरहाना नीचे रखिए और पैरों की तरफ थोड़ा ऊंचा कर लीजिए पैरों के नीचे तकिया लगा कर रखिए । जमीन पर बिल्कुल भी नहीं बैठना है । सीढ़ियां बिल्कुल भी नहीं चढ़ना उतरना है । खाने में हल्का भोजन लेना है ताकि आसानी से पच जाए । पानी खूब सारा पीछे 8 से 12 गिलास पानी दिन भर में । नारियल पानी टेंडर कोकोनट का प्रयोग ज्यादा कीजिए यदि पानी आपको अच्छा नहीं लगता है तो आप उसमें रूहअफजा या अन्य कुछ मिलाकर पीजिए जो आपको अच्छा लगता हो । अपने डॉक्टर अनुसार बताएं दवाइयों का सेवन कीजिए ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: लो लाइंग प्लेसंट मेन कॉम्प्लिकेशन तो नि hai
उत्तर: गर्भावस्था के 20 सप्ताह बीत जाने के बाद भी यदि plesinta नीचे ही ओर ही हो, तो इसे प्लेसेंटा प्रिविया कहा जाता है। इस स्तर पर भी, अपरा के ऊपर की ओर खिसक कर ग्रीवा से दूर होने की उम्मीद रहती है। इससे शिशु को श्रोणि के अंदर पर्याप्त स्थान मिल जाता है और वह प्राकृतिक प्रसव (योनि के जरिये) के द्वारा जन्म ले सकता है। अगर, गर्भावस्था के अंत में plesinta आपकी ग्रीवा को ढक लेती है, तो योनि के जरिये शिशु के बाहर निकलने का रास्ता अवरुद्ध हो जाएगा। हो सकता है अपरा ने आंशिक तौर पर ग्रीवा को ढका हो (पार्शियल प्लेसेंटा प्रिविया) या फिर पूरी तरह ही ग्रीवा को छिपा लिया हो (मेजर प्लेसेंटा प्रिविया)। इन दोनों ही स्थितियों में आपके शिशु का जन्म सीजेरियन ऑपरेशन के जरिये करने की जरुरत होगी। ...
»सभी उत्तरों को पढ़ें