1 महीने का बच्चा

Question: 1 मंथ ओल्ड बॉय रत्को रोता नही बट टशाk ta hai.or sota bilkul

2 Answers
सवाल
Answer: 2 महीने तक के बच्चों को दिन और रात का अंतर पता नहीं होता। 2 महीने के बाद बच्चे अंधेरा होने को रात और रोशनी को दिन समझते हैं। 6 महीने के बाद ही बच्चे दिन और रात का अंतर बता कर पाते हैं। तब वो रात में सोना शुरू कर देते हैं और दिन में जागना अभी आपका बेबी बहुत छोटा है पेसेंस रखे थे यह सब ठीक हो जाएगा
Answer: hello...dear आप अपना सवाल पूरा करे और क्लियर करे...तभी हम आप को सही जवाब दे सकेंगे...ok
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: डेली फ़ूड चार्ट फॉर 36 मंथ ओल्ड बेबी बॉय
उत्तर: हकीकत में इतने छोटे बच्चों के लिए कोई परफेक्ट डाइट नहीं होती है क्योंकि इतने छोटे बच्चों को सब कुछ चाहिए होता है उनका ग्रोइंग स्टेज होता है तो उनको हर एक विटामिंस मिनरल्स और सारे पोषक तत्वों की जरूरत होती है , आप अपने बच्चे को सब कुछ दीजिए जिसमें फल सब्जियां , कार्बोहाइड्रेट प्रोटीन सबकुछ include होना चाहिए , जब आपका बच्चा सुबह उठे उठे तो उसको नाश्ते में आप इडली डोसा chila पोहा उपमा और कुछ भी दे सकती हैं उसको रोज बदल बदल के नाश्ता दीजिए , 2 से 3 घंटे के बाद आप उसको कोई भी फ्रूट खिला दीजिए चाहे एप्पल ,बनाना खिला दीजिए या फिर कोई भी सीजनल फ्रूट्स , 3 घंटे के बाद उसको प्रॉपर लंच कराइए जिसमें रोटी सब्जी दाल , rice सब कुछ होना चाहिए , आप यह भी रोज बदल बदल के उसको दे सकती हैं , जब आपका बच्चा शाम को सोकर के उठे तो आप उसको अंडा दे सकती हैं , थोड़े से ड्राई फ्रूट दे दीजिए इस तरीके से उसका इवनिंग snack दीजिए , रात को अपने बच्चे को रोटी सब्जी दाल चावल खिचड़ी आप कुछ भी दे सकती हैं डिनर में , अपने बच्चे को कम से कम दिन में 6 से 7 बार छोटी-छोटी क्वांटिटी में कुछ-कुछ खिलाती रहिए ताकि उसका मेटाबॉलिक रेट बढ़े और चुस्त दुरुस्त तंदुरुस्त बना रहे बच्चे के लिए हेल्दी खाना बहुत जरूरी होता है तो ध्यान दीजिए कि आप उसको सारी नेचुरल चीजें खिलाएं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: वो रत्को सोत नही रोता रहटा हि पुरी रात 2/3 वो uthata हे
उत्तर: hello परेशान ना हो .छोटे बच्चों में ऐसा ही होता है. कभी-कभी कुछ समय उनके ऐसे निकलते हैं जिसमें वह कम सोते हैं और कभी वह खूब sote है .जब वह बहुत छोटे होते हैं तब उनके सोने का समय लंबा होता है लेकिन जैसे-जैसे वह bade hote hai to unकी एक्टिविटी बढ़ती है .यह अच्छी बात है . बच्चा अगर रात में बहुत sota nahi है तो आप कुछ चीजें अपने घर पर कोशिश कर सकती है. शाम को ६ से ७ सोने नहीं द। पार्क में या घर पे कुछ एक्टिविटी कराए।जाब बच्चे थकते है तब उनको नींद भी आती है। उसका कमरा ऐसी जगह हो जहां पर थोड़ा एकांत हो. jyada halaa nahi ho uske asapas.उसको बहुत ठंड भी ना लग रही हो या गर्मी ना लग रही हो .बच्चों को अगर थोड़ा भी आराम ना मिले तो उनकी नींद टूट भी जाती है .आप इन सब छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखें. उसे अच्छी नींद आए . आप ध्यान दें कि वह रात में आरामदायक कपड़े पहने आरामदायक जगह में सोए . उसका पेट भरा हो .उसे भूख ना लगी हो . उसे जानने की कोशिश करें कि उसे कहीं दर्द तो नहीं होता या कहीं गैस तो नहीं बन रही अगर गैस की समस्या है तो आप थोड़ी सी हींग को गर्म पानी में थोड़ा पकाएं और कुनकुना उसके नाभि के चारो और लगाएं.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेबी बॉय 9 मंथ ओल्ड है ..उसको पोट्टि करते टाइम बहुत ज्यादा दर्द होता है और बहुत रोता है ...बहुत टाइट पॉटी आती है
उत्तर: उसको कॉन्स्टिपेशन का प्रॉब्लम है . आप अपनी बेटे को पतला खाना खिलाए जैसे कि पतली खिचड़ी, पतला दलिया , ओट्स बच्चे को पानी पिलाएं आप कोकोनट वाटर भी दें ं ं ं सकती हैं ... अपना फीड दे बेबी को बार -बार ..... जवाब बच्चे की मालिश कर ती हैं तो उसके पेट पर क्लाकवाइज डायरेक्शन में हल्के हाथ से मालिश करें इसके अलावा उसके पैरों की एक्सरसाइज करते हुए पैरों से साइकिल चलाएं बच्चे को कुछ देर पेट के बल लेटा दें वैसे ही खेलने दिया करें . बच्चे के पीने के पानी में सौंफ अजवाइन और इलायची डालकर उबालें, बच्चे को यही पानी दे. बच्चे को फलों की प्यूरी बना कर दे जैसे कि सेब पपीता चीकू नाशपाती तरबूज ....
»सभी उत्तरों को पढ़ें