15 महीने का बच्चा

Question: बे बी के डायट प्लान के बारे में बताये

4 Answers
सवाल
Answer: हेलो ... माम आप अपने बेबी को काम से काम 2 साल तक ब्रेस्ट फीडिंग करायें .. पर अभी आप का बेबी 6 मंथ से जायदा का हो गया है ... आब आप बेबी को thos आहार दें .. और बेबी को खाना खेल खेल मे खिलाने की कोशिश करे . बेबी को खाना खिलाने मे थोड़ी मेहनत तों आप को करनी ही पड़ेगी .. आप बिल्कुल tenshon ना ले .. बेबी धीरे धीरे खाना ,खाना सीख जयगा ... आप आपने बेबी को खाने मे ...चpati की ऊपरी परत दाल या dhudh में भिगा कर खिला सकती है..ess k अलावा आप बेबी को डाइट mei सभी तरह क फ्रूट juice..सब्जी यो का सुप..डलियa..सuजी का उपमा या खीर..साबुड़ाने की खीर....डलिया मीठा या नमकीन रूप mei..Apple को उबल कर पक्कa kela ..मूँग दाल की खिचडी ओर oats भी दे सकती है..मगर थोड़ा थोड़a or बaर बaर...Ok take care your baby
Answer: अपने बच्चे को निम्न प्रकार से भोजन करा सकते हैं याद रखें बच्चे को हर दिन बदल कर खाना देना है और बच्चे के खाने में ताजे फल और हरी सब्जियों को जरूर शामिल करना है सबसे पहले सुबह उठकर उसे मां का दूध पिलाएं । फिर नाश्ते में उसे बेसन का चीला पोहा उपमा,ragi dosa , उबला हुआ आलू इत्यादि दे सकते हैं । 2 घंटे बाद आप बच्चे को फल खाने के लिए दीजिए जैसे तरबूज खरबूजा चीकू केला खीरा अंगूर,boil apple इत्यादि। फिर दोपहर के खाने में उसे दाल -चावल ,दाल-रोटी, कर्ड-राइस ,पतली-खिचड़ी। फिर 2 घंटे बाद उसे कुछ स्नैक्स दें जैसे बिस्किट,चीज ,हलवा। इसके 1 घंटे बाद आप उसे दूध अवश्य पिलाएं। रात के खाने में दूध रोटी सब्जियों के सूप दाल खिचड़ी इत्यादि खिला सकते हैं। बच्चे को हर रोज बदल-बदल कर खाना खिलाएं।
Answer: हेलो डिअर आपके बेबी को अब सभी तरह से तत्व का मिलना बहुत जरूरी होता है इस समय आपके बेबी को पोटैशियम मैग्नीशियम , कार्बोहाइट्रेड , प्रोटीन , मिनरल जैसे तत्वों की जरूरत होती है आप अपने बेबी को इस तरह दे deit दे सकते है , आप अपने बेबी को दलिया , खिचड़ी , सूजी का हलवा , बेसन का चीला जैसी चीजो को दे सकती ह, बेबी को दाल चावल , राजमा चावल , कड़ी चावल , मिक्स सब्जियां के साथ रायता दे सकती है, बेबी को सब्जी रोटी , मिक्स सब्जी रोटी , पनीर , पराठा , घी में लगी चपाती दे सकती हैं ,बेबी को सभी तरह के फल केला , संतरा , सेब , अंगूर रोज अलग अलग फल दे सकती हैं ।
Answer: इस समय सुबह बच्चे को आप नाश्ते में मूंग का चीला सूजी का दलिया ओट्स का चीला यह सब दे सकती हैं दोपहर के खाने में घी चावल दाल खिचड़ी पालक की खिचड़ी मिक्स वेज खिचड़ी यह दे सकते हैं रात के खाने में आप बच्चे को पतली पतली रोटी दाल चावल पतला दोसा पराठा यह सब दे सकते हैं दिन में बीच में बच्चे को फ्रेश फ्रूट या फ्रेश फ्रूट का जूस दें साथ में बच्चे के पानी पिलाने पर भी ध्यान दें उसे बीच बीच में पानी देते रहेआप बच्चे के खाने में थोड़ी मात्रा में दही छाछ पनीर यह सब भी दे सकते हैं
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: डायट के बारे में बताये
उत्तर: गर्भावस्था में चाय-कॉफी के बजाय दूध, फल और सब्जियां खूब लें। तला भुना खाने से बचें। Protein युक्त भोजन लें। और इस दौरान वजन कम करने की सोचें भी नहीं।गर्भ धारण के बाद भोजन 200-300 केलोरीज ही ज्यादा लेना अच्छा रहता है बहुत ठूंस – ठूंस कर नहीं खाना चाहिए।अगर आपका आहार संतुलित होगा , तो ही आपकी व बच्चे की सेहत सुरक्षित रहेगी इसीलिए आपके भोजन में Folic Acid, Calcium, Iron, Zinc, Protein, Phosphorus, Vitamin D और ओमेगा 3 Omega Fatty Acids का होना जरुरी होता है | इन तत्वों को लेने से खून में Hemoglobin बढ़ता है। और मिस कैरिज का डर नहीं रहता है।इन सब विटामिन के कुदरती स्रोत के रूप में हरी पत्तेदार सब्जियां, मटर, फूलगोभी, शिमला मिर्च, बादाम, काजू, मूंगफली, तरबूज, केला व संतरा खाएं। इनके अलावा पालक, चुकंदर, broccoli ,शलगम कद्दू राजमा दाले , दही, फैट फ्री मीट , अंडे का सफ़ेद भाग , दूध-मट्ठा, पनीर, सोयाबीन, बीन्स, और साबुत अनाज लें।अगर आप नॉन वेज भोजन खाती है तो आपको अपने Pregnancy Diet Chart में मांस, अंडा, मछली शामिल करना चाहिए क्योंकि ये सब प्रोटीन, आयरन और जिंक का अच्छा स्रोत है | प्रोटीन शरीर के अंगो के बनावट के लिए बहुत जरुरी होता है | सही प्रोटीन की मात्र एक ग्राम प्रोटीन प्रति किलो वजन के फॉर्मूले के हिसाब से होती है | मान लीजिये अगर किसी का वजन 50 किलो है तो उसको 50 ग्राम प्रोटीन सामान्य अवस्था में चाहिए ,गर्भावस्था के दौरान 15 ग्राम प्रतिदिन के हिसाब से और जोड़ लीजिये तो एक 50 किलो वजनी गर्भवती स्त्री को 65 ग्राम प्रोटीन प्रतिदिन लेना चाहिए |मकई, गेंहू और दूसरे साबुत अनाज से बना हुआ दलिया फाइबर से भरपूर होता है उसे अपने Pregnancy diet chart में अवश्य शामिल करें | चाहे तो पोपकोर्न और भुना हुआ मकई भी लें सकती है !Oat में फाइबर, आयरन ,विटामिन बी होता है इसलिए सुबह के नाश्ते में एक बाउल ओट्स लें।दूध, दही और पनीर और अन्य डेयरी उत्पाद प्रोटीन, कैल्शियम, फास्फोरस और विटामिन का अच्छा स्रोत होते है | इन्हें लेने से बच्चे की ग्रोथ में मदद मिलती है, उसकी हड्डियां व दांत मजबूत होते है। इनसे उसके दिल की मसल्स व नसों के विकास में अच्छी मदद मिलती है डेयरी उत्पाद लेने से उसकी मांसपेशिया बनने के अलावा किडनी के फंक्शन व दिल की धड़कन सामान्य बनी रहती है। इन्हें लेने से बच्चे का ब्रेन, नर्वस सिस्टम व आँखे बनने में सहायता मिलती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: डायट चार्ट के बारे में बताये
उत्तर: हेलो डियर, 11 वीक की प्रेगनेंसी मेके दौरान आपको अधिक कैलोरी के अलावा ऐसे भोजन करने की जरूरत होती है जिस में प्रोटीन, कैल्शियम की मात्रा अधिक हो | नाश्ते से पहले -चार बादाम या 10 किसमिस पानी में भिगोए हुए आप ले सकते हैं, नाश्ते में -वेजिटेबल पराठा ,सिंपल पराठा ,चपाती, इडली डोसा , पोहा ,पनीर पराठा, etc. ले सकती हैं नाश्ता हैवी करने से आपको दिन भर के लिए ऊर्जा मिलती रहेगी| 11:00 बजे के आसपास नाश्ता और लंच के बीच- में आप कोई भी दो फल या मौसमी फ्रूट ले सकती हैं| 1:00 बजे के आसपास लंच में -आप एक कटोरी चावल, एक कटोरी दाल, एक कटोरी सलाद ,एक कटोरी दही ,एक कटोरी मिक्स , तीन चपाती ,चिकन, मछली अंडे ,आदि शामिल कर सकती हैं| 4:00 बजे का स्नैक्स में -स्प्राउट्स, फ्रूट सलाद, ड्राई फ्रूट्स, केला शेक ,एप्पल ,शेक वेजिटेबल सेंडविच, इडली वेजिटेबल सूप, चिकन सूप आदि ले सकती हैं| शाम 7:00 बजे के आसपास evening snacks me -वेजिटेबल सूप, या कोई भी हल्का सूप ले सकती हैं| रात 8:00 रात 9:00 के डिनर -में चपाती, चावल, दाल ,सब्जी ,सलाद, दही छाछ ,आदि ले सकती हैं | रात को सोने से पहले -ड्राई फ्रूट्स वाला दूध प्लेन दूध केसर दूध या चाहे तो आप छाछ भी भी ले सकती है. फूड चार्ट में रेगुलर परिवर्तन कर अपनी पसंद की चीजें ऐड कर ले सकती हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: muje डायट के बारे में बताये
उत्तर: hello प्रेगनेंसी में बच्चे का ज्यादातर डेवलपमेंट रात में होता है जिससे मां के शरीर की कैलरी सोते हुए ज्यादा खर्च होती है जिसके कारण सुबह भूख बहुत ज्यादा लगती है आप सुबह के नाश्ते में एक ग्लास दूध के साथ थोड़े ड्राई फ्रूट्स मिक्स वेज का पोहा उपमा चपाती या पराठा ओट्स या कॉर्न फ्लेक्स एक अंडे का आमलेट 1 कटोरी दही इनमें से आपको जो भी खाने का मन हो आप खा सकते हैं नाश्ते और दोपहर के खाने के बीच में फल खाएं दोपहर के खाने में आप दाल चावल रोटी सब्जी रायता सलाद और दही खाएं दोपहर के खाने के बाद आप शाम का नाश्ता जरूर करें इसमें आप भुना चना बेसन का चीला स्प्राउट्स उबला अंडा और कोई भी दो फल ले सकती हैं रात के खाने में आप पराठा रोटी सलाद सब्जी दाल ताजा बना चावल और कोई भी डेजर्ट ले सकती हैं या फिर दूध ले सकती हैं यह आपका बैलेंस डाइट है इसे लेते हुए आप अपने प्रेगनेंसी आगे बढ़ाएं
»सभी उत्तरों को पढ़ें