3 साल का बच्चा

Question: बेबी ज़िद बहुत कर्ता है और हाइपर एक्टिव हो रहा है .

1 Answers
सवाल
Answer: आप चिंता ना करें बच्चे का बिहेवियर हमेशा बदलते रहता है बच्चे के जन्म के बाद से ही वह सीखने की प्रक्रिया चालू हो जाता हैl और माना जाता है कि परिवार ही बच्चे का पहला पाठशाला होता है जिसमें मां पहली guru होती है जो बच्चे को संस्कार देती हैंl बच्चों में अच्छे संस्कार विकसित करने के लिए मां-बाप की भूमिका बहुत ज्यादा अहम होती है अगर माता-पिता संस्कारी होते हैं तब जाकर ही बच्चे संस्कारी होते हैं क्योंकि आजकल के माहौल में बच्चे को संस्कार दे पाना बहुत ज्यादा मुश्किल होता है बच्चे बड़े होकर वही है वार करता है जो बचपन में सब सीखा रहता है धोखा दिमाग एक कोरे कागज की तरह होता है जो पूरा खाली होता है जिसमें हम चाहे कुछ भी लिख सकते हैं वही व्यवहार बहुत बड़े होकर करता हैl बच्चे को हम नहीं सिखा सकते बल्कि जो माता-पिता करते हैं उसको देखकर बच्चे स्वयं सीख जाते हैं उसी की तरह व्यवहार करने लगते हैं इसलिए हमें बच्चे के सामने कभी भी बुरा बर्ताव नहीं करना चाहिएl अगर बच्चा कुछ गलत करता है तो उसे मारने या डरने के बजाए उसे प्यार से समझाना चाहिए ताकि बच्चा प्यार से सीखेंl सभी बच्चा एक जैसे नहीं होता हर कोई का स्टाइल अलग अलग होता है इसलिए हम बच्चे को किसी भी चीज के लिए फोर्स नहीं कर सकते कोई ज्यादा शरारती होता है तो कोई थोड़ा कम होता है उन्हें अपने माहौल में डालने के लिए थोड़ी मेहनत करनी पड़ती हैl बच्चे की मन की बात जानने का सबसे सरल तरीका यह होता है कि आप उससे बातचीत करें और उसे क्या चाहिए क्या नहीं चाहिए जाने की कोशिश करें अगर आप बच्चों से लगातार बात करते हैं तो वह आपके मन की बात शेयर करने से नहीं डरेंगे वह हर बात आपसे शेयर करेंगे और बच्चों को ज्यादा किसी चीज के लिए नियंत्रण भी ना रखें क्योंकि ऐसे में बच्चे बहुत ज्यादा चिड़चिड़ा और jiddiबन जाते हैंl
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बेबी 2 मंथ 29 डेज का है वो भूख लगने पर ज़िद बहुत कर्ता है दूध dene lagti हूँ
उत्तर: ...आप बच्चे को हर 2 घंटे में दूध पिलाई है और उन्हें अच्छे से डकार दिलवाई है आप उनकी जरूरत ke हिसाब से भी दूध पिला सकते हैं..उनके susu potty पर अच्छे से नजर रखें अगर बच्चा अच्छे से सुसु पॉटी कर रहा है अगर बच्चा पीली मस्टर्ड कलर की पोटी कर रहा है और उनका सुसु बहुत ज्यादा गाढ़ा नहीं है और अच्छे से पास हो रहा है तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है.. मतलब कि उन्हें apke दूध से अच्छे से न्यूट्रिशन मिल रहा है...सभी बच्चे भूक लगने पर परेशान हो जाते हैं ...
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बच्चा बहुत शरारती है 1 मिनट के नहीं बैठता lउसको गुस्सा बहुत आता है और वह बच्चों को बहुत मारता पीटता है बाल पकड़ता हl और वह हाइपर एक्टिव है उसको ठीक करने के लिए क्या करूं
उत्तर: abhi chhota h isliye sararat karta h use mare nahi pyar s smjhaiye jab wo bada hoga to smjh jayega use colour de nd drawing copy usse drawing karne ko bole use ache kamo m bsy rkhe to uska mind divert hoga aur wo km sararate karega
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera बेक पेन कर रहा है ky ya लेबर पेन है par ऊपर me निचे कमर पेन नही हो रहा है और मेरा बेबी bhi एक्टिव है
उत्तर: अभी आपको ३९ वीक हुए है. में आपको लेबर पेन के लक्षण बताती हु वो ध्यान से पढ़े और जरुरत पड़ने पर अस्पताल जाये. लेबर पेन की शुरुआत पिरियड में होने दर्द जैसे हो सकती है ।ये दर्द के साथ आपको पेट में दर्द कमर दर्द सर दर्द , उलटी पोटी जाने की इच्छा हो सकती है ।जब दर्द समय के साथ लगातार बढ़े और असनीय होने लगे, जब लगातार और थोड़ी-थोड़ी देर पर गर्भ की पेशियों में खिंचाव महसूस हो, इसके अलावा जब यह अधिक समय तक और तीव्रता से हो, आपके कमर के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत हो, तो यह प्रसव का ही एक लक्षण है।अगर रक्त स्त्राव की समस्या हो रही हो बुखार सिरदर्द या पेट में दर्द हो। तो आप तुरन्त डॉक्टर से सलाह ले. गर्भावस्था के दौरान आपका शिशु एक तरल पदार्थ से भरी थैली से घिरा रहता है जिसे एमनीओटिक सैक कहते हैं। आपके प्रसव के शुरुवात में संकुचन के साथ-साथ आपके एमनीओटिक सैक की झिल्ली टूट जाएगी। इसके द्वारा आपके शरीर से एक रंगहीन स्त्राव निकलेगा जिसे वाटर ब्रेक कहते हैं. वाटर ब्रेक होने पर लेडी को बॉडी से कुछ गिरने जैसा फील होता है जहाँ किसी तरल पदार्थ की धारा के गिरने जैसा महसूस होता है।गर्भवती महिला को कहा जाता है की अगर उनका वाटर ब्रेक हो गया है तो उन्हें शिशु का जन्म २४ घंटे के अंदर ही कर देना चाहिए। वाटर ब्रेक के साथ आप को दर्द हो भी सकता है या कई बार नहीं भी होता. पर वाटर ब्रेक हो जाये तो डॉ क पास तुरंत जाये.
»सभी उत्तरों को पढ़ें