2 महीने का बच्चा

Question: बेबी को जन्म से 3 महीना तक क्या क्या injection देना चाहिए

2 Answers
सवाल
Answer: बच्चे के जन्म के समय दिए जाने वाला टीका BCG हेपेटाइटिस बी का टीका- पहली खुराक पोलियो वैक्सीन - पहली खुराक ६ सप्ताह और डेढ़ माह की उम्र में दिए जाने वाला टीका DPT - पहली खुराक पोलियो का टिका- पहली खुराक हेपेटाइटिस बी का टीका - दूसरी खुराक हेमोफिलस इन्फ्लुएंजा बी - पहली खुराक रोटावायरस- पहली खुराक न्यूमोकोकल कन्जुगेटेड वैक्सीन- पहली खुराक १० सप्ताह और ढाई माह की उम्र में दिए जाने वाला टीका DPT - दूसरी खुराक पोलियो का टिका- दूसरी खुराक न्यूमोकोकल कन्जुगेटेड वैक्सीन- दूसरी खुराक हेमोफिलस इन्फ्लुएंजा बी - दूसरी खुराक रोटावायरस- दूसरी खुराक १४ सप्ताह की उम्र में दिए जाने वाला टीका DPT - तीसरी खुराक पोलियो का टिका- तीसरी खुराक मुँह में लिया जाने वाला पोलियो वैक्सीन- दूसरी खुराक हेमोफिलस इन्फ्लुएंजा बी - तीसरी खुराक न्यूमोकोकल कन्जुगेटेड वैक्सीन- तीसरी खुराक रोटावायरस- तीसरी खुराक ६ महीने की उम्र में दिए जाने वाला टीका मुँह में लिया जाने वाला पोलियो वैक्सीन - तीसरी खुराक हेपेटाइटिस बी का टीका - तीसरी खुराक इन्फ्लुएंजा 1 इन्फ्लुएंजा 2 इन्फ्लुएंजा 3 ९ महीने की उम्र में दिए जाने वाला टीका खसरे का टीका मुँह में लिया जाने वाला पोलियो वैक्सीन - चौथी खुराक १०-१२ महीने की उम्र में दिए जाने वाला टीका टाइफाइड कन्जुगेटेड वैक्सीन  - पहली खुराक हेपेटाइटिस - पहली खुराक थोड़े समय बाद हेपेटाइटिस - दूसरी खुराक १ वर्ष की उम्र में दिए जाने वाला टीका कॉलरा जापानीज इन्सेफेलाइटिस - पहली खुराक जापानीज इन्सेफेलाइटिस - दूसरी खुराक जापानीज इन्सेफेलाइटिस - तीसरी खुराक वेरिसेला- पहली खुराक १५-१८ महीने की उम्र में दिए जाने वाला टीका एम एम आर (मम्प्स, खसरा, रूबेला) - पहली खुराक वेरिसेला- दूसरी खुराक DPT- पहला बूस्टर डोज़ हेमोफिलस इन्फ्लुएंजा बी - बूस्टर डोज़ न्यूमोकोकल कन्जुगेटेड वैक्सीन- बूस्टर डोज़ मुँह में लिया जाने वाला पोलियो वैक्सीन- पांचवा खुराक टाइफाइड कन्जुगेटेड वैक्सीन (तसव २) - दूसरी खुराक टाइफाइड1 टाइफाइड 2 २ वर्ष की उम्र में दिए जाने वाला टीका मेनिंगोकोकल ५ वर्ष की उम्र में दिए जाने वाला टीका एम एम आर (मम्प्स, खसरा, रूबेला) - दूसरी खुराक Dpt- दूसरा बूस्टर डोज़ मुँह में लिया जाने वाला पोलियो वैक्सीन- छठा खुराक १० वर्ष की उम्र में दिए जाने वाला टीका टीडी (टेटनस, डिप्थीरिया)
Answer: Infection से लड़ने के लिए बच्चे के शरीर को खुद सक्षम बनना होगा। विभिन प्रकार के टिके जो बच्चे को लगाए जाते हैं उन्ही के द्वारा बच्चे का शरीर अनेक प्रकार के बीमारियोँ से लड़ने में और उन बीमारियोँ  से बच्चे को बचने में माहिर बनता है। इन टीकों के मदद से बच्चे का शरीर जिंदगी भर बीमारियोँ से लड़ने में सक्षम बनता है। यूँ कहें की ये टिके ही बच्चे को सारी उम्र बीमारी से बचाते हैं। 15-18 महीने की उम्र में दिए जाने वाला टीका एम एम आर (मम्प्स, खसरा, रूबेला) - पहली खुराक वेरिसेला- दूसरी खुराक D.P.T.- पहला बूस्टर डोज़ हेमोफिलस इन्फ्लुएंजा बी (HIB) - बूस्टर डोज़ न्यूमोकोकल कन्जुगेटेड वैक्सीन- बूस्टर डोज़ मुँह में लिया जाने वाला पोलियो वैक्सीन- पांचवा खुराक टाइफाइड कन्जुगेटेड वैक्सीन (TCV 2) - दूसरी खुराक टाइफाइड I टाइफाइड II
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: बेबी को खाने मे क्या देना चाहिए
उत्तर: hello dear अब आपका बेबी 6 महीने का हो गया है अब आपको सॉलिड फूड शुरु करना चाहिये। अगर बेबी को हर 2 घन्टे मे आप कुछ कुछ खाने को देती हैं तो बेबी का वजन भी बढ़ेगा और बेबी का विकास भी होगा। आप दिन में 3 बार भोजन दे सकते सकती हैं जिसे अच्छी तरह से पकाया जाना चाहिए। 8-- बजे - बीएम / एफएम सुबह 9 बजे रावा इडली , ओट्स रागी डोसा, सूजी खीर, केला, दलिया, पेन्केक सेब प्यूरी (कोई भी एक) सुबह 11बजे-- बीएम / एफएम 12बजे-- मसला हुआ केला, दही, 1बजे-- Khichdi, आलू और गाजर Khichdi, दही चावल, रागी दलिया, veggie के साथ suji upma 3बजे-- बीएम / एफएम 5बजे--कोई नरम फल, दही, उबले हुए आलू, सेब प्युरी 7बजे-- उत्तम, सूजी खीर, चावल के साथ मूंग दाल, कच्चे केले का दलिया, जौ अनाज, गेहूं अनाज दलिया। अन्य खाद्य पदार्थ जो आप 6 महीने के लिए खिला सकती हैं। रागी या बाजरा दलिया, रागी खीर, दाल पानी, चावल का पानी, ऐप्पल और केला, ऐप्पल प्यूरी, चिकू प्यूरी, कद्दू प्यूरी, गाजर प्यूरी, ब्रोकोली प्यूरी, आलू मैश, मीठे आलू प्यूरी, आलू और गाजर के साथ दलिया दलिया सूप, वेगी खिची, एवोकैडो प्यूरी, सब्जियों के सूप, मखाना खीर पपीता प्यूरी, तरबूज, ऐप्पल खीर, सूजी और केले दलिया। आदि।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: डायबिटीज में बच्चे को जन्म देना चाहिए नहीं
उत्तर: हेलो डियर अगर आप को शुगर है तो ऐसे में आप अपने बेबी को जन्म दे सकती हैं लेकिन ऐसे में आपको बहुत ही परहेज करने की जरूरत है नहीं तो ऐसे में आपके होने वाले बेबी को प्रॉब्लम हो सकती हैं , इसमें अपने खान पान का विशेष धयान रखने की भी ज़रूरत होती है ऐसे में आप डॉक्टर से पूछ कर शुगर की मेडिसिन खाते रहना चाहिए नही तो इससे आपको प्रॉब्लम हो सकती हैं और आपके जरिए होने वाले बेबी को भी प्रॉब्लम हो सकती है , आपको कोई भी ज़्यादा मीठि चीज़ें ना ले शुगर में भूख बहुत लगाती है आप समय समय पर खाना या कुछ ना कुछ खाती जरुर रहें ,ऐसे में जामुन का फल खाएं ये शुगर में फायदा करता हैं, रोज सुबह शाम टहल ने ज़रूर जायें क्युकी शुगर में टहल ना बहुत ज़रूरी है लेकिन आप अगर कारन वस नही टहल पाती है तो आप घर में ही इधर उधड़ टहलना चाहिए आपको जैस डॉक्टर बताते है आप वैसे ही करे ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: बेबी को सेरेलक कब से देना चाहिए ?
उत्तर: हेलों आप का बेबी 4 महीने का है आप बेबी को सेरेलैक 6 महीने पूरे होने के बाद ही दे 6 महीने हाॅन तक बच्चे के लिए माँ का ढूध या फॉरम्यूला मिल्क ही आहार होता है माँ के ढूध से ही बच्चे को सारे न्यूट्रिशन मिल जाते है आप अपना खांना हेल्थी और संतुलित रखें ताकि बच्चे को पूरा न्यूट्रिशन मिल सकें माँ का ढूध बच्चे का इम्यूनिटी पावर बढ़ाता है और बच्चे को बीमारी से दूर रखता है आप 6 महीने से पहले अपने बच्चे को कुछ ना खिलायें
»सभी उत्तरों को पढ़ें