6 months old baby

Question: बेबी की कफ़ कसें दुर kare

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर मौसम ठण्डा होने के कारण बेबी को सर्दी बहुत जल्द लग जाती है क्यू कि छोटे बच्चों मे रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है जिस के कारण उनको खासी कफ़ बुखार बहुत जल्द हो जाता है इस से बचने के लिए आप कुछ घरेलू उपाय कर सकती है ~ 1) बेबी को गरम कपड़े पहना कर रखें | 2) कमरे को गरम रखें | 3) बेबी को 20 मिनट की धूप अवश्य दें | 4) ठण्डी हवाओं से बचा कर रखें | 5) घी मे सेन्धा नमक मिक्स कर के बेबी के सीने पीठ और पसलियों मे लगायें | 6)सरसों के तेल मे 1 चम्मच अजवाइन लहसुन की कलियां डाल कर गरम करें ठण्डा होने पर छान कर रख लें और इस ऑयल से बेबी की मालिश करें |
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: खुन की कमी कसें दुर kre
उत्तर: गाजर-चुकंदर का जूस व सलाद खून की कमी को पूरा करते हैं। रोजाना गाजर और आधा गिलास चुकन्दर का रस मिलाकर पीएं। इसका सेवन करने से महिला के शरीर में खून की कमी की समस्या ठीक हो जाती है। वह गाजर के मुरब्बे का सेवन भी कर सकती हैं। -खून की कमी होने पर टमाटर का सेवन ज्यादा करें। आप टमाटर का जूस भी ले सकते हैं। यह जूस धीरे-धीरे खून की कमी को पूरा कर देते हैं। - खूजर भी गर्भवती महिला के लिए बहुत फायदेमंद है। खून की कमी पूरी करने के लिए 10 से 12 खजूर के साथ एक गिलास गर्म दूध पीएं। इससे महिला के शरीर में ताक्त आती हैं और खून भी बनता है।  -गर्भावस्था के दौरान गुड का सेवन करने से भी खून की कमी पूरी हो जाती है। -रोजाना एक आंवले के मुरब्बे का सेवन करना चाहिए तथा उसके ऊपर से एक गिलास दूध का सेवन करना चाहिए।  -बथुआ के साग को खाने से शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ता है जिससे शरीर में नया खून बनने लगता है।  आयरन युक्त खाद्य पदार्थ  प्रसव से पूर्व पौष्टिक आहार खाएं, जिसमें प्रोटीन, आयरन व विटामिन भरपूर मात्रा में हो। स्वस्थ आहार लें जैसे- लाल मांस, पॉल्ट्री प्रोडक्ट्स व आयरन युक्त खाद्य पदार्थ जैसे- सेम, मसूर, टोफू, किशमिश, खजूर, अंजीर, खुबानी, छिलका युक्त आलू, ब्रोकली, गांठ गोभी, हरी पत्तेदार सब्जियां, साबुत अनाज, ब्रेड, अखरोट-मूंगफली और बीज, गुड़, दलिया, जौ और आयरन फोर्टीफाइड अनाज आदि। यह मांसाहारी महिलाओं के लिए अच्छी बात है कि मानव शरीर शाकाहारी खाद्य पदार्थों में मिलने वाले आयरन की अपेक्षा मांसाहारी खाद्य पदार्थों से मिलने वाले आयरन को आसानी से अवशोषित कर लेता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: बेबी की छाती में कफ़ जम गया ह कसें निकालें
उत्तर: डिअर बेबी की नाक बंद रहने का कारण ज़ुकाम, ओर सर्दी हो सकती है नाक बंद होने की वजह से ओर खासी की वजह से बेबी को सास लेने में भी प्रॉब्लम होती है देर आओ इसके लिए कुछ घरेलू उपाय कर सकती है 1 शिशु की नाक में दिन में कई बार नेसल ड्राप डालने से उसे बंद नाक की समस्या से आराम मिलता है। इसका इस्तेमाल आप तब तक करें जब तक की शिशु की बंद नाक की समस्या पूरी तरह से समाप्त न हो जाये। 2 आओ बच्चे की अजवाइन की पोटली बनाकर सिकाई कीजिये ,सती कपड़े में अजवाइन को ग्राम करके बाँध ले और बच्चे की सिलाई कीजिये 3 डिअर आप बेबी को गरम पानी का भाप देने का एक बहुत ही आसान तरीका है की बाथरूम में गरम पानी का टैप खोल दीजिये, कुछ देर में जब स्नानघर भाप से भर जाये तो अपने बेबी को गोदी में लेके 15 मिनट बाथरूम के गुजारें। इतना समय काफी हो 4 आप बेबी को एक चुटकी केसर को गुन्गुने पानी में दलके उसे बेबी के छाती और पीठ व् सर में लगाए इससे बेबी का बलगम रिलीफ होगा 5 कुछ दिनों के लिए जब तक की आप के बेबी की सर्दी खांसी और बंद नाक की समस्या पूरी तरह ठीक न हो जाये, बेबी के कमरे की खड़कियोँ और दरवाजों को बंद रखें। 6आप बेबी को एक चम्मच दूध में एक चुटकी हल्दी डेल फिर ठंडा होने पर बच्चे को पिलाये
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: कब्ज़ की समस्या कं कसें दुर करे
उत्तर: हेलो डियर आपको कब्ज की प्रॉब्लम है तो आपको अपने खाने में भूत दयान देना चाहिए रोज सन्तुलित भोजन करें फ़ऐबेर युक्त चीज़ें खाए अमरुद या फ़िर गाजर ऑर फ़ुलगोभि में फ़ऐबेर होता है maeda वाली चीज़ें बिल्कुल उपयोग ना करें मेग्गी पास्ता बिस्किट ये सब चीज़ें ना खाए पानी का जादा से जादा उपयोग करें दीन भर में 8 से 10 ग्लास पानी पीए सुबह कुन्कुने पानी में नींबू का रस डालकर पीएं व्यायाम करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: बुखार आने पर बेबी की केयर कसें kare
उत्तर: हेलो . डियर .. आप घबराये नही बेबी को बुखार होने पर बेबी के सर पर गीली पट्टी रखें .. और मुलायम कपडे ही पहनाये और यदि आपका शिशु सो रहा हो तो आप जरुरत पड़ने पर हल्का ब्लैंकेट भी डाल सकते हो...पैरो को मसाज करने से आपके शरीर का तापमान भी नियंत्रित रहता है अपने शिशु के पैरो के निचले भाग पर गर्म जैतून के तेल से मालिश करे... कम की उम्र के शिशुओ के लिए तुलसी लाभदायक साबित हो सकती है। इससे शरीर का तापमान भी कम होता है। यह नेचुरल एंटीबायोटिक और इम्यून बूस्टर का काम करती है। एक मुट्ठी तुलसी को 2 कप पानी में उबाले। उबालने के बाद उसमे थोड़ी सी शक्कर डाले और अपने शिशु को दिन में कुछ समय जरूर दे..or bukhar phir bhi kam na ho to docter ki salah se peracitamol de sakti hai...ok...dear take care your baby...
»सभी उत्तरों को पढ़ें