34 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: बार बार टॉयलेट आना 33 week

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में हार्मोन चेंज होने की वजह से बार बार टॉयलेट होता है , ऐसे बेबी का आकार बड़ा होने की वजह से गर्भाश्यय बढ़ जाता है और जिसकी वजह से टॉयलेट वाली थैली में अधिक भार लगने लगने लगता हैं ऐसे में थोड़ा सा भी टॉयलेट आने पर बहुत अधिक दाब पड़ता है , और बार बार टॉयलेट होता हैं और ऐसे आप यही उपाय कर सकती है , रात को सोने के 2 घंटे पहले पानी या लिक्विड चीजे न ले , चाय , काफी , सॉफ्ट ड्रिंक आ प्रयोग न करे , और जब भी बाथरूम लगे टॉयलेट करे और पेट खाली कर दे जिससे आपको जल्दी ही आराम मिल जाएगा ।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: प्रेगनेंसी के आखरी महीने mai बार बार टॉयलेट आना नॉर्मल है क्या ??
उत्तर: हेलो डियर प्रेग्नेन्सी में बार बार यूरिन का आना भूत नॉर्मल है क्युकी पेट में बच्चे के बढ़ने की वजह से मूत्राशय में दबाव पड़ता है इस वजह से बार बार यूरिन की प्रॉब्लम होती है ऑर जैस जैसे डिलेवरी का दिन पास आटे जता है यह प्रॉब्लम ऑर जादा बढ़ती है ऑर यह कोई प्रॉब्लम नही है इस्से आपको या आपके बेबी को कोई प्रॉब्लम नही होगी मगर नीन्द ज़रूर खरब होटी है इसके लिए आप रात के टाइम पानी ना पीएं तो आपको रात में कम बाथरूम जाना पड़ेगा ऑर आपकी नीन्द भि पुरी हो पाएगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: सफेद पानी आना टॉयलेट की जगह दर्द
उत्तर: हेलो डियर ल्‍यूकोरिया का इलाज आप बहुत ही आसानी से कर सकती है इसके इलाज केलिए आपको आमला का इस्तेमाल करना है क्योंकि आमले में विटामिन सी होता है जो शरीर को ताकत और शक्ति प्रदान करता है. साथ ही यह वेजाइना यानी योनि के बैक्‍टीरिया का भी खात्‍मा करता है जो यह ल्‍यूकोरिया की परेशानी पैदा करता है. इसलिये आपको नियमित रूप से अपने आहार और नाश्ते में आमले का सेवन करना चाहिये. ये आपकी सफेद पानी की समस्या को मिटाता है. यदि आपको बहुत ज्यादा सफ़ेद पानी आ रहा है और शरीर में बहुत ही ज्यादा कमजोरी महसूस हो रही है तो आप बरगद के पेड़ की छाल का इस्तेमाल करें क्योंकि बरगद के पेड़ की छाल रस इसमें एंटीसेप्‍टिक गुण होते हैं. आपको केवल पानी में बरगद के पेड़ की छाल को उबाल कर छान लेना होगा. फिर इससे अपनी योनि को दिन में 3 बार धोएं. इससे आपकी योनि साफ, सूखी और स्‍वस्‍थ बनी रहेगी. ये सबसे ल्‍यूकोरिया का इलाज सबसे बेहतर है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: बार बार पेशाब आना उपाय
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी के दौरान ह्यूमन क्रोनिओनिक गोनैडोट्रोपिन हार्मोन के स्त्राव के कारण शरीर में ब्लड फ्लो काफी बढ़ जाता है। इसके कारण किडनी में भी ब्लड की मात्रा ज्यादा पहुंचती है जिसे किडनी प्यूरीफाई करता है और ख़राब टोक्सिन को बाहर निकालता है। इस वजह से भी ऐसा महसूस होता है जैसे तेज पेशाब लगी हो।जैसे-जैसे शिशु गर्भाशय में बड़ा होता जाता है वैसे ही ब्लैडर पर दवाब बढ़ता जाता है। जिस वजह से आपको बार बार ऐसा महसूस होता है कि आपको तेज पेशाब लगी है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें