4 महीने का बच्चा

Question: बच्चे का वजन 5 के.जी. सही हें क्या

3 Answers
सवाल
Answer: 4 महीने के बच्चे का वजन लगभग 6 किलो के आसपास होना चाहिए। आप अपने बच्चे की प्रतिदिन दो तीन बार मालिश अवश्य करें इससे बच्चे के शरीर में ब्लड सरकुलेशन अच्छे से होगा और वह एक्टिव रहेगा और उसे भूल भी अच्छे से लगेगी और बच्चे को हर डेढ़ से 2 घंटे में अपना दूध अवश्य पिलाएं और शुरू के 6 महीने तक बच्चे को सिर्फ अपना दूध पिलाएं स्तनपान कराएं क्योंकि मां के दूध में सभी प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जिससे बच्चे को विभिन्न प्रकार की बीमारियां नहीं होती है . माँ का दूध बच्चे की भूख मिटाता है, उसके शरीर की पानी की आवश्यकता को पूरी करता है, हर प्रकार के बीमारी से बचाता है, और वो सारे पोषक तत्त्व प्रदान करता है जो बच्चे को कुपोषण से बचाने के लिए और अच्छे शारारिक विकास के लिए जरुरी है। माँ का दूध बच्चे के मस्तिष्क के सही विकास के लिए भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बच्चे की साफ सफाई पर भी विशेष ध्यान दें उसे बहुत देर तक दिलाना रहने दे तुरंत उसके कपड़े चेंज करें बच्चे के कपड़ों को डिटेल में दूल्हे और उसे तेज धूप में सुखाएं बच्चे को प्रतिदिन स्नान कराएं इन सब चीजों को यदि आप फॉलो करेंगे तो आपका बच्चा स्वस्थ रहेगा
Answer: हेलो डियर , आपका बेबी अगर 2 mahine ka है तो इसके हिसाब से आपके बेबी का वेट का 5 किलो ठीक है आपका बेबी स्वस्थ है
  • avatar
    Neha Tiwari1056 days ago

    वो 4 मंथ 7 days kahe

  • avatar
    Neha Tiwari1056 days ago

    वो 4 मंथ 7 days kahe

  • avatar
    Neha Tiwari1056 days ago

    वो 4 मंथ 7 days kahe

Answer: thankyou
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: क्या मेर्रे बच्चे का वजन सही है
उत्तर: फोर्थ मंथ में आपके लिटिल वन का लगभग weight 4 ounces होगा और उसकी लंबाई लगभग 6 इंच होगी .अब बेबी की हार्टबीट आप सुन सकते हैं doppler इंस्ट्रूमेंट के जरिए. जब आप प्रेगनेंट होती हैं तब यह बहुत जरूरी है कि आप अपना आहार पौष्टिक है. इससे आपको और आपके होने वाले बच्चे को पौष्टिक तत्व मिलेंगे. प्रेग्नेंसी में कुछ अधिक कैलोरी की जरूरत होती है. प्रेगनेंसी में सही आहार का मतलब है -आप क्या खा रही हैं ?ना कि कितना खा रही हैं? जंक फूड का सेवन ज्यादा ना करें. isme कैलोरी ज्यादा है पोष्टिक तत्व कम या ना के बराबर होते हैं. फोलिक एसिड आपको 1 ट्रिमस्टर में ही चालू करदेना चहिये। फ़ोलिक एसिड का होने वाले बच्चे की ग्रोथ में बहुत बड़ा योगदान रहता है। फ़ोलिक एसिड विटामिन है ।विटमिन B 9। ये आपको खाने पिने में फॉलेट नाम से मिलेगा । बाबी के इस्पीनलकार्ड के चारो और पॉलिब पेरत को सही तरीके से बंद करता है।वाहा गप नहीं आने देता। मा के लिए भी बहुत जरुरी है ।विटमिन B 12 के साथ मिलकर हेअल्थी रेड सेल्स बाँटा है। folic acit ke liye ye khaye. ब्रोकली ऐस्पैरागस खट्टे फल हरी पत्तों वाली सब्जियां ओकरा फूलगोभी भुट्टा गाजर 1) दूध और डेयरी के ले सकती हैं. मलाई वाला दूध दही छाछ घर का पनीर इन सब में कैल्शियम प्रोटीन और विटामिन बी12 बहुत होता है. 2) सभी अनाज ,दालें . इन सब में प्रोटीन बहुत अच्छा होता है. 3) पेय पदार्थों में आप पानी bahut piyen.खास करके आप साफ पानी joki फ़िल्टर किया हुआ. ताजे फलों का रस ले. डिब्बाबंद juis nahi le. इसमें शक्कर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है. 4) वसा और तेल . वेजिटेबल ऑयल का वसा एक अच्छा स्रोत है क्योंकि इसमें संतृप्त वसा अधिक होता है. इन सभी चीजों के साथ आप डॉक्टर की सलाह मानें .जो भी टेस्ट किए हैं दिए गए हैं उन्हें करवाएं समय पर. दवाइयां समय पर ले और नींद पूरी. खाना जो भी खाएं अच्छे से चबाकर खाएं. प्रेगनेंसी के समय मिल्क प्रोडक्ट calcium और प्रोटीन बहुत जरुरी होता है। डेयरी प्रोडक्ट प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए सबसे बेहतर होता है। जैसे अंडा, चीज, दूध, दही और पनीर मां और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है। कैल्शियम भी पर्याप्त मात्रा में होती है जो फीटस के बोन टिशू के विकास के लिए आवश्यक होता है। प्रोटीन की मात्रा काम होने से बच्चे की ग्रोथ में बहुत अंतर आता है। प्रोटीन जरूरी पौशाक तत्वों में से है। बच्चे का विकास और एम्निओटिक टिशू का कार्य प्रोटीन पर निर्भर करता है। गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन की kaam मात्रा बच्चे के sahi विकास में बाधा पहुंचा सकती है और इससे शिशु का वजन भी कम हो सकता है। यह बच्चे के बढ़ते मस्तिष्क पर नकारात्मक प्रभाव भी डाल सकता है।  बस एक मुट्ठी नट्स प्रोटीन की अपनी दैनिक आवश्यकताओं को पूरा कर सकता है। नट्स जैसे बादाम, मूंगफली, काजू, पिस्ता, अखरोट और नारियल में उच्च मात्रा में प्रोटीन की मात्रा होती है जो बच्चे के विकास के लिए जरूरी होता है। बीज जैसे कद्दू, तिल और सूरजमुखी में भी प्रोटीन पर्याप्त मात्रा में होती है।  इनमें से कई ऐसे हैं जिनमें प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक होती है जैसे- मूंग, काले और फवा बिन्स, मसूर, मटर और चना. ओट्स में प्रोटीन बहुत उच्च मात्रा में पाई जाती है .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मज़े जुड़वा हुया हें मरें बेटी का वजन 4 के.जी. का हें मज़े क्या karna चाहिए ?
उत्तर: हेलो डियर , आपके बेबी का आपके प्रोफाइल के हिसाब से अभी अगर 4 किलो है तो कम वेट है , आपका बेबी अगर 6 महीने का पूरा हो गया है तो बेबी को अच्छे से deit दे , मालिश करे इससे आपके बेबी का वेट ठीक हो जायेगा , आप अपने बेबी का वेट बढ़ाने के लिए या स्वस्थ करना चाहती है तो अगर बेबी को जुखाम न हो तो आप दूध में केले को मैश करके खिला सकती है इससे बेबी बहुत जल्दी हेल्दी होता है आप बेबी को खाने में बहुत तरह की चीज दे सकती है जैसे :- सूबह में उठने के बाद दूध के साथ बादाम का पेस्ट डालकर बेबी को पीला सकती है । सूबह के नास्ते में आप बेबी को फार्मूला दूध , मसूद , डोसा , khichdi, दाल का पानी दूध के साथ रोटी , बॉयल्ड एप्पल , फल , फ्रेश जूस , रागी दूध के साथ दे सकती हैं । दोफार के खाने में - दाल रोटि, दाल चावल ,उपमा , सूजी का हलवा , खिचड़ी दे सकती है । शाम में बेबी को मिल्क या ड्राई फ्रूट्स का हलवा बना के दे ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 9 मंथ का है उसका वजन 7.75 के.जी. है क्या सही वजन है
उत्तर: हेलो डियर आप की बेबी का वजन और नौवें महीने में 9 के जी के आसपास होना चाहिए , आपके बेबी का वजन थोड़ा सा कम है आप उस के दैत्य पर ध्यान दीजिए , हेल्दी डाइट से उनकी healthyजरूर बनेगी अपना और अपने बेबी का ख्याल रखे .
»सभी उत्तरों को पढ़ें