2 महीने का बच्चा

Question: बच्चे का पेट अच्छे से भरे इसके लिए मां को क्या खाना चाहिए

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर बहुत-बहुत बधाई:) टेंशन नहीं ले मैं आपके साथ कुछ ऐसे टिप्स शेयर करती हूं जिसे आप का दूध अच्छा बनने लगेगा स्तनपान कराते समय अपने स्तन को दबाएं। इससे भी कम दूध उत्पादन की निराशा से छुटकारा मिलेगा। इससे एक बार स्तनपान कराने पर स्तन पूरी से तरह से खाली हो जाता है। बच्चे के साथ सोने से स्तनपान का समय बढ़ता है। आप जितना ज्यादा स्तनपान कराएंगे, शरीर में दूध का निर्माण उतना ही ज्यादा होगा। दलिया खाने दूध की मात्रा में वृद्धि होती है कच्‍चा लहसुन खाने से अच्‍छा होगा कि आप उसे मीट, करी, सब्‍जी या दाल में डाल कर पका कर खाएं। अगर आप लहसुन को रोजाना खाना शुरु करेंगी तो यह आपको जरुर फायदा पहुंचाएगा। जीरा और सौंफ का पानी पीने से भी दूध अच्छा बढ़ता आप अपनी डाइट में हरी सब्जियां शामिल करें और साथ में मसूर दाल जो कि ऑरेंज वाली होती है ज्यादा से ज्यादा खाएं और साथ में दूध दिन में दो बार जरूर ले
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: अगर मां के दूध से बच्चे का पेट नहीं भरे तो बच्चे को कौन सा दूध पिलाना चाहिए इसके लिए कोई उपाय बताएं
उत्तर: अगर मां के दूध से बच्चे का पेट नहीं भर जाए तब उसे फॉर्मूला मिल्क देना शुरू कर सकती हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्रेगनेट लडकी को क्या चीज़ खाना चाहिए जीस्से बच्चे का अच्छे से विकास हो सकें
उत्तर: आपको गर्भावस्था के दौरान कुछ और अधिक कैलोरी की भी ज़रूरत होती है। गर्भावस्था में सही आहार का मतलब है-आप क्या खा रही हैं, न की कितना खा रही हैं। जंक फूड का सेवन सीमित मात्रा में करें, क्योंकि इसमें केवल कैलोरी ज्यादा होती है और पोषक तत्व कम या न के बराबर होते हैं।  प्रत्येक दिन विविध भोजन खाएं: दूध और डेयरी उत्पाद: मलाईरहित (स्किम्ड) दूध, दही, छाछ, पनीर। इन खाद्य पदार्थों में कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिन बी -12 की उच्च मात्रा होती है। अगर आपको लैक्टोज असहिष्णुता है, या फिर दूध और दूध से बने उत्पाद नहीं पचते, तो अपने खाने के बारे में डॉक्टर से बात करें।  अनाज, साबुत व पूर्ण अनाज, दाल और मेवे:अगर आप मांस नहीं खाती हैं, तो ये सब प्रोटीन के अच्छे स्रोत हैं। शाकाहारीयों को प्रोटीन के लिए प्रतिदिन 45 ग्राम मेवे और 2/3 कप फलियों की आवश्यकता होती है। एक अंडा, 14 ग्राम मेवे या ¼ कप फलियां लगभग 28 ग्राम मांस, मुर्गी या मछली के बराबर मानी जाती हैं।  सब्जियां और फल: ये विटामिन, खनिज और फाइबर प्रदान करते हैं। मांस, मछली और मुर्गी: ये सब केंद्रित प्रोटीन प्रदान करते हैं। पेय पदार्थ: खूब सारे पेय पदार्थों का सेवन करें, खासकर पानी और ताजा फलों के रस का। सुनिश्चित करें कि आप साफ उबला हुआ या फ़िल्टर किया पानी ही पीएं। घर से बाहर जाते समय अपना पानी साथ लेकर जाएं या फिर प्रतिष्ठित ब्रांड का बोतल बंद पानी ही पीएं। अधिकांश रोग जलजनित विषाणुओं की वजह से ही होते हैं। डिब्बाबंद जूस का सेवन कम ही करें, क्योंकि इनमें बहुत अधिक चीनी होती है ।  वसा और तेल : घी, मक्खन. नारियल के दूध और तेल में संतृप्त वसा (सैचुरेटेड फैट) की उच्च मात्रा होती है, जो की अधिक गुणकारी नहीं होती। वनस्पति घी में ट्रांस फैट (वसा) अधिक होती है, अत: वे संतृप्त वसा की तरह ही शरीर के लिए अच्छी नहीं हैं। वनस्पति तेल (वेजिटेबल तेल) वसा का एक बेहतर स्त्रोत है, क्योंकि इसमें असंतृप्त वसा अधिक होती है।  समुद्री मछली और समुद्री नमक या आयोडीन युक्त नमक के साथ-साथ डेयरी उत्पाद आयोडीन के अच्छे स्त्रोत हैं। अपने गर्भस्थ शिशु के विकास के लिए आपको अपने आहार में पर्याप्त मात्रा में आयोडीन शामिल करने की आवश्यकता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: बच्चे को पिलाने के लिए दूध अच्छे से नहीं बन रहा है इसके लिए क्या करें
उत्तर: अगर आपको अपने बच्चे को दूध पिलाने के लिए दूध अच्छे से नहीं बन रहा है तो आप दूध बढ़ाने के लिए निम्न उपाय अपना सकती है - आप मूँग की दाल मे घी डालकर खाएं और 1 स्पून मेथी दाने, 1 स्पून जीरा गरम पानी के साथ सुबह शाम खाएं इससे मिल्क खुब होता है। सफेद जीरा, सौंफ तथा मिश्री तीनों का अलग-अलग चूर्ण बनाकर समान मात्रा में मिलाकर रख लें। इसे एक चम्मच की मात्रा में दूध के साथ दिन में तीन बार देने से दूध में अधिक वृद्धि होती है। लगभग 125 ग्राम जीरा सेंककर 125 ग्राम पिसी हुई मिश्री मिला लें। इसको 1 चम्मच भर रोज सुबह और शाम को सेवन करें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: बच्चे के पेट के बढ़ने के लिए क्या खाना चाहिए बच्चे का पेट बच्चे का वजन कैसे बनना चाहिए
उत्तर: बच्चा 6 महीने का हो जाए उसके बाद आप बच्चे को ठोस आहार दे सकती हैं अभी आप अपना दूध और 2 घंटे में बच्चे को पिलाया और बच्चे की तीन बार दिन में कम से कम मालिश करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें