5 महीने का बच्चा

Question: बच्चा अगर माँ का ढुध ना पियें तो क्या करें

3 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर 6 महीने तक तो माँ का दूध ही पिलाना चाहिए क्युकी बेबी के लिए वही सबसे अच्छा माना जता है आप बेबी को सक करना सिखऐ बेबी सक करेगा तो उसका पेट भरेगा ऑर वो फीड करना सरु कर देगा फ़िर भी यदि किसी वज्ह से फीड नही करता है तो डॉक्टर से सलाह लेकर बेबी मिल्क प्रोडक्ट दे सकती है
Answer: हेलो डियर 6 महीने तक तो माँ का दूध ही पिलाना चाहिए क्युकी बेबी के लिए वही सबसे अच्छा माना जता है आप बेबी को सक करना सिखऐ बेबी सक करेगा तो उसका पेट भरेगा ऑर वो फीड करना सरु कर देगा फ़िर भी यदि किसी वज्ह से फीड नही करता है तो डॉक्टर से सलाह लेकर बेबी मिल्क प्रोडक्ट दे सकती है
Answer: हेलो डियर 6 महीने तक तो माँ का दूध ही पिलाना चाहिए क्युकी बेबी के लिए वही सबसे अच्छा माना जता है आप बेबी को सक करना सिखऐ बेबी सक करेगा तो उसका पेट भरेगा ऑर वो फीड करना सरु कर देगा फ़िर भी यदि किसी वज्ह से फीड नही करता है तो डॉक्टर से सलाह लेकर बेबी मिल्क प्रोडक्ट दे सकती है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हेलो अगर बेबी के कॉन मे माँ का ढुध गया तो क्या इन्फेक्शन होता है
उत्तर: जि हाँ ..Baby को हमेशा बैठ कर ही फीड कराये .. इससे उनको गैस नही बनेगी. सोते हुय फीड कराने से दूध का बेह के कान में जाने का चान्स रहता है जिससे इन्फेक्शन हो सकता है . इस्लीई बेबी को हमेशा बेठ कर ही फीड कराए..
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: अगर माँ को ढुध ना आयें तो तीन महीने के बच्चे को दूध कसें पिलये
उत्तर: अगर आपके बेबी का वज़न नही बढ़ रहा है मतलब बेबी को इतना दूध नही मिल रहा . शायद आपको दूध काम आ रहा है , आप बेबी को फॉर्म्यूला भि दि सकती है , या अपने खाने में ये सब शामिल करे , दूध बढ़ेगा . मेथी के बीज सौंफ सौंफ भी स्तन दूध की आपूर्ति बढ़ाने का एक अन्य पारंपरिक उपाय है लहसुन लहसुन स्तन दूध आपूर्ति को बढ़ाने में भी सहायक माना गया है हरी पत्तेदार सब्जियां हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, मेथी, सरसों का साग और बथुआ आदि  जीरा दूध की आपूर्ति बढ़ाने के साथ-साथ माना जाता है कि जीरा पाचन क्रिया में सुधार और कब्ज, अम्लता (एसिडिटी) और पेट में फुलाव से राहत देता है लौकी व तोरी जैसी सब्जियां पारंपरिक तौर पर माना जाता है कि लौकी, टिंडा और तोरी जैसी एक ही वर्ग की सब्जियां स्तन दूध की आपूर्ति सुधारने में मदद करती हैं। तिल के बीज, जई और दलिया तुलसी- तुलसी स्तन दूध उत्पादन बढ़ाने में सहायक है मेवे माना जाता है कि बादाम और काजू स्तन दूध के उत्पादन को बढ़ावा देते हैं. स्तनपान के दौरान पम्पिंग सेशन से स्तन में दूध की मात्रा बढ़ती है। दूध की आखिरी बूंद के बाद करीब 5 बार स्तन को पंप करें। स्तन से ज्यादा दूध की मांग करने पर शरीर को ज्यादा दूध उत्पादन का संदेश जाता है। स्तनपान कराते समय स्तन को बदलें: जब भी स्तनपान कराएं तो स्तन को बराबर बदलें। इससे शरीर में दूध उत्पादन की मांग बढ़ेगी। साथ ही इससे आपका बच्चा भी आराम से स्तनपान कर सकेगा। दरअसल इससे स्तन खाली होता है और ज्यादा दूध का उत्पादन होता है। एक बार स्तनपान कराते समय कम से कम दो से तीन बार स्तन बदलें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: अगर बच्चा जादा रोयें तो क्या करें
उत्तर: बेबी के पास अपनी बात कहने या समझाने के लिए रोने के सिवाय कोई साधन ही नहीं होता उसकी भूख, अकेलापन, ठंड लगना, थकान व… बेचैनी जताने का तरीका यही है . आप समझें की बेबी को क्या परेशानियां है , और समाधान करने की कोशिश करे इतने छोटे बच्चों को पेट दर्द की शिकायत , ठंड लगना गर्मी लगना डायपर का साफ ना होना reshess होना कपड़ों का टाइट होना नए कपड़ों से खुजली होना इन सब वजह से भी छोटे बच्चे रेसलर्स नजर आ सकते हैं आप ध्यान दीजिए कि हो सकता है इन सब में से कोई एक कारण हो जैसे बच्चा uneasy फील कर रहा है नींद पूरी ना हो पाने या पूरी तरह से पेट ना भर पाने से भी बच्चे ऐसा बिहेव करते हैं आप बच्चे की समस्या को समझने का प्रयास कीजिए और समाधान कीजिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: अगर मोवमेंट ना हो तो क्या करें
उत्तर: हेलो डियर, वैसे ज्यादातर बच्चे की हलचल आपकी गर्भावस्था के सप्ताह 16 और 25 के बीच शुरू होती है। यदि यह आपकी पहली गर्भावस्था है,तो हो सकता है कि आपको हलचल 25 या 26 वीक तक महसूस हो। शुरु में आपको बहुत हल्की सी हलचल महसूस होगी। लेकिन आपके दूसरे और तीसरे तृमेस्तेर्स मे आपको मूवमेंट्स स्ट्रांग महसूस होने लगेंगे।, और आप अपने बच्चे के किक्स, जब्स, महसूस करने में सक्षम हो जाएंगी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें