13 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: बचे की हेयर ग्रोथ के लाइए मुझे क्या छीजें जयाद खाना chahiye

1 Answers
सवाल
Answer: hello dear हर माँ को लगता है जब उसका बेबी हो तब वह गोरा aur बाल अच्छे हो और हेअल्थी हो। मैं जानती हूँ आपको भी आज काल वहि लगता होगा। लेकिन सोर्री।। प्रेगनेंसी में आप बच्चे को हेअल्थी तो बना सकते हो।। पर प्रेग्नन्सी में गोरा या उसके बालों के लिये नहीं केर सकते।। गर्भावस्था के दौरान कोई भी भोजन ,कोई व्यायाम नहीं कर सकता है। यह अनुवांशिक है और माता-पिता पर निर्भर करता है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुझे बेबी की अच्छी ग्रोथ के लाइए क्या क्या खाना chahiye
उत्तर: आपको पूरी प्रेगनेंसी के दरमियान हेल्दी खाना बहुत जरूरी है| जैसे कि फाइबर वाले फूड, ताजे फल, और ताजे फलों के जूस, नारियल पानी, काजू बादाम किशमिश| फाइबर वाला खाना यानी सारी हरी सब्जियां ब्रोकली बीट गाजर टमाटर इत्यादि| दिन में ज्यादा से ज्यादा पानी पिए और अपने आप को हाइड्रेटेड रखें| दो से तीन गिलास दूध पिए| हो सके उतना घर का बनाया ताजा खाना ही खाएं| बाहर का खाना ना खाएं| जंक फूड ना खाएं|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे क्या क्या खाना छैये बचे की achi ग्रोथ के
उत्तर: hello! गर्भावस्था में Vishesh postic Aahar की जरूरत होती है जंक फूड का सेवन सीमित मात्रा में करें, क्योंकि इसमें केवल कैलोरी ज्यादा होती है और पोषक तत्व कम या न के बराबर होते हैं।  प्रत्येक दिन विविध भोजन खाएं: दूध और डेयरी उत्पाद: मलाईरहित (स्किम्ड) दूध, दही, छाछ, पनीर। इन खाद्य पदार्थों में कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिन बी -12 की उच्च मात्रा होती है। अगर आपको लैक्टोज असहिष्णुता है, या फिर दूध और दूध से बने उत्पाद नहीं पचते, तो अपने खाने के बारे में डॉक्टर से बात करें।  अनाज, साबुत व पूर्ण अनाज, दाल और मेवे:अगर आप मांस नहीं खाती हैं, तो ये सब प्रोटीन के अच्छे स्रोत हैं। शाकाहारीयों को प्रोटीन के लिए प्रतिदिन 45 ग्राम मेवे और 2/3 कप फलियों की आवश्यकता होती है। एक अंडा, 14 ग्राम मेवे या ¼ कप फलियां लगभग 28 ग्राम मांस, मुर्गी या मछली के बराबर मानी जाती हैं।  सब्जियां और फल: ये विटामिन, खनिज और फाइबर प्रदान करते हैं। मांस, मछली और मुर्गी: ये सब केंद्रित प्रोटीन प्रदान करते हैं। पेय पदार्थ: खूब सारे पेय पदार्थों का सेवन करें, खासकर पानी और ताजा फलों के रस का। सुनिश्चित करें कि आप साफ उबला हुआ या फ़िल्टर किया पानी ही पीएं। घर से बाहर जाते समय अपना पानी साथ लेकर जाएं या फिर प्रतिष्ठित ब्रांड का बोतल बंद पानी ही पीएं। अधिकांश रोग जलजनित विषाणुओं की वजह से ही होते हैं। डिब्बाबंद जूस का सेवन कम ही करें, क्योंकि इनमें बहुत अधिक चीनी होती है ।  वसा और तेल : घी, मक्खन. नारियल के दूध और तेल में संतृप्त वसा (सैचुरेटेड फैट) की उच्च मात्रा होती है, जो की अधिक गुणकारी नहीं होती। वनस्पति घी में ट्रांस फैट (वसा) अधिक होती है, अत: वे संतृप्त वसा की तरह ही शरीर के लिए अच्छी नहीं हैं। वनस्पति तेल (वेजिटेबल तेल) वसा का एक बेहतर स्त्रोत है, क्योंकि इसमें असंतृप्त वसा अधिक होती है।  समुद्री मछली और समुद्री नमक या आयोडीन युक्त नमक के साथ-साथ डेयरी उत्पाद आयोडीन के अच्छे स्त्रोत हैं। अपने गर्भस्थ शिशु के विकास के लिए आपको अपने आहार में पर्याप्त मात्रा में आयोडीन शामिल करने की आवश्यकता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेयर ग्रोथ के लाइए क्या करें
उत्तर: कई शिशुओं के सिर पर जन्म के बाद पपड़ी जमने जैसी समस्या होती है, जिसके कारण उनका सिर साफ़ नहीं रहता है, कई बार इस कारण भी बच्चे के बालों की ग्रोथ अच्छे से नहीं हो पाती है, ऐसे में इस समस्या से बचने के लिए और अपने बच्चे के सिर पर बाल उगाने के लिए आपको सिर को अच्छे से साफ़ रखना चाहिए। बच्चों के सिर में मसाज करने से उनके मस्तिष्क में रक्त संचार अच्छे से होने लगता है, जिससे खोपड़ी को भी पोषण मिलता है, और स्कैल्प को पोषण मिलने से आपके बच्चे के सिर में धीरे धीरे बाल भी आने शुरू हो जाते है, इसके लिए आप देसी घी का भी इस्तेमाल कर सकती है, और मसाज करने से बच्चे को मानसिक रूप से मजबूत व् बुद्धिमान होने में मदद मिलती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें