7 महीने का बच्चा

Question: फॉर्मूला मिल्क किसे कहते हैं

1 Answers
सवाल
Answer: हेलों . ये आपको किसी भी मेडिकल स्टोर में मिल जाएगा ..फार्मूला मिल्क उन्हीं मिल्क से बनता है जिसे हम उपयोग करते है.. कोई भी दूध को सुखाकर उसके प्रोटीन को पाउडर फॉर्म में लाना और उसे ब्रेस्ट मिल्क के जैसा बनाना ही फार्मूला मिल्क होता है।यह तीन प्रकार के होते हैं। पहला गाय के दूध से बना हुआ फार्मूला मिल्क इसमें गाय के दूध के प्रोटीन को सुखाकर पाउडर के फॉर्म पर लाया जाता है और ब्रेस्ट के दूध जैसा बनाते हैं दूसरा है सोया बेस्ट फार्मूला मिल्क। जिन बच्चों को गाय के दूध के लैक्टोज से एलर्जी होती है उनके लिए सोया मिल्क का फार्मूला में अच्छा रहता है. तीसरा फार्मूला मिल्क है हाइड्रोलाइज्ड फॉर्मूला मिल्क जो बच्चे गाय या सोया बेस्ट फार्मूला मिल्क को डाइजेस्ट नहीं कर पाते उन बच्चों को यह फार्मूला मिल्क दिया जाता है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: एपीड्यूरल डिलिवरी किसे कहते हैं
उत्तर: लेबर के बारे में सोचने भर से ही शरीर में सिहरन पैदा हो जाती है । हर माँ जो लेबर पेन से होकर गुजरती हैं वो यही मानती है की ये सबसे बड़ा और तीव्र दर्द होता है लेकिन ये एक नयी ज़िन्दगी भी आपको देता है । यही कारण है की अब ज्यादा से ज्यादा मॉम epidural anaesthesia का इस्तेमाल करने लगी हैं ताकि वो लेबर पेन के उस असहनीय दर्द से बच सकें । लेकिन epidural प्रोसेस से जुड़े कई मिथक आज भी मौजूद हैं जिनके बारे में बात करना आज के संदर्भ में और ज्यादा जरूरी हो गया है । इसी सिलसिले में indusparent ने गुरुग्राम के डब्लू-हॉस्पिटल के क्लीनिकल डायरेक्टर और एक जाने माने स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ.रागिनी अग्रवाल से बात की और epidural work से सामान्य सवालों के जवाब जानने की कोशिश की । "शिशु का अपनी माँ गोद में होना जिसे कोई दर्द न हो रहा हो और जो पूरी तरह से अपने होश में हो, ये दवाइयों की खासियत है। । लेबर पेन को सबसे तेज़ दर्द के रूप में जाना जाता है।  हमारे हॉस्पिटल में इस दर्द को कम करने के लिए epidural की low dose देने की policy है । " #1 Epidural काम कैसे करता है। आपने ये तो सुना ही होगा की लेबर पेन कम करने में epidural का बहुत बड़ा हाथ होता है लेकिन इसे इस्तेमाल करने से पहले इसके बारे में जानना बहुत जरुरी है । वो दिन अब गुजर गए जब "एक बहुत बड़ा नीडल आपके स्पाइन में इंजेक्ट किया जाता था"। आज के टाइम में एक छोटा सा catheter आपके lower बेक में डाला जाता है और दर्द दूर करने वाली दवाई आपके lower body में इसके द्वारा डाली जाती है। "anaesthetist एक पतली सी catheter को epidural space में डालते हैं (स्पाइनल कॉर्ड के आसपास का क्षेत्र) जिसके द्वारा दवाई आपके शरीर में डाल दी जाती है । episiotomy हो जाने के बाद इसे निकाल दिया जाता है या फिर इसे 24-78 घंटों तक ऐसे ही लगा रहने दिया जा सकता है अगर डिलीवरी cesarean method से हुई हो तो जिससे दर्द आगे भी न हो । " - डॉ.अग्रवाल ये दवाई anaesthetic और narcotic का मिश्रण होता है । anaestgetic दर्द को रोकता है और narcotic उस दर्द को nerve के द्वारा दिमाग तक जाने से रोकता है । #2 epidural process administer कैसे किया जाता है ? Epidural शॉट देने से पहले हॉस्पिटल स्टाफ आपको एक ख़ास पोजीशन में बैठाएंगे । ज्यादातर आपको इस तरह से बैठाया जाएगा जहाँ से आपके स्पाइन ज्यादा दिखाई दें । एक छोटा prick आपके lower बेक में किया जाएगा जिससे catheter आपके शरीर में डाला जाएगा और धीरे धीरे आप दर्द को कम होता महसूस करेंगे । दवाइयाँ आपके bloodstream में एक साथ ही डाली जा सकती है या धीरे धीरे करके भी डाली जा सकती है । देलिवेरीसे पहले अपने डॉक्टर से इस बारे में आपको चर्चा करनी चाहिए । अगले पन्ने के लिए क्लिक करे #3 क्या epidural बेबी पर किसी तरह का असर डालता है । "इस प्रोसेस का बच्चे के स्वास्थ्य पर या माँ के स्वास्थ्य पर असर न के बराबर होता है ।"- डॉ. अग्रवाल .यहाँ पर ये जान लेना भी जरूरी है की कई और दवाइयाँ है जो delivery pain को कम करने के लिए दी जा सकती हैं और इनमे से ज्यादातर सभी दवाइयाँ माँ और बच्चे दोनों के लिए सुरक्षित होती हैं । हालाँकि ये शुरुवाती कुछ मिनटों के लिए ये माँ के ब्लड प्रेशर को कम कर सकती हैं । लेकिन वहिंता की कोई बात नहीं है क्योंकि आपके डॉक्टर और anaesthesiologist आपको मॉनिटर करने के लिए वहां रहेंगे। विज्ञापन #4 क्या epidural से C-section की संभावना बढ़ जाती है ? ऐसी कोई स्टडी नहीं है जिससे ये साबित हो की epidural से C-section या किसी और तरह के जटिलताएं होने की संभावना बढ़ती हो। हालाँकि C-section किये जाते हैं लेकिन डिलीवरी में होने वाली जटिलताओं के कारण न की epidural के कारण ।"The Cochrane Database Systemic trialsने इस बात पर जोर देकर खा है की epidural analgesia का सी-सेक्शन से कोई लेना देना नहीं है । करीब 1054 पेशेंट्स पर किये गैर शोध में पाया गया की epidural के low dose से वेजाइनल डिलीवरी में केवल 25% का असर पड़ता है।"  - डॉ. अग्रवाल #5 क्या epidural से breastfeeding पर कोई असर पड़ता है ? ये एक और मिथक है जो epidural के इस्तेमाल से जुड़ा हुआ है । इसे साबित करने के लिए कोई ऐसी स्टडी मौजूद नहीं है । "नहीं, कई स्टडी और ट्रायल्स इस बात को साबित नहीं कर पाये हैं की epidural से breastfeeding पर कोई असर पड़ता है । " - डॉ. अग्रवाल # 6 क्या epidural से लेबर की अवधि बढ़ जाती है ? “हाँ, ऐसा होता है । सामान्य तौर पर ये अवधि 1 घंटे तक बढ़ जाती है ।" - डॉ अग्रवाल #7. क्या इससे chronic backache बढ़ने की संभावना होती है ? प्रेगनेंसी के पहले और बाद में कमर दर्द 90 फीसदी महिलाओं को रहती है इसका मतलब ये नहीं है की epidural के कारण ऐसा होता हो । "नहीं, ये गलत है। ये epidural को लेकर एक सामान्य मिथक है" -डॉ. अग्रवाल
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: फॉर्मूला मिल्क कैसे तैयार करते हैं
उत्तर: हेलो डियर मैं आपको बेबी के लिए फार्मूला मिल्क बनाने का तरीका बता रही हूं सबसे पहले आप पानी को बॉईल करने कम से कम 20 मिनट फिर आप बोल पानी में से 30 mm पानी ले मगर वह 30 mm पानी गुनगुना होना चाहिए ज्यादा गरम नहीं होना चाहिए फिर उस30 ml पानी को किसी कटोरी में डालें उसके बाद आप फार्मूला मिल्क के बॉक्स में ही आपको एक spoon मिला होगा उसी spoon से आप एक spoon पाउडर 30 mm पानी में मिलाकर घोल ले अब आप का फार्मूला मिल्क रेडी है आप अपने बेबी को मिल्क पिला सकती हैं मगर ध्यान रखें कि फार्मूला मिल्क को स्टोर करके नहीं रखना है आप जितने टाइम फार्मूला मिल्क लेडी करती हैं उसी टाइम बेबी को पिला दे उस को स्टोर करके ना रखें कि फार्मूला मिल्क दोबारा पिलाने के काम नहीं आता उसको एक ही बार में फिनिश करें और यदि फिनिश नहीं होता तो भी उसको बचाकर ना रखें उसको फेंक दें और दुबारा पिलाने के लिए फिर से फार्मूला मिल्क रेडी करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो डॉक्टर पुणे बीमार किसे कहते हैं
उत्तर: हेलो डियर आपका प्रश्न क्लियर नहीं समझ में आ रहा है कि आप क्या पूछना चाह रही हैं ? अपने क्वेश्चन को दोबारा पूछिए और कंप्लीट पूँछें जिससे हम आपके सवालों का जवाब दे सकें .
»सभी उत्तरों को पढ़ें