23 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: प्लीज़ बताये मुझे पेट के निचे बहुत दर्द होता है

2 Answers
सवाल
Answer: गर्भावस्था के दौरान पेट के निचले हिस्से में दर्द होना आम बात है पेट में दर्द होना इस बात पर निर्भर करता है कि अभी आपका कौन सा मन है आप कौन सी स्थिति में है। अगर गर्भावस्था के अंतिम चरण में पेट में दर्द होता है तो इसका कारण होता है बच्चे का सर नीचे की तरफ आना तो ऐसे में आपको पेट दर्द महसूस होता है इस प्रकार का दर्द दोस्ती या इससे अधिक बार की गर्भावस्था में अधिक आम माना जाता है। लास्ट महीने में गर्भावस्था में एसिडिटी गैस की वजह से भी दर्द हो सकती है लेकिन अगर इसकी वजह से दर्द होता है तो यह दर्द पेट के निचले हिस्से तक सीमित नहीं रहता इसके वजह से कभी-कभी कमर दर्द और पैरों में दर्द भी होता है। अगर आपके पेट के निचले हिस्से में दर्द होता है तो आप थोड़ी देर बैठ जाएं और अपने पैरों को आराम दें आराम करने के बाद आपके पेट में दर्द कम होना चाहिए क्योंकि गर्भावस्था के दौरान पेट में दर्द होना सामान्य बात होती है और या आराम करने या फिर अपना ध्यान कहीं और भटकाने से दर्द खत्म हो जाना चाहिए।
Answer: गर्भावस्था के शुरुआत में पेट दर्द होना सामान्य है इसमें घबराने वाली कोई बात नहीं अक्सर पेट के निचले हिस्से में दर्द होने का कारण गैस होता है जो तैलीय मसालेदार चटपटा भोजन और राजमा चना खाने से गैस बनने के कारण होता है गर्भावस्था में जब तक आपको गैस बनने की समस्या है तब तक आपको इन सब चीजों को नहीं खाना चाहिए बाद में आप फिर से खाना चालू कर सकती हैं गैस से राहत के लिए आप कुछ घरेलू उपचार अपना सकती हैं 1 लीटर पानी में 3 या चार चम्मच सौंफ और जीरा उबाल लें इसे ठंडा होने दें और इसे दिनभर थोड़ा-थोड़ा पीती रहें इसमें आप थोड़ा शक्कर या शहद भी मिला सकती हैं। Take care
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: पेट के निचे तरफ दर्द होता है...
उत्तर: हेलो डियर जैसे-जैसे प्रेग्नन्सी बढ़ती है बेबी का वजन भी बढने लगता है और बेबी की ग्रोव्थ के बढ़ने के साथ-साथ उतरुस में मांसपेशियों में खिंचाव पैदा होने लगता है जिसकी वजह से पेट के निचले हिस्से मे दर्द जैसी प्रॉब्लम होने लगती है ।कभी कभी पेट दर्द गैस या कब्ज की वजह से भी होता है। पेट दर्द को दूर करने के लिए आप निम्न उपाय अपना सकती हैं- आप लगातार एक ही स्थिति में खड़ी ना रहे ,ना ज्यादा देर तक कहीं पर बैठे ।संतुलित और पौष्टिक भोजन ही करें । ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पिए । ज्यादा हील वाली च्प्पल ना पहने। तनाव मुक्त रहें । जमीन पर पैरों को मोड़ कर ना बैठे । एक ही स्थिति में ज्यादा देर तक ना सोए। और अगर आपको ज्यादा पेट दर्द हो रहा है तो आप तुरंत ही अपने डॉक्टर से मिलें ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे पेट के निचे भऊत दरद होता है ऑर पेर के निचे भि बहुत दर्द होता है ऐसा kiu
उत्तर: हेलों आप 33 वीक प्रेगनेट है अब तक आपका बेबी हेड डाउन पोजिशन में आ चुका हुआ होता है . उसके वेट के कारण आप नीचे की ओर दर्द और प्रेशर का अनुभव करती है आपको पैरों में भी दर्द है . अगर दर्द ज्यादा है तो आप डॉक्टर से सलाह लें ताकि आप निश्चिंत हो पाए कि आपका बेबी सुरक्षित है . तभी आप ज्यादा से ज्यादा आराम करें कोई भी थकान वाले काम ना करें सोते समय पैरों के नीचे पिलो लगाकर सपोर्ट दे.जब भी chale सपोर्ट ले के च लें आप पैरों की लिए हलकी हलकी एक्सर्साइज करे आप गुनगुने पानी में नमक डाल कर पैर डुबोए आपको पैर दर्द से राहत मिलेगी आप सरसों के तेल से पैरों की मालिश करे ब्लड सर्कुलेशन बढ़ने से आपका दर्द कुछ कम होगा कैल्सीअम प्रोटीन से भरपूर खाना खाएं जैसे मिल्क दही पनीर एग मूनगफ़लि और गुड भूनें चने आदि धूप में 20 से 25 मिनिट डेली बैठे सूर्य के प्रकाश में पाये जाने वाले विटामिन डी आपके पैर दर्द को कम करने और बच्चे के विकास में सहायक है पर्याप्त आराम करें ताकि ऐंठन से बच सकें प्रॉब्लम ज्यादा होने पर डॉक्टर से सलाह ले ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे पेट के दाहिने तरफ़ हल्का हल्का दर्द होता है क्या करु प्लीज़ बताये मुझे
उत्तर: प्रेगनेंसी में कभी कभी पेट में और आपकी छाती में या स्तन में दर्द होना आम बात है| प्रेग्नेंसी के दौरान आपका गर्भाशय बड़ा हो रहा है जिसकी वजह से डायाफ्राम पर भी प्रेशर आता है| डायाफ्राम पेट और छाती को अलग करने वाली एक पतली सी झिल्ली है| तो इस वजह से आपको ब्रेस्ट में थोड़ा पेन हो सकता है| प्रेग्नेंसी के दरमियान ब्रेस्ट का कद भी थोड़ा बढ़ता है और इस प्रक्रिया के दरमियान भी थोड़ा दर्द होता है| प्रेगनेंसी में पेट और छाती या ब्रेस्ट में दर्द का दूसरा कारण इनडाइजेशन या गैस की समस्या हो सकता है| प्रेगनेंसी में कई चीजों खाने से इनडाइजेशन हो सकता है और जिससे गैस की समस्या से कारण पेट या तो फिर छाती में दर्द या जलन होता है| ऐसा ना हो इसके लिए आप खाने में ध्यान रखें| ज्यादा ऑइली य स्पाइसी फूड ना खाएं| और जब भी खाना खाए थोड़ा-थोड़ा करके ज्यादा बार खाए एक बार बहुत सारा खाना ना खाए|
»सभी उत्तरों को पढ़ें