8 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: प्रेगनेन्सी में क्या केला खा सकते है ?

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर ,,,प्रेगनेंसी में केला जरूर खा सकते हैं केला में आयरन ,कैल्शियम ,विटामिन बी ,विटामिन बी सिक्स, मैग्नीशियम ,पोटेशियम ,पाया जाता है यह सभी तत्व बेबी के विकास में बहुत ही हेल्प करता है केला खाने से पाचन दुरुस्त रहता है बेबी का शारीरिक व मानसिक विकास तेजी से होता है मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखता है हिमोग्लोबिन को बढ़ाकर रक्त की कमी नहीं होने देता है आप केला को सीधे या केला शेक बनाकर ले सकते हैं'|
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: प्रेगनेन्सी मे केला खा सकते है क्या
उत्तर: hello डियर प्रेग्नेन्सी में केले का सेवन कर सकती है ये माँ बेबी दोनों के लिए अच्छा होता है केले में विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन बी6,आयरन ,कैल्शियम ,मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है केले में मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है जिसकी वजह से यह आसानी से पच जाता है केला खाने से प्रेग्नेंट लेडी को गैस कब्ज जैसी कोई प्रॉब्लम नहीं होती है केला खाने से कोलेस्ट्रॉल लेवल कम रहता है जिससे दिल की बीमारी नहीं होती है केला शरीर में ब्लड शुगर को भी कंट्रोल करने में सहायक होता है जिसे डायबिटीज nhi hota केला खाने से हिमोग्लोबिन भी बढ़ता है जो प्रेगनेंट लेडी के लिए और उसके होने वाले बेबी दोनों के लिए बहुत अच्छा होता है ..
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: क्या प्रेग्नेन्सी में केला खा सकते है ?
उत्तर: हेलो हां बिलकुल आप प्रेगनेंसी में केला खा सकते है। येह पेट के लिए बहुत अच्छा होता है। इसमे भरपूर मात्र में iron , कैल्सियम, विटमिंस, मिनरलस, एमिनो एसिड होते हैं जोआपके बच्चे के विकास में मददगार रहेंगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: क्या प्रेग्नेन्सी में केला खा सकते है ??
उत्तर: हेलो ! पेरो में स्वेलिंग आना आम बात है बस आप पड़ो को लटका के जयाद देर ना बेठे और चलते फिरते रहें खासकर मॉर्निंग वॉक ज़रूर करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: क्या shitafal खा सकते है प्रेगनेन्सी में
उत्तर: हेलो हा आप सीताफ़ल खा सकती है सर्दी होने पर आप इसे ना खाएं प्रेग्नेंसी में सीताफल खाना अत्यधिक लाभदायक होता है। इससे कमजोरी दूर होती है , उल्टी व जी घबराना ठीक होता है , सुबह की थकान में आराम मिलता है सीताफल तांबा और फाइबर का प्रचुर स्रोत होता है, जो पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। इससे कब्ज और आँतों की परेशानी कम हो जाती है।,स्वस्थ गर्भावस्था k लिए फोलेट आवश्यक होता है, क्योंकि यह तंत्रिका ट्यूब दोषों की संभावनाओं को रोकता है। सीताफल में फोलेट की उच्च मात्रा होती है, गर्भावस्था के दौरान सीताफल का सेवन गर्भस्राव की संभावना को कम करता है।Sitafal में दूसरे फलों की अपेक्षा आयरन अधिक मात्रा में होता है । इसमें विटामिन सी और आयरन दोनों होने के कारण यह हिमोग्लोबीन बढ़ाने तथा खून की कमी को दूर करने में प्रभावी रहता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें