38 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: प्राइवेट पार्ट म जलन या खुज्ली होरी h

1 Answers
सवाल
Answer: अभी आपको ३८ वीक है. पेट में बढ़ रहे वजन के कारन और बदलते होर्मोनेस के कारन पेट के स्नायु और आंत पे दबाव बढ़ता है और इस वजह से वजाइना में या थाइस में दर्द या वाइट डिस्चार्ज होता है. कभी कभी जलन भी होती है. इसमें गभरiने वाली बात नहीं है. इसके लिए आप खाना एक बार में बहोत सारा न खाये. थोड़ा थोड़ा करके ज्यादा बार खाइये. अगर आपकी प्रेगनेंसी में कोई कम्प्लीकेशन नहीं है तो हो सके उतना वाकिंग करे. ज्यादा पानी पिए. ये सब से आपको रहत मिलेगी.
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: प्राइवेट पार्ट में जलन क्यों रहती है .. क्या करे ?
उत्तर: बार बार यूरिन आने की इच्छा और यूरिन का अच्छे से पास ना होना और urine का ब्लैडर में ही रोके रहना एक संक्रमण का संकेत होता है इसका मतलब आपको यूटीआई हो सकता है यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन इसके लिए आप घबराइए नहीं। अगर आपको आपके योनि में खुजली और जलन और दर्द भी हो रही है तो आपको संक्रमण भी हो सकता है। आपको बहुत ज्यादा मात्र में पानी पीना चाहिए जिससे संक्रमण urine के द्वारा बहार निकल जाएगा । आप नारियल पानी भी पी सकती हैं इसमें बहुत मात्रा में पोषक तत्व होते हैं जो बेबी के विकास में भी मदद करेंगा। अगर आपको ज्यादा तकलीफ है साथ में साथ बुखार भी आ रहे हैं तो आप बिल्कुल जाकर तुरंत जाकर डॉक्टर से संपर्क कीजिए वह आपके यूरिन का परीक्षण करके आपको बेहतर सलाह देंगे और मेडिसिन भी देंगे।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्राइवेट पार्ट मे जलन का कारन
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में योनि में जलन होना नॉर्मल है । योनि में संक्रमण की वाजह से भी आपके प्राइवेट पार्ट मे जलन हो सकती है। इसके लिए आप ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पिए और तरल पदार्थों का सेवन करें। गुन्गने पानी से योनि की सफाई करें । आप दही का सेवन करें इससे आपकी योनि को ठंडक मिलेगी। योनि की जलन को कम करने के लिए आप उस पर नारियल तेल भी लगा सकती हैं। आप ज्यादा टाइट कपडे ना पहने। अगर आप की योनि में दाने भी हो तो आप अपने डॉक्टर से संपर्क कीजिए और उन से सलाह लीजिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mera baby 42days ka h ar use cold n cough ho gya h plz suggest me what can do.? And ye potty bhi din me 5 या 6 bar krta h..
उत्तर: Hello! new born baby k liye breastmilk antibiotic ki trah kaam karta hai..har thodi interval mein baby ko feed karwao..baby ki nostrils mein breastmilk daalo 2 bade spoon ajwain ko tawe par ache se paka lo..halka thanda hone par ek cotton k kapde mein baandh kar potli bana lo..is potli se baby ki chest aur back par sikai karo..is se sardi mein relief milega baby ko.take care😊
»सभी उत्तरों को पढ़ें