11 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: पेट गैस की समस्या से पॉरेशॉन हूँ

1 Answers
सवाल
Answer: हेल्लो डीयर गैस प्रेग्नेंसी मे बहुत आम समस्या है। इससे सीने मे जलन भी होने लगती है। भूंख भी नही लगती है। पेट दर्द भी होता है। 1. बहुत सारे तरल पदार्थ पीएं। 2. सक्रिय रहें और वॉक करें और योग करें। 3. आलू, गेहूं, ब्रोकोली, अंडा आदि जैसे गैसी खाद्य पदार्थों को कम खाएं। 4. फाइबर युक्त भोजन का सेवन करें, अंजीर, और केले, और सब्जियां, साथ ही पूरे अनाज जैसे जई और फ्लेक्स सभी अच्छे फाइबर बूस्टर हैं। 5. हल्के भोजन और कम मात्रा मे लें। 6. आसान पाचन के लिए सौंफ़ के बीज और छाछ पिये रोज।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: पेट में गैस की समस्या बहुत hai
उत्तर: गैस गर्भावस्‍था के दौरान, महिलाओं के हारमोन्‍स में बदलाव हो जाता है और यही हारमोन्‍स, उनके शरीर के परिवर्तन के कारण बन जाते हैं। शरीर को ज्‍यादा पानी और पोषण की आवश्‍यकता होती है।(1)रात में मेंथी के दानों को भिगोकर रख दें और सुबह उस पानी को पी लें। इससे काफी लाभ मिलेगा।(2)गर्भावस्‍था के दिनों मेंडिहाईड्रेशन की समस्‍या काफी ज्‍यादा होती है और इस कारण पेट में ब्‍लोटिंग हो सकती है। इसलिए, गर्भवती होने पर पानी को ज्‍यादा पिएं ताकि शरीर में डिहाईड्रेशन न होने पाएं।(3)फलों का सेवन खूब करें, इनमें बहुत सारा फाइबर होता है।(4)पानी में अंजवाईन डाल कर उबाले और थोडा़ थोडा़ लें गैस से राहत मिलेगी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: गैस की समस्या से कैसे निजात मिलेगा
उत्तर: hello dear pregnancy me gas ki samasya Hona 1 normal baat hai aap kuch changes Apne daily routine me kre... 1) आप अपने भोजन में 8 से 10 गिलास पानी पीजिए | 2) खाने में मिर्च मसाले तेल से तले हुए चटपटे खाने लेना कम कर de.. 3): आप अपने भोजन में दही ,छाछ का प्रयोग करना प्रारंभ कर दीजिए | 4) हल्का गुनगुना पानी और उसमें नींबू मिलाकर piye.. 5)जब भी खाना खाएं गरम, ताजा ही भोजन करें | भोजन एक साथ अधिक मात्रा में ना लेकर थोड़ी-थोड़ी मात्रा में चार से पांच बार ले सकते हैं| 6) अपने खाने में हरी पत्तेदार सब्जियों चुकंदर, गाजर ,मूली का प्रयोग करें यह फाइबर युक्त होते हैं | 7अपने खाने में आप जीरा, अजवाइन ,कड़ी पत्ता का प्रयोग करें|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: गैस की समस्या से कैसे आराम मिलेगा ऑर पेट साफ नही रहता है
उत्तर: प्रेगनेंसी में प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन में भी बढ़ोतरी होने की वजह से गैस और कब्ज की दिक्कत होती है. जब प्रोजेस्ट्रोन का लेवल बढ़ता है तो गेस्ट्रो इंटेस्टाइनल ट्रेक धीमा पड़ जाता है .तब खाया गया खाना बहुत धीमे धीमे पचता है और गैस और कब्ज की शिकायत होने लगती है. अगर आप गैस की प्रॉब्लम और कब्ज की प्रॉब्लम से बचना चाहती हैं तो बहुत ही सादा खाना खाएं और समय पर खाएं और अपने खाने में फाइबर जैसी चीजों को ज्यादा लेघरेलू उपचारों से आप को बहुत आराम मिलेगा.जैसे जीरे का शरबत बनाकर रखें एक गिलास पानी में एक चम्मच कच्चा जीरा पीस के डालने पर शक्कर डालने| चित्र खोलकर रख लें दिन भर में थोड़ा थोड़ा पिया.खाना खाने के बाद आधा चम्मच अजवाइन का चूर्ण ले ले|ध्यान रखें आपका पानी पीना बहुत जरूरी है. इससे भी आपको गैस में राहत मिलेगी. अपनी नींद समय पर ले कोई भी भारी खाना बहुत सारा एक साथ ना खाएं.कॉन्स्टिपेशन से बचने के लिए घरेलू कुछ उपाय हैं जिन्हें आप कर सकती हैं . आप पानी की मात्रा काफी ज्यादा ले. आप एक बार में पूरा नहीं खाएं थोड़ा-थोड़ा खाएं और छोटे-छोटे टुकड़े चबा चबा कर खाएं. इससे आपको खाना पचाने में आसानी होगी. रोज सुबह एक गिलास गुनगुने पानी में थोड़ा नींबू डालकर जरूर पिएं .इससे आपका पेट भी अच्छा रहेगा और कब्ज की समस्या भी दूर होगी. संतरे में फाइबर और विटामिन सी बहुत अच्छी मात्रा में होता है. कब्ज के मुख्य कारण जो है वह फाइबर की कमी है .आप संतरा खाएं रोज कब्ज दूर हो जाएगा . अलसी के बीज भी कब्ज है तो आपको मदद करेंगे समस्या को दूर करने में. खाना चबा चबा कर खाएं . दिन भर में थोड़ा-थोड़ा खाते रहे.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मै 5 महिने की प्रेगनेट हूँ पर मेरा वजन बिल्कुल भी नही बड़ा है . क्या कोई चिन्ता की बात है ??
उत्तर: Basically, the baby is going to take what it needs from your body so it's just most important to make sure you are getting lots of good vitamins and minerals so you have some for baby and some from yourself.  
»सभी उत्तरों को पढ़ें