31 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: पलेसेन्टा नीचे होने पर क्या खतरा रहता है और क्या सावधानी रखनी चाहिए

1 Answers
सवाल
Answer:  सरल शब्दों में कहें तो इस तरह के मामलो में गर्भनाल या प्लेसेंटा जो बच्चे के विकास में अहम रोल निभाता है, ठीक गर्भाशय के मुंह पर स्थित हो जाता है. जो कई तरह से खतरनाक साबित हो सकता है. इस तरह के मामले कई बार भारी रक्तस्राव का कारण बन सकते हैं और खतरा पैदा कर सकते हैं. अगर गर्भावस्था के अंतिम दौर में भी लॉ लाइंग प्लेसेंटा की समस्या होती है, तो यह काफी रिस्की हो सकता है. ऐसी स्थिति में गर्भवती को बिस्तर पर आराम करने की सलाह दी जाती है.  इस दौरान डॉक्टर आपको पूरी तरह से बेड रेस्ट की सलाह देते हैं. इसकी वजह यह है कि प्लेसेंटा जो पहले से ही नीचे है उस पर ज्यादा दबाव न पड़ने पाए. और वह और नीचे की ओर जाने के बजाए ऊपर की ओर जा सके.  - कई बार अधिक रक्तस्राव होने पर, स्थिति गंभीर होने पर, डॉक्टर गर्भवती महिला को हॉस्पिटलाइज भी कर सकते हैं.  - गर्भावस्था में अधिक रक्तस्राव खतरनाक साबित हो सकता है. ऐसे में डॉक्टर इससे जुडी दवाएं या इंजेक्शजन बढ़ा सकते हैं.  - अक्‍सर प्लेसेंटा प्रिविया के दौरान दी जाने वाले दवाएं गर्भवती महिला की मॉर्निंग सिकनेस को बढा सकती हैं. मन में बेचैनी, उदासी, अधिक नींद आना, जी मिचलाना जैसी समस्याएं भी इससे हो सकती हैं. ऐसे में डॉक्टर अधिक से अधिक आराम की सलाह देते हैं.  - प्लेसेंटा प्रिविया होने पर डॉक्टर ट्रेवल न करने सलाह देते हैं. यात्रा के दौरान लंबे समय तक बैठना और झटके लगाना इसका अहम कारण है. इस दौरान किसी भी अनहोनी से बचने के लिए गर्भाशय को अधिक से अधिक आराम दिया जाता है.  - प्लेसेंटा प्रिविया के दौरान अधिक बैठने या चलने से भी मना किया जा सकता है. यह पूरी तरह प्लेसेंटा की‍ स्थिति पर निर्भर करता है.  - इस दौरान भारी सामान न उठाएं, न ही किसी भारी चीज को एक जगह से दूसरी जगह सरकाएं.  - स्थिति गंभीर होने पर डॉक्टर पैरों के नीचे तकीए लगा कर लेटे रहने की सलाह देते हैं. ताकि प्लेसेंटा को और नीचे आने से रोका जा सके.  - इस स्थिति में डॉक्टर गर्भवती को अधिक चलने, सीढि़या चढ़ने-उतरने, पेट के बल लेटने से भी मना करते हैं. - प्लेसेंटा प्रिविया होने पर डॉक्टर सामान्य से ज्यादा अल्ट्रासाउंड करवाता है. वह स्थिति पर निरंतर नजर रखता है. हो सकता है कि इस दौरान अल्ट्रासाउंड डॉक्टर को बच्चे की धड़कन मिलने में, उसकी हलचल को समझने में समय लग जाए.  - डॉक्टर्स का कहना है कि प्लेसेंटा प्रिविया होने पर अक्सर गर्भवती के गर्भ में बच्चे की मूवमेंट भी देर से महसूस होती है.
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: सर प्रेगनेन्सी को 1 महीने हुए है हमें आगे और क्या सावधानी रखनी चाहिए
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में शुरुआती 3 महीनों तक बहुत ज्यादा सावधानी रखने की जरूरत होती है क्योंकि प्रेगनेंसी के यह 3 महीने बहुत ही नाजुक होते हैं इसी टाइम में बेबी का ग्रोथ बनना शुरू होता है इसलिए आप कोई भी ऐसा काम ना करें जिससे आपके पेट में किसी भी तरह का दबाव पड़े कोई भी भारी समान ना उठाएं सफर ना करें इंटर कोर्स करने से बचें और गर्म तासीर वाली चीजें ना खाएं पपीता और अनानास का सेवन बिल्कुल ना करें ऊंचे हील वाली सैंडल ना पहने फ्लैट स्लिपर्स पहने और अपना खास ध्यान रखें संतुलित आहार करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे एक मंथ में क्या क्या सावधानी रखनी चाहिए आठवीं मंथ में क्या क्या सावधानी रखनी चाहिए
उत्तर: आपको 8th मंथ में बिल्कुल भी सेक्स नहीं करना है और आपको हेल्थी फूड लेना है वाक डेली करनी है रात को खाना खाने के बाद 10 मिनट वाक जरूर करें और अपने पैरों के नीचे पीलो लगाकर सोए पानी बहुत ज्यादा मात्रा में पीए pair ज्यादा लटका कर ना बैठे बहुत ज्यादा स्ट्रेस ना ले खुश रहें अच्छी-अच्छी बुक्स पड़े म्यूजिक सुनें नीचे ना झुके ज्यादा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी ट्विंस प्रेगनेंसी है हमें आठवें महीने में क्या क्या खाना चाहिए और क्या सावधानी रखनी चाहिए प्लीज जल्दी बताएं
उत्तर: अगर आपका ट्विंस बेबी है तो आपको और ज्यादा अपना ध्यान रखने की जरूरत है आप प्रोटीन ज्यादा से ज्यादा खाए क्योंकि प्रोटीन बच्चों की ग्रोथ के लिए बहुत अच्छा होता है दोनों टाइम दूध पिए हरी सब्जियां खाए पालक चुकंदर जिसमें आईरन बहुत होता है क्योंकि ब्लड की आवश्यकता होगी आपको इस टाइम पर और डेहरी प्रोडक्ट आप अपनी डाइट में बढ़ा दे
»सभी उत्तरों को पढ़ें