18 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: तीन महीने की प्रेग्नेंसी के बाद क्या खाना चाहिए?

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर प्रेगनेंसी के दौरान जितना ज्यादा हो सके आफ हेल्दी डाइट लीजिए नेचुरल चीजें खाइए खूब हरी सब्जियां फल वगैरा खाई है इसके बाद अब बच्चे का वेट हल्के हल्के करके बढ़ना शुरू हो जाता है तो स्प्राउट खाई है दाल वगैरह जरूर खाइए थोड़े बहुत ड्राई फ्रूट भी खा सकती है लेकिन कम कौन चिट्ठी में अंडा खाई है लेकिन एक दिन छोड़कर एक दिन इसके अलावा सलाद वगैरह खाइए चुकंदर खाइए गाजर खाइए टमाटर खूब खाइए अनार का जूस पीजिए यह सारी चीजें हिमोग्लोबिन बढ़ाती है पालक खूब खाइए पत्तेदार हरी सब्जियां खूब खाई है इस तरीके से अपनी डाइट रखिए रोटी चावल आप कम भी खाएगी तो भी चलेगा लेकिन सब्जियां दाल फल यह सब ज्यादा मात्रा में होने चाहिए स्प्राउट जरूर खाइए कटोरी दिन भर में आपके बच्चे की ग्रोथ अच्छे से होती है इसके अलावा दूध दही का भी सेवन करिए
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेटी अब 6 महीने के बाद क्या खाना चाहिए
उत्तर: हेलो डियर बिल्कुल जो बच्चा 6 महीने का पूरा हो जाए उसके बाद से आप अपने बच्चे को ऊपर का खाना देना शुरू कर सकते हैं शुरुआत में आप अपने बच्चे को दाल का पानी चावल का पानी सूजी की खीर आदि देना शुरू कर सकते हैं और आप जो भी चीज दे जैसे की दाल का पानी देते हैं तो यह चीज का ख्याल रखेंगे आप दाल का पानी कम से कम 2 से 3 दिन लगातार पिलाएं यह देखने के लिए कि बच्चे को किसी प्रकार की एलर्जी तो नहीं ऐसा मुझे मेरे डॉक्टर ने कहा था कि हर चीज जब भी बच्चे को शुरुआत में दी जाती है तो 3 दिन तक लगातार खिलाना चाहिए अगर कोई भी एलर्जी हो तो डॉक्टर से जरूर कंसल्ट करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्रेगनेंसी में पहिले तीन महीने क्या क्या खाना चाहिए
उत्तर: हेलों आप प्रेगनेट है एक लेडी को शुरुआति प्रेगनेंसी में अपनी एक्स्ट्रा केयर करना चाहिए आपके खान पान रहन सहन सबका असर आपके बच्चे पर पड़ता है इसी दौरान गर्भ में भ्रूण का विकास होना शुरू होता है आप पहले तिमाही घर का बना हुआ हेल्थी खाना खाएं खाना ऑयली और स्पाइसी नही होना चाहिए और फाइबर से भरपूर खाएं की कब्ज़ की प्रॉब्लम ना हो और बाहरी फ़ूड और फ़ास्ट फ़ूड ना खाएं ताकि दस्त अपच जैसे प्रॉब्लम ना हो ..आपको इस समय आयरन, फ़ोलिक ऍसिड , वाइटमिन्स आदि की सही मात्रा की जरुरत होती है . कुछ फ़ूड आइटम जैसे - डेरी प्रॉडक्ट दूध , दही , पनीर , सभी दालें , आलु , एग , मीट,फल जैसे -केला ,अनार ,लिचि ,अमरूद ,जामुन ,मऔसमबि सन्तरा, आम, एवाकाडो ,अंगूर नींबू ,सेब ,चीकू सभी ड्राइ फ्रूट्स लें .इसके साथ ही हरी सब्ज़ी पालक , मुनगा , चुकन्दर , कद्दू , टमाटर आदि सभी को डायट में शामिल करें . आप करेला ,बैगन ,पपीता, पाइनएप्पल सुरन, चाय ,कोफ़ी मैगी, ज़्यादा स्वीट्स , अल्कोहल , कोल्ड ड्रिन्क्स ,का सेवन प्रेग्नेसी में ना करे डॉक्टर सुग्गेस्टेस फॉलिक ऍसिड आयरन कैल्सीअम की टैबलेट्स समय से लें साथ ही पानी एक दिन में 10 से 12 गलास पीये तरल पेय जैसे नारियल पानी लेमन वाटर छाछ फ्रूट्स ज्यूस भी लें स्ट्रेस बिल्कुल भी ना ले खुश रहें .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मिस्कैरिज के बाद क्या खाना चाहिए क्या नही खाना चाहिए
उत्तर: हेलो डियर ,गर्भपात के बाद महिला के शरीर से काफी खून बह चुका होता है और इस liye गर्भपात के बाद आपके शरीर को बहुत ज़्यादा पोषण की ज़रूरत होती है इसलिए ज़्यादा से ज़्यादा हरी सब्ज़ियां खाएं जिससे आपको ताकत मिले और आप जल्दी रिकवर कर सकें। इसके अलावा गाजर को अपने खाने में शामिल करें जो ना केवल आपके इम्यून पॉवर को बढ़ाएगा बल्कि आपके पाचन क्रिया को भी ठीक रखेगा और इससे आपको कॉन्स्टिपेशन या डिहायड्रेशन से भी बचने में मदद मिलेगी। आप हरी सब्ज़ियों का सूप भी पी सकती हैं पर ध्यान रहे की सूप में या किसी भी खाने में मसाले का सेवन ना करे नहीं तो आपको नुकसान हो सकता है । शरीर में बहोत कमज़ोरी आती है ऐसे में आयरन युक्त खाना खाने से शरीर में खून की कमी पुरी होती है और रिकवरी भी जल्दी होती है | बादाम के तो ऐसे कई फायदे हैं पर मिसकैरेज के बाद बादाम खाने से और ज़्यादा फायदा होता है। आप बादाम को स्नैक्स के तौर पर खा सकतीं हैं | फल खाने से भी ठीक होने में सहयता मिलति है ज़्यादातर सन्तरे से गर्भपात के बाद होने वाले दर्द से आराम मिलता है और अपको पोषण भी मिलेगा |गर्भपात के बाद आपको जंक फूड से दूर ही रहना चाहिए। आपको इस दौरान प्रोटीन और विटामिन युक्‍त आहार लेना चाहिए। बेहतर रहेगा कि आप जंक फूड और तैलीय भोजन से दूर ही रहें।कॉफी में कैफीन की मात्रा काफी अधिक होती है, जो गर्भधारण, गर्भावस्‍था और यहां तक कि प्रसव के बाद भी आपकी सेहत को क्षति पहुंचा सकती है। गर्भपात के बाद भी आपको कॉफी का सेवन नहीं करना चाहिए। कैफीन यूट्रस के लिए अच्‍छा नहीं अपना खयाल रहिए |
»सभी उत्तरों को पढ़ें