6 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: डॉक्टर मुझे एक सावाल पूछना है पेट मे बच्चा ग्रोथ क्यू नही कर पाता इसका क्या कारण है

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर बच्चा grow क्यों नहीं कर पाता इसका रीजन डॉक्टर ही बता पाएंगे आपके प्रॉपर टेस्ट किए जाएंगे और यह पता लगाया जाएगा कि क्या प्रॉब्लम है उसी के हिसाब से आपको दवा का कोर्स करना होगा ताकि ऐसा ना हो
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुझे 5हफ्ते हुए है और पेट मे दाई तरफ नीचे पेढू मे दर्द हो रहा है।इसका कारण क्या है?
उत्तर: अगर आपके पेट के निचले हिस्से में दर्द हो रहा है और दर्द हल्का हल्का है तो ऐसा होना नॉर्मल है लेकिन आपको कभी ऐसा लगे कि आपका पेट दर्द बढ़ रहा है तो आप देर ना करें और डॉक्टर से मिले प्रेगनेंसी में ज्यादा वजन उठाने वाला काम या कोई ऐसा काम जिसमें आपको थकावट ज्यादा लग गई तब पेट में दर्द बढ़ सकता है इसलिए आप ज्यादा भारी काम या ज्यादा झुकने वाले काम ना करें सोने की पोजिशन भी ऐसे रखें जिससे आपको पीठ और पेट में दर्द कम हो जैसे कि आप left सोए ,पीठ के बल सोने से आपकी यह तकलीफ बढ़ सकती है कोशिश करें कि ज्यादा देर खड़ी भी ना रहे एक ही पोजीशन में ना बैठे , अपनी पोजीशन बदलते रहे साथ ही अगर आप हील वाली चप्पल या सैंडल पहनती हैं तो अवॉयड करें जब भी आप सो कर उठे तो एकदम से ना उठे हैं पहले करवट ले फिर उठे हैं. अपना ध्यान रखें अपने खाने-पीने का ध्यान रखें.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: पेट मे बेबि ग्रोथ नही कर रहा ह क्या करु
उत्तर: हेलो आप बिल्कुल भी घबराए नहीं .आराम से रहें. पौष्टिक आहार लेती रहे .ऐसा कभी कभी हो जाता है और आप ऐसी कंडीशन में डॉक्टर की सलाह जरूर लें जो भी वह सलाह देते हैं उसे maane. अपना पूरा ध्यान रखें .सब अच्छा ही होगा. तीसरे हफ्ते की प्रेगनेंसी में बच्चे का दिल बनना चालू हो जाता है. लेकिन आप उसकी धड़कन सुन नहीं सकते. छठवें हफ्ते में उसकी हार्ट रेट 100 से लेकर 170 तक बीट पर मिनट होती है जो कि आप अल्ट्रासाउंड के जरिए सुन सकते हैं. जब आप प्रेगनेंट होती हैं तब यह बहुत जरूरी है कि आप अपना आहार पौष्टिक है. इससे आपको और आपके होने वाले बच्चे को पौष्टिक तत्व मिलेंगे. प्रेग्नेंसी में कुछ अधिक कैलोरी की जरूरत होती है. प्रेगनेंसी में सही आहार का मतलब है -आप क्या खा रही हैं ?ना कि कितना खा रही हैं? जंक फूड का सेवन ज्यादा ना करें. isme कैलोरी ज्यादा है पोष्टिक तत्व कम या ना के बराबर होते हैं. फोलिक एसिड आपको 1 ट्रिमस्टर में ही चालू करदेना चहिये। फ़ोलिक एसिड का होने वाले बच्चे की ग्रोथ में बहुत बड़ा योगदान रहता है। फ़ोलिक एसिड विटामिन है ।विटमिन B 9। ये आपको खाने पिने में फॉलेट नाम से मिलेगा । बाबी के इस्पीनलकार्ड के चारो और पॉलिब पेरत को सही तरीके से बंद करता है।वाहा गप नहीं आने देता। मा के लिए भी बहुत जरुरी है ।विटमिन B 12 के साथ मिलकर हेअल्थी रेड सेल्स बाँटा है। folic acit ke liye ye khaye. ब्रोकली ऐस्पैरागस खट्टे फल हरी पत्तों वाली सब्जियां ओकरा फूलगोभी भुट्टा गाजर 1) दूध और डेयरी के ले सकती हैं. मलाई वाला दूध दही छाछ घर का पनीर इन सब में कैल्शियम प्रोटीन और विटामिन बी12 बहुत होता है. 2) सभी अनाज ,दालें . इन सब में प्रोटीन बहुत अच्छा होता है. 3) पेय पदार्थों में आप पानी bahut piyen.खास करके आप साफ पानी joki फ़िल्टर किया हुआ. ताजे फलों का रस ले. डिब्बाबंद juis nahi le. इसमें शक्कर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है. 4) वसा और तेल . वेजिटेबल ऑयल का वसा एक अच्छा स्रोत है क्योंकि इसमें संतृप्त वसा अधिक होता है. इन सभी चीजों के साथ आप डॉक्टर की सलाह मानें .जो भी टेस्ट किए हैं दिए गए हैं उन्हें करवाएं समय पर. दवाइयां समय पर ले और नींद पूरी. खाना जो भी खाएं अच्छे से चबाकर खाएं. प्रेगनेंसी के समय मिल्क प्रोडक्ट calcium और प्रोटीन बहुत जरुरी होता है। डेयरी प्रोडक्ट प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए सबसे बेहतर होता है। जैसे अंडा, चीज, दूध, दही और पनीर मां और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है। कैल्शियम भी पर्याप्त मात्रा में होती है जो फीटस के बोन टिशू के विकास के लिए आवश्यक होता है। प्रोटीन की मात्रा काम होने से बच्चे की ग्रोथ में बहुत अंतर आता है। प्रोटीन जरूरी पौशाक तत्वों में से है। बच्चे का विकास और एम्निओटिक टिशू का कार्य प्रोटीन पर निर्भर करता है। गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन की kaam मात्रा बच्चे के sahi विकास में बाधा पहुंचा सकती है और इससे शिशु का वजन भी कम हो सकता है। यह बच्चे के बढ़ते मस्तिष्क पर नकारात्मक प्रभाव भी डाल सकता है।  बस एक मुट्ठी नट्स प्रोटीन की अपनी दैनिक आवश्यकताओं को पूरा कर सकता है। नट्स जैसे बादाम, मूंगफली, काजू, पिस्ता, अखरोट और नारियल में उच्च मात्रा में प्रोटीन की मात्रा होती है जो बच्चे के विकास के लिए जरूरी होता है। बीज जैसे कद्दू, तिल और सूरजमुखी में भी प्रोटीन पर्याप्त मात्रा में होती है।  इनमें से कई ऐसे हैं जिनमें प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक होती है जैसे- मूंग, काले और फवा बिन्स, मसूर, मटर और चना. ओट्स में प्रोटीन बहुत उच्च मात्रा में पाई जाती है .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बच्चा अभी तक पुरी तरह से बात नही कर पाता है मुझे क्या करना चहिय
उत्तर: hello डियर ,,,मैं आपकी परेशानी समझ सकती ह सभी बच्चों की ग्रोथ एक समान नहीं होती है कुछ बच्चे देर से भी बात करना सीखते हैं बच्चे के साथ आप अधिक से अधिक समय बिताएं बच्चे के साथ जितना अधिक बात करेंगे ,बच्चे koचीजों के नाम बताएंगे baby चीजों को समझने और धीरे-धीरे बात करने का प्रयास करेगा| अगर बच्चा इशारों में बात करता है तो आप उसका रिस्पांस ना दें बच्चे को बोल कर अपनी बात समझाने को कहें| बच्चे को टीवी या मोबाइल ना दे इससे बच्चे इतने व्यस्त हो जाते हैं और बात करने का प्रयास नहीं करते बच्चे को बहुत सारे अलग-अलग प्रकार की चीजें दिखाएं उनके नाम आप बच्चे से बोलवाने का प्रयास करें छोटे-छोटे वाक्य शब्द जैसे हेलो, बाय ,कैट ,डॉग, मामा ,पापा जो बच्चा देता देखता है उसे बेबी को दिखाएं और कोशिश करें कि बेटी बोले छोटी छोटी कविता बेबी को सुनाएं एक्शन से बेबी को ga kr दिखाएं, बेबी को बार-बार सुनाते रहे इससे बच्चे में बोलने की क्षमता का विकास होगा बच्चा3 साल तक बात नहीं करता तो आप डॉक्टर से इस संबंध में करें कंसल्ट जरूर करें|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे 3.7 साल पहले डॉक्टर ने अपेंडिक्स बताया था ,लेकिन दूसरे डॉक्टर के यहां गए और अल्ट्रासाउंड मे अपेंडिक्स नही निकला ।क्या ये अभी भी प्रॉब्लम कर सकता है ???
उत्तर: Pehle toh aapko confirmation honi hogi ki appendix hai ya ni toh hi aap aage pata kr sakti hai
»सभी उत्तरों को पढ़ें