2 महीने का बच्चा

Question: गैस प्रॉब्लम मेरी बेबी को हो रहा है 1 मंथ 19 डिन की बेबी है

1 Answers
सवाल
Answer: बच्चों में पेट कड़ा होना गैस की समस्या हो सकती है बेबी को सही पोजीशन में बैठकर दूध ना पिलाने से हवा बेबी के मुंह से पेट में चली जाती है जिससे कि बच्चे को गैस की समस्या हो जाती है आप बेबी को गैस की समस्या दूर करने के लिए दूध पिलाने के बाद डकार जरूर दिलाएं | बेबी के पेट में हींग का लेप लगाएं जैतून तेल या किसी भी प्रकार के तेल से बेबी के पेट को एंटी क्लॉक वाइज धीरे-धीरे मसाज करें इससे बेबी के पेट की गैस बाहर निकलेगी | बेबी को ,''बेबी एक्सरसाइज ''जैसे साइकिलिंग आदि कराएं इसे गैस की समस्या दूर होगी | बेबी को अपना दूध पिलाना जारी रखें क्योंकि मां के दूध में ऐसे बहुत सारे तत्व होते हैं जो बहुत सारे इनफेक्शन या बीमारियों से लड़ने के लिए बेबी को पावर देते हैं | किसी भी प्रकार का घरेलू उपचार ya बाहरी चीज बेबी को बिल्कुल भी ना दें|| अगर समस्या अत्यधिक बढ़ रही हो ,या बेबी का पेट दर्द कम ना हो तो डॉक्टर से संपर्क करें|
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेबी 1 मंथ 13 डिन की है वो गैस बहुत निकालती है क्या करु bataye
उत्तर: baby के पेट में गैस हवा जमा होने के कारण होती है। new born baby ko feed करते समय या बोतल से दूध पीते समय बहुत सारी हवा भी अंदर निगल लेते हैं। कभी-कभी रोते समय और सांस लेते समय भी हवा अंदर ले जाते है। पेट में हवा जमा होने से new born baby को पेट भरा-भरा सा महसूस होता है। पेट के अंदर हवा होने से शिशु को बहुत असहजता महसूस होती है और इसी को हम गैस का नाम देते हैं। डकार दिलवाना - डकार दिलवाने के लिए तीन तरीके हैं। आप इन तीनों को ही आजमा कर देखें। बच्चे को कंधों के ऊपर लगाएं और उसके कमर को अपने हाथ से थपथपाएं या सहलाएं और मलें। कंधे पर बच्चा तना हुआ और सीधा होता है इसलिए ऐसे में बच्चे को डकार आने में आसान होती hai , new born baby को गैस हो जाए तो क्या करना चाहिए · बच्चे को अपनी गोद में उसकी पीठ आपके पेट का सहारा लिए हुए बैठाएं। बच्चे की साइड से अपना हाथ निकालते हुए बच्चे को हल्के से आगे की ओर झुकाएं। दूसरे हाथ से बच्चे की कमर को थपथपाएं या मलें। · अपनी गोद में बच्चे को पेट के बल लिटाएं। बच्चे को एक हाथ से कसकर पकड़े रहें और दूसरे हाथ से उसकी पीठ को हल्के-हल्के मलें। · हींग का पेस्ट- हींग का पेस्ट बनाने के लिए एक चममच में थोड़ा गर्म पानी डालें और उसमें 2 चुटकी हींग डालकर पेस्ट बना लें। बच्चे की नाभि के चारों तरफ गोलाकार विधि में घुमाते हुए इस पेस्ट को लेप जैसे लगा दें। कुछ ही देर में बच्चे को दर्द से आराम मिल जायेगा। ग्राईप वाटर पुराने समय से चला आ रहा एक effective remedies है। ग्राईप वाटर में जड़ी-बूटियां और सोडियम बाइकार्बोनेट होता है जो बच्चे के पेट में गर्माहट पहुंचाती हैं और जमा हवा के बुलबुलों को तोड़कर गैस को डकार या दूसरे माध्यम से बहार कर देती हैं। सोडियम बाइकार्बोनेट अम्ल (एसिड) को भी प्रभावहीन बनाकर पेट में गैस दर्द से relief दिलाती हैं। बच्चे को गैस होने पर दो चम्‍मच ग्राईप वाटर की पीला दें। बच्चे को गैस में आरंभ आएगा। घर पर ग्राईप वाटर बनाने के लिए 50 मिलीलीटर पानी में 2 चम्मच सौफ मिलाएं और इसे उबालें। इसको तब तक उबालें जब तक ये आधा ना रह जाएँ। अब इस पानी को बच्चे को पिलायें। आप बाजार से भी ग्राईप वाटर खरीद sakte hai,
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: 3 मंथ बेबी को गैस की प्रॉब्लम है क्या करें
उत्तर: नवजात शिशु माँ के दूध पर निर्भर होते हैं, ऐसे में यदि माँ कोई गैस बनने वाली या चटपटी और तीखी चीजें खा लेती हैं तो इसका सीधा असर बच्चे के उपर पड़ता है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि माँ के खान-पान का असर छोटे बच्चे को प्रभावित करता हऔर पेठ में गैस बनता (1)  अपने नवजात को गैस से राहत दिलाने के लिए उसे सबसे पहले डकार दिलाएं, क्योंकि इससे बच्चे के पेट का गैस बाहर निकलेगा। डकार दिलाने के लिए बच्चे को अपने कंधे पर सुला कर हाथों से पीठ को सहलाएं इससे बच्चे का डकार निकेगा, और उसे गैस की समस्या से राहत मिलेगी।(2)बच्चे के पेट में गैस को कम करने के लिए बच्चे के पैरों को हल्के तौर पर उठायें, जैसा कि आप मालिश के दौरान करती हैं, इससे बच्चे के पेट से गैस निकलने में मदद मिलेगी(3)बच्चे के पेट को हल्के हाथों से मसाज दें, यदि आप चाहें तो हल्के गुनगुने सरसों के तेल से मालिश भी कर सकती हैं। ताकि बच्चे को आराम मिल सके।(4)बच्चे के पेट को हल्के हाथों से मसाज दें, यदि आप चाहें तो हल्के गुनगुने सरसों के तेल से मालिश भी कर सकती हैं। ताकि बच्चे को आराम मिल सके।(5)आप ऐसे खाना खाने से बचे जिससे कि बच्चे को समस्या हो। क्योंकि, ज्यादातर बच्चों के पेट में गैस की समस्या माँ के गलत खान-पान की वजह से होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी 1 मंथ 22 डेज की है इसको गैस की प्रॉब्लम हो गया है इशके लाइए की karei
उत्तर: हेलो डियर आपकी बेबी 2monthहै ,इतने छोटे बच्चों को गैस की समस्या हो सकती है बेबी को सही पोजीशन में बैठकर दूध ना पिलाने से हवा बेबी के मुंह से पेट में चली जाती है जिससे कि बच्चे को गैस की समस्या हो जाती है आप बेबी को गैस की समस्या दूर करने के लिए दूध पिलाने के बाद डकार जरूर दिलाएं | बेबी के पेट में हींग का लेप लगाएं जैतून तेल या किसी भी प्रकार के तेल से बेबी के पेट को एंटी क्लॉक वाइज धीरे-धीरे मसाज करें इससे बेबी के पेट की गैस बाहर निकलेगी | बेबी को ,''बेबी एक्सरसाइज ''जैसे साइकिलिंग आदि कराएं इसे गैस की समस्या दूर होगी | बेबी को अपना दूध पिलाना जारी रखें क्योंकि मां के दूध में ऐसे बहुत सारे तत्व होते हैं जो बहुत सारे इनफेक्शन या बीमारियों से लड़ने के लिए बेबी को पावर देते हैं | किसी भी प्रकार का घरेलू उपचार ya बाहरी चीज बेबी को बिल्कुल भी ना दें|| अगर समस्या अत्यधिक बढ़ रही हो ,या बेबी का पेट दर्द कम ना हो तो डॉक्टर से संपर्क करें|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी को गैस की प्रॉब्लम है
उत्तर: हैलो डियर-बच्चे को गैस से राहत दिलाने के लिए उसे सबसे पहले डकार दिलाएं, क्योंकि इससे बच्चे के पेट का गैस बाहर निकलेगा। डकार दिलाने के लिए बच्चे को अपने कंधे पर सुला कर हाथों से पीठ को सहलाएं इससे बच्चे का डकार निकेगा, और उसे गैस की समस्या से राहत मिलेगी।बच्चे के पेट में गैस को कम करने के लिए बच्चे के पैरों को उठायें और साइकिल जैसा चलायें इससे बच्चे के पेट से गैस निकलने मे सहायता होगी । बच्चे के पेट को हल्के गुनगुने सरसों के तेल से मालिश कर सकती हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें