15 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: खाना में क्या खायें

1 Answers
सवाल
Answer: डियर आपको अपने आहार में प्रोटीन, विटामिन और मिनरल्स को शामिल करना चाहिए। आपका आहार ऐसा होना चाहिए जिसमें पर्याप्‍त मात्रा में आयरन और फॉलिक एसिड हो। खाने में ताजे फल, दाल, चावल, हरी सब्जियां, रोटी आदि खाना चाहिए। बच्चे के दिमाग के विकास के लिए ओमेगा-3 और ओमेगा-6 बहुत जरूरी है। फिश लिवर ऑयल, ड्राइफ्रूट्स, हरी पत्तेदार सब्जियों और सरसों के तेल में यह अच्छी मात्रा में मिलते हैं। आयरन और फोलिक एसिड की गोलियां खाना भी शुरू कर दें। इससे शरीर में खून की कमी नहीं होती है। ज्यादा तला-भुना और मसालेदार खाना न खाएं। इससे गैस और पेट में जलन हो सकती है। जो भी खाएं, फ्रेश खाएं। बाहर के खाने से इंफेक्शन होने का खतरा होता है, इसलिए बाहर खाने से बचें।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: सी सेक्शन में खाना kesa खायें
उत्तर: हैलो डियर--- शिशु के जन्म के बाद मां को बहुत ही थकान और कमजोरी महसूस होती है इस समय अगर आप खान-पान में भी विशेष ध्यान नहीं दे देंगी तो आपको भविष्य में कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है डिलीवरी के बाद आपको जल्द से जल्द रिकवर होने की आवश्यकता होती है और इसका सीधा संबंध आपके खान-पान से होता है आपको अपने डायट में लौकी की सब्जी सूप आदि अपने डाइट में शामिल कर लेना चाहिए यह बहुत ही पौष्टिक और आपको जल्दी ही रिकवर होने में मदद करेगी अगर आपको भी पसंद है तो आपको भी खाना चाहिए कि खाने से आपकी हड्डियां मजबूत और जोड़ों के दर्द से राहत मिलेगी और मांसपेशियों में भी ताकत आएगी दूध दलिया का सेवन रोज करें इससे आप के दूध में वृद्धि होगी और यह बेहद पौष्टिक भी होता है आप चाहे तो फलों का जूस भी अपने डाइट में शामिल कर सकती हैं हो सके तो कुछ दिन तक आपको मिर्च मसाले का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे आपके बेबी को परेशानी हो सकती है मूंग की दाल हरी सब्जी का भरपूर सेवन करें ऐसी खानपान से दूर रहे जो गैस पैदा करती हैं क्योंकि इससे आपके बच्चे को परेशानी होगी आपको अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए क्योंकि इससे आप जल्दी रिकवर करेंगी और स्तनपान कराने में भी वृद्धि होगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: खाना क्या खायें क्या ना khaye
उत्तर: महिला को गर्भावस्‍था के शुरुआती हफ्तों में अतिरिक्‍त फॉलिक एसिड की जरूरत होती है। जो न्‍यूरल ट्यूब बनाने के काम आती है। जो बाद में चलकर दिमाग और रीढ़ की हड्डी बनती है प्रोटीन और मिनरल्स से भरपूर कच्चाी दूध सेहत के लिए फायदेमंद है लेकिन गर्भवती महिलाएं, गर्भावस्थाक के शुरूआती दिनों में भूल से भी कच्चे दूध का सेवन न करें। ऐसे समय में उबला हुआ दूध का ही सेवन करना चाहिए। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को सब्जी और फल खाने की सलाह दी जाती है। लेकिन ऐसे मौके पर गर्भवती महिलाएं पपीता और अनानास खाने से बचें। गर्भवती महिला को इन सभी विटामिन और खनिजों का सेवन करना बहुत आवश्यक है| विटामिन C कैल्शियम फाइबर विटामिन D जिंक आयोडीन फोलेट विटामिन आयरन प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट फोलिक एसिड etc… दूध, अंडा, गाजर, पालक, हरी सब्जियां, ब्रोकोली, आलू, कद्दू, पीले फल, खरबूजा संतरे, संतरे का रस, स्ट्रॉबेरी, हरी पत्तेदार सब्जियां, पालक, बीट्स, ब्रोकोली, फूलगोभी, गढ़वाले अनाज, मटर,सेम, नट्स दही, दूध, चेडर पनीर, कैल्शियम-गढ़वाले खाद्य पदार्थ, सोया दूध, रस, रोटी, अनाज, गहरे हरे पत्तेदार सब्जियां.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: क्या प्रेग्नेनसी में चिकन मछली अण्डे खाना ज़रूरी है शाकाहारी लोग इसके बदले क्या खायें
उत्तर: hellow...dear aap nonvej k badle dudh,dahi,paneer,ghee,dal,tatha hari sak sabjiyo ka niyamit sewan kr sakti hai.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा प्रेगनेट का दो महीना हो राहा ह हम खाना में क्या क्या खायें बताये
उत्तर: hello डियर ,,aapko 11 week ki pregnancy chal rhi hai,प्रेगनेंसी के दौरान शरीर में अधिक मात्रा में आयरन कैल्शियम ,फोलिक एसिड ,विटामिंस ,तथा अन्य प्रकार के सप्लीमेंट की बॉडी को अधिक मात्रा में आवश्यकता होती है इसलिए अपने भोजन दूध, दही, दूध, पनीर , ड्राई फूट्स, केला मोसम्मी, संतरा ,कीवी, आडू ,अनार ,खजूर, ब्रोकली ,अखरोट पत्ता गोभी, गाजर ,शिमला, टमाटर ,लगभग सभी प्रकार की हरी सब्जियां सलाद अंकुरित, अनाज, मछली, eggs विभिन्न प्रकार के विभिन्न प्रकार के फल पपाया, पाइनएप्पल को छोड़कर आप ले सकती हैं फलों का जूस ,मिक्स वेजिटेबल सूप इत्यादि अपने भोजन में शामिल कर करें जिससे आपको पर्याप्त मात्रा में आयरन ,कैल्शियम, विटामिंस, मिले जो कि बच्चे के ब्रेन बॉडी डेवलपमेंट में आपकी मदद करेंगे | भोजन के अलावा आपको पर्याप्त मात्रा में पानी की भी उतनी ही आवश्यकता होती है इसलिए 10 से 12 गिलास पानी जरूर पिएं नारियल पानी का भी उपयोग आप बॉडी को हाइड्रेट करने के लिए कर सकते हैं| चाय कॉफी कोल्ड ड्रिंक फास्ट फूड इत्यादि का सेवन ना करें| किसी भी प्रकार की नशीली चीजें का उपयोग ना करें| मिर्च मसाले तले ,भूले हुए चीजों का उपयोग कम से कम करें|
»सभी उत्तरों को पढ़ें