2 महीने का बच्चा

Question: क्या लेट कर दूध पिलाने से बच्चे के कान बहने लगते है

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: बेबी को लेट कर दूध पिला सकते है वो लेट के पिलाने पर ही सोती है
उत्तर: हेलो डियर बच्चा 2 महीने का हो जाए ya 6 महीने का हो हमें कभी भी बच्चे को लेट कर दूध नहीं पिलाना चाहिए .अगर बच्चे को हम लेट कर दूध पिलाते हैं तो यह बहुत ही असुरक्षित रहता है. साथ ही साथ बच्चे के लिए ear इन्फेक्शन का भी एक बहुत बड़ा कारण बाद में बनता है .इसलिए आप हमेशा कोशिश करें कि सही पोजीशन में बैठकर बच्चे को दूध पिलाएं. मैं मानती हूं कि डिलीवरी के बाद हमारी बैक पेन और भी ऐसे हेल्थ इश्यूज होते हैं जिस वजह से हमें बैठकर दूध पिलाना बहुत कठिन होता है .लेकिन आप कोशिश करें कि आप पीछे तकिए का सहारा लें .साथ ही साथ जब भी बच्चा आराम करता है आप भी आराम करें जिससे कि आपको बच्चे को फिट कराते समय काफी सहूलियत महसूस होगी.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: क्या लेट कर दूध पिलाने से बच्चे का सिर बड़ा होता है .. मुझे लगता है जनम के समय मेरे bete
उत्तर: हेलो आपका बेबी जब तक छोटा है मतलब यह कि जब तक बेबी छह-सात महीने का नहीं हो जाता तब तक आप बेबी को लेट कर या सो कर सुला कर दूध ना पिलाए क्योंकि लेटकर दूध पिलाने से बेबी के कान में दूध चला जाता है जो कि बेबी के लिए बहुत ज्यादा नुकसानदायक होता है लेटकर दूध पिलाने से जो दूध कान में जाता है वह बेबी के कान में घाव बनाता है और इससे कान के परदे खराब होने का भी डर रहता है इसलिए आप बेबी को हमेशा अपनी गोदी में लिटा कर ही दूध पिलाएं और डकार दिला कर ही बेड में सुlaएं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: बच्चों को लेट कर दूध पिलाने से क्या होता है
उत्तर: हेलो डियर अगर आप और आपका बच्चा दोनों कंफर्टेबल रहे लेट के फीड कराने में और लेट के फीड लेने में तो कोई प्रॉब्लम नहीं है लेटर के फीड कराने में बस यही या ध्यान रखिएगा एक तो बच्चे की नाक वगैरह ना दबे क्योंकि सबसे ज्यादा प्रॉब्लम यही होती है लेट करके फीड कराने में
»सभी उत्तरों को पढ़ें