6 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: क्या में इमली खा सकती हूँ इसे बेबी के कलर पर या किसी और चीज़ पर फर्क तो नही पडेगा

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर प्रेगनेंसी मे शरीर मे होने वाले हार्मोनल परिवर्तन के कारण खट्टा खाने का मन करता है इस दौरान आपको इम्ली जैसी खट्टी चीज़े खाने से बचना चाहिए ।यदि आपका इमली खाने का बहुत मन कर रहा है तो आप थोड़ी सी मात्रा में ही इमली जैसी खट्टी चीज़ो का सेवन किजिए ।क्यूकी इससे आपकौ ऐसिडिटी की प्रॉब्लम हो सकती है।
Answer: आपके इमली खाने से बच्चे को कोई नुकशान नहीं होगा. पर अगर आपको इमली से कोई एलर्जी होती है तो ना खाये. क्युकी बहोत लोगो को प्रेगनेंसी के दरमियान इमली से एलर्जी होती है.
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हाइ मुझे इमली खना बहुत अच्छा लग रहा हे पर इसे बेबी के कलर पर तो असर नही पडेगा ना कोई बताये
उत्तर: हेलो डियर बेबी के रंग में किसी भी चीज से कोई फर्क नहीं पड़ता है क्योंकि बच्चे का रंग जेनेटिक होता है अगर मां-बाप का रंग गोरा होता है तो बच्चों का भी गोरा रंग होता है और अगर मां-बाप का रंग सांवला होता है तो बच्चे का भी सावला होता है कुछ भी खाने से कोई असर नहीं होता है लेकिन इस बात का विशेष ध्यान दें कि अगर आपको हिंदी अच्छी लगती है तो आप भले खा सकते हो उसमें साइट्रिक एसिड होता है जो अच्छा होता है लेकिन किसी भी चीज का सेवन बहुत ज्यादा ना करें अवस्था में किसी भी चीज का सेवन ज्यादा करना हानिकारक होता है इसलिए बी केयरफुल डियर
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: क्या में इमली खा सकती हूँ
उत्तर: हेलो डियर आप इमली खा सकते हैं दिल्ली में विटामिन सी और आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो आपकी और आपकी बेबी के लिए बहुत अच्छा है लेकिन बहुत ज्यादा ना खाएं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: क्या में इमली खा सकती हूँ
उत्तर: अक्सर गर्भावस्था में अजीब-अजीब सी चीजें खाने को मन करता है जिसमें से एक इमली भी है पर इमली अधिक मात्रा में बॉडी को नुकसान पहुंचाता है इसलिए आप बहुत थोड़ी मात्रा में ही मन रखने के लिए उसे थोडा़ सा टेस्ट कर सकती है पर ज्यादा नहीं यह गर्भावस्था में नुकसान दायक है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: क्या मै इमली खा सकती हूँ इसे बच्चे को to कोई प्रॉब्लम नही होगी ?
उत्तर: दवा के रूप में उपयोग करने के लिए इमली सुरक्षित है , क्युकी इसमें कैल्शियम, आयरन, फॉस्फोरस, पोटैशियम, मैगनीज और फाइबर अच्छी मात्रा में है। साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स भी हैं। इमली के सेवन से दिल की सेहत दुरुस्त रहती है । पर गर्भावस्था मे दिये गये कुछ कारणो से इसका सेवन करना ज्यादा लाभदायक नही है... 1.विटामिन सी इमली एक स्वस्थ पोषक तत्व है और आप के दैनिक आहार के लिए एक अच्छा अतिरिक्त है। इमली मे विटामिन सी बहुत ज्यादा मात्रा मे होता है। लेकिन, अधिक मात्रा मे, विटामिन C  से गर्भवती महिलाओं पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है । गर्भवती महिलाओं में, अधिक विटामिन सी भी गर्भपात का कारण बन सकता है। गर्भावस्था के पहले महीने में, बहुत अधिक विटामिन सी लेने से प्रोजेस्टेरोन का उत्पादन कम हो सकता है, जिससे गर्भपात हो सकता है। कुछ स्त्रीरोग विशेषज्ञों के अनुसार, विटामिन सी की बहुत अधिक खपत से भ्रूणों में सेल को कम कर सकता है। Also Read गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद हैं ये योग के आसन प्रेगनेंसी में सफाई का कैसे रखें भरपूर ख़याल ? प्रेग्नेंसी के दिनों में पानी की मात्रा कम न होने दें 2. दस्त लगना इमली कब्ज से राहत लाने में मदद करता है, जो कि गर्भावस्था के दौरान एक सामान्य समस्या है। हालांकि, बहुत अधिक इमली खपत करने से कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है: इससे अनियंत्रित दस्त हो सकती है, जो गर्भावस्था को नुकसान पहुंचा सकती है। शरीर मे पानी कि कमी कर सकता है। यह गर्भाशय के संकुचन को उत्तेजित कर सकता है, खासकर गर्भावस्था के अंतिम चरण के दौरान प्री-टर्म  डिलीवरी होने की सम्भावना होती है। 3. इमली का दवा के साथ रीएक्शन एस्पिरिन इमली के साथ रियेक्ट करने के लिए जाना जाता है। आम तौर पर इमली शरीर में एस्पिरिन के अवशोषण को बढ़ाता है। इमली एस्पिरिन के दुष्प्रभावों को प्रेरित कर सकता है। गर्भावस्था के दौरान एस्पिरिन ज्यादा लेने से डिलीवरी में देरी हो सकती है। एस्पिरिन कि तरह इमूप्रोफेन भी इमली के साथ हानिकारक हो सकता है। इमूप्रोफेन लेने से भ्रूण को नुकसान पहुंच सकता है। इससे बच्चे के दिल का मार्ग स्थायी रूप से बंद हो सकता है, जिससे हृदय और फेफड़े के नुकसान हो सकते हैं और मृत्यु भी हो सकती है। इबुप्रोफेन भी श्रम में देरी कर सकती है। 4. गर्भावस्था और स्तनपान गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलायो के लिये इमली खाना सहि है या नहि इसका अभी कोइ खास प्रमाण नही है। पर माना जाता है कि स्तनपान कराने वाली महिलाये अगर इमली खाती है तो उनके दुध हे पोषण तत्व कम हो जाते है और दुध आना भी कम हो जाता है या बंद हो जाता है। 5. सर्जरी इमली ब्लड सुगर के स्तर को कम कर सकता है। जो सर्जरी किसी के दौरान या उसके बाद में रक्त ब्लड सुगर के नियंत्रण में हस्तक्षेप हो सकता है। तो अगर अपकी डिलीवरी सर्जरी से होने वाली है तो कम से कम 2 सप्ताह पहले इमली का उपयोग करना बंद कर दे।
»सभी उत्तरों को पढ़ें