6 महीने का बच्चा

Question: क्या बच्चे को ग्राइप वॉटर दे सकते हैं

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर अभी आपका बेबी 6 महीने का हुआ है जब तक वह भी छह महीना कंप्लीट नहीं कर लेता आप किसी भी प्रकार की दवाइयां ग्राइप वॉटर इत्यादि बेबी को बिल्कुल भी ना दें क्योंकि बेबी के नुकसानदायक है और इसके बाद भी अगर आप बेबी को पूरा कर देना चाहती हैं तो आप डॉक्टर से सलाह जरूर ले लें क्योंकि बिना डॉक्टर की सलाह की किसी भी प्रकार का दवाई देना चाहे ग्राइप वाटर क्वार्टर हो या फिर टॉनिक नुकसानदायक हो सकता हैl
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: बच्चे को ग्राइप वाटर दें सकते हैं क्या
उत्तर: हेलो मम मेरा बेबी 8 मंथ का है और मि प्रेग्नेंट हूँ टू मेन मेडिसिन लि है बेबी गिरने की टू मि आपने बेबी को अपन दूध पिल सकती हूं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: कितने बड़े बच्चे तक को ग्राइप वाटर दे सकते हैं
उत्तर: hello dear 6 महीने से पहले बच्चे को पानी की एक बूंद भी नहीं देनी चाहिए 6 महीने बाद आप बच्चे को ऊपरी आहार के साथ साथ डॉक्टर से पूछ कर ग्राइप वाटर या भुट्टी दे सकती हैं घुटटी और gripe water डॉक्टरों द्वारा सलाह नहीं दी जाती है। यह पाचन तंत्र खराब करता है। कभी-कभी इनसे एलर्जी भी हो सकते हैं। उसमें अधिक मात्रा में चीनी होती है जो दांत की परेशानी बढ़ा सकती है।gripe water बच्चे कीखाने की आदत को प्रभावित करती हैं। Gripe water में कुछ गंदे पानी में अल्कोहल कृत्रिम स्वाद होते हैं जो बच्चों के लिए हानिकारक होते हैं। उनमें बेकिंग सोडा भी होता है। बेकिंग सोडा होता है जो कब्ज कि परेशानी पैदा करता है अतः कब्ज से परेशान बच्चों को नहीं दिया जाना चाहिए.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी साडे 5 महीने के क्या उसे ग्रह फोटो देख सकते हैंक्या बच्चे को ग्राइप वॉटर दे सकते हैं साडे 5 महीने
उत्तर: हेल्लो dear gripe water की डॉक्टरों द्वारा सलाह नहीं दी जाती है। उनके अनुसार --- वे बच्चे को क्रैकी बनाते हैं पाचन तंत्र खराब करें। कभी-कभी वे एलर्जी का कारण हो सकते हैं। उनमें बड़ी मात्रा में चीनी होती है जो दांत क्षय के जोखिम को बढ़ा सकती है। gripe water बच्चे की भोजन की आदत को प्रभावित कर सकती हैं। कुछ गंदे पानी में अल्कोहल और कृत्रिम स्वाद होते हैं जो बच्चों के लिए बहुत हानिकारक होते हैं। उनमें बेकिंग सोडा भी होता है। बेकिंग सोडा को colic baby को नहीं दिया जाना चाहिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें