6 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: क्या खायें इन दिनों

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में आप को प्रोटीन एवं कैल्शियम की सबसे ज़्यादा आवश्यकता होती है क्योंकि बच्चे की हड्डियों के विकास के लिए यह काफी आवश्यकता हैं दालें :-  प्रेग्नेंसीय में आप आपने डाइट चार्ट में हर प्रकार की साबुत या दली हुई दालें  जैसे -अरहर ,चना ,मशूर ,उरद ,मटर की दाल आदि को जरूर शामिल करें।   फाइबर युक्त्त आटा :-    प्रेग्नेंसीय में फाइबर युक्त डाइट अवशय होना चाहिए। अपने आहार में आसानी से शामिल कर सकती हैं।  मछली :-  आपको को मछली अवश्य खाना चाहिए। मछली खाने से बच्चे के मस्तिष्क और आँखों के लिए काफी अच्छी होती हैं। यह आपको प्रोटीन एवं विटामिन भी मिलती है दही :-प्रेग्नेंसीय में डाइट चार्ट में दही को अवश्य शामिल करना चाहिए। ये ध्यान रखे कि दही में कम फैट वाली हो। फल :-  प्रेग्नेंसीय में आप को ताज़ा फल अवश्य खाना चाहिए इसमे आप केला , संतरा ,सेब , अंगूर, आम, चीकू, अनार, मुस्समी, साथ ही विटामिन सी युक्त  फल भी जरूर शमिल करे। दूध :-  प्रेग्नेंसीय में दूध जरूर पीना चाहिए। जिससे आपको बेबी हो जाने के फीडिंग कराने में काफी आसानी हो जायेगी। जिसके लिए अपने आहार में दूध,पनीर और दूध से बनी चीजें ले सकती है ड्राई फ्रूट्स :- प्रेग्नेंसीय में सूखे हुए मेवों का सेवन जरूर करना चाहिए। अगर आप चाहे तो नारियल को छोटे -छोटे टुकड़ों को दिन में कई बार खाती हैं। हरे -पत्तेदार सब्जियां :-  प्रेग्नेंसीय में ताज़ा और हरे -पत्तेदार सब्जी को अपने आहार में अवश्य शामिल करें। जिनसे उनके पेट में रहे बच्चे को प्रोटीन एवं विटामिन सम्पूर्ण मात्रा में मिले नारियल पानी :- आपको रोज नारियल पानी पीना चाहिए , इससे आपको पानी की कमी नही होगी और आपके लिए भी बहुत अच्छा है और फायदे मंद होता है नारियल पानी ।
Answer: महिला को गर्भावस्‍था के शुरुआती हफ्तों में अतिरिक्‍त फॉलिक एसिड की जरूरत होती है। जो न्‍यूरल ट्यूब बनाने के काम आती है,जो बाद में चलकर दिमाग और रीढ़ की हड्डी बनती है ऐसे समय में उबला हुआ दूध का ही सेवन करना चाहिए गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को सब्जी और फल खाने की सलाह दी जाती है, लेकिन ऐसे मौके पर गर्भवती महिलाएं पपीता और अनानास खाने से बचें। गर्भवती महिला को इन सभी विटामिन और खनिजों का सेवन करना बहुत आवश्यक है| विटामिन C कैल्शियम फाइबर विटामिन D जिंक आयोडीन फोलेट विटामिन आयरन प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट फोलिक एसिड etc… दूध, अंडा, गाजर, पालक, हरी सब्जियां, ब्रोकोली, आलू, कद्दू, पीले फल, खरबूजा संतरे, संतरे का रस, स्ट्रॉबेरी, हरी पत्तेदार सब्जियां, पालक, बीट्स, ब्रोकोली, फूलगोभी, अनाज, मटर,सेम, नट्स दही, दूध, पनीर, सोया दूध, रोटी, अनाज, गहरे हरे पत्तेदार सब्जियां. सब आप खायें , आपके और बेबी के लीई बहुत अच्छा है .
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुझे इन दिनों मे क्या खाना चाहिए
उत्तर: आपकी प्रोफाइल के अनुसार आप 4 सप्ताह से प्रेग्नेंट है । इस समय आपको अपना विशेष ख्याल रखना चाहिए और आपको दिनभर में चार या पांच बार तरल चीजें, जैसे छाछ, नींबू-पानी, नारियल पानी, फलों का जूस या शेक पीएं। इससे शरीर में पानी की कमी नहीं होगी। हरी पत्तेदार सब्जियां, मटर, फूलगोभी, शिमला मिर्च, बादाम, काजू, तरबूज, केला व संतरा खाएं। इनके अलावा पालक, चुकंदर,शलगम कद्दू , दाले , दही, दूध-मट्ठा, पनीर, सोयाबीन, बीन्स, और साबुत अनाज लें। गर्भावस्था के दौरान चाय और कॉफी का सेवन नहीं करना चाहिए। गर्भावस्था के दौरान आप को थोड़ा-थोड़ा खाना खाना चाहिए थोड़ी थोड़ी देर में बहुत अधिक खाना नहीं खाना चाहिए । स्मोक नहीं करना चाहिए। अल्कोहल नहीं लेनी चाहिए Coca-Cola Pepsi आदि का सेवन नहीं करना चाहिए । मैदे से बनी चीजों को खाने से परहेज करना चाहिए। जरूरत से ज्यादा मसालेदार खाना नहीं खाना चाहिए। इससे आपको कब्ज की शिकायत हो सकती है। समुद्री मछली खाने से परहेज करना चाहिए । कच्चा मांस या कच्चे अंडे या कोई भी गर्म करने वाली चीज नहीं खानी चाहिए । डब्बा बंद और रेडीमेड खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: क्या इन दिनों सेक्स करना सेफ़ है ?
उत्तर: हेलो डियर गर्भावस्था में सेक्स करना मना नहीं होता है आप 1 महीने से लेकर पूरे 9 महीने तक सेक्स कर सकती है लेकिन तब भी कर सकती है जब आप की गर्भावस्था बिल्कुल सामान्य चल रही हो उसमें किसी भी प्रकार का कॉम्प्लिकेशन ना हो या फिर आपका पहले कभी गर्भपात ना हुआ हो तो आप सेक्स कर सकती है बस आपको एक बात का ध्यान देना होरते समय आपके पेट पर दबाव ना पड़े
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मे क्या खाऊँ इन दिनों मे
उत्तर: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में आप को प्रोटीन एवं कैल्शियम की सबसे ज़्यादा आवश्यकता होती है क्योंकि बच्चे की हड्डियों के विकास के लिए यह काफी आवश्यकता हैं दालें :-  प्रेग्नेंसीय में आप आपने डाइट चार्ट में हर प्रकार की साबुत या दली हुई दालें  जैसे -अरहर ,चना ,मशूर ,उरद ,मटर की दाल आदि को जरूर शामिल करें।   फाइबर युक्त्त आटा :-    प्रेग्नेंसीय में फाइबर युक्त डाइट अवशय होना चाहिए। अपने आहार में आसानी से शामिल कर सकती हैं।  मछली :-  आपको को मछली अवश्य खाना चाहिए। मछली खाने से बच्चे के मस्तिष्क और आँखों के लिए काफी अच्छी होती हैं। यह आपको प्रोटीन एवं विटामिन भी मिलती है दही :-प्रेग्नेंसीय में डाइट चार्ट में दही को अवश्य शामिल करना चाहिए। ये ध्यान रखे कि दही में कम फैट वाली हो। फल :-  प्रेग्नेंसीय में आप को ताज़ा फल अवश्य खाना चाहिए इसमे आप केला , संतरा ,सेब , अंगूर, आम, चीकू, अनार, मुस्समी, साथ ही विटामिन सी युक्त  फल भी जरूर शमिल करे। दूध :-  प्रेग्नेंसीय में दूध जरूर पीना चाहिए। जिससे आपको बेबी हो जाने के फीडिंग कराने में काफी आसानी हो जायेगी। जिसके लिए अपने आहार में दूध,पनीर और दूध से बनी चीजें ले सकती है ड्राई फ्रूट्स :- प्रेग्नेंसीय में सूखे हुए मेवों का सेवन जरूर करना चाहिए। अगर आप चाहे तो नारियल को छोटे -छोटे टुकड़ों को दिन में कई बार खाती हैं। हरे -पत्तेदार सब्जियां :-  प्रेग्नेंसीय में ताज़ा और हरे -पत्तेदार सब्जी को अपने आहार में अवश्य शामिल करें। जिनसे उनके पेट में रहे बच्चे को प्रोटीन एवं विटामिन सम्पूर्ण मात्रा में मिले नारियल पानी :- आपको रोज नारियल पानी पीना चाहिए , इससे आपको पानी की कमी नही होगी और आपके लिए भी बहुत अच्छा है और फायदे मंद होता है नारियल पानी ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी लास्ट पिरियड्स डेट 24 नोवेम्बर थी . टु एम.जे. कितने डिन की प्रेगनेन्सी हुई . ऑर बेबी की हार्ट बीट कितने दिनों मेन पत्ता chal jaegi
उत्तर: Hllo dear ur lmp s 24 Nov. According to ur lmp u r 5 week s running nd 'll be over tomorrow on 31 Dec. Nd 6 week 'll start from.tomorrow 31 Dec.dear generally heatbeat comes in 5 or 6 weeks .but in few cases it comes late as in 7 or 8 weeks .in rare its comes in 9 weeks too . dear gyno waits till 9 weeks .dear heartbeat depend on the time of concieving the women who concieve just after period in that prengencies heartbeat comes in 5 6 weeks and who concieves late as near to next period in that pregnancies heartbeat comes in 9 weeks .so wait till 9 weeks .so consult to ur gyno
»सभी उत्तरों को पढ़ें