15 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: कौन कौन से टेस्ट होते है

1 Answers
सवाल
Answer: hello प्रेगनेंसी के दूसरे तिमाही पर सेकंड लेवल अल्ट्रासाउंड कराया जाता है जिसमें बच्चे के डेवलपमेंट और प्लेसेंटा की पोजीशन देखी जाती है। और प्लेसेंटा में कॉम्प्लिकेशन होने पर बताया जाता है दूसरे टेस्ट ग्लूकोस की स्क्रीनिंग टेस्ट होती है जिसमें ब्लड में ग्लूकोज की मात्रा को देखकर प्रेगनेंसी के दौरान होने वाले गेजस्ट नल डायबिटीज की जांच की जाती है तीसरा टेस्ट डॉपलर टेस्ट होता है जिसमें फीटल पर ब्लड और ऑक्सीजन की सप्लाई का टेस्ट किया जाता है। यह सारे टेस्ट प्रेगनेंसी के दूसरे तिमाही पर कराना जरूरी रहता है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: 5th month में कौन कौन से टेस्ट होते है
उत्तर: हेलो डियर प्रेगैन्सी में 5 वे महीने में annomaly स्कैन होता है .इससे आपको बेबी के सभी पार्ट्स के बारे में जानकारी मिलेगी जैसे की बेबी का सिर ,हात ,पाव ,हात और पांव की उगंलियों को देख सकते है किडनी यह सब अच्छे से है या नही यह annomaly स्कैन से पता चलता है .इसलिये यह स्कैन बहोत महत्वपूर्व होता है .अपना ख्याल रखना डियर .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: तिसरे महीने में कौन कौन से टेस्ट होते है
उत्तर: हेलो डियर एक तो रेगुलर अल्ट्रासाउंड होना चाहिए इसके अलावा ब्लड टेस्ट होना चाहिए यूरीन टेस्ट होना चाहिए और बहुत बार डॉक्टर ब्लड शुगर का भी टेस्ट करते हैं तीसरे महीने में
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हैलो मैम 5 मन्थ मे कौन कौन से टेस्ट होते है प्लिज बताय
उत्तर: गर्भावस्था के समय मां और बच्चे का ख्याल रखना बहुत जरूरी होता है मां की पहली देखभाल तो खुद पर निर्भर करता है लेकिन बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में जानने के लिए हमें कुछ जांच करानी पड़ती है गर्भावस्था के दौरान शरीर में काफी परिवर्तन होते हैं जिनकी निगरानी करना बच्चे और मां के स्वास्थ्य के लिए बहुत ज्यादा आवश्यकता है इसलिए हमें समय समय पर चेकअप करवाना चाहिए बच्चे के जन्म से पहले जो परीक्षा में होता है उसे एंटी नेटल केयर कहा जाता है iska udesya यही होता है कि बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में जानना प्रेगनेंसी में सबसे पहले स्क्रीनिंग टेस्ट 15 से 20 हफ्ते के दौरान करवाने चाहिए जिससे कि बच्चे की रीढ़ की हड्डी के बारे में हमें पता चलता है इस समय आप बच्चे में होने वाले डांस एंड उनके बारे में भी पता कर सकते हैं जो क्रोमोसोम में जींस होते हैं उनके द्वारा माता पिता के गुण बच्चों में ट्रांसफर होते हैं इन क्रोमोसोम में गड़बड़ी की वजह से उनको डाउन सिंड्रोम होने का चांस रहता है इसलिए 15 से 20 सप्ताह के दौरान एक बार जांच करानी जरूरी होती है गर्भवती महिला की सबसे पहली जांच उसके पहले तिमाही में होता है जिसमें डॉ आपके मासिक धर्म चक्र पिछला गर्भाधारण , सेवन करने वाली दवाइयों और आपके जीवन शैली के बारे में पूछते हैं इस समय आपका वजन BP हृदय की गति यह सब मापा जाता है जो की बहुत जरूरी होता है दूसरी तिमाही में भी आपके यूरिन टेस्ट अल्ट्रासाउंड और आपका ब्लड टेस्ट किया जाता है जिससे कि आपका हीमोग्लोबिन का स्तर और आपके बच्चे की स्थिति के बारे में जाना जाता है तीसरी तिमाही में जब महिला गर्भवती के अंतिम चरणों में पहुंच जाती है तो आपकी सेहत आप प्रेग्नेंसी के अनुसार डॉक्टर आपको हर दो और 4 हफ्ते में हास्पिटल आने के लिए कहते हैं आज जब 36 सप्ताह की शुरुआत से जब तक डिलीवरी नहीं हो जाती तब तक आपको हमेशा जांच करवाते रहना चाहिए कि इस दौरान आपका और आपके बच्चे पर पूरा ध्यान रखा जाता है इस दौरान भी अल्ट्रासाउंड कराया जाता है जिसमें प्लेसेंटा की स्थिति बच्चे का विकास और एमनियोटिक द्रव के स्तर की जांच की जाती है इस लास्ट महीने में आपको और बच्चे के लिए खांसी से बचाव के लिए एक vaccine लगाई जाती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्रेगनेंसी में कौन से महीने में टेस्ट होते हैं
उत्तर: हेलों आप 12 वीक प्रेगनेट है .अगर आपने अभी तक अल्ट्रासाउन्ड नही करवाया है तो अब ज़रूर कारवा ले .अल्ट्रासाउन्ड कारवा लेने से आपके बच्चे की हार्ट बीट कैसे है और उसकी ग्रोथ कैसे है आप ये क्लियर कर सकती है .सेहत और मेडिकल हिस्ट्री के मुताबिक डॉक्टर आपको कुछ टेस्ट कराने की सलाह दे सकते हैं।  हिमोग्लोबिन, कैल्शियम, ब्लड शुगर, यूरीन और एचआईवी टेस्ट, थायरॉइड आपको जरूर कराना चाहिए। ये टेस्ट हर तीन महीने में कराए जाते हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें