3 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: कैसे सोना चाइय ?इन वट पोजिशन

1 Answers
सवाल
Answer: hello शरीर में यूट्रस का पोजीशन लेफ्ट साइड पर होता है और बेबी शुरुआत से ही लेफ्ट साइड पर रहता है। इसलिए बेबी का मूवमेंट ज्यादातर लेफ्ट साइड पर ही फील होता है और लेफ्ट साइड ज्यादा भारी लगता है जैसे जैसे गर्भ में बच्चा बड़ा होता जाता है उसका दबाव शरीर के बाकी अंगों पर पड़ता है। युटेरस की पोजीशन लेफ्ट साइड में होने के कारण लेफ्ट करवट करके सोने से मां और बच्चे दोनों को आराम रहता है। लेफ्ट करवट सोने से बेबी तक ब्लड और ऑक्सीजन सप्लाई अच्छे से हो पाता है। राइट करवट सोने से बेबी का भार शरीर के आंतरिक अंगों पर पड़ता है जिसके कारण मां को तकलीफ होती है। और पीठ के बल या सीधे सोने से बेबी के नाल में फंसने का और पोजिशन खराब होने का खतरा रहता है इसलिए पूरी प्रेगनेंसी के दौरान लेफ्ट करवट करके सोने की सलाह दी जाती है।ज़ज़
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: वट टु डू इन khanshi
उत्तर: हैलो डियर, छोटे बच्चों को सर्दी खांसी जुकाम और कफ से राहत के लिए आप कुछ घरेलू उपाय कर सकती हैं। 1) सर्दी होने पर छोटे बच्चे ko हमेशा थोड़ी दे धूप में जरूर रखें सुबह सुबह की सनलाइट आपके बच्चे के लिए बहुत ही अच्छी होती है क्योंकि उसमें बहुत ज्यादा मात्रा में विटामिन Aपाया जाता है जो आपके बेबी की BONES और इम्यून सिस्टम के लिए बहुत ही अच्छा होता है जिससे उसके cough cold में भी काफी राहत मिलेगी 2) लहसुन की कुछ कलियों को तभी तवा पर भूल लीजिए फिर इन कलियों को एक रूमाल में बांधकर उसकी पोटली बना लेते हैं जब फिर इस पोटली ko बच्चे keसीने पर रखकर के सिकाई करते हैं इस बात का ध्यान रखिएगा की पोटली बहुत ज्यादा गर्म ना हो इससे बच्चे का कफ काफी जल्दी ढीला होगा| 3) सरसों का तेल गर्म करके उसमें थोड़ी सी अजवाइन और लहसुन की कुछ कलियां डालकर पका लें ठंडा होने पर इसी तेल से बच्चे के पूरे शरीर में मालिश करें 4) सर्दी होने पर बच्चे को ठंडी हवाओं से बचाएं कान ढक कर रखें पैरों में मोजे पहनाकर रखें |
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्रेग्नेसी में किस पोजिशन में सोना चैये
उत्तर: हेलो प्रेगनेंसी में आप जैसे सोने में कम्फर्टेबल हो वैसे सोएं लेकिन   कमर के बल पूरा जोर लगाकर सोना सही नहीं है। गर्भवती महिला को किसी एक ओर हल्‍की करवट से सोना चाहिए। इससे उसे किसी प्रकार की कोई समस्‍या नहीं hogi.हमारा हार्ट लेफ्ट साइड होता है ऐसे में बाएं ओर करवट लेकर सोना सबसे ज्‍यादा सही रहता है। इससे पेट पर भी ज्‍यादा जोर नहीं पड़ता, हार्ट बीट भी सही रहती है और ब्‍लड़प्रेशर भी कंट्रोल रहता है प्रेग्नेंसी के शुरुआती दिनों में अगर आप पीठ के बल सोती हैं तो चिंता की कोई बात नहीं है लेकिन जैसे-जैसे महीने बीतते जाते हैं वैसे-वैसे शरीर का अगला हिस्सा भारी होने लग जाता है. गर्भ बढ़ने के साथ ही पीठ पर भी बल पड़ने लगता है. जब गर्भवती महिला पीठ के बल लेटती है तो गर्भाशय का पूरा भार शरीर के दूसरे अंगों पर पड़ता है. इससे ब्लड सर्कुलेशन भी बिगड़ सकता है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: आई हैव वॉमिट इन एम.आर.एन.जी. डेली वट शूड आई do
उत्तर: गर्भावस्था के दौरान बहुत सारी गर्भवती महिलाओं को उल्टी की समस्याएं रहती हैं किसी को शुरू के 3 महीने होती है और किसी को पूरी प्रेगनेंसी के दौरान उल्टियां होती हैं अतः उल्टी से राहत पाने के लिए कुछ घरेलू उपाय हैं जिन्हें आप अपना सकते हैं पहला आप संतरे का जूस पी सकती हैं इससे आपको आराम मिलेगा नींबू को काटकर उसे गर्म करें और उसके ऊपर हल्का सा काला नमक डालें और इसे चाट लें इससे भी उल्टी में आराम मिलता है खट्टे मीठे फलों का फ्रूट चार्ट बनाएं जैसे कि केला संतरा सेब इत्यादि कांटे और उस पर चाट मसाला और हल्का सा काला नमक डालकर खाएं इससे भी आपको आराम मिलेगा और पौष्टिक तत्व भी आपके शरीर में जाएंगे पुदीने की शिकंजी बनाकर आप भी सकती हैं नींबू का शरबत बनाकर पी सकती हैं यह सारे उपाय आप अपने आप को उल्टी में आराम मिलेगा और आपका जी भी नहीं मिचली नही करेगा .
»सभी उत्तरों को पढ़ें