गर्भावस्था की तैयारी

Question: कितना indometriyam रहना चाहिए सफ़ल आई वी एफ के लिये प्लीज़ मुझे bataye

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: आई वी एफ की प्रक्रिया मे ट्रांसफ़र के बाद क्या क्या सवदहनिय bartani चाहिए
उत्तर: संभोग से बचे की प्रक्रिया के बाद पति पत्नी को संभोग से बचना चाहिए। संभोग से महिलाओं में वैजाइनल इंफेक्शन होने का खतरा रहता है जिससे यह प्रक्रिया सफल नहीं हो पाएगी।   भारी सामान नहीं उठाएं आईवीएफ की प्रक्रिया के बाद महिलाओं को भारी सामान नहीं उठाना चाहिए। कई डॉक्टरों का कहना है कि महिलाओं को तब तक भारी सामान नहीं उठाना चाहिए जब तक यह सुनिश्चित नहीं हो जाए कि वे प्रेग्नेंट है। भारी सामान उठाने से पेट की मांसपेशियों पर दबाव पड़ता है जिससे आईवीएफ प्रक्रिया पर असर हो सकता है। इस दौरान महिलाओं को घर के कठिन कामों से दूर रहना चाहिए।   नहाएं नहीं डॉक्टरों के मुताबिक आईवीएफ की प्रक्रिया के दो हफ्ते तक महिलाओं को नहाना नहीं चाहिए। नहाने से आईवीएफ की प्रक्रिया पर असर हो सकता है जिससे प्रत्यारोपित अंडा अपने स्थान से हट सकता है। इस अवस्था में मरीजों को शॉवर बाथ लेने की सलाह दी जाती है।   ज्यादा हिलने वाले व्यायाम नहीं करें आईवीएफ प्रक्रिया के बाद महिलाओं को कोई भी भारी एक्सरसाइज व एरोबिक्स करने से मना किया जाता है। इस समय जॉगिंग करने की अपेक्षा , हल्के व्यायाम जैसे टहलना अच्छा रहता है । इसके अलावा महिलाएं मेडिटेशन भी कर सकती हैं। प्रोजेस्टेरोन लें ओव्यूलेशन के बाद यह बहुत जरूरी है कि गर्भावस्था बनाए रखने के लिए महिला के शरीर में प्रोजेस्ट्रोकन न की  पर्याप्त मात्रा हो। प्रोजेस्ट्रो न एक हार्मोंन है जिसका उत्पादन ओवरी के द्वारा होता है। आईवीएफ की प्रक्रिया के बाद पर्याप्त मात्रा बनाए रखने के लिए डॉक्टर इंजेक्शन द्वारा महिला के शरीर में कृत्रिम प्रोजेस्ट्रोन  देते हैं। यह इंजेक्शन गर्भावस्था के 12 वें सप्ताह तक दिए जाते हैं, जब तक महिला का शरीर खुद पर्याप्त हार्मोन का निर्माण नहीं करने लगता है।  
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: आई वी एफ की जानकारी
उत्तर: हेलो डिअर , I V F से जो प्रेग्नेंट होने की प्रकिया होती है वह प्राकृतिक नही होती है , इस प्रकिया में डॉक्टर महिला को इंजेक्शन देकर इसके मासिक को धर्म को रोकते है क्योंकि मासिक होते रहने से गर्भ धारण नही किया जा सकता हैं , इसके बाद जब ओवरी से अंडे बनते हैं तो ओवुलेशन के समय फिर फर्टीलिटी ड्रग दिया जाता है इस दौरान बहुत से एग ओवरी में बनने लगते है फिर फर्टीलिटी हार्मोन की वजह से बनाये गए अंडों को बाहर निकाला जाता है और फिर छोटी सी सर्जरी के जरिये महिला के वेजिना में ले जाते हैं और उस सुई के सहारे एग को निकाल कर स्पर्म को एग के साथ रखते है फिर कुछ दिनों के बाद स्पर्म के साथ एग अंदर चला जाता है और फर्टिसाइज़ करना स्टार्ट कर देती है इसके बाद प्रेग्नेंसीय के चांसेस बढ़ जाते हैं इस तरह से टेस्ट ट्यूब की प्रकिया होती हैं ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: इज आई वी एफ से नोरमल डिलीवर हों सकी ह
उत्तर: जी हा ivf के बाद आपको नॉर्मल डिलिवरी हो सकती है , गर्भावस्था के दौरान ज्यादा से ज्यादा प्रसव औरशिशु के जन्म से जुडी जानकारियाँ प्राप्त करें। जानें प्रसव के दर्द और उससे सहने कि ताकत के बारे में नियमित रूप से व्यायाम करें तनाव से बचें  सही खाना खाएं अच्छी नींद सोयें
»सभी उत्तरों को पढ़ें