6 weeks pregnant mother

कन आई टेक अई कप ऑफ टी इन मॉर्निंग ऑर इवनिंग

सवाल
चाय की पत्ती में कैफीन पाया जाता है जो कि प्रेगनेंसी में हानिकारक होता है इसीलिए प्रेगनेंसी में चाय पीना अच्छा नहीं है अगर आप चाय पीने के आदी हैं तो 1 दिन में एक कप ले सकते हैं पूरे दिन भर में एक कप से ज्यादा ना लें पूरे दिन भर में एक कप से ज्यादा चाय पीने से आपको गैस की समस्या भी हो सकती है
हेलो डियर आप चाय पी सकती है।लेकिन एक कप से ज्यादा चाय दिन भर मे ना पिए।आप लेमन टी और दूधवाली चाय पी सकती है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: कैन आई ड्रिंक 3 ग्लास ऑफ वाटर इन अर्ली इन द मॉर्निंग . एल ऍम 7 वीक pregnent
उत्तर: हेलो प्रेग्नेसी में डेली 3 से 4 लिटर पानी पीना चाहिए अगर आप मॉर्निंग में 3 गलास पानी पीती है तो इसमें कोई प्रोबल्मे नही है ऐसा करना आपका मोशन सही रखेगा और आपको हाइड्रेट रखेगा .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: आई हैव अई लॉट ऑफ ऍसिडिटी
उत्तर: hello dear यह काफी आम है और कोई नुकसान नहीं पहुंचाती,एसिडिटी की वजह से हार्टबर्न भी हो सकता है आप शायद एसिडिटी और जलन से पूरी तरह छुटकारा न पा सकें, मगर आप कुछ उपाय आजमाकर इसे कम करने का प्रयास अवश्य कर सकती हैं, जैसे कि तैलीय या मसालेदार भोजन, चॉकलेट, खट्टे फल, शराब और कॉफी, ये सभी खाद्य पदार्थ एसिडिटी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। अगर, आपको असहजता महसूस हो, तो कुछ समय के लिए इन पदार्थों से परहेज रखें सोडायुक्त पेयों की बजाय पानी पीएं, रेडीमेड भोजन और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों का सेवन कम करें, जैसे कि टॉमेटो कैचअप, अचार और चटनी आदि। इनमें बहुत ज्यादा मात्रा में नमक, प्रिजर्वेटिव्स और एडिटिव्स होते हैं। एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही का सेवन एसिडिटी और हार्टबर्न का सदियों पुराना इलाज माना जाता है। एक कप अदरक की चाय भी आपको राहत पहुंचा सकती है। केला खाने से भी इसमें फायदा होता है। थोड़ी मात्रा में, लेकिन बार-बार भोजन खाती रहें। भोजन को अच्छी तरह चबाकर खाएं। एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच लंबा अंतराल होने से भी एसिडिटी बनने लगती है। भोजन के दौरान बहुत ज्यादा मात्रा में तरल पदार्थ न पीएं। गर्भावस्था के दौरान रोजाना आठ से 12 गिलास पानी पीना जरुरी है, मगर ये एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच की अवधि में ही पीएं। कोशिश करें कि रात को आप सोने से करीब तीन घंटे पहले अपना भोजन कर लें। कई बार लेटने से भी छाती में जलन होने लगती है, क्योंकि गुरुत्व बल के कारण पेट से अम्ल बाहर निकलने लगते हैं। रात को देर से भोजन करने पर, कोशिश करें कि खाने के कम से कम एक घंटे बाद ही लेटें तकिये लगाकर सोएं, ताकि आपके कंधे आपके पेट से ऊंचे रहें.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: आई हैव पेन इन लोअर अबदोमन ऐन्ड हैव अई प्रॉब्लम ऑफ गैस प्लीज़ टेल व्हाट शूड हैव टु फॉलो
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में पेट में दर्द होना आम बात होती है प्रेग्नन्सी के दौरान हमारे शरीर में बहुत सारे हारमोनल परिवर्तन होते हैं जिसकी वजह से कभी पेट दर्द कभी उल्टी कभी कोई समस्या उत्पन्न हो जाती है आप परेशान मत हो। इस अवस्था में विशेषकर पेट के निचले हिस्से में हल्का-हल्का दर्द भी हो सकता है प्रेगनेंसी के समय में ज्यादा वजन नही उठना चाहिए और ना ही ज्यादा झुकना चाहिए। जमीन पर क्रॉस लेग करके नहीं बैठे वरना दर्द ज्यादा बढ़ सकता है पीठ के बल सोने की बदले साइड की करवट लेकर सोना चाहिए  हील वाली सेंडिल नही पहनना चाहिए हमेशा हमेशा स्लिपर ही पहने ज्यादा देर तक एक स्थिति में खड़े ना रहे  जिस तरफ दर्द हो रहा हो, उसके दूसरी तरफ होकर लेट जाएं और आराम करें। गैस प्रेग्नेंसी मे बहुत आम समस्या है। इससे सीने मे जलन भी होने लगती है। भूंख भी नही लगती है। पेट दर्द भी होता है। 1. बहुत सारे तरल पदार्थ पीएं। 2. सक्रिय रहें और वॉक करें और योग करें। 3. आलू, गेहूं, ब्रोकोली, अंडा आदि जैसे गैसी खाद्य पदार्थों को कम खाएं। 4. फाइबर युक्त भोजन का सेवन करें, अंजीर, और केले, और सब्जियां, साथ ही पूरे अनाज जैसे जई और फ्लेक्स सभी अच्छे फाइबर बूस्टर हैं। 5. हल्के भोजन और कम मात्रा मे लें। 6. आसान पाचन के लिए सौंफ़ के बीज और छाछ पिये रोज।
»सभी उत्तरों को पढ़ें