36 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: एक्सर्साइज for पेल्विक एरिया

1 Answers
सवाल
Answer: आप हलकी वॉक कीजिए और किसी के guidence में हाइ किसी प्रकरण का एक्सेर्सिज़े कीजिए ...
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: पेन इन पेल्विक एरिया ऐन्ड थोड़ा कमर दरद है 39 th वीक की प्रेग्नेन्सी h
उत्तर: प्रेग्नेंसी के आखिरी आखिरी मंथ में हमारी pelvic एरिया के मसल्स और बोन दोनों फैलने लगते हैं जिससे हमें बीच-बीच में पेन होता रहता है यह नॉर्मल है आप घबराइए नहीं यह प्रेगनेंसी में होता ही है इससे हमें नॉर्मल डिलीवरी के लिए हेल्प मिलती है हमारा बॉडी अपने आप को इसके लिए तैयार करता रहता है जैसे-जैसे बच्चे का साइज बढ़ता जाता है जिससे पेट में हल्का दर्द या खिंचाव महसूस होता है । लेकिन अगर ज्यादा दर्द है और लंबे समय तक है तो आप अपने डॉक्टर से जाकर तुरंत संपर्क कीजिए इसके लिए आप बीच में करवट बदलते रहिए और हल्की मसाज कीजिए आप दोनों पैरों के बीच में तकिया लेकर भी सो सकती है इससे आपको थोड़ा आराम मिलेगा।लास्ट लास्ट के month मे आप कुछ बातों का खास ध्यान रखिए। बच्चे का मूवमेंट दिन में कम से कम 15baar होना जरुरी हैं कभी कभी बच्चे सोते रहते हैं. यदि आपको मूवमेंट मेहसुस नहीं हो रही है तो आप ठंडा पानी पीजिए अपने पेट me हाथ फेरते रहिये... अगर कुछ मूव मेंट ना दिखे तो डॉ को जरूर दिखाए. लास्ट लास्ट प्रेग्नेन्सी में बच्चे का सर पेल्विक एरिया मि फिक्स होने लगता है जिससे बेबी का मुवमेंट थोड़ा कम या अलग लग सकता है. आप किसी भि प्रकार का वेजिनल लीकेज को नोटिस करते रहिए । जिससे आपको पता चलेगा अगर आपका वाटर लीक होगा तब और किसी भी प्रकार का डिस्चार्ज होगा तब आपको डॉ से संपर्क करना है।।।सफेद डिस्चार्ज नार्मल है उसमें घबराने की बात नहीं है।।। अगर किसी भी प्रकार का तेज़ पेट में दर्द होता है तो अपने डॉ से मिलिये।।यह लेबर पेन भी हो सकता है। आप अपने बेबी के लिए एक हॉस्पिटल बैग तैयार कर लीजिये जिसमे कुछ जरुरी सामान रखना होगा जेसे बच्चे के २...३ सेट धुले कपडे और धुप में अच्छे से सुखाय हुये।आपके २...३ सेट फीडिंग वाले गाउन दो तीन पैर अंडर गारमेंट... जरूरी हॉस्पिटल के डॉक्युमेंट्स... diaper... बेबी वाइप... एक टॉवल और बेबी को ढाक्ने और cuddle करने के लिए ब्लंकेत... दूध पिलाने के लिए एक स्टॉल... कोई भी एंटीसेप्टिक लिक्विड सोप और हैंड सैनिटाइजर.. पैड... एक छोटा मिरर और comb। आप अच्छा सन्तुलित खाना लीजिये।।खुश रहिये और अपने बेबी का वेट कीजिये।... प्रेगनेंसी की पूरी अवधि ४०वीक्स मानी जाती है। बहुत से बच्चे ३७वीक से ४० वीक के अंदर पैदा हो जाते है। वीक्स आपके पीरियड के पहले दिन से काउंट किय जाते है। जरूरी नहीं है कि बच्चे सिर्फ पेन से ही पैदा होते हैं कभी-कभी अवधि पूरी हो जाने के बाद बच्चों को ज्यादा देर तक पेट में रहने से नुकसान भी हो सकता है इसलिए आप डॉक्टर के निर्देशों का पालन करते रहिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: पेल्विक एरिया का कौन सा मसाज होता ह
उत्तर: हेलो ..गर्भ में शिशु के होने की वजह से आपकी मांसपेशियों, जोड़ों और नसों पर काफी दबाव पड़ता है..इससे आपको पेट के आसपास के क्षेत्र में काफी असहजता महसूस हो सकती है..jiske karan aap ko pet mei dard ki samasya ho sakti hai...jo ki pregnancy mei samanya mani jati hai.. गर्भ में बच्चे का वजन बढ़ जाने की वजह से पैल्विस पर प्रेशर बढ़ जाता है..ऐसे में नसों पर दबाव बढ़ने से चलने-फिरने में परेशानी हो सकती है.. संकुचन प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भाशय में होने वाला एक तरह का ऐंठन है जो सामान्य है..इस दौरान अधिक पानी का सेवन करने से इस दर्द से आराम मिल सकता है.. प्रेग्नेंसी के दौरान कब्ज होना आम है..इसकी वजह से पैल्विस में काफी दर्द हो सकता है.. इसके लिए आपको खूब सारा पानी पीना चाहिए pelvic area में दर्द होने पर आप राहत पाने के लिए नारियल के तेल से हल्के हाथों से मसाज करें और towel को गिला कर कर आप अपने पेट के ऊपर रखें इससे आपको बहुत आराम मिलेगा प्रेग्नेंसी के दौरान अंडाशय में गांठ हो सकती है... इस वजह से आपके यूटेरस पर दबाव पड़ता है और आपको लगातार पैल्विक पेन होता अगर आप को तकलीफ़ जायदा लगें टु आप डॉक्टर से sampark करे ..
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: jab v karbat leti hun mere पेल्विक एरिया me बोहत pain hota hai ... क्या karu
उत्तर: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में बेबी का आकार बढ़ने की वजह से बेबी का सारा वजन पेट के नीचे या vaginaa पर भी पड़ता इससे योनि में दर्द होने लगता है आप ऐसे में योनि को कोई भी कॉटन के कपड़े को फ्रिज में ठंडा होने के लिए रखे फिर आप इससे सिकाई कर ले या गुनगुने हल्के गर्म कपड़े से सिकाई कर सकती है आपको आराम हो जाएगा, आप टॉयलेट करके उठे या बैठे तो आराम से , ज्यादा देर तक ना बैठे नही तो दर्द और बढ़ जाएगा , कोई भारी भरकम सामान ना उठाये , आराम से रहे ऐसा होना नॉर्मल है आप परेशान ना हो इससे आपके बेबी को कोई प्रॉब्लम नही होंगी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें