36 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: उसके पेट में दर्द होता है कभी -कभी नीचे साइड में हल्का-फुल्का खाना खाने के बाद भी जो है गैस जैसा बन जाता है

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डिuयर गैस की समस्या आमतौर पर गर्भावस्था के दौरान होने वाले शारीरिक बदलाव के कारण होती है। इसका मुख्य कारण प्रोजेस्टेरोन का लेवल बढ़ना है। इससे आंत ढीली पड़ जाती है और भोजन को पचने में समय लगता है।मैं आपको कुछ होम रेमेडीज बताती हूं जिससे आपको मदद मिल पाएगी गैस की समस्या से बचने के लिए एक ही बार में बहुत ज्यादा खाने के बजाय थोड़ा-थोड़ा अंतराल पर पूरे दिन कुछ-कुछ खाते रहें। ज्यादा मात्रा में भोजन करने पर उसके पाचन में दिक्कत आती है। खाने को अच्छे चबा कर खाएं। ऐसे भोजन बिल्कुल न खाएं जिससे गैस बनती हो।कुछ सब्जियां जैसे पत्ता गोभी, फूलगोभी, बोडा, प्याज, ब्राकोली, इत्यादि। इनमें मौजूद कुछ प्रकार के कार्बोहायड्रेट आसानी से पचते नहीं हैं। ग्लास में मथी डालकर उसे रात भर फूलने के लिए छोड़ दें। सुबह मेथी को निकाल कर उसके पानी को पीएं। इससे गैस की समस्या दूर होगी। अपने खाने में एक और अजवाइन का जरूर यूज़ करें इससे गैस की प्रॉब्लम सॉल्व होती है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हेलो मम , मुझे एक हफ़्ते से खाना खाने के बाद राइट साइड पेट में बहुत दरद होता है और कभी कभी लेफ्ट साइड भी .
उत्तर: आप बिल्कुल भी घबराए नहीं प्रेगनेंसी के स्टार्टिंग से लेकर एंड तक पेट में अगर हल्का हल्का दर्द कहीं भी बना हुआ है तो बहुत ही सामान्य है. ज्यादातर यह दर्द गैस की वजह से हो सकता है. आप अपने खाने में सही रूटीन रखें साधारण सा पौष्टिक खाना खाएं पानी खूब पिएं आप ध्यान रखें आप जब भी खाना खाए तो एक बार में बहुत सारा ना खाएं थोड़ा-थोड़ा चबाकर खाएं और डॉक्टर के द्वारा दिए गए हुए सप्लीमेंट्री समय पहले .अपनी नींद का बहुत ध्यान रखें .नींद पूरी ना होने की वजह से भी पाचन क्रिया हमारी कम हो जाती है .जिस वजह से हमें पेट में कहीं-कहीं दर्द होता है. प्रेगनेंसी के दौरान कभी-कभी सेक्स करने से भी दर्द हो सकता है आप इन सब बातों का बहुत ध्यान रखें आपको इसमें रहा आराम मिलेगा अगर यह दर्द बहुत ज्यादा हो रहा है तो आप डॉक्टर से भी सलाह जरूर करें यूटरस की राउंड लिगामेंट्स में खिंचाव के कारण पेट में दर्द होता है .यह राउंड लिगामेंट्स mainly 2 tissues ke रूप में होती है .जो आपके यूट्रस को स्थिर रखते हैं .वह यूट्रस और fetal के बढ़ने के साथ खींचती है. पेट में दर्द लगभग 18 से 24 वीक के बीच शुरू होता है. और एक तरफ दर्द होता है पर कभी कभी दोनों तरफ भी होता है. अगर आपको पेन हो रहा है और यह पेन बहुत ज्यादा नहीं है या रुक रुक के बार बार नहीं आ रहा है तो आप आराम से रहें. खाने पीने का ध्यान दें. आपने खाने में फाइबर ज्यादा ले. पानी खूब पिएं . खाना एक बार में बहुत सारा नहीं खाए . थोड़ा-थोड़ा खाना चबाकर खाएं. खाना खाने के बाद आप दो चुटकी अजवाइन खाएं .इससे आपको गैस की समस्या होगी तो बहुत राहत मिलेगी.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे खाना खाने के बाद गैस बन जाती और पेट बोहत ही फुल जाता है
उत्तर: अर, यह हमारे पेट साफ ना होने से हमें कब्ज की प्रॉब्लम हो जाती है जिस टाइम हम पार्टी करने जाते हैं तो हमें पॉटी करने में प्रॉब्लम होती है कब्ज की वजह से हमारी बॉडी टाइट होने लगती है जिस कारण हमें पॉटी करने में दर्द होता है डिअर ये प्रॉब्लम अक्सर हो जाती है आप परेशान मत होइए कुछ उपाय है आप इन्हें ट्राय कर सकती हैं 1. एक चम्मच शहद हल्के गरम पानी में मिलाकर रात को सोने से थोड़ी देर पहले पीने से अगली सुबह stomach clear हो जाता है। 2. जल्दी पेट साफ़ करने के घरेलू नुस्खे में अरंडी का तेल (कैस्टर आयल) काफी कारगर है। रात को सोने से पूर्व थोड़ा कैस्टर आयल एक गिलास हल्के गरम दूध में मिलाकर लेने से अगली सुबह पेट आसानी से साफ़ हो जाएगा। 3. नींबू का रस, एक चम्मच शहद और थोड़ा नमक 1 गिलास गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से भी पेट साफ़ होता है। पेट साफ़ करने के लिए इस होम रेमेडी को सुबह खाली पेट करे। 4. पेट साफ कैसे रखें, क़ब्ज़ से बचने के लिए ऐसी चीजें अधिक खाये जिनमें फाइबर की मात्रा जादा हो जैसे हरी पत्तेदार सब्जियां, फल और सलाद। पपीता अमरूद खाने से भी stomach clear रखने में मदद मिलती है। पत्तागोभी का जूस और पालक का जूस भी अच्छे पेट साफ करने के तरीके है। 5. नारियल पानी भी पेट साफ़ करने में मददगार है। प्रतिदिन नारियल पानी सुबह खाली पेट पीने से बहुत फायदा मिलता है। 6. रात को अलसी के बीज एक गिलास हल्के गरम दूध के साथ सेवन करने से पेट साफ़ होने में मदद मिलती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेम मुझे पेट में बहुत गैस बन रही है और दर्द भी रहता है .खाना खाने पर पेट में दर्द शुरू हों जाता है
उत्तर: हेलो डिuयर गैस की समस्या आमतौर पर गर्भावस्था के दौरान होने वाले शारीरिक बदलाव के कारण होती है। इसका मुख्य कारण प्रोजेस्टेरोन का लेवल बढ़ना है। इससे आंत ढीली पड़ जाती है और भोजन को पचने में समय लगता है।मैं आपको कुछ होम रेमेडीज बताती हूं जिससे आपको मदद मिल पाएगी गैस की समस्या से बचने के लिए एक ही बार में बहुत ज्यादा खाने के बजाय थोड़ा-थोड़ा अंतराल पर पूरे दिन कुछ-कुछ खाते रहें। ज्यादा मात्रा में भोजन करने पर उसके पाचन में दिक्कत आती है। खाने को अच्छे चबा कर खाएं। ऐसे भोजन बिल्कुल न खाएं जिससे गैस बनती हो।कुछ सब्जियां जैसे पत्ता गोभी, फूलगोभी, बोडा, प्याज, ब्राकोली, इत्यादि। इनमें मौजूद कुछ प्रकार के कार्बोहायड्रेट आसानी से पचते नहीं हैं। ग्लास में मथी डालकर उसे रात भर फूलने के लिए छोड़ दें। सुबह मेथी को निकाल कर उसके पानी को पीएं। इससे गैस की समस्या दूर होगी। अपने खाने में एक और अजवाइन का जरूर यूज़ करें इससे गैस की प्रॉब्लम सॉल्व होती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें