34 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: आठ महिने प्रेगनेट को क्या खाना चाहिए ????

3 Answers
सवाल
Answer: hello डियर ,,,34 week ki प्रेगनेंसी के दौरान शरीर में अधिक मात्रा में आयरन, कैल्शियम ,फोलिक एसिड ,विटामिंस ,तथा अन्य प्रकार के सप्लीमेंट की बॉडी को अधिक मात्रा में आवश्यकता होती है इसलिए अपने भोजन दूध, दही, दूध, पनीर , ड्राई फूट्स, केला मोसम्मी, संतरा ,कीवी, आडू ,अनार ,खजूर, ब्रोकली ,अखरोट पत्ता गोभी, गाजर ,शिमला, टमाटर ,लगभग सभी प्रकार की हरी सब्जियां सलाद अंकुरित, अनाज, मछली, eggs विभिन्न प्रकार के विभिन्न प्रकार के फल पपाया, पाइनएप्पल को छोड़कर आप ले सकती हैं फलों का जूस ,मिक्स वेजिटेबल सूप इत्यादि अपने भोजन में शामिल कर करें जिससे आपको पर्याप्त मात्रा में आयरन ,कैल्शियम, विटामिंस, मिले जो कि बच्चे के ब्रेन बॉडी डेवलपमेंट में आपकी मदद करेंगे | भोजन के अलावा आपको पर्याप्त मात्रा में पानी की भी उतनी ही आवश्यकता होती है इसलिए 10 से 12 गिलास पानी जरूर पिएं नारियल पानी का भी उपयोग आप बॉडी को हाइड्रेट करने के लिए कर सकते हैं| चाय कॉफी कोल्ड ड्रिंक फास्ट फूड इत्यादि का सेवन ना करें| किसी भी प्रकार की नशीली चीजें का उपयोग ना करें| मिर्च मसाले तले ,भूले हुए चीजों का उपयोग कम से कम करें|
Answer: hello आठवें महीने में बेबी का साइज इतना बड़ा हो चुका होता है कि वह पेट का ज्यादा से ज्यादा एरिया कैप्चर कर लेता है। जिसके कारण खाना जल्दी डाइजेस्ट नहीं होने और भूख नहीं लगने जैसी समस्या आती है। लेकिन इस समय हमें सबसे ज्यादा जरूरत होती है हेल्दी डाइट की। यह समय ऐसा है कि एक ही बार में ज्यादा नहीं खाया जा सकता। इसलिए दिन भर कुछ कुछ खाते रहना चाहिए। इस समय आप थोड़े बहुत ड्राई फ्रूट्स भी खा सकती हैं जैसे काजू किसमिस थोड़े बादाम पिस्ता अखरोट अंजीर यह सब चीजें थोड़ी-थोड़ी मात्रा मेखाती रहे जिससे आपको ज्यादा कैलरी मिलेगी। चॉकलेट खाएं आइसक्रीम खाएं मिठाई खाएं। ऐसी चीजें खाएं जिस की मात्रा कम हो लेकिन उसमें कैलरी ज्यादा हो।। भूख नहीं लगे तो भी यह सारी चीजें खाएं आपको कमजोरी नहीं आएगी
Answer: bhuje huye chame palak k patte anaar chukandar tamar kheera
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: 10 महिने ke बच्चों को क्या क्या खाना देन चाहिए
उत्तर: हेलो डियर आप अपने बच्चे को अंडा पोहा उबला हुआ आलू पनीर चीज दाल चावल दलिया खिचड़ी यह सब दीजिए साथ ही में अपने बच्चे की डाइट में घी और बटर का यूज़ करें अब आप अपने बेबी को ब्रेस्टफीड के साथ-साथ ऊपर क भी दूध दीजिए बेबी के लिए छोटा सा ब्रांड बना लीजिए और उसको आप छोटी-छोटी बाइट्स डालें जब बच्चा खेल रहा हो आजकल गाजर पालक चुकंदर यह सब अच्छे से मिलता है इस मौसम में आप अपने बच्चे को दे सकते हो यहां गाजर की पूरी पालक की पूरी बना कर भी दे सकते हो या मिक्स वेज का सूप दे सकते हो यदि आप चिकन खाते हैं तो बच्चे की डाइट में चिकन का सूप भी शामिल कर सकते हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्रेगनेट को सुबह सबसे पहले क्या खाना चाहिए
उत्तर: Pregnancy Diet Chart गर्भवती स्त्री और उसके होने वाले बच्चे के स्वास्थ्य के लिए बहुत जरुरी होता है | क्योकि एक स्वस्थ Pregnancy food chart ही योजना बद्ध तरीके से सभी जरुरी प्रोटीन, विटामिन, कैलोरी  तथा अन्य खनिजो को भोजन के द्वारा गर्भस्थ स्त्री के शरीर तक पंहुचाने का रास्ता दिखाता है | एक सही “Pregnancy Food Guide” में आपको सुबह के नाश्ते , दोपहर के खाने यानि लंच और रात के खाने में क्या खाना चाहिए.अगर आपका आहार संतुलित होगा , तो ही आपकी व बच्चे की सेहत सुरक्षित रहेगी इसीलिए आपके भोजन में Folic Acid, Calcium, Iron, Zinc, Protein, Phosphorus, Vitamin D और ओमेगा 3 Omega Fatty Acids का होना जरुरी होता है | इन तत्वों को लेने से खून में Hemoglobin बढ़ता है। और मिस कैरिज का डर नहीं रहता है। इन सब विटामिन के कुदरती स्रोत के रूप में हरी पत्तेदार सब्जियां, मटर, फूलगोभी, शिमला मिर्च, बादाम, काजू, मूंगफली, तरबूज, केला व संतरा खाएं। इनके अलावा पालक, चुकंदर, broccoli ,शलगम कद्दू राजमा दाले , दही, फैट फ्री मीट , अंडे का सफ़ेद भाग , दूध-मट्ठा, पनीर, सोयाबीन, बीन्स, और साबुत अनाज लें।मकई, गेंहू और दूसरे साबुत अनाज से बना हुआ दलिया फाइबर से भरपूर होता है उसे अपने Pregnancy diet chart में अवश्य शामिल करें | चाहे तो पोपकोर्न और भुना हुआ मकई भी लें सकती है ! Oat में फाइबर, आयरन ,विटामिन बी होता है इसलिए सुबह के नाश्ते में एक बाउल ओट्स लें। दूध, दही और पनीर और अन्य डेयरी उत्पाद प्रोटीन, कैल्शियम, फास्फोरस और विटामिन का अच्छा स्रोत होते है | इन्हें लेने से बच्चे की ग्रोथ में मदद मिलती है, उसकी हड्डियां व दांत मजबूत होते है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्रेगनेट महिला को क्या क्या खाना चाहिए
उत्तर: हेलो आप प्रेगनेट है आप अपने खान पान और रहन सहन पर विशेष धयान दे क्योकी सभी चीज़ों का प्रभाव बच्चे के विकास पर पड़ता है खाने में जो भी ले हेल्थी घर का बना हुआ कम ऑयली मिर्च मसालों वाला खाएं एक बैलेन्स डायट ले अगर आप वेजिटेरियन है तो दिन में 2 गलास मिल्क पीये अगर आप नॉन वेजिटेरियन है तो आप एग मीट फिश खा सकती है .आपको इस समय आयरन, फ़ोलिक ऍसिड , वाइटमिन्स आदि की सही मात्रा की जरुरत होती है . कुछ फ़ूड आइटम जैसे - डेरी प्रॉडक्ट दूध , दही , पनीर , सभी दालें , आलु , एग , मीट,फल जैसे - केला ,अनार ,लिचि ,अमरूद ,जामुन ,मऔसमबि सन्तरा, आम, एवाकाडो ,अंगूर नींबू ,सेब ,चीकू सभी ड्राइ फ्रूट्स लें .इसके साथ ही हरी सब्ज़ी पालक , मुनगा , चुकन्दर , कद्दू , टमाटर आदि सभी को डायट में शामिल करें . आप करेला ,बैगन ,पपीता, पाइनएप्पल सुरन, चाय ,कोफ़ी मैगी, ज़्यादा स्वीट्स , अल्कोहल , कोल्ड ड्रिन्क्स ,का सेवन प्रेग्नेसी में ना करे डॉक्टर सुग्गेस्टेस फॉलिक ऍसिड आयरन कैल्सीअम की टैबलेट्स समय से लें साथ ही पानी एक दिन में 10 से 12 गलास पीये तरल पेय जैसे नारियल पानी लेमन वाटर छाछ फ्रूट्स ज्यूस भी लें स्ट्रेस बिल्कुल भी ना ले खुश रहें .
»सभी उत्तरों को पढ़ें