33 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: आठवें माह मै क्या डायट रखना चाहिय

1 Answers
सवाल
Answer: hello डियर ,,aapko33 week ki pregnancy chal rhi hai,प्रेगनेंसी के दौरान शरीर में अधिक मात्रा में आयरन कैल्शियम ,फोलिक एसिड ,विटामिंस ,तथा अन्य प्रकार के सप्लीमेंट की बॉडी को अधिक मात्रा में आवश्यकता होती है इसलिए अपने भोजन दूध, दही, दूध, पनीर , ड्राई फूट्स, केला मोसम्मी, संतरा ,कीवी, आडू ,अनार ,खजूर, ब्रोकली ,अखरोट पत्ता गोभी, गाजर ,शिमला, टमाटर ,लगभग सभी प्रकार की हरी सब्जियां सलाद अंकुरित, अनाज, मछली, eggs विभिन्न प्रकार के विभिन्न प्रकार के फल पपाया, पाइनएप्पल को छोड़कर आप ले सकती हैं फलों का जूस ,मिक्स वेजिटेबल सूप इत्यादि अपने भोजन में शामिल कर करें जिससे आपको पर्याप्त मात्रा में आयरन ,कैल्शियम, विटामिंस, मिले जो कि बच्चे के ब्रेन बॉडी डेवलपमेंट में आपकी मदद करेंगे | भोजन के अलावा आपको पर्याप्त मात्रा में पानी की भी उतनी ही आवश्यकता होती है इसलिए 10 से 12 गिलास पानी जरूर पिएं नारियल पानी का भी उपयोग आप बॉडी को हाइड्रेट करने के लिए कर सकते हैं| चाय कॉफी कोल्ड ड्रिंक फास्ट फूड इत्यादि का सेवन ना करें| किसी भी प्रकार की नशीली चीजें का उपयोग ना करें| मिर्च मसाले तले ,भूले हुए चीजों का उपयोग कम से कम करें|
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: बच्चों कि डायट क्या होनी चाहिय
उत्तर: hello आप 4 साल के बच्चे को इस तरह से डाइट दें सुबह उठते  1 कप दूध और 2 रातभर भिगोकर रखे हुए बादाम छिल कर दे ब्रेकफास्ट में आप 1 कप दलिया या पोहा या फिर उपमा दे सकती हैं। ब्रंच इन चीजों में आप कुछ भी दें सकते हो। 1 कप फ्रैश फ्रूट1 कप बच्चे का फेवरिट जूस 1 कप टोमेटो सूप लंच में ½ बाउल कोई भी दाल या सब्जी½ कोई भी पनीर की सब्जी1 कटोरी दही 1 चपाती या फिर 1 कप चावलसलाद स्नैक्स इनमें से भी आप रोज कुछ भी बदल सकते हैं। 1 कप फ्रूट चाट या सैंडविच या पिज्जा घर का बना हुआ चाॅकलेट मिल्क शेक डिनर ½  बाॅउल सब्जी 1 चपाती मूंग दाल के साथ आप काजू बादाम का पावडर बच्चे के खाने में एक चम्मच रोज डाले इससे बच्चे का वजन और ब्रेन बढ़ेगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: आठवें माह में हीमोग्लोबिन कितना होना चाहिए
उत्तर: Hello dear.. एक महिला का हीमोग्लोबिन 12 से 16 के बीच होना चाहिए| प्रेगनेंसी के दौरान 11.5 से 15 तक हीमोग्लोबिन .प्रेग्नेंसी के समय शिशु की देखभाल करने के लिए शरीर ka अपने आप आकार बढ़ता है और रेड ब्लड सेल्स की वृद्धि नहीं होती जिससे कि हीमोग्लोबिन लेवल कम हो जाता है| आयरन लेने से हमारे शरीर में हेमोग्लोबिन अच्छा बनता है. हिमोगलोबिन की मात्रा ब्लड में अच्छी होने से सभी कोशिकाओं में ओक्ससीगन अच्छी तरह पहुचती है. आप आपने खाने में कुछ आहार और ले जिससे आपका हीमोग्लोबिन अच्छा होजाएग। पालक- पालक की सब्जी एनीमिया में दवा की तरह काम करती है। इसमें कैल्शियम, विटामिन ए, बी9, विटामिन ई और विटामिन सी, फाइबर और बीटा केरोटीन पाया जाता है।हरी सब्जियों में पालक डालें। साथ ही, सलाद के रूप में भी इसका सेवन किया जा सकता है। पालक को उबालकर उसका सूप भी बनाया जा सकता है। इसका सूप पीने से बहुत जल्दी खून बढ़ता है। चुकंदर- चुकंदर को एनीमिया में एक रामबाण दवा माना जाता है। यह लौह तत्व से भरपूर होता है। चुकंदर ब्लड सेल्स को एक्टिव कर देता है। चुकंदर को शिमला मिर्च, गाजर, टमाटर में मिलाकर सब्जी बनाई जा सकती है।इसके अलावा चुकंदर को सलाद के रूप में या जूस बनाकर लिया जा सकता है। मूंगफली एक अच्छा सोर्स है। इसीलिए पीनट बटर को अपनी डेली डाइट में शामिल करने की कोशिश करें। रोज पचास ग्राम मूंगफली खाने से भी एनीमिया दूर होता है।  टमाटर- टमाटर में भरपूर मात्रा में विटामिन सी और लाइकोपिन पाया जाता है। इसमें मौजूद विटामिन सी आयरन को अब्जॉर्ब करने में मदद करता है। साथ ही, इसमें बीटा केरोटीन और विटामिन ई पाया जाता है।  सोयाबीन आयरन और विटामिन से भरपूर होता है। इसे खाने से शरीर को लो फैट के साथ ही भरपूर मात्रा में आयरन मिलता है। इसीलिए यह एनीमिया के पेशेन्ट्स के लिए बहुत लाभदायक होता है। गुड़- एक चम्मच गुड़ में 3.2 मि.ग्रा. आयरन होता है। इसीलिए एनीमिया से ग्रस्त लोगों को रोज 100 ग्राम गुड़ जरूर खाना चाहिए।खाने के बाद थोड़ा-सा गुड़ खाने से भी एनीमिया दूर होता है। पिस्ता जिससे शरीर को पर्याप्त मात्रा में आयरन मिलता है। अखरोट- रोज थोड़ा अखरोट खाना भी एनीमिया के रोगियों के लिए बहुत लाभदायक होता है। सेब और खजूर- सेब और खजूर, दोनों में ही पर्याप्त मात्रा में आयरन पाया जाता है।सेब के अंदर मौजूद विटामिन सी आयरन को अब्जॉर्ब करने में मदद करता है।रोज एक सेब और दस खजूर खाने से एनीमिया दूर हो जाता है।  शरीर में आयरन की कमी को पूरा काबुली चना, राजमा, सोयाबीन, मेथी और सरसों का साग, बादाम, सूखे मेवे, मसूर की दाल, पालक, अंगूर, अमरूद, संतरे आदि खाद्य पदार्थ कर देते हैं। लेकिन इसके बावजूद शरीर में आयरन की कमी पूरी न हो तो डॉक्टर की सलाह से आयरन की गोलियां ले सकते हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: चोहते माह मे क्या खाना चाहिय
उत्तर: आपको गर्भावस्था के दौरान कुछ और अधिक कैलोरी की भी ज़रूरत होगी। गर्भावस्था में सही आहार का मतलब है-आप क्या खा रही हैं, न की कितना खा रही हैं। जंक फूड का सेवन सीमित मात्रा में करें, क्योंकि इसमें केवल कैलोरी ज्यादा होती है और पोषक तत्व कम या न के बराबर होते हैं।  प्रत्येक दिन विविध भोजन खाएं: दूध और डेयरी उत्पाद: मलाईरहित (स्किम्ड) दूध, दही, छाछ, पनीर। इन खाद्य पदार्थों में कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिन बी -12 की उच्च मात्रा होती है। अगर आपको लैक्टोज असहिष्णुता है, या फिर दूध और दूध से बने उत्पाद नहीं पचते, तो अपने खाने के बारे में डॉक्टर से बात करें।  अनाज, साबुत व पूर्ण अनाज, दाल और मेवे:अगर आप मांस नहीं खाती हैं, तो ये सब प्रोटीन के अच्छे स्रोत हैं। शाकाहारीयों को प्रोटीन के लिए प्रतिदिन 45 ग्राम मेवे और 2/3 कप फलियों की आवश्यकता होती है। एक अंडा, 14 ग्राम मेवे या ¼ कप फलियां लगभग 28 ग्राम मांस, मुर्गी या मछली के बराबर मानी जाती हैं।  सब्जियां और फल: ये विटामिन, खनिज और फाइबर प्रदान करते हैं। मांस, मछली और मुर्गी: ये सब केंद्रित प्रोटीन प्रदान करते हैं। पेय पदार्थ: खूब सारे पेय पदार्थों का सेवन करें, खासकर पानी और ताजा फलों के रस का। सुनिश्चित करें कि आप साफ उबला हुआ या फ़िल्टर किया पानी ही पीएं। घर से बाहर जाते समय अपना पानी साथ लेकर जाएं या फिर प्रतिष्ठित ब्रांड का बोतल बंद पानी ही पीएं। अधिकांश रोग जलजनित विषाणुओं की वजह से ही होते हैं। डिब्बाबंद जूस का सेवन कम ही करें, क्योंकि इनमें बहुत अधिक चीनी होती है ।  वसा और तेल : घी, मक्खन. नारियल के दूध और तेल में संतृप्त वसा (सैचुरेटेड फैट) की उच्च मात्रा होती है, जो की अधिक गुणकारी नहीं होती। वनस्पति घी में ट्रांस फैट (वसा) अधिक होती है, अत: वे संतृप्त वसा की तरह ही शरीर के लिए अच्छी नहीं हैं। वनस्पति तेल (वेजिटेबल तेल) वसा का एक बेहतर स्त्रोत है, क्योंकि इसमें असंतृप्त वसा अधिक होती है।  समुद्री मछली और समुद्री नमक या आयोडीन युक्त नमक के साथ-साथ डेयरी उत्पाद आयोडीन के अच्छे स्त्रोत हैं। अपने गर्भस्थ शिशु के विकास के लिए आपको अपने आहार में पर्याप्त मात्रा में आयोडीन शामिल करने की आवश्यकता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें