6 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: आज मेरे राइट में कमर से पूरे पैर मि दर्द है मैं क्या करूं

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर प्रेगनेंसी में पैरों तक पर्याप्त रक्त संचार न हो पाने के कारण उसमें ऑक्सीजन की कमी से पैर दर्द होने लगता है। यह घुटनों, और पैरों की उँगलियों में भी होता है। कभी कभी पैर सुन्न पड़ सकता है।बदलते हॉर्मोन्स लेवल से पैरों में दर्द होता है। जैसे गर्भाशय का आकार बढ़ता है उस प्रकार बदन की निचली मांसपेशियां ढीली पड़ने लगती हैं। इस कारण महिलाओं में पैर दर्द होता है। बढ़ते वज़न के कारण उसकी पैरों की हड्डी पर प्रभाव पड़ता है जिससे मांसपेशियों और पैरों में दर्द होता है। पैरों के दर्द से बचने के लिए पैर की उँगलियों को हलके हाथ से दबाएं। साथ ही गुनगुने तेल से मालिश करें! यह धीरे धीरे बेहतर परिणाम देगा। गर्भावस्था में ऊँची हील की सैंडल न पहनें। आरामदायम फ्लैट्स और ढीली चप्पलें पहनें। इनसे भी आपके पैरों और एड़ियों को आराम मिलेगा।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरे राइट पैर में कमर से पैर तक दर्द हो रहा है क्या करू
उत्तर: ap right side jyada sote ho kya ..blood circulation thik se na hone pr y dard hone lgta h..left side jyada sona chahiy
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: आज मेरे पैर मै दर्द ह बहुत बैचैनी हो रही ह कमर मै दर्द ह
उत्तर: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में कमर और पैरो में दर्द होना यूट्रेस बढ़ जाने पर ज्यादा भार होने की वजह से भी होता है , जब आपके बेबी के आकार बढ़ने लगता है तब सारा वजन आपके कमर और पैरो पर पड़ता है , ऐसे में पैरो में खिंचाव भी होने लगता हैं आप इसके लिए कुछ ऐसा कर सकते है आप कमर और पैरों की सिकाई गर्म पानी को बोतल में भर कर ऊपर से एक कपड़ा डाल कर सकते है आप अपने कमर और पैरों की सरसो के तेल से मॉलिश करने से भी दर्द कम हो जाता है दर्द होने पर ज्यादा चले फिरे नही बल्कि आराम करे कोई भी भारी सामान ना उठाये या फिर कोई भी भारी भरकम काम भी ना करे ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे पैर में बहुत दर्द है मैं क्या करूं ?
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में पैरों तक पर्याप्त रक्त संचार न हो पाने के कारण उसमें ऑक्सीजन की कमी से पैर दर्द होने लगता है। यह घुटनों, और पैरों की उँगलियों में भी होता है। कभी कभी पैर सुन्न पड़ सकता है।बदलते हॉर्मोन्स लेवल से पैरों में दर्द होता है। जैसे गर्भाशय का आकार बढ़ता है उस प्रकार बदन की निचली मांसपेशियां ढीली पड़ने लगती हैं। इस कारण महिलाओं में पैर दर्द होता है। बढ़ते वज़न के कारण उसकी पैरों की हड्डी पर प्रभाव पड़ता है जिससे मांसपेशियों और पैरों में दर्द होता है। पैरों के दर्द से बचने के लिए पैर की उँगलियों को हलके हाथ से दबाएं। साथ ही गुनगुने तेल से मालिश करें! यह धीरे धीरे बेहतर परिणाम देगा। गर्भावस्था में ऊँची हील की सैंडल न पहनें। आरामदायम फ्लैट्स और ढीली चप्पलें पहनें। इनसे भी आपके पैरों और एड़ियों को आराम मिलेगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें