9 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: अभी हमको खाने में क्या क्या शामिल करना चाहिए

1 Answers
सवाल
Answer: आपको इज टाइम खूब फ्रूट्स सब्जियां और सलाद खाने चाहिए . आप इज टाइम ज्यादा मात्रा मे खट्टे फ्रूट्स लीजिए जैसे मैंगो नींबू मोसम्बी ऑरेंज कीवी . आप खाना को छोटे पोरशन मे खाए. पानी खूब पीजिये . जूस पीजिये . मिल्क दही शर्बत लस्सी बटरमिल्क पीजिये
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: plz tell me ab hamko kya karna chahiye
उत्तर: जब आप प्रेगनेंट होती हैं तब यह बहुत जरूरी है कि आप अपना आहार पौष्टिक है. इससे आपको और आपके होने वाले बच्चे को पौष्टिक तत्व मिलेंगे. प्रेग्नेंसी में कुछ अधिक कैलोरी की जरूरत होती है. प्रेगनेंसी में सही आहार का मतलब है -आप क्या खा रही हैं ?ना कि कितना खा रही हैं? जंक फूड का सेवन ज्यादा ना करें. isme कैलोरी ज्यादा है पोष्टिक तत्व कम या ना के बराबर होते हैं. फोलिक एसिड आपको 1 ट्रिमस्टर में ही चालू करदेना चहिये। फ़ोलिक एसिड का होने वाले बच्चे की ग्रोथ में बहुत बड़ा योगदान रहता है। फ़ोलिक एसिड विटामिन है ।विटमिन B 9। ये आपको खाने पिने में फॉलेट नाम से मिलेगा । बाबी के इस्पीनलकार्ड के चारो और पॉलिब पेरत को सही तरीके से बंद करता है।वाहा गप नहीं आने देता। मा के लिए भी बहुत जरुरी है ।विटमिन B 12 के साथ मिलकर हेअल्थी रेड सेल्स बाँटा है। folic acit ke liye ye khaye. ब्रोकली ऐस्पैरागस खट्टे फल हरी पत्तों वाली सब्जियां ओकरा फूलगोभी भुट्टा गाजर 1) दूध और डेयरी के ले सकती हैं. मलाई वाला दूध दही छाछ घर का पनीर इन सब में कैल्शियम प्रोटीन और विटामिन बी12 बहुत होता है. 2) सभी अनाज ,दालें . इन सब में प्रोटीन बहुत अच्छा होता है. 3) पेय पदार्थों में आप पानी bahut piyen.खास करके आप साफ पानी joki फ़िल्टर किया हुआ. ताजे फलों का रस ले. डिब्बाबंद juis nahi le. इसमें शक्कर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है. 4) वसा और तेल . वेजिटेबल ऑयल का वसा एक अच्छा स्रोत है क्योंकि इसमें संतृप्त वसा अधिक होता है. इन सभी चीजों के साथ आप डॉक्टर की सलाह मानें .जो भी टेस्ट किए हैं दिए गए हैं उन्हें करवाएं समय पर. दवाइयां समय पर ले और नींद पूरी. खाना जो भी खाएं अच्छे से चबाकर खाएं. प्रेगनेंसी के समय मिल्क प्रोडक्ट calcium और प्रोटीन बहुत जरुरी होता है। डेयरी प्रोडक्ट प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए सबसे बेहतर होता है। जैसे अंडा, चीज, दूध, दही और पनीर मां और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है। कैल्शियम भी पर्याप्त मात्रा में होती है जो फीटस के बोन टिशू के विकास के लिए आवश्यक होता है। प्रोटीन की मात्रा काम होने से बच्चे की ग्रोथ में बहुत अंतर आता है। प्रोटीन जरूरी पौशाक तत्वों में से है। बच्चे का विकास और एम्निओटिक टिशू का कार्य प्रोटीन पर निर्भर करता है। गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन की kaam मात्रा बच्चे के sahi विकास में बाधा पहुंचा सकती है और इससे शिशु का वजन भी कम हो सकता है। यह बच्चे के बढ़ते मस्तिष्क पर नकारात्मक प्रभाव भी डाल सकता है।  बस एक मुट्ठी नट्स प्रोटीन की अपनी दैनिक आवश्यकताओं को पूरा कर सकता है। नट्स जैसे बादाम, मूंगफली, काजू, पिस्ता, अखरोट और नारियल में उच्च मात्रा में प्रोटीन की मात्रा होती है जो बच्चे के विकास के लिए जरूरी होता है। बीज जैसे कद्दू, तिल और सूरजमुखी में भी प्रोटीन पर्याप्त मात्रा में होती है।  इनमें से कई ऐसे हैं जिनमें प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक होती है जैसे- मूंग, काले और फवा बिन्स, मसूर, मटर और चना. ओट्स में प्रोटीन बहुत उच्च मात्रा में पाई जाती है . प्रेगनेंसी के 9 मंथ में बहुत ही सावधानी से रहना चाहिए . दो चीजों से आप पूरा परहेज करें बिल्कुल भी ना करें .पहला ट्रेवल. दूसरा सेक्स . खाने में आयरन और कैल्शियम की मात्रा अच्छी तरीके से लेते रहे . डॉक्टर के दिए हुए सप्लीमेंट्स के समय pr le. डॉक्टर के बताए हुए टेस्ट समय पर करवाएं. संतुलित पौष्टिक आहार खाती रहे. नींद का पूरा ध्यान दे. पानी खूब पिएं. खाना खाने के बाद आप थोड़ी walk करें . डॉक्टर के बताए अनुसार आप एक्सरसाइज या योगा या थोड़ी वक्त जरूर करें. नाइंथ मंथ बहुत शरीर का वजन बढ़ जाता है बच्चे के वजन के कारण भारीपन बहुत महसूस होता है .इसलिए बहुत देर खड़ी ना rahe . अपने पैरों को आप जब भी लेटे थोड़ा ऊंचा करके लेटे .तकिए का सहारा देकर उसे थोड़ा ऊंचा करें.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो mam मैं 6वीक प्रेग्नेंट हूँ मुझे अभी apne khane m क्या2 शामिल करना चाहिए
उत्तर: डियर आपको अपने आहार में प्रोटीन, विटामिन और मिनरल्स को शामिल करना चाहिए। आपका आहार ऐसा होना चाहिए जिसमें पर्याप्‍त मात्रा में आयरन और फॉलिक एसिड हो। खाने में ताजे फल, दाल, चावल, हरी सब्जियां, रोटी आदि खाना चाहिए। बच्चे के दिमाग के विकास के लिए ओमेगा-3 और ओमेगा-6 बहुत जरूरी है। फिश लिवर ऑयल, ड्राइफ्रूट्स, हरी पत्तेदार सब्जियों और सरसों के तेल में यह अच्छी मात्रा में मिलते हैं। आयरन और फोलिक एसिड की गोलियां खाना भी शुरू कर दें। इससे शरीर में खून की कमी नहीं होती है। ज्यादा तला-भुना और मसालेदार खाना न खाएं। इससे गैस और पेट में जलन हो सकती है। जो भी खाएं, फ्रेश खाएं। बाहर के खाने से इंफेक्शन होने का खतरा होता है, इसलिए बाहर खाने से बचें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Pregnecy me Khane me kya kya samil Karna cahiyr
उत्तर: डियर प्रेग्नेंसी में सबसे पहले अपने खानपान का पूरा ध्यान रखना होता है अपने खानपान मेंअपने आहार में फाइबर, आयरन, कैल्शियम, विटामिन सी, फोलिक एसिड युक्त भोजन करना चाहिए। फाइबर युक्त भोजन हरी सब्जिया, फ्रूट्स। आयरन युक्त भोजन फिश, चिकन, एग योल्क, ब्रोक्कोली, मटर, पालक, जामुन, सोयाबीन। कैल्शियम युक्त भोजन डेयरी उत्पाद, दलिया, बादाम और तिल के बीज। विटामिन सी युक्त भोजन खट्टे फल, टमाटर, स्ट्रॉबेरी, ब्रोकोली और गोभी। फोलिक एसिड युक्त भोजन छोला, हरे पत्ते वाली सब्जियां ले डियर ज्यादा से ज्यादा लिक्विड चीज है जैसे कि जो नारियल पानी वाले rasवाले फल जिसके मौसमी संतरा यह सब चीजें खाएं और आप कैल्शियम आयरन की टेबलेट रोज लेते रहें क्योंकि यह प्रेग्नेंसी में बहुत ही जरूरी है हमें प्रेग्नेंसी में अक्षरा कैल्शियम और आयरन की जरूरत होती है जिससे की बेबी की हड्डियां मजबूत होती है और बीवी का विकास होता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें