23 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: अभी मेरा 23 hafta चल रहा है और 21 week मे बच्चे का वजन 320 gms था plz बताइये की वजन जल्द से जल्द बढ़ने मे मदद् हो सके

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुझे pcod का problem है और मै शादी शुदा हूं हम बच्चे के लिए प्लानिंग मे है हम क्या करें हम को जल्द से जल्द बच्चे हो सके
उत्तर: ओवेरी मे सिस्ट होना आजकल बहुत कॉमन हो गया है , बहुत सी महिलाओ को होता है , ये कोई बहुत बाडी बीमारी नही है जिसकी वजह से आप कन्सिव ना कर पाये .. आप बस अपनी लाइफ स्टाइल बदले , रोज सुबा और शाम 30-30 मिनट वॉक करे , वज़न जयाद है तो कम करे , कोशिश करे की कोई भि सफ़ेद चीज़ जैसे मैदा , ब्रेड शक्कर राइस कम से कम खायें , मुल्तिग्रऐन रोटी खायें . फ्रूट खायें . जितना हो सकें ऑयल से बनी चीज़ें ना खायें . इन सब से pcod कंट्रोल होगा और आप कन्सिव कर पाएगी . सबसे ज़रूरी बात स्ट्रेस कम करे स्ट्रेस मे कन्सिव करना मुश्किल होता है , मेरे को भि है pcod , 11 साल से . मुश्किल था कन्सिव करना , अब मेरे 2 प्यारे बच्चे है . और कोई सावाल हो या डाउट हो तो सावाल ज़रूर पूछें .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे अभी 4 महीना चल रहा है और मेरे बच्चे का वजन कम है. बच्चे का वजन बढ़ाने के लिए क्या उपाय हैमुझे अभी 4 महीना चल रहा है और मेरे बच्चे का वजन कम है. बचमुझे अभी 4 महीना चल रहा है और मेरे बच्चे का वजन कम है. बच्चे का वजन बढ़ाने के लिए क्या उपाय हैमुझे अभी 4 महीना चल रहा है और मेरे बच्चे का वजन कम है. बच्चे का वजन बढ़ाने के लिए क्या उपाय हैमुझे अभी 4 महीना चल रहा है और मेरे बच्चे का वजन कम है. बच्चे का वजन बढ़ाने के लिए क्या उपाय है्चमुझे अभी 4 महीना चल रहा है और मेरे बच्चे का वजन कम है. बच्चे का वजन बढ़ाने के लिए क्या उपाय हैमुझे अभी 4 महीना चल रहा है और मेरे बच्चे का वजन कम है. बच्चे का वजन बढ़ाने के लिए क्या उपाय हैे का वजन बढ़ाने के लिए क्या उपाय है
उत्तर: हेलो प्रेगनेंसी में हम खुद ही बहुत चिंताएं रखते हैं. घबराते हैं पूरे समय सोचते रहते हैं कि हम कैसे करेंगे क्या करेंगे .मेरे ख्याल से आप शायद ऐसा ही कुछ कर रही हैं .आप बिल्कुल भी घबराए नहीं चिंता नहीं करें. सब अच्छा होगा. आप खुश रहिए मस्त रहिए पौष्टिक संतुलित आहार लीजिए आपका भी वजन बढ़ेगा और बच्चे की ग्रोथ भी अच्छी होगी प्रेगनेंसी सबकी अलग-अलग होती है .जरूरी नहीं है कि आपका वेट बहुत बड़े . आप आराम से रहे बिना टेंशन के रहे . पोस्टिक आहार len. पानी खूब पिएं. डॉक्टर के बताए अनुसार सारी दवाइयां समय पर ले जब आप प्रेगनेंट होती हैं तब यह बहुत जरूरी है कि आप अपना आहार पौष्टिक है. इससे आपको और आपके होने वाले बच्चे को पौष्टिक तत्व मिलेंगे. प्रेग्नेंसी में कुछ अधिक कैलोरी की जरूरत होती है. प्रेगनेंसी में सही आहार का मतलब है -आप क्या खा रही हैं ?ना कि कितना खा रही हैं? जंक फूड का सेवन ज्यादा ना करें. isme कैलोरी ज्यादा है पोष्टिक तत्व कम या ना के बराबर होते हैं. फोलिक एसिड आपको 1 ट्रिमस्टर में ही चालू करदेना चहिये। फ़ोलिक एसिड का होने वाले बच्चे की ग्रोथ में बहुत बड़ा योगदान रहता है। फ़ोलिक एसिड विटामिन है ।विटमिन B 9। ये आपको खाने पिने में फॉलेट नाम से मिलेगा । बाबी के इस्पीनलकार्ड के चारो और पॉलिब पेरत को सही तरीके से बंद करता है।वाहा गप नहीं आने देता। मा के लिए भी बहुत जरुरी है ।विटमिन B 12 के साथ मिलकर हेअल्थी रेड सेल्स बाँटा है। folic acit ke liye ye khaye. ब्रोकली ऐस्पैरागस खट्टे फल हरी पत्तों वाली सब्जियां ओकरा फूलगोभी भुट्टा गाजर 1) दूध और डेयरी के ले सकती हैं. मलाई वाला दूध दही छाछ घर का पनीर इन सब में कैल्शियम प्रोटीन और विटामिन बी12 बहुत होता है. 2) सभी अनाज ,दालें . इन सब में प्रोटीन बहुत अच्छा होता है. 3) पेय पदार्थों में आप पानी bahut piyen.खास करके आप साफ पानी joki फ़िल्टर किया हुआ. ताजे फलों का रस ले. डिब्बाबंद juis nahi le. इसमें शक्कर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है. 4) वसा और तेल . वेजिटेबल ऑयल का वसा एक अच्छा स्रोत है क्योंकि इसमें संतृप्त वसा अधिक होता है. इन सभी चीजों के साथ आप डॉक्टर की सलाह मानें .जो भी टेस्ट किए हैं दिए गए हैं उन्हें करवाएं समय पर. दवाइयां समय पर ले और नींद पूरी. खाना जो भी खाएं अच्छे से चबाकर खाएं. प्रेगनेंसी के समय मिल्क प्रोडक्ट calcium और प्रोटीन बहुत जरुरी होता है। डेयरी प्रोडक्ट प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए सबसे बेहतर होता है। जैसे अंडा, चीज, दूध, दही और पनीर मां और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है। कैल्शियम भी पर्याप्त मात्रा में होती है जो फीटस के बोन टिशू के विकास के लिए आवश्यक होता है। प्रोटीन की मात्रा काम होने से बच्चे की ग्रोथ में बहुत अंतर आता है। प्रोटीन जरूरी पौशाक तत्वों में से है। बच्चे का विकास और एम्निओटिक टिशू का कार्य प्रोटीन पर निर्भर करता है। गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन की kaam मात्रा बच्चे के sahi विकास में बाधा पहुंचा सकती है और इससे शिशु का वजन भी कम हो सकता है। यह बच्चे के बढ़ते मस्तिष्क पर नकारात्मक प्रभाव भी डाल सकता है।  बस एक मुट्ठी नट्स प्रोटीन की अपनी दैनिक आवश्यकताओं को पूरा कर सकता है। नट्स जैसे बादाम, मूंगफली, काजू, पिस्ता, अखरोट और नारियल में उच्च मात्रा में प्रोटीन की मात्रा होती है जो बच्चे के विकास के लिए जरूरी होता है। बीज जैसे कद्दू, तिल और सूरजमुखी में भी प्रोटीन पर्याप्त मात्रा में होती है।  इनमें से कई ऐसे हैं जिनमें प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक होती है जैसे- मूंग, काले और फवा बिन्स, मसूर, मटर और चना. ओट्स में प्रोटीन बहुत उच्च मात्रा में पाई जाती है .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा वजन अभी 69 के.जी. हें और मे चाहती हु की अब मेरा वजन ना बडे और बच्चे का वजन हि बडे इसके लिये मे क्या करू
उत्तर: isake liye juck food avoid karo aur healthy food lo jo apke baby k liye acha rhega aur apke liye v
»सभी उत्तरों को पढ़ें