3 साल का बच्चा

Question: अभी मुझे दूसरा बच्चा नही चाहिए मुझे पेट मेन दरद है बहुत ज़्यादा वो तीन साल का है प्रेग्नेन्सी टालने का कोई उपाय देजेइ

1 Answers
सवाल
Answer: आपको प्रेगनेंसी ना हो इसके लिए आप अपने हस्बैंड से बात kare ki wo कंडोम का प्रयोग kare तथा कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स का प्रयोग आप कर सकती हैं और कॉपर टी का भी प्रयोग कर सकती हैं . lekin in Sab Mein sabse best option of कोन्डोम ही रहता है . यदि आपने अभी conceive किया हुआ है तो उसके लिए आप डॉक्टर से कंसल्ट करें कोई भी घरेलू उपाय ना अपनाये
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा बच्चा चार साल का हो गया है अभी वी ज़्यादा नही बोल पाट है ये कोई समस्या टु नही
उत्तर: आपका बेटा 4 साल का हो गया है और ज्यादा बोल नहीं पाता है अतः थोड़ी परेशानी वाली बात है क्योंकि इस अवस्था में तो बच्चे बहुत अच्छे से बोलने लगते हैं फिर भी आप अपने बच्चे से ज्यादा से ज्यादा बात कीजिए बोलिए और उसे बात करने के लिए प्रोत्साहित कीजिए और एक बात का हमेशा ध्यान रखिए जो कि माता-पिता नहीं रखते हैं बच्चे के साथ एक ही भाषा में बात करिए जब तक कि वह अच्छे से बोलना नहीं सीख जाते हैं क्योंकि कभी-कभी क्या होता है बच्चे कंफ्यूज हो जाते हैं और माता-पिता उनके कई सारी भाषाओं में अपने बच्चे से बातें करते हैं अतः आप इस गलती को ना दोहराएं फिर भी आपका बच्चा नहीं बोलना सीख रहा है तो एक बार स्पीच थेरेपी का प्रयोग करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा तीन साल का है,और वो खाना नही खाता है,वजन भी कम है,आप कोई उपाय बताइये।
उत्तर: आप की तरह मैं भी अपनी बच्ची के लिए परेशां थी। वह भी कुछ कहती नहीं थी।। उसके वजन को लेकर और उसकी हाइट को लेकेर। मैंने कुछ घरेलु उपाए किये जिससे मुझे बहुत अच्छा रिजल्ट मिळा। आप भी करके देखे । परेशां मात होइये। आपके भी बच्ची का वजन और हाइट अच्छी होजाएगी। 1)Dhyaan रखे वह खाना खाने के समय से २० मिनट पहले कुछ और स्नैक्स नहीं खाये ।. 2)बच्चे के पसंद का खाना बांये जो की पौष्टिक हो। 3)बच्चे को खाना डेली स्वाद बदल केर दe. 4) जभी आप खाना खाये उसको साथ में खिलाये । अलग प्लेट में खाना द। बच्चे बडो को देख केर खाना सिख जाते है । 5)सूजी को भुञ्ज ले और उसमे थोड़ा घी मिलाकर गाजर टमाटर aur hari sabjiya दाल कर अच्छे से पकाले। 6)अगर बच्चा मीठा पसंद करे तो नरम रोटी छोटे छोटे टुकड़े करके द।रोटी को दुध में साने और घी लगा केर द। 7) आते का हल्वा बनाये घी मे। तोडे पइसे हुए ड्राई फ्रूट्स डाले। 8) मलाई वाला दुध द। 9) सभी मौसम के फ्रूट्स दे । ## ध्यान रखे बचा छोटा है इसलिए कोई भी खाना एक बार में बहुत सारा और उसमे बड़े टुकड़े नहीं हो। ## अच्छे से पका हो।ताजा हो । आपका बच्चा 1year se jayda hai to वह अभी फल सब्जियां दूध यह सब कुछ खा सकता है लेकिन आप सबसे पहले ध्यान रखे कि खाना बहुत ज्यादा मात्रा में ना हो और बहुत बड़े टुकड़े ना हो. वह अच्छी तरह पका हो ध्यान रखें .खाना बच्चों को ताजा ही खिलाएं. मार्केट का कोशिश करें की अच्छी जगह ka हो साफ ho. आप बच्चे को दूध दे सकते हैं .दिन में तीन बार आप गाय का दूध जरूर दें .इसे कि उसे कैल्शियम अच्छी तरह मिलेगा. आप हरी सब्जियां और फल जिनमें हाई कैलोरी होती हैं वह जरूर दें जिससे कि उसे एनर्जी मिलेगी ज्यादा फैक्ट्री खाना ना दे नहीं तो उससे उनकी आदत बिगड़ सकती है जिससे कि वह आगे जाकर बहुत मोटे तो रहेंगे लेकिन उनमें ताकत नहीं रहेगी. Banana (kela )जरूर दें इसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन B6 ,फाइबर, पोटेशियम ,विटामिन सी होता है और फलों में आप नाशपाती दे सकते हैं आलू देख सकते हैं मटर दे सकते हैं शकरकंद दे सकते हैं. अगर आप नॉन वेजिटेरियन है मांसाहारी है तो आप रोज एक अंडा दे. चिकन भी दे .चिकन ya egg देने से पहले आप यह ध्यान दें कि सब ताजा हो अच्छी तरह पका हो .बाहर का बिल्कुल भी बना हुआ ना दें. Ghee जरूर den. उसकी रोटी में घी लगाकर ya उसे दाल चावल में ghee डाल कर दें .जो भी उसके लिए अलग से बना रहे हैं उसमें तेल की जगह घी का प्रयोग करें. सूखे मेवे दे सकती हैं .चीज दे सकते हैं. आप सभी प्रकार के अनाज भी दे सकती हैं अगर बच्चा रोटी खाए तो आप मल्टीग्रेन आटे की रोटियां बनाएं जिसे आप दूध से सामने ज्ञानाराम तो बनेगी बनेगी साथ में कैल्शियम भी जाएगा छोटे-छोटे टुकड़े करके उन्हें खिलाएं. बच्चों को भी आप oats दे सकते हैं . इससे उनको फाइबर भी मिलेगा . avocado दे सकते हैं . Raagi दे सकते हैं घर में ही सभी प्रकार की दालों को पीसकर मल्टीग्रेन पाउडर बना सकते हैं . जिसे आप दूध में उबालकर भी दे सकती है . उसकी रोटी भी बना कर खिला सकती हैं . उससे डोसा बना सकती हैं इडली बना सकती हैं. बच्चे को अगर आप मोटा करना चाहते हैं उसे तंदुरुस्त बनाना चाहते हैं तो आप उसके खाने में हरी पत्तेदार सब्जियों कुछ ज्यादा ही प्रयोग करें. इसमें प्रोटीन मिनरल्स होते हैं जो कि बच्चों के शरीर के विकास के लिए बहुत जरूरी होता है बच्चों को ऊर्जा मिलती है और उसके अलावा hari सब्जियों को खाने में dhyaan भी बढ़ता है. जिंक वाला आहार दें जिससे कि बच्चों को भूख ज्यादा लगेगी और शरीर की ग्रोथ अच्छी होगी .जो बच्चे देखने में कमजोर होते हैं उन्हें भूख भी कम लगती हैं. उन्हें आप zink वाला और देने से उनकी बुक खुल जाती है और वह अच्छी तरह खाना खाने लगते हैं. Zink वाले आहार के लिए तरबूज के बीज, मूंगफली ,बींस ,पालक ,मशरूम और dudh den. इन सब चीजों से बच्चों का वजन भी पढ़ने में मदद मिलती है. डेयरी उत्पाद में मछली का सेवन भी आप बच्चों को करा सकते हैं. बच्चों को भरपूर मात्रा में दूध दही पनीर इन सब का सेवन करना चाहिए. जिससे बच्चा अपनी ग्रोथ कर सकें .यदि आप नॉनवेज है तो आप अपने बच्चे को मछली और एक अंडा daily दे सकते हैं. बच्चों को ताजे फल भी दे उनसे उनका पेट भरेगा और पोषक तत्व मिलेंगे .उससे उन्हें energy मिलेगी. अंगूर, सेब, केला ,संतरा ,तरबूज, खिलाने से बच्चे तंदुरुस्त होते हैं. बच्चों को ड्राई फ्रूट्स भी हमें रोज देना चाहिए. पिस्ता ,मूंगफली ,काजू खाने से कोलेस्ट्रॉल और खूब सारी कैलोरी मिलती है .जिसको खाने से बच्चे बढ़ेंगे और मोटे भी होंगे .आपको इन्हें रोजाना की डाइट में शामिल करना चाहिए. bachho ke खाने में आप बहुत ज्यादा नमक या बहुत ज्यादा मीठा बिल्कुल भी ना दें .दोनों ही चीजें लिमिट में होनी चाहिए. मात्रा उनकी आप सही रखें. बच्चों को कोल्ड्रिंग fastfood ya बाहर का खाना. होटल का खाना .बहुत ज्यादा पसंद होता है. लेकिन आप कुछ ऐसा करें जिससे कि आप उन्हें इन सब से बचा सके. पानी पीना बहुत जरूरी होता है और यह सही मात्रा में पिया जाए बहुत जरूरी है आप बचपन से ही बच्चों में यह आदत डालें कि वह पानी अच्छी मात्रा में लें ताकि वही आदत पड़ी तक रहे. bachho me थोड़ी एक्सरसाइज करने की ya योगा करने की भी आप आदत डालें इन सभी का प्रभाव आप उनके अच्छे स्वास्थ्य में देखेंगे. take care
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी शादी को तीन साल हो गये है अभी तक प्रेगनेंट नही हुई हूँ बहुत परेशान हूँ कोई उपाय बताये
उत्तर: कंसीव करने के लिए आपको कुछ महत्वपूर्ण बातों पर ध्यान देना होगा जैसे आपको अपना खानपान बहुत अच्छा करना होगा अपनी दिनचर्या और जीवनशैली को बहुत अच्छा बनाना होगा इसके साथ ही साथ आपको अपनी लास्ट पीरियड डेट को याद रखना होगा क्योंकि सामान्यतया 28 दिन की cycle में 14वें दिन ovulation शुरू हो जाता है | इसलिए जैसे ही आपका पीरियड बन्द हो वैसे ही alternate days में सेक्स करना शुरू कर दे | इस तरह से आप fertile दिनों को मिस नहीं करेगी | 12वें दिन के बाद तो रोजाना सेक्स करना ज्यादा उचित होगा | स्पर्म आपकी Uterus और Fallopian tubes में 2-3 दिनों तक चिपके हुए रह सकते हैं लेकिन आपके Egg निकलने के बाद केवल 12 to 24 घन्टे तक जिन्दा रहते हैं | इसलिए Egg निकलने (ovulate) होने से पहले सेक्स करने से आपके गर्भधारण के chance बढ़ा सकते हैं क्योकि जैसी आपका Egg बाहर आयेगा उसके लिए Sperm पहले से वहाँ होगे | आपको अपने खानपान की तरफ भी काफी ध्यान देना चाहिए। संतुलित आहार करें जिसमें पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन, मिनरल और अन्य पोषक पदार्थ हों (protein, minerals and other nutrients), जिससे कि गर्भधारण की प्रक्रिया में तेज़ी आ जाए। हमेशा पोषक भोजन करने की कोशिश करें, जिससे बिना किसी समस्या के आसानी से बच्चे को जन्म दिया जा सके।  अल्कोहल का सेवन ना करें , निकोटिन और कैफीन का सेवन बंद कर दें
»सभी उत्तरों को पढ़ें