33 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: अगर 8 वे मंथ मे भी बचे का मुवमेंट bhut कम हो लेकिन अल्ट्रासाउन्ड रिपोर्ट नॉर्मल हो तो ishka क्या मतलब होता है plz हेल्प me

1 Answers
सवाल
Answer: नॉर्मल हर 2 से 3 घंटे में 10 बार मोमेंट होता है लेकिन जैसे-जैसे डिलीवरी डेट पास आती है मोमेंट कम होता चला जाता है क्योंकि बच्चे को move करने के लिए कम स्पेस मिलता है चिंता ना करें सब कुछ ठीक होगा
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: अगर बचे दानी मे faibroed हो तो क्या होता है
उत्तर: hello dear फाइब्रॉएड से पीड़ित महिलाओं को डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए, ताकि लक्षणों की जाँच कर उपचार किया जा सके। किसी भी तरह का जाँच करने से पहले डॉक्टर उसके लक्षणों के बारे में पूछताछ करते हैं। इसके अलावा, फाइब्रॉएड का पता लगाने के लिए डॉक्टर पैल्विक और अल्ट्रासॉउन्ड परीक्षण करते हैं ताकि, गर्भाशय की छवि को अच्छे से देखा जा सके। अगर इन जाँच से फाइब्रॉएड का पता नहीं चल पाता है, तो डॉक्टर दूसरे अल्ट्रासॉउन्ड की सलाह देते हैं, ताकि इस बात का पता लगाया जा सके कि, फाइब्रॉएड के आकार में किस हद तक की वृद्धि हुई है। इसके अलावा डॉक्टर महिला की रक्त परीक्षण कर एनीमिया की जाँच करते हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: अगर ओव्यूलेशन कम हो ता हो महिला में तो प्रेग्नेंसी में प्रॉब्लम आती है क्या .? लेकिन ओवुलेशन कम है इसको कैसे पहचाने ...पीरियड कम हो तो क्या इसका मतलब ओवुलेशन कम हो रहा है
उत्तर: हेलो अगर आपको फ्रिकवेंसी नही ं रुक रही है इसका मतलब आपका ओवुलेशन कम हो रहा है पीरियड रेगुलर नहीं होने पर भी ओवुलेशन ओवुलेशन कम ही होता है इसलिए प्रेग्नेंसी में समय लगता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: 8 वे मंथ मे अगर बेबी कम घूमें तो कोई पोरबल्म तो नही ह
उत्तर: Hello dear 8-9 month Mai baby Ko ghumne Ko puri growth ke wajah se space Kam he hota hai Lekin har 2 ghante Mai baby ka movement Karana safe hota hai baby ko dinner Mai 10-12 Baar movement karni chahiye
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 8 मंथ का है उसे लुस्स मोशन हो रहें है उसके साथ भी आ रहा है plz हेल्प मी मे क्या करु उसके कम हो जायें
उत्तर: 🙏 सबसे पहले ये ध्यान रखें कि आपका बच्चा अधिक मात्रा में तरल और लिक्विड पदार्थों ले ताकि उसके शरीर में पानी की कमी न हो सके। आप ORS का घोल घर पर भी तैयार कर सकती हैं। उबालकर ठंडं किया गया एक लीटर पानी लें। इसमें आठ छोटी चम्मम चीनी और एक छोटी चम्मच नमक मिला कर घोल लें। आपका बच्चा जब भी उल्टी करे, या लैट्रीन करे या पेशाब जाए, तो उसे इस घोल की कुछ घूंट पिला दें।आप नारीयल पानी भी दे सकती हैंअगर दस्त कुछ घंटों से ज्यादा समय तक बने रहें तो हो सकता हैं, कभी कभी यह अपने आप ही ठीक हो जाता हैं। आप बच्चे को खाने में सुफपाच्य भोजन दें जैसे खिचडी़ चावल दाल दही नारियल पानी सुप आदी अगर आपका बच्चा कुछ घंटों में तीन-चार बार से ज्यादा पानी की तरह पतली और बदबूदार ग्रीन पॉटी कर रहा है, तो तुरंत अपने डॉक्टर से बात करें। बिना डाक्टरी सलाह के कोई भी दवाई न दें। Take care💐
»सभी उत्तरों को पढ़ें