गर्भावस्था में खून की कमी के कारण, लक्षण, इलाज और उपाय (pregnancy me khoon ki kami ke karan, lakshan, ilaj aur upay)

गर्भावस्था में खून की कमी के कारण, लक्षण, इलाज और उपाय (pregnancy me khoon ki kami ke karan, lakshan, ilaj aur upay)
प्रेगनेंसी में हर महिला को कई तरह की शारीरिक परेशानियों से गुज़रना पड़ता है। यह ऐसा समय है जब महिला को काफी कमज़ोरी भी आती है। ज्यादातर महिलाओं को प्रेगनेंसी में खून की कमी (anemia in hindi) की समस्या से जूझते देखा गया है जिसके चलते उन्हें और भी कई परेशानियां होती हैं। कई सर्वे में भी यह बात सामने आई है कि भारत में दस में से करीब छह गर्भवती महिलाएं खून की कमी (anemia in hindi) से पीड़ित रहती हैं। इसलिए आप इस बात का ख्याल रखें कि आपके शरीर में हीमोग्लोबिन (hemoglobin in hindi) की कमी ना हो, क्योंकि यह एक सामान्य कारण है जिससे शरीर में खून की कमी (anemia in hindi) होने लगती है और अन्य बीमारियां जन्म लेती हैं। इस ब्लॉग में हम आपको गर्भावस्था में होने वाली खून की कमी (anemia in hindi) से संबंधित कुछ बातें बताएंगे जिनका आपको जानना काफी ज़रूरी है। पढ़िए विस्तार से - 1. गर्भावस्था में खून की कमी क्यों होती है? (garbhavastha me khoon ki kami kyun hoti hai) 2. गर्भावस्था में खून की कमी के लक्षण (garbhavastha me khoon ki kami ke lakshan) 3. गर्भावस्था में एनीमिया के क्या कारण है? (garbhavastha me anemia ke kya karan hai?) 4. गर्भावस्था में आयरन की कमी से एनीमिया क्यों होता है? (garbhavastha me iron ki kami se anemia kyun hota hai?) 5. प्रेगनेंसी में हीमोग्लोबिन कितना होना चाहिए? (pregnancy me hemoglobin kitna hona chahiye?) 6. हीमोग्लोबिन की कमी का पता कैसे चलता है? (hemoglobin ki kami ka pata kaise chalta hai?) 7. गर्भवती को खून में हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए? (pregnancy me hemoglobin badhane ke liye kya khaye) 8. गर्भवती महिलाएं आयरन के लिए क्या खाएं? (garbhavastha me iron ke liye kya khaye?) 9. गर्भावस्था में फोलेट की कमी से एनीमिया क्यों होता है? (garbhavastha me folate ki kami se anemia kyun hota hai?) 10. गर्भावस्था में कितना फोलिक एसिड लेना चाहिए? (garbhavastha me kitna folic acid lena chahiye?) 11. गर्भवती महिला फोलेट के लिए क्या खाएं? (garbhvati mahila folate ke liye kya khaye?) 12. गर्भावस्था में विटामिन बी12 की कमी से एनीमिया क्यों होता है?(garbhavastha me vitamin B12 ki kami se anemia kyun hota hai?) 13. गर्भावस्था में विटामिन बी 12 के लिए क्या खाएं? (garbhavastha me vitamin B 12 ke liye kya khaye?) 14. इन गर्भवती महिलाओं को एनीमिया का खतरा ज्यादा रहता है (in garbhvati mahilao ko anemia ka khatra zyada rehta hai) 15. गर्भवती महिला को एनीमिया से होने वाले जोखिम (garbhavastha me anemia se hone wale nuksan) 1. गर्भावस्था में खून की कमी क्यों होती है? (garbhavastha me khoon ki kami kyun hoti hai?) गर्भावस्था में खून की कमी क्यों होती है? (garbhavastha me khoon ki kami kyun hoti hai?) सबसे पहले तो ये जानना ज़रूरी है कि आखिर गर्भावस्था में खून की कमी (anemia in hindi) क्यों होती है? गर्भ में पल रहे शिशु का विकास माँ के खून के ज़रिए होता है, प्लेसेंटा के ज़रिए शिशु माँ के रक्त से सभी जरूरी पोषक तत्व ग्रहण करता है। अगर गर्भवती महिला के भोजन में कुछ ज़रूरी पोषक तत्वों जैसे आयरन (iron in hindi), फोलिक एसिड (folic acid in hindi), विटामिन सी (vitamin c in hindi) आदि की कमी हो, तो उसके शरीर में उचित मात्रा में खून नहीं बन पाता। इससे गर्भवती के शरीर में खून की कमी हो जाती है। गर्भवती के शरीर में खून की कमी होने का एक कारण उसे कम भूख लगना भी है, इससे उसे पर्याप्त पोषक तत्व नहीं मिल पाते। शरीर में खून की कमी से एनीमिया (anemia in hindi) की समस्या शुरू हो जाती है। यही कारण है कि डॉक्टर खून बढ़ाने की दवा भी देते हैं।
पढ़े - प्रेगनेंसी में शुगर (गर्भकालीन मधुमेह) के कारण (pregnancy me sugar kyun hoti hai)
2. गर्भावस्था में खून की कमी के लक्षण (garbhavastha me khoon ki kami ke lakshan) गर्भावस्था में खून की कमी के लक्षण (garbhavastha me khoon ki kami ke lakshan) अगर गर्भावस्था में आपको ऐसे लक्षण नज़र आएं तो यह खून की कमी (anemia in hindi) को दर्शाते हैं -
  • गर्भवती के होंठ, नाखून, त्वचा और आंखें पीली पड़ने लगती हैं।
  • आपको हर समय थकान और कमज़ोरी महसूस होने लगती है।
  • आपको चक्कर (dizziness in hindi) आ सकते हैं।
  • सांस लेने में तकलीफ (breathlessness in hindi) हो सकती है।
  • दिल की धड़कनों की गति बढ़ सकती है।
पढ़े - प्रेगनेंसी में शुगर के लक्षण (garbhavastha me sugar ke lakshan)
3. गर्भावस्था में एनीमिया के क्या कारण है? (garbhavastha me anemia ke kya karan hai?) गर्भावस्था में एनीमिया के क्या कारण है? (garbhavastha me anemia ke kya karan hai?) कुछ लोगों को लगता है कि एनीमिया (anemia in hindi) यानी खून की कमी आयरन की कमी के कारण होती है। लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एनीमिया (anemia in hindi) आयरन की कमी के साथ-साथ अन्य पोषक तत्वों की कमी के कारण भी हो सकता है। जानिए आयरन (iron in hindi) सहित और किन-किन की कमी से एनीमिया हो सकता है -
  1. आयरन की कमी से होने वाला एनीमिया (anemia in hindi)।
  2. फोलेट की कमी से होने वाला एनीमिया (anemia in hindi)।
  3. विटामिन बी12 की कमी से होने वाली एनीमिया (मेगालोब्लास्टिक एनीमिया)।
पढ़े - प्रेगनेंसी में डाइट कैसी होनी चाहिए (pregnancy me diet kaisi honi chahiye)
4. गर्भावस्था में आयरन की कमी से एनीमिया क्यों होता है? (garbhavastha me iron ki kami se anemia kyun hota hai?) गर्भावस्था में आयरन की कमी से एनीमिया क्यों होता है? (garbhavastha me iron ki kami se anemia kyun hota hai?) आयरन (iron in hindi) की कमी से होने वाला एनीमिया (anemia in hindi) तब होता है जब शरीर में हीमोग्लोबिन (hemoglobin in hindi) बनाने के लिए पर्याप्त मात्रा में आयरन (iron in hindi) ना जाए। आपको बता दें कि हीमोग्लोबिन लाल रक्त कोशिकाओं (red blood cells) में मौजूद प्रोटीन होता है और यह कोशिकाएं फेफड़ों से शरीर के अन्य भाग में ऑक्सिजन पहुंचाती हैं। जिनमें आयरन (iron in hindi) की कमी होती है उनमें खून पूरी तरह से ऑक्सिजन नहीं पहुंचा पाता। बहुत सी गर्भावस्थाओं में आयरन की कमी से एनीमिया (anemia in hindi) की शिकायत पाई जाती है।
जानिए - प्रेगनेंसी में कैसे सोना चाहिए (pregnancy me kaise sona chahiye)
5. प्रेगनेंसी में हीमोग्लोबिन कितना होना चाहिए? (pregnancy me hemoglobin kitna hona chahiye?) प्रेगनेंसी में हीमोग्लोबिन कितना होना चाहिए? (pregnancy me hemoglobin kitna hona chahiye?) चूंकि शरीर में खून के लिए हीमोग्लोबिन (hemoglobin in hindi) की सही मात्रा होनी बहुत ज़रूरी है ऐसे में सवाल ये उठता है कि प्रेगनेंसी में हीमोग्लोबिन कितना होना चाहिए? (pregnancy me hemoglobin kitna hona chahiye?) हीमोग्लोबिन के लिए आयरन की ज़रूरत होती है इसलिए गर्भावस्था के दौरान महिला के शरीर को सामान्य दिनों के मुकाबले 50 प्रतिशत ज्यादा आयरन की लेना चाहिए। एक अनुमान के अनुसार, गर्भवती महिला को खानपान से केवल 18 मिग्रा. आयरन ही मिल पाता है। इसलिए भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) गर्भवती महिला को आयरन की गोलियां लेने की सलाह देते हैं। उनके अनुसार एक प्रेगनेंट महिला को दिन में 38 मिग्रा. आयरन लेना चाहिए।
पढ़े - प्रेगनेंसी में कब्ज़ के उपाय (pregnancy me kabz ke upay)
6. हीमोग्लोबिन की कमी का पता कैसे चलता है? (hemoglobin ki kami ka pata kaise chalta hai?) हीमोग्लोबिन की कमी का पता कैसे चलता है? (hemoglobin ki kami ka pata kaise chalta hai?) रक्त जांच में आपके हीमोग्लोबिन के स्तर की जांच होगी। अगर हीमोग्लोबिन (hemoglobin in hindi) का स्तर 11 ग्राम/डेसीलीटर आए तो आप एनीमिया (anemia in hindi) की शिकार हैं। 7. गर्भवती को खून में हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए? (pregnancy me hemoglobin badhane ke liye kya khaye) गर्भवती को खून में हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए? (pregnancy me hemoglobin badhane ke liye kya khaye)
  • गर्भवती के खून में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाने के लिए उसके भोजन में आयरन युक्त खाद्य पदार्थ जैसे सोयाबीन, पालक, अंजीर आदि शामिल करें।
  • फॉलेट (folate in hindi) एक तरह का विटामिन बी (vitamin b in hindi) होता है, जो हीमोग्लोबिन के निर्माण के लिए ज़रूरी है। इसलिए गर्भवती महिला का भोजन फॉलेट युक्त खाद्य पदार्थों जैसे मूंगफली, राजमा, चावल, पालक आदि से भरपूर होना चाहिए।
  • गर्भवती के शरीर में आयरन का अवशोषण सही तरह से होने के लिए उसके भोजन में विटामिन सी और ए (vitamin c, a in hindi) होना बहुत ज़रूरी है। विटामिन सी के लिए आप खट्टे फल जैसे संतरा, टमाटर, आदि खा सकती हैं और विटामिन ए के लिए आप शकरकन्द, गाज़र, मछली आदि खा सकती हैं।
पढ़े - प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए (pregnancy me kya khana chahiye)
8. गर्भवती महिलाएं आयरन के लिए क्या खाएं? (garbhavastha me iron ke liye kya khaye?) गर्भवती महिला को आयरन (iron in hindi) की गोलियों के साथ अपने खानपान में भी भरपूर मात्रा में आयरनयुक्त खाना शामिल करना चाहिए। इसके लिए आप अपनी डायट में इन चीज़ों को ज़रूर शामिल करें -
  • हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, सरसों, मेथी, आदि के साथ चुकंदर, खजूर आदि का सेवन करें।
  • अगर आप नॉनवेज खाती हैं तो यह भी आपके लिए आयरन (iron in hindi) का अच्छा स्रोत होता है।
9. गर्भावस्था में फोलेट की कमी से एनीमिया क्यों होता है? (garbhavastha me folate ki kami se anemia kyun hota hai?) गर्भावस्था में फोलेट की कमी से एनीमिया क्यों होता है? (garbhavastha me folate ki kami se anemia kyun hota hai?) फोलेट हर गर्भवती महिला के लिए बेहद ज़रूरी है। यह विटामिन बी (vitamin B) का ही एक प्रकार है जो शरीर में रेड ब्लड सेल (red blood cells) सहित अन्य सेल (कोशिकाएं) बनाने में मदद करता है। आपको बता दें कि फोलेट (folate in hindi) की कमी से शिशु को रीढ़ की हड्डी (स्पाइना बिफिडा) संबंधी रोग हो सकते हैं। इसलिए गर्भावस्था में महिला को अतिरिक्त फोलेट लेने की ज़रूरत पड़ती है। डॉक्टर गर्भावस्था की पहली तिमाही में महिला को फोलेट के लिए फोलिक एसिड (folic acid in hindi) की गोलियां देते हैं। 10. गर्भावस्था में कितना फोलिक एसिड लेना चाहिए? (garbhavastha me kitna folic acid lena chahiye?) गर्भावस्था में कितना फोलिक एसिड लेना चाहिए? (garbhavastha me kitna folic acid lena chahiye?) यूं तो हर महिला का स्वास्थ्य अलग होता है लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार गर्भवती महिला को रोज़ाना 400 माइक्रोग्राम (400 mg) फोलिक एसिड (folic acid in hindi) लेना चाहिए। लेकिन अपने स्वास्थ्य के लिए आपको कितना फोलिक एसिड (folic acid in hindi) रोज़ाना लेना चाहिए उसके लिए अपने डॉक्टर से सलाह लें। फोलिक एसिड (folic acid in hindi) ज्यादातर गर्भावस्था की पहली तिमाही में दिया जाता है। 11. गर्भवती महिला फोलेट के लिए क्या खाएं? (garbhvati mahila folate ke liye kya khaye?) गर्भवती महिला फोलेट के लिए क्या खाएं? (garbhvati mahila folate ke liye kya khaye?) फोलिक एसिड (folic acid in hindi) की गोलियों के अलावा आप अपने खानपान में इन चीज़ों का सेवन करें ताकि प्राकृतिक रूप से भी आपके शरीर को फोलेट मिलता रहे। जैसे -
पढ़े - प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए (pregnancy me kya khana chahiye)
12. गर्भावस्था में विटामिन बी12 की कमी से एनीमिया क्यों होता है?(garbhavastha me vitamin B12 ki kami se anemia kyun hota hai?) गर्भावस्था में विटामिन बी12 की कमी से एनीमिया क्यों होता है?(garbhavastha me vitamin B12 ki kami se anemia kyun hota hai?) रेड ब्लड सेल (red blood cells) को बनाने में विटामिन 12 बहुत ज़रूरी है और रोज़ाना के खानपान से विटामिन बी12 भरपूर मात्रा में नहीं मिल पाता जिस वजह से खून की कमी (anemia in hindi) होने लगती है। विटामिन बी12 की कमी से गर्भवती महिला की समय से पहले डिलीवरी (premature delivery in hindi) होने का खतरा बढ़ जाता है। विटामिन बी12 (vitamin B 12) की कमी उन महिलाओं में ज्यादा होती है जो नॉनवेज, अंडा या डेयरी उत्पाद नहीं खातीं। विटामिन बी12 की कमी से होने वाले एनीमिया को मेगालोब्लास्टिक एनीमिया (megaloblastic anemia in hindi) भी कहा जाता है। 13. गर्भावस्था में विटामिन बी 12 के लिए क्या खाएं? (garbhavastha me vitamin B 12 ke liye kya khaye?) गर्भावस्था में विटामिन बी 12 के लिए क्या खाएं? (garbhavastha me vitamin B 12 ke liye kya khaye?) विटामिन बी 12 (vitamin B 12) के लिए आप अंडा, मांस, सोया का दूध आदि का सेवन करें। शाकाहारी महिलाएं डॉक्टर की सलाह लेकर विटामिन बी 12 की गोलियां भी ले सकती हैं। 14. इन गर्भवती महिलाओं को एनीमिया का खतरा ज्यादा रहता है (in garbhvati mahilao ko anemia ka khatra zyada rehta hai) इन गर्भवती महिलाओं को एनीमिया का खतरा ज्यादा रहता है (in garbhvati mahilao ko anemia ka khatra zyada rehta hai)
  • गर्भ में एक से ज्यादा बच्चे होने पर।
  • पहली और दूसरी प्रेगनेंसी में ज्यादा अंतर ना होने पर। आमतौर पर बच्चा होने के बाद आपको दूसरी गर्भावस्था के लिए 18 महीने का अंतर रखना चाहिए।
  • गर्भावस्था में बहुत ज्यादा उल्टियां (vomiting in hindi) होने पर।
  • 18 साल से कम उम्र में गर्भवती होने पर।
  • प्रेगनेंट होने से पहले से ही खून की कमी (anemia in hindi) होने पर।
  • आयरन (iron in hindi) युक्त खाद्य पदार्थ ना खाने पर, जैसे पालक, सेब, दालें आदि।
15. गर्भवती महिला को एनीमिया से होने वाले जोखिम (garbhavastha me anemia se hone wale jokhim) गर्भवती महिला को एनीमिया से होने वाले जोखिम (garbhavastha me anemia se hone wale jokhim) गर्भावस्था में एनीमिया (anemia in hindi) होने से महिला को और होने वाले बच्चे को यह नुकसान हो सकते हैं -
  • समय से पहले डिलीवरी होने का खतरा।
  • डिलीवरी के बाद तनाव की परेशानी भी देखने को मिल सकती है।
  • गर्भ में ठीक से पोषण ना मिलने के कारण शिशु को भी एनीमिया (anemia in hindi) हो सकता है।
  • गर्भ में शिशु का विकास (fetal development in hindi) धीमा पड़ सकता है।
खून की कमी से डिलीवरी के समय ज्यादा ब्लीडिंग (bleeding in hindi) होने के कारण आपको अतिरिक्त रक्त चढ़ाने की आवश्यकता पड़ सकती है। तो ये थे गर्भावस्था में खून की कमी (anemia in hindi) से संबंधित कुछ बातें जिनकी जानकारी आपको होनी ज़रूरी है, ताकि आप सही लक्षण को समझकर सही उपचार ले सकें। आप प्रचूर मात्रा में आयरन (iron in hindi) लें, फोलेट (folate in hindi) लें और विटामिन बी 12 (vitamin B 12) लें। अगर आप सब्जियों या फलों के रूप में इनका सेवन नहीं कर पाती हैं तो अपने डॉक्टर से पूछकर इनकी गोलियां ज़रूर लें।
इस ब्लॉग के विषय - 1. गर्भावस्था में खून की कमी क्यों होती है? (garbhavastha me khoon ki kami kyun hoti hai), 2. गर्भावस्था में खून की कमी के लक्षण (garbhavastha me khoon ki kami ke lakshan), 3. गर्भावस्था में एनीमिया के क्या कारण है? (garbhavastha me anemia ke kya karan hai?), 4. गर्भावस्था में आयरन की कमी से एनीमिया क्यों होता है? (garbhavastha me iron ki kami se anemia kyun hota hai?), 5. प्रेगनेंसी में हीमोग्लोबिन कितना होना चाहिए? (pregnancy me hemoglobin kitna hona chahiye?), 6. हीमोग्लोबिन की कमी का पता कैसे चलता है? (hemoglobin ki kami ka pata kaise chalta hai?), 7. गर्भवती को खून में हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए? (pregnancy me hemoglobin badhane ke liye kya khaye), 8. गर्भवती महिलाएं आयरन के लिए क्या खाएं? (garbhavastha me iron ke liye kya khaye?), 9. गर्भावस्था में फोलेट की कमी से एनीमिया क्यों होता है? (garbhavastha me folate ki kami se anemia kyun hota hai?), 10. गर्भावस्था में कितना फोलिक एसिड लेना चाहिए? (garbhavastha me kitna folic acid lena chahiye?), 11. गर्भवती महिला फोलेट के लिए क्या खाएं? (garbhvati mahila folate ke liye kya khaye?), 12. गर्भावस्था में विटामिन बी12 की कमी से एनीमिया क्यों होता है?(garbhavastha me vitamin B12 ki kami se anemia kyun hota hai?), 13. गर्भावस्था में विटामिन बी 12 के लिए क्या खाएं? (garbhavastha me vitamin B 12 ke liye kya khaye?), 14. इन गर्भवती महिलाओं को एनीमिया का खतरा ज्यादा रहता है (in garbhvati mahilao ko anemia ka khatra zyada rehta hai), 15. गर्भवती महिला को एनीमिया से होने वाले जोखिम (garbhavastha me anemia se hone wale nuksan)
नए ब्लॉग पढ़ें
Healofy Proud Daughter