सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए (cesarean delivery ke baad kya khana chahiye)

सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए (cesarean delivery ke baad kya khana chahiye)

 ऑपरेशन डिलीवरी के बाद शारीरिक और मानसिक रूप से फिट होने के लिए महिलाओं को पर्याप्त मात्रा में आराम करने के साथ ही पौष्टिक भोजन करना चाहिए। ऐसे में उन्हें उन सभी चीज़ों को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए, जिनसे वे जल्दी स्वस्थ हो सकें।

हम इस ब्लॉग में बता रहे हैं कि आपको सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए।

  1. सिजेरियन डिलीवरी के बाद पोषक तत्व क्यों ज़रूरी हैं? (Cesarean delivery ke baad poshak tatv kyun zaruri hai)
  2. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए? (Cesarean delivery ke baad kya khana chahiye)
    1. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए: प्रोटीन युक्त भोजन (cesarean delivery ke baad kya khana chahiye: protein yukt bhojan)
    2. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए: विटामिन युक्त पदार्थ (cesarean delivery ke baad kya khana chahiye: vitamin yukt padarth)
    3. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए: आयरन युक्त भोजन (cesarean delivery ke baad kya khana chahiye: iron yukt bhojan)
    4. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए: कैल्शियम य़ुक्त पदार्थ (cesarean delivery ke baad kya khana chahiye: calcium yukt padarth)
    5. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए: फाइबर युक्त भोजन (cesarean delivery ke baad poshak tatv: fiber yukt bhojan)
    6. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए: तरल पदार्थ (cesarean delivery ke baad poshak tatv: fluids in hindi)
  3. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या नहीं खाना चाहिए? (Cesarean delivery ke baad kya nahi khana chahiye)
  4. सिजेरियन डिलीवरी के बाद भोजन संबंधी कौन सी सावधानियां बरतें? (Cesarean delivery ke baad bhojan sambandhi kaun si sawdhaniya baratni chahiye)

1. सिजेरियन डिलीवरी के बाद पोषक तत्व क्यों ज़रूरी हैं?(Cesarean delivery ke baad poshak tatv kyun zaruri hai)

सी-सेक्शन डिलीवरी के बाद महिलाएं शारीरिक और मानसिक रूप से काफी थक जाती हैं, जिसकी वजह से उन्हें ठीक होने के लिए पोषक तत्वों की ज़रूरत होती है।

इसके अलावा इस दौरान महिलाओं को स्तनपान कराने के लिए अतिरिक्त कैलोरी की आवश्यकता होती है, जिसकी भरपाई उचित मात्रा में पोषक तत्व लेने से ही होती है। 

इसलिए ऑपरेशन डिलीवरी के बाद महिलाओं को अपनी डाइट में पोषक तत्व शामिल करने चाहिए।

2. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए? (Cesarean delivery ke baad kya khana chahiye)

सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को तेज़ी से ठीक होने के लिए अपनी डाइट में नीच लिखी गई चीज़ें शामिल करनी चाहिए-

  1. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए: प्रोटीन युक्त भोजन (cesarean delivery ke baad kya khana chahiye: protein yukt bhojan)- ऑपरेशन डिलीवरी के बाद महिलाओं को शारीरिक और मानसिक रूप से ठीक होने के लिए अपने भोजन में प्रोटीन से भरपूर चीज़ें लेनी चाहिए। प्रोटीन नई कोशिकाओं के निर्माण और क्षतिग्रस्त कोशिकाओं की मरम्मत करने में सहायता करता है और ऑपरेशन के टांके जल्दी भर जाते हैं।
    • इसके लिए महिलाओं को अपनी डाइट में अंडा, दाल, मछली, पनीर, दूध, दही, बादाम और अखरोट आदि शामिल करने चाहिए। 
  2. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए: विटामिन युक्त पदार्थ (cesarean delivery ke baad kya khana chahiye: vitamin yukt padarth)- सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को जल्दी ठीक होने के लिए विटामिन युक्त पदार्थ लेने चाहिए। इसके लिए वे विटामिन सी, बी, बी-6, ए और के आदि ले सकती हैं। विटामिन सी और बी-6 में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर के ऊतकों की मरम्मत करते हैं, जिससे महिला तेज़ी से ठीक हो सकती है। इसके अलावा इनसे ऑपरेशन के घाव जल्दी भरने में मदद मिलती हैं और ये मां के स्तनों में दूध की मात्रा भी बढ़ाते हैं। 
    • इसके लिए महिलाओं को अपनी डाइट में पालक, दूध, शकरकंद, मूंगफली, अदरक, लहसुन, अंडा, टमाटर, अंगूर, तरबूज और संतरा आदि शामिल करने चाहिए। 
  3. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए: आयरन युक्त भोजन (cesarean delivery ke baad kya khana chahiye: iron yukt bhojan)- डिलीवरी के समय महिला के शरीर से काफी ज्यादा रक्तस्राव होता है, जिससे उसे कमज़ोरी महसूस हो सकती है। आयरन से भरपूर पदार्थ शरीर में खून की कमी नहीं होने देते हैं, इसलिए सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को अपनी डाइट में आयरन से भरपूर चीज़ें शामिल करनी चाहिए।
    • इसके लिए वे अपनी डाइट में अंजीर, पालक, आलू, चोकर युक्त रोटी, ब्राउन राइस, ब्राउन रोटी और मेथी आदि शामिल कर सकती हैं।
  4. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए: कैल्शियम य़ुक्त पदार्थ (cesarean delivery ke baad kya khana chahiye: calcium yukt padarth)- कैल्शियम मांसपेशियों और हड्डियों को मजबूत बनाने के साथ ही मां के स्तनों में दूध की मात्रा भी बढ़ाता है। इसलिए ऑपरेशन डिलीवरी के बाद महिलाओं को कैल्शियम युक्त पदार्थ खाने चाहिए। 
    • इसके लिए उन्हें अपनी डाइट में दूध, दही, पनीर, नींबू, खजूर और बादाम आदि शामिल करने चाहिए।
  5. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए: फाइबर युक्त भोजन (cesarean delivery ke baad poshak tatv: fiber yukt bhojan)- आमतौर पर डिलीवरी के बाद महिलाओं को कब्ज की समस्या हो जाती है, जिससे उनकी दिनचर्या प्रभावित हो जाती है। इसलिए सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को कब्ज दूर करने के लिए फाइबर युक्त पदार्थ खाने चाहिए। इसके अलावा फाइबर युक्त पदार्थ सिजेरियन डिलीवरी के जख्मों को तेज़ी से भरने में मदद करते हैं। साथ ही यह महिला को शारीरिक और मानसिक शक्ति देने में भी सक्षम माने जाते हैं।
    • इसके लिए महिलाओं को अपनी डाइट में दलिया, हरी सब्जियां, हल्दी, बादाम, लहसुन, अदरक, ब्राउन राइस और चोकर युक्त रोटी आदि शामिल करना चाहिए।
  6. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए: तरल पदार्थ (cesarean delivery ke baad poshak tatv: fluids in hindi)- सिजेरियन डिलीवरी के बाद कब्ज और शरीर में पानी की कमी से बचने के लिए महिलाओं को भरपूर मात्रा में तरल पदार्थ लेने चाहिए। इनसे मां के शरीर में पानी की कमी दूर होती है, जिससे वह तेज़ी से स्वस्थ होने लगती है।

इसके अलावा तरल पदार्थ स्तनपान कराने वाली महिलाओं में दूध की आपूर्ति में सहायक होते हैं। इसके लिए उन्हें खूब पानी (एक दिन में 8 से 10 गिलास), नारियल पानी और ताज़े फलों का जूस आदि पीना चाहिए।

3. सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या नहीं खाना चाहिए? Cesarean delivery ke baad kya nahi khana chahiye)

सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को स्वस्थ होने के लिए नीचे लिखी गई चीज़ों से परहेज करना चाहिए- 

  • तला भुना न खाएं- सिजेरियन डिलीवरी के बाद तेज़ी से ठीक होने के लिए महिलाओं को तली भुनी चीज़ें खाने से बचना चाहिए, क्योंकि ये आसानी से पच नहीं पाती हैं और इससे उन्हें पाचन संबंधी समस्या हो सकती है।
  • मसूर की दाल न खाएं- सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को मसूर की दाल नहीं खानी चाहिए, क्योंकि इससे उनकी पाचन क्रिया खराब हो सकती है। 
  • चना-मटर न खाएं- ऑपरेशन डिलीवरी के बाद महिलाओं को चने और मटर खाने से परहेज करना चाहिए, क्योंकि यह आसानी से पच नहीं पाते हैं।
  • चावल न खाएं- सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को चालीस दिनों तक चावल खाने से परहेज करना चाहिए, क्योंकि इससे खून में शुगर की मात्रा ज्यादा हो सकती है और घाव भरने में समय लग सकता है।
  • घी न खाएं- सिजेरियन डिलीवरी के बाद तीन-चार दिन तक महिलाओं को घी खाने से परहेज करना चाहिए, वरना इससे पाचन संबंधी समस्याएं पैदा हो सकती हैं।
  • चाय कॉफी न पीएं- ऑपरेशन डिलीवरी के बाद कुछ दिनों तक महिलाओं को चाय कॉफी से परहेज करना चाहिए, क्योंकि इनमें कैफीन होता है। यह कैफीन मां के दूध के ज़रिए शिशु के शरीर में जाकर उस पर बुरा असर डाल सकता है। 
  • शराब न पीएं- सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को शराब पीने से परहेज करना चाहिए, क्योंकि इससे स्तनों में दूध बनने में समस्या आ सकती है। इसके साथ ही मां के दूध के ज़रिए यह बच्चे के शरीर में जाकर उसे नुकसान पहुंचा सकती है।
  • फास्ट फूड न खाएं- सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को फास्ट फूड खाने से परहेज करना चाहिए, क्योंकि इससे शरीर के घाव भरने में समय लग सकता है।
  • भिंडी न खाएं- ऑपरेशन डिलीवरी के बाद महिलाओं को कम से कम 40 दिन तक भिंडी नहीं खानी चाहिए, क्योंकि इससे मां और शिशु को गैस और कब्ज की समस्या हो सकती है।
  • प्याज न खाएं- सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को कम से कम 40 दिनों तक प्याज खाने से परहेज करना चाहिए, क्योंकि इससे पाचन संबंधी समस्या पैदा हो सकती है।
  • राजमा न खाएं- ऑपरेशन डिलीवरी के बाद महिलाओं को राजमा खाने से परहेज करना चाहिए, क्योंकि इसे आसानी से पचाया नहीं जा सकता है।
  • अचार न खाएं- सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को अचार नहीं खाना चाहिए, क्योंकि इसमें तेल और मसाला अधिक मात्रा में होता है, जोकि उनके लिए हानिकारक होता है।
  • गोभी न खाएं- सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को गोभी नहीं खानी चाहिए, क्योंकि इससे उनकी पाचन क्रिया प्रभावित होती है और साथ ही शिशु के पेट में गैस बन सकती है।
  • बेसन न खाएं- ऑपरेशन डिलीवरी के बाद महिलाओं को बेसन से बनी चीज़ों से परहेज करना चाहिए, क्योंकि इससे उनके पेट में गैस बनती है और उनके टांके ठीक होने में ज्यादा समय लग सकता है।

4. सिजेरियन डिलीवरी के बाद भोजन संबंधी कौन सी सावधानियां बरतें? (Cesarean delivery ke baad bhojan sambandhi kaun si sawdhaniya baratni chahiye)

सिजेरियन डिलीवरी के बाद फिट होने के लिए महिलाओं को नीचे लिखी गई भोजन संबंधी सावधानियां बरतनी चाहिए- 

  • खाना खाने से पहले हाथ धोएं- सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को हमेशा हाथ धोकर ही भोजन करना चाहिए, इससे उनके बीमार होने की आशंका कम हो जाती है।
  • थोड़ा थोड़ा खाएं- ऑपरेशन डिलीवरी के बाद महिलाओं को दिन में 4 से 5 बार थोड़ा थोड़ा खाना चाहिए, इससे उनकी पाचन प्रक्रिया सही रहती है।
  • हर थोड़ी देर में कुछ न कुछ खाते रहें- सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को हर 2 घंटे में कुछ न कुछ खाते रहना चाहिए। अगर उन्हें भूख नहीं लगती है तो वे फल खा सकती हैं, इससे उनके अंदर ऊर्जा बरकरार रहेगी।
  • सोने से कम से कम दो घंटे पहले खाना खाएं- सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को सोने से कम से कम दो घंटे पहले भोजन कर लेना चाहिए, इससे उनकी पाचन प्रक्रिया सुचारू रहती है और उन्हें कब्ज और गैस नहीं होती है।
  • बाहर का खाना खाने से बचें- ऑपरेशन डिलीवरी के बाद महिलाओं को कुछ महीनों तक बाहर के खाने से परहेज करना चाहिए, क्योंकि इस दौरान उनमें संक्रमण फैलने का खतरा अधिक होता है।
  • पका हुआ खाना खाएं- सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं को अच्छे से पका हुआ खाना ही खाना चाहिए। इससे उनमें संक्रमण नहीं फैलता है और वे जल्दी स्वस्थ हो सकती हैं।

सिजेरियन डिलीवरी के बाद जल्दी फिट होने के लिए महिलाओं को अपने खानपान का खास ख्याल रखना चाहिए, इसके लिए उन्हें ऊपर बताई गई बातों का ध्यान रखना चाहिए । इसके साथ ही उन्हें ब्लॉग में बताई गई भोजन संबंधी सावधानियों को ज़रूर अपनाना चाहिए।

इसके अलावा सी सेक्शन डिलीवरी के बाद महिलाओं को कुछ भी खाने से पहले अपने डॉक्टर से एक बार ज़रूर संपर्क करना चाहिए, ताकि वो और उनका शिशु स्वस्थ रह सके।

Disclaimer: The information in this blog is for educational purpose only.  It's not intending to advice or replace your Doctor prescription. Please discuss with your Doctor for any queries.

डिस्क्लेमर: ब्लॉग में दी गयी सूचना केवल शैक्षणिक उपयोग के लिए है। किसी भी सलाह का उपयोग करने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श जरूर लें। अगर आप किसी सलाह का उपयोग बिना डॉक्टर से पूछें करते हैं, तो इसके परिणाम की जिम्मेदारी आपकी होगी, हम इसके लिए जिम्मेदार नहीं होंगे।

About the author | लेखक के बारे में 

उमेश गुप्ता 

(लेखक, मैकेनिकल इंजीनियर) 

उमेश ने 2012 में मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की। इसके बाद कुछ बड़ी कंपनियों में काम करने के बाद लेखन की तरफ इनका रुझान बढ़ा और ये लेखन की दिशा में मुड़ गए। इन्हे डिजिटल मार्केटिंग में काफी ज्यादा रूचि है और हिंदी लेखन पर इनकी अच्छी-ख़ासी पकड़ है। उमेश को लोगों से बातचीत करना, नई जगहें घूमना और मूवीज देखना पसंद है। अपने खाली समय में ये अक्सर बच्चों को पढ़ाते भी हैं।

नए ब्लॉग पढ़ें