शिशु के सिर की पपड़ी का घरेलू इलाज (Baby ke sir ki papdi ka gharelu ilaj)

शिशु के सिर की पपड़ी का घरेलू इलाज (Baby ke sir ki papdi ka gharelu ilaj)

शिशु के सिर की पपड़ी की समस्या को क्रेडल कैप (cradle cap in hindi) भी कहा जाता है। आमतौर पर शिशुओं में यह त्वचा रोग जन्म के शुरुआती हफ़्तों में होता है, लेकिन चार से छह महीने की आयु तक वे दोबारा इस समस्या का शिकार हो सकते हैं।

क्रेडल कैप त्वचा पर फंगस पैदा होने की वजह से होती है, यह फंगस शिशु के सिर पर माँ के गर्भ से आता है। कुछ मामलों में यह बच्चों की खुजली की समस्या (eczema in hindi) का शुरुआती लक्षण हो सकता है। इस ब्लॉग में हम आपको शिशु के सिर की पपड़ी दूर करने के घरेलू नुस्खे बता रहे हैं।

ध्यान दें- बच्चे को होने वाली किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या के लिए उसे डॉक्टर के पास लेकर जाना ही सबसे बेहतर होता है। ब्लॉग में बताए गए घरेलू उपचार बच्चों की खुजली को ठीक करने में सहायक हो सकते हैं, लेकिन इनके उपयोग से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें।

शिशु के सिर की पपड़ी हटाने के 13 घरेलू नुस्खे

(Baby ke sir ki papdi hatane ke 13 gharelu nuskhe)

बच्चे के सिर की पपड़ी यानी क्रेडल कैप हटाने के 13 घरेलू नुस्खे निम्न हैं -

1. बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू उपाय : शिशु के सिर को बेबी हेयर ब्रश से साफ करें

(Baby ke sir ko narm hair brush se saf kare)

शिशु के सिर को बेबी हेयर ब्रश यानी बच्चों की कंघी से साफ करने से उसके सिर की पपड़ी (cradle cap in hindi) हटाने में मदद मिलती है। यह क्रेडल कैप से निजात पाने का सबसे आसान और प्रभावी तरीका है।

तरीका - क्रेडल कैप की जगह पर हल्के हाथों से एक ही दिशा में कंघी करें, ताकि पपड़ी धीरे धीरे अलग होकर बालों से बाहर निकल जाए। दिन में एक बार शिशु के बालों में कंघी करें। अगर उसके सिर की त्वचा लाल या सूजी हुई दिखाई दे, तो कंघी करना कम कर दें।

2. शिशु के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू नुस्खे : बच्चे के सिर पर माँ का दूध लगाएँ

(Bache ke sir par maa ka dudh lagaye)

माँ के दूध में शिशु के विकास के लिए ज़रूरी पोषक तत्वों के साथ ही, कीटाणुओं से लड़ने की क्षमता भी होती है।

तरीका - अपने स्तनों के निप्पलों को उंगली व अंगूठे की मदद से दबाकर दूध की कुछ बूंदें निकालें और इसे हल्के हाथों से शिशु के सिर पर लगाएं। करीब पांच मिनट बाद उसके सिर को साफ गुनगुने पानी से धो दें। माँ के दूध से बच्चे के सिर की पपड़ी (cradle cap in hindi) ढीली हो जाती है, जिससे वह आसानी से हट जाती है।

इसके साथ ही माँ का दूध शिशु के सिर की संवेदनशील त्वचा को खुजली आदि से भी राहत देता है। सबसे अच्छी बात यह है कि, माँ का दूध शिशु की त्वचा के लिए नुकसानदेह नहीं होता है।

3. बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू नुस्खे : शिशु के सिर पर नारियल का तेल लगाएँ

(Shishu ke sir par nariyal ka tel lagaye)

Cradle cap- gharelu nuskhe

नारियल का तेल एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुणों से भरपूर होता है, इसलिए सदियों से इसका उपयोग एक दवा के रूप में होता आया है।

अपने हाथ में आवश्यकतानुसार नारियल का तेल लें और उसे हल्के हाथों से शिशु के सिर पर लगाएं। करीब 20 मिनट बाद उसके सिर को छोटे बच्चों की कंघी/ब्रश से साफ कर दें, इससे मालिश के दौरान अलग हुई पपड़ी शिशु के सिर से हट जाएगी। इसके बाद शिशुओं के लिए खासतौर पर बने शैम्पू से उसका सिर धो दें।

तरीका - नारियल का तेल क्रेडल कैप (cradle cap in hindi) को नर्म व नम कर देता है, जिससे यह धीरे धीरे अपने आप हटने लगती है। साथ ही नारियल का तेल बच्चे के सिर की त्वचा में किसी प्रकार के संक्रमण की आशंका भी कम करता है।

4. शिशु के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू नुस्खे : बच्चे के सिर पर बादाम का तेल लगाएँ

(Bache ke sir par badam ka tel lagaye)

Cradle cap- gharelu nuskhe

बादाम का तेल विटामिन ई से भरपूर होने के साथ ही शिशु की त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसके अलावा इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं, इसलिए यह बच्चे के सिर की त्वचा को दर्द व सूजन से भी राहत देता है।

तरीका - अपने हाथों में आठ से दस बूँद (या ज़रूरत के अनुसार) बादाम का तेल लें और इसे हल्के हाथों से शिशु के सिर पर लगाएं। करीब 20 मिनट बाद उसके सिर को छोटे बच्चों की कंघी/ब्रश से साफ करें। सिर से अलग हुई पपड़ी हट जाने के बाद आप शिशु को नहला सकते हैं।

शिशु की त्वचा बादाम के तेल को बहुत जल्दी सोख लेती है, इससे उस पर मौजूद मृत त्वचा व धूलकण अलग होकर आसानी से हट जाते हैं।

5. बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू उपाय : शिशु के सिर पर अरंडी का तेल लगाएँ

(Baby ke sir par arandi ka tel lagaye)

Cradle cap- gharelu nuskhe

अरंडी का तेल, कैस्टर ऑयल के नाम से भी जाना जाता है। इसमें एंटीफंगल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होने की वजह से यह शिशु की त्वचा को कीटाणुओं से सुरक्षित रखता है।

तरीका - करीब 10-12 बूँद अरंडी का तेल हल्के हाथों से शिशु के सिर पर लगाएँ। इसे एक घण्टे तक लगा रहने दें, फिर शिशु को नहला दें और उसके सिर को अच्छी तरह सूखने दें। इसके बाद बच्चों की कंघी की सहायता से शिशु के सिर से अलग हुई पपड़ी को हटा दें।

अरंडी का तेल शिशु के सिर में नमी की सही मात्रा बनाए रखता है और उसे सिर की पपड़ी (cradle cap in hindi) से स्थाई रूप से छुटकारा दिला सकता है।

6. शिशु के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू नुस्खे : बच्चे के सिर पर खाने वाले तेल लगाएँ

(Shishu ke sir par khane vale tel lagaye)

बाजार में मिलने वाले खाने वाले तेल (जैसे सरसों का तेल, मूँगफली का तेल, तिल का तेल आदि) भी शिशु के सिर की पपड़ी हटाने में मददगार होते हैं।

तरीका - कुछ बूँद तेल हाथ में लें और इसे हल्के हाथों से शिशु के सिर पर लगाएँ। तेल को करीब दो घण्टे के लिए शिशु के सिर पर लगा रहने दें, इससे उसके सिर की पपड़ी (cradle cap in hindi) ढीली हो जाती है। फिर शिशु को नहला दें और उसके सिर को अच्छी तरह सूखने दें। इसके बाद बच्चों की कंघी की सहायता से उसके सिर से अलग हुई पपड़ी को हटा दें।

7. बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू नुस्खे : शिशु के सिर पर जैतून का तेल लगाएँ

(bache ke sir par jaitun ka tel lagaye)

Cradle cap- gharelu nuskhe

जैतून का तेल शिशु के सिर की पपड़ी हटाने की एक लोकप्रिय घरेलू दवा है। एंटीफंगल गुणों से भरपूर जैतून का तेल (ऑलिव ऑयल) शिशु की त्वचा को फंगस के संक्रमण से सुरक्षित रखता है और उसके सिर से पपड़ी (क्रेडल कैप) हटाने में सहायक होता है।

तरीका - जितनी ज़रूरत हो उतना जैतून का तेल हल्के हाथों से शिशु के सिर पर लगाएँ। करीब एक घण्टे के बाद बेबी शैम्पू से उसका सिर धो दें। उसका सिर अच्छी तरह सूख जाने के बाद नर्म कंघी की मदद से शिशु के सिर से अलग हुई पपड़ी को हटा दें।

जैतून का तेल शिशु की त्वचा में नमी बनाए रखता है और त्वचा से चिपकी गंदगी व पपड़ी को हटा देता है।

8. बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू उपाय : शिशु के सिर पर नीम्बू का रस लगाएँ

(Baby ke sir par nimbu ka ras lagaye)

Cradle cap- gharelu nuskhe

नीम्बू में कीटाणुओं व फंगस को खत्म करने की क्षमता होती है, जिसकी वजह से यह शिशु के सिर की पपड़ी (cradle cap in hindi) को खत्म करने में सक्षम होता है।

तरीका - एक चम्मच नीम्बू के रस को दो चम्मच नारियल के तेल में अच्छी तरह से मिलाएं। इस मिश्रण को रुई के फाहे या हल्के हाथों से शिशु के सिर पर लगाएँ और करीब 20 मिनट तक लगा रहने दें। इसके बाद बेबी शैम्पू से इसे धो दें। शिशु का सिर अच्छी तरह सूखने के बाद बेबी हेयर ब्रश की मदद से उसके सिर से अलग हुई पपड़ी को हटा दें।

9. शिशु के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू उपाय : बच्चे के सिर पर पैट्रोलियम जैली लगाएँ

(Bache ke sir par petroleum jelly lagaye)

Cradle cap- gharelu nuskhe

पैट्रोलियम जैली में त्वचा को नमी प्रदान करने का खास गुण होता है, जिसकी वजह से यह शिशु के सिर पर जमी पपड़ी (cradle cap in hindi) को हटाने में मददगार है।

तरीका - ज़रूरत के अनुसार वैसलीन लें और उसे हल्के हाथों से शिशु के सिर पर लगाएँ। करीब एक-दो घण्टे बाद उसके सिर को बच्चों की कंघी से साफ करें।

वैसलीन शिशु के सिर की पपड़ी को नर्म व ढीली कर देती है। नर्म होने के बाद ये आसानी से उसके सिर से अलग होने लगती है और करीब एक-डेढ़ हफ्ते में क्रेडल कैप पूरी तरह ठीक हो जाती है।

10. बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू नुस्खे : शिशु के सिर पर एलोवेरा जैल लगाएँ

(Shishu ke sir par aloevera gel lagaye)

Cradle cap- gharelu nuskhe

ऐलोवेरा जैल का इस्तेमाल कई त्वचा सम्बंधी परेशानियों के घरेलू उपचार के लिए किया जाता है, क्रेडल कैप (cradle cap in hindi) भी इनमें से एक है। यह एंटीफंगल गुणों से भरपूर होता है, इसलिए शिशु के सिर की पपड़ी के लिए जिम्मेदार फंगस को ख़त्म करके, एलोवेरा जैल उसे इस समस्या से राहत देता है।

तरीका - थोड़ा ताज़ा एलोवेरा जैल हल्के हाथों से शिशु के सिर पर लगाएँ। इसे धोने की ज़रूरत नहीं होती है क्योंकि यह बच्चे के लिए लाभदायक होता है, इसलिए आप इसे शिशु को नहलाने के बाद भी लगा सकते हैं। ऐलोवेरा जैल शिशु की त्वचा को नमी व ठंडक प्रदान करता है और सिर की पपड़ी को जड़ से हटाने में मददगार है।

ऐलोवेरा जैल लगाते समय इस बात का विशेष ध्यान रखें, कि यह शिशु के मुँह या आँख में ना जाए।

11. बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू उपाय : बच्चे के सिर पर बेकिंग सोडा का घोल लगाएँ

(Baby ke sir par baking soda ka ghol lagaye)

Cradle cap- gharelu nuskhe

बेकिंग सोडा में त्वचा की सूजन व जलन को कम करने का गुण होता है। इसके साथ ही यह त्वचा की अम्लीयता को खत्म करके, उसे स्वस्थ रखने में सहायक होता है।

तरीका - दो चम्मच पानी में एक चम्मच बेकिंग सोडा मिलाकर एक घोल बना लें। इसे अपनी उंगलियों या रुई के फाहे की सहायता से शिशु के सिर पर लगाएँ, इस दौरान ध्यान रखें कि घोल शिशु के चेहरे, आँख व कान आदि से दूर रहे। करीब दो मिनट बाद बच्चे के सिर को साफ पानी से धो दें।

बेकिंग सोडा शिशु के सिर की पपड़ी (cradle cap in hindi) को फैलने से रोकता है और इसे हटाने में मदद करता है। इसके साथ ही अपने एंटीबायोटिक गुणों से यह बच्चे के सिर पर मौजूद बैक्टीरिया को खत्म करता है।

12. शिशु के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू उपाय : शिशु के सिर पर सेब का सिरका लगाएँ

(Shishu ke sir par seb ka sirka lagaye)

Cradle cap- gharelu nuskhe

सेब का सिरका (एपल साइडर विनेगर) सूजन - जलन कम करने वाले व एंटीफंगल गुणों से भरपूर होता है, इसलिए यह शिशु के सिर की पपड़ी को ख़त्म करने में मददगार होता है।

तरीका - दो चम्मच पानी में एक चम्मच सेब का सिरका मिलाकर एक घोल तैयार करें। इसे रुई के फाहे की सहायता से शिशु के सिर पर लगाएँ, इस दौरान ध्यान रखें कि घोल शिशु के चेहरे, आँख व कान आदि से दूर रहे। करीब 10 से 15 मिनट के बाद शिशु के सिर को साफ पानी से धो दें।

सेब का सिरका अम्लीय (खट्टा) होता है, इसलिए यह सिर की पपड़ी (cradle cap in hindi) के लिए जिम्मेदार कीटाणुओं को मारकर शिशु को इस समस्या से राहत देता है।

13. बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू नुस्खे : बच्चे के सिर पर टी ट्री ऑयल लगाएँ

(Bache ke sir par tea tree oil lagaye)

Cradle cap- gharelu nuskhe

टी ट्री ऑयल एंटीबायोटिक, एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीफंगल गुणों से भरपूर होता है। डॉक्टरों के अनुसार छह महीने से छोटे बच्चों के लिए इसका उपयोग सुरक्षित नहीं है, इसलिए अपने बच्चे की त्वचा पर टी ट्री ऑयल लगाने से पहले डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें।

तरीका - दो चम्मच नारियल के तेल में दो बूँद टी ट्री ऑयल डालकर अच्छी तरह से मिला लें। इस मिश्रण को हल्के हाथों से शिशु के सिर पर लगाएँ। करीब 20 मिनट बाद उसका सिर बेबी शैम्पू से धो दें।

टी ट्री ऑयल उस फंगस को नष्ट कर देता है, जो कि शिशु के सिर में पपड़ी होने की मुख्य वजह होती है। इस तरह यह बच्चे को क्रेडल कैप से छुटकारा दिला सकता है।

क्रेडल कैप (cradle cap in hindi) या सिर पर पपड़ी पड़ना नवजात शिशुओं को होने वाली एक सामान्य समस्या है। इसे घरेलू उपचार के ज़रिए आसानी से ठीक किया जा सकता है। सिर की पपड़ी दूर करने के लिए ब्लॉग में बताए गए घरेलू नुस्खे आज़माने के साथ ही, शिशु की साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें। अगर एक हफ्ते तक इन घरेलू नुस्खों के इस्तेमाल के बाद भी शिशु के सिर की पपड़ी कम ना हो, तो उसे डॉक्टर के पास लेकर जाएं।

इस ब्लॉग के विषय - शिशु के सिर की पपड़ी हटाने के 13 घरेलू नुस्खे (Baby ke sir ki papdi hatane ke 13 gharelu nuskhe)बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू उपाय : शिशु के सिर को बेबी हेयर ब्रश से साफ करें (Baby ke sir ko narm hair brush se saf kare)शिशु के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू नुस्खे : बच्चे के सिर पर माँ का दूध लगाएँ (Bache ke sir par maa ka dudh lagaye)बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू नुस्खे : शिशु के सिर पर नारियल का तेल लगाएँ (Shishu ke sir par nariyal ka tel lagaye)शिशु के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू नुस्खे : बच्चे के सिर पर बादाम का तेल लगाएँ (Bache ke sir par badam ka tel lagaye)बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू उपाय : शिशु के सिर पर अरंडी का तेल लगाएँ (Baby ke sir par arandi ka tel lagaye)शिशु के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू नुस्खे : बच्चे के सिर पर खाने वाले तेल लगाएँ (Shishu ke sir par khane vale tel lagaye)बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू नुस्खे : शिशु के सिर पर जैतून का तेल लगाएँ (bache ke sir par jaitun ka tel lagaye)बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू उपाय : शिशु के सिर पर नीम्बू का रस लगाएँ (Baby ke sir par nimbu ka ras lagaye)शिशु के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू उपाय : बच्चे के सिर पर पैट्रोलियम जैली लगाएँ (Bache ke sir par petroleum jelly lagaye)बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू नुस्खे : शिशु के सिर पर एलोवेरा जैल लगाएँ (Shishu ke sir par aloevera gel lagaye)बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू उपाय : बच्चे के सिर पर बेकिंग सोडा का घोल लगाएँ (Baby ke sir par baking soda ka ghol lagaye)शिशु के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू उपाय : शिशु के सिर पर सेब का सिरका लगाएँ (Shishu ke sir par seb ka sirka lagaye)बच्चे के सिर की पपड़ी हटाने के घरेलू नुस्खे : बच्चे के सिर पर टी ट्री ऑयल लगाएँ (Bache ke sir par tea tree oil lagaye)
नए ब्लॉग पढ़ें