0 से 1 वर्ष के नवजात शिशु के मल का रंग कैसा होना चाहिए? (0 se 1 sal ke Baby ki potty ka color kaisa hona chahiye)

0 से 1 वर्ष के नवजात शिशु के मल का रंग कैसा होना चाहिए? (0 se 1 sal ke Baby ki potty ka color kaisa hona chahiye)
शिशु का मल हमें उसके स्वास्थ्य के बारे में कई महत्वपूर्ण बातें बताता है, जैसे उसका खाना ठीक से पच रहा है या नहीं, उसके पेट में कोई समस्या है या नहीं आदि। जन्म के पहले साल में शिशु के मल का रंग बहुत ज्यादा बदलता है, क्योंकि उसका पाचन तंत्र विकसित होता है और उसके भोजन में कई तरह के बदलाव आते हैं। शिशु को मल संबंधी समस्या (newborn baby potty problem in hindi) होने पर भी शिशु के मल का रंग बदल सकता है। इस ब्लॉग में हम आपको शिशु के मल के विभिन्न रंगों और उनसे जुड़े लक्षणों के बारे में बता रहे हैं। 0 से 1 वर्ष के शिशु के मल के रंग का चार्ट (0 to 1 Year baby potty color chart in hindi) 0 से 1 वर्ष के शिशु को हल्का हरा-पीला मल क्यों आता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke baby ko halki hari potty kyun aa rahi hai) 0 से 1 वर्ष के शिशु का मल पीला क्यों होता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke baby ki potty pili kyun hoti hai) क्या 0 से 1 वर्ष के शिशु को काला मल आना सामान्य है? (Newborn baby potty problem in hindi - Kya 0 se 1 sal ke baby ko kali potty ana normal hai) 0 से 1 वर्ष के शिशु को गहरे हरे रंग का मल क्यों आता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke bache ko dark green potty kyun aa rahi hai) क्या 0 से 1 वर्ष के शिशु के मल का लाल रंग खतरे की घण्टी होता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke bache ko lal potty kyun aa rahi hai) 0 से 1 वर्ष के शिशु को सफेद मल क्यों आता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke shishu ko safed potty kyun aati hai) 0 से 1 वर्ष के शिशु का मल सलेटी क्यों होता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke baby ki potty ka color grey kyun hota hai) 0 से 1 वर्ष के शिशु के मल के रंग का चार्ट (0 to 1 Year baby potty color chart in hindi) निम्न चार्ट में हम आपको शिशु के जन्म से एक साल तक उसके मल के विभिन्न रंगों के बारे में बता रहे हैं, इस चार्ट के ज़रिए आप अपने शिशु के मल का रंग देखकर उसके स्वास्थ्य के बारे में पता लगा सकते हैं -
शिशु के मल का रंग शिशु का आहार क्या यह सामान्य है?
काला मल आना यह स्तनपान करने वाले व फॉर्मूला दूध पीने वाले शिशुओं में दिखता है। शिशु के जन्म के शुरुआती हफ़्ते में यह बिल्कुल सामान्य है। लेकिन एक बार पीला मल आने की शुरुआत होने के बाद काला मल आना सामान्य नहीं है।
सरसों की तरह पीला मल ऐसा मल आमतौर पर स्तनपान करने वाले शिशुओं में दिखाई देता है। शिशु को इस तरह का मल आना सामान्य है।
हल्का पीला मल ऐसा मल आमतौर पर स्तनपान करने वाले शिशुओं में दिखाई देता है। आमतौर पर यह सामान्य होता है, लेकिन यह बहुत ज्यादा पतला हो तो यह सामान्य नहीं है।
नारंगी रंग का मल इस तरह मल स्तनपान करने वाले शिशुओं के साथ ही फॉर्मूला दूध पीने वाले शिशुओं में दिखाई देता है। शिशु का मल सामान्य है।
लाल रंग का मल किसी भी तरह के आहार खाने वाले शिशुओं में इस तरह का मल दिखाई दे सकता है। अगर आपका बच्चा ठोस आहार खाता है, तो लाल मल आ सकता है, लेकिन स्तनपान व फॉर्मूला दूध पिने वाले शिशुओं को लाल मल आना सामान्य नहीं है।
हल्के हरे रंग का मल फॉर्मूला दूध पीने वाले शिशुओं में इस तरह का मल दिखाई देता है। यह सामान्य है।
गहरा हरा मल यह ज्यादातर फॉर्मूला दूध पीने वाले शिशुओं में दिखाई देता है, लेकिन स्तनपान करने वाले शिशु भी हरे रंग का मल त्याग सकते हैं। शिशुओं को गहरे हरे रंग का मल आना सामान्य नहीं है।
सफेद रंग का मल इस तरह का मल किसी भी शिशु में दिखाई दे सकता है, फिर चाहे वो स्तनपान करता हो, फॉर्मूला दूध पीता हो या फिर ठोस आहार खाता हो। शिशु को सफेद मल आना सामान्य नहीं है।
सलेटी रंग का मल इस तरह का मल किसी भी शिशु में दिखाई दे सकता है, फिर चाहे वो स्तनपान करता हो, फॉर्मूला दूध पीता हो या फिर ठोस आहार खाता हो। शिशु का मल सलेटी होना सामान्य नहीं है।
0 से 1 वर्ष के शिशु को हल्का हरा-पीला मल क्यों आता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke baby ko halki hari potty kyun aa rahi hai) फॉर्मूला दूध पीने वाले शिशु का मल हल्के हरे रंग का हो सकता है, इसकी मुख्य वज़ह उसके दूध में आयरन की अधिक मात्रा होती है। अगर माँ आयरन की गोली खाती है, तो स्तनपान (stanpan) करने वाले शिशु का मल भी हल्का हरा-पीला हो सकता है। 0 से 1 वर्ष के शिशु का मल पीला क्यों होता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke baby ki potty pili kyun hoti hai) शिशु का पहला मल बाहर निकल जाने के बाद उसके मल का रंग धीरे धीरे पीला होने लगता है। शिशु का मल पीला होने की मुख्य वजह लिवर द्वारा छोड़े जाने वाले पाचक एंजाइम्स (पित्त रस, पित्त लवण) होते हैं। यह मल सबसे ज्यादा सामान्य होता है। अगर शिशु का मल चटख पीले रँग का और अधिक तरल है, तो यह शिशु को दस्त (newborn baby potty problem in hindi) लगने का लक्षण हो सकता है। इसी तरह पाचक एंजाइम्स की वजह से शिशु का मल नारंगी रंग का भी हो सकता है, स्तनपान करने वाले और फॉर्मूला दूध पीने वाले, दोनों प्रकार के शिशुओं का मल नारंगी हो सकता है। क्या 0 से 1 वर्ष के शिशु को काला मल आना सामान्य है? (Newborn baby potty problem in hindi - Kya 0 se 1 sal ke baby ko kali potty ana normal hai) जन्म के बाद नवजात शिशु का पहला मल डामर की तरह चिपचिपा और काले या गहरे हरे रंग का होता है, जिसे मैकोनियम (meconium in hindi) कहते हैं। जन्म के पहले हफ्ते में शिशु को काला मल आना सामान्य है। मगर एक बार मैकोनियम के पूरी तरह बाहर निकल जाने के बाद जब शिशु पीला मल त्यागना शुरू कर दे, तब शिशु को काला मल आना, उसकी आंतों में खून आने का संकेत हो सकता है। पाचन प्रक्रिया में खून का रंग लाल से काला हो जाता है। इसलिए अगर एक हफ़्ते का होने के बाद शिशु को काला मल (newborn baby potty problem in hindi) आये, तो उसे डॉक्टर के पास ले जाएं। 0 से 1 वर्ष के शिशु को गहरे हरे रंग का मल क्यों आता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke bache ko dark green potty kyun aa rahi hai) अगर आपका शिशु हरे रंग का मल त्यागता है, तो इसकी वजह (baby green potty reason in hindi) उसके भोजन में दुग्ध शर्करा (लैक्टोस) की मात्रा ज्यादा होना हो सकती है। शिशु को बार बार स्तन बदल कर दूध पिलाने पर शिशु को दूध पीते समय बाद में आने वाला ज्यादा वसायुक्त दूध नहीं मिल पाता है। इससे शिशु को बार बार भूख लगती है और ज्यादा लैक्टोस की वजह से शिशु हरे रंग का मल (newborn baby potty problem in hindi) त्याग सकता है। फॉर्मूला दूध पीने वाले शिशुओं में फॉर्मूला दूध के ब्रांड की वजह से ऐसा हो सकता है, इसलिए अगर उनके मल का रंग हरा हो तो डॉक्टर की सलाह लेकर ब्रांड बदल कर देखें। इसके साथ ही शिशुओं में पेट का संक्रमण, किसी दवा के साइड इफैक्ट (baby green potty reason in hindi) जैसी समस्याएं भी शिशु के मल के हरे रंग की एक वजह हो सकती है। ठोस आहार खाने वाले शिशु का मल हरी सब्जियों वगैरह की वजह से हरे रंग का हो सकता है। क्या 0 से 1 वर्ष के शिशु के मल का लाल रंग खतरे की घण्टी होता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke bache ko lal potty kyun aa rahi hai) अगर स्तनपान करने वाले और फ़ॉर्मूला दूध पीने वाले शिशुओं के मल का रंग लाल हो तो इसके निम्न कारण हो सकते हैं-
  • शिशु की आंतों में संक्रमण होना
  • शिशु को दूध से एलर्जी होना
  • मल त्याग करते समय शिशु को गुदा से खून आना
  • आंत के निचले भाग में किसी प्रकार का घाव होना
दूध पीने वाले शिशुओं के मल का लाल होना (newborn baby potty problem in hindi) वाक़ई खतरनाक होता है, इसलिए अगर ऐसा हो तो शिशु को बिना किसी देरी के डॉक्टर के पास ले जाएं। ठोस आहार खाने वाले शिशुओं के मल का लाल रंग मुख्य तौर पर उसके भोजन में लाल चीजें जैसे टमाटर, तरबूज आदि शामिल करने से होता है। लेकिन अगर शिशु ने कुछ लाल नहीं खाया हो और फिर भी उसके मल का रंग लाल है, तो उसे डॉक्टर को दिखाएं। 0 से 1 वर्ष के शिशु को सफेद मल क्यों आता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke shishu ko safed potty kyun aati hai) अगर आपके शिशु का मल सफेद रंग का है, तो इसकी वजह नवजात शिशु में पीलिया (baby jaundice in hindi) की समस्या हो सकती है। आमतौर पर शिशु का पीलिया जन्म के कुछ हफ़्तों बाद ठीक हो जाता है, इसके साथ ही शिशु के मल का रंग सरसों जैसा पीला (सामान्य) होने लगता है। चूने जैसा सफेद मल या फीके रँग का मल शिशु के लिवर में किसी प्रकार की समस्या का अहम लक्षण है, जिसकी वजह से शिशु का भोजन ठीक से पच नहीं पा रहा। इसलिए शिशु के मल (baby potty in hindi) का रंग सफ़ेद नज़र आने पर उसे तुरंत डॉक्टर को दिखायें। ठोस आहार खाने वाले छोटे बच्चों में सफेद मल की समस्या की वजह ज्यादा दूध पीना या किसी प्रकार का संक्रमण हो सकता है। शिशु के मल का रंग सफेद या फीका पीला हो तो डॉक्टर की सलाह लें। 0 से 1 वर्ष के शिशु का मल सलेटी क्यों होता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke baby ki potty ka color grey kyun hota hai) किसी भी तरह का आहार लेने वाले शिशु का मल सलेटी रंग का हो सकता है। शिशु का मल सलेटी होने की मुख्य वजह उसके पाचन तंत्र का ठीक से काम ना करना है, इस वजह से भोजन में पाचक एंजाइम नहीं मिल पाते और शिशु का खाना ठीक से पच नहीं पाता है। अगर आपके शिशु का मल सलेटी है, तो उसे डॉक्टर के पास लेकर जाएं। अपने शिशु के मल के रंग पर नज़र रखें, क्योंकि इससे आपको शिशु की सेहत के बारे में महत्वपूर्ण संकेत मिलते हैं। अगर शिशु के मल में कोई परेशानी (newborn baby potty problem in hindi) जैसे काला मल आना आदि नज़र आए, तो उसे तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं। ब्लॉग में बताए गए शिशु के मल के रंगों के चार्ट के ज़रिए आप उसके स्वास्थ्य की निगरानी कर सकते हैं।
इस ब्लॉग के विषय - 0 से 1 वर्ष के शिशु के मल के रंग का चार्ट (0 to 1 Year baby potty color chart in hindi), 0 से 1 वर्ष के शिशु को हल्का हरा-पीला मल क्यों आता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke baby ko halki hari potty kyun aa rahi hai), 0 से 1 वर्ष के शिशु का मल पीला क्यों होता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke baby ki potty pili kyun hoti hai), क्या 0 से 1 वर्ष के शिशु को काला मल आना सामान्य है? (Newborn baby potty problem in hindi - Kya 0 se 1 sal ke baby ko kali potty ana normal hai), 0 से 1 वर्ष के शिशु को गहरे हरे रंग का मल क्यों आता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke bache ko dark green potty kyun aa rahi hai), क्या 0 से 1 वर्ष के शिशु के मल का लाल रंग खतरे की घण्टी होता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke bache ko lal potty kyun aa rahi hai), 0 से 1 वर्ष के शिशु को सफेद मल क्यों आता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke shishu ko safed potty kyun aati hai), 0 से 1 वर्ष के शिशु का मल सलेटी क्यों होता है? (Newborn baby potty problem in hindi - 0 se 1 Sal ke baby ki potty ka color grey kyun hota hai)
नए ब्लॉग पढ़ें
Healofy Proud Daughter