नवजात शिशु का बुखार कम करने के घरेलू उपाय (Newborn baby ka bukhar ke gharelu upay)

नवजात शिशु का बुखार कम करने के घरेलू उपाय (Newborn baby ka bukhar ke gharelu upay)

बुखार अपने आप में कोई बीमारी नहीं है, इसलिए अगर बच्चे को बुखार (baby ko bukhar) है, तो उसे किसी प्रकार का संक्रमण या फ्लू हो सकता है। शिशु के शरीर का सामान्य तापमान 97.5 से 99 डिग्री तक होता है, अगर उसका तापमान इससे ज्यादा है तो उसे बुखार हो सकता है।

डॉक्टर कहते हैं कि अगर बच्चे को हल्का बुखार है तो उसे दवा देने की ज़रूरत नहीं होती है, ऐसा बुखार अपने आप ठीक हो सकता है।

मगर, निम्न स्थितियों में बच्चे को एक बार डॉक्टर को ज़रूर दिखाएँ -

  • तीन महीने या इससे छोटे बच्चे को बुखार होने पर तुरंत डॉक्टर के पास लेकर जाएं।
  • तीन से पांच महीने के शिशु को 101 डिग्री या इससे ज्यादा बुखार होने पर तुरंत डॉक्टर के पास लेकर जाएं।
  • पांच महीने से बड़े शिशुओं को 102 डिग्री या इससे ज्यादा बुखार होने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।

इस ब्लॉग में हम आपको शिशु का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे बता रहे हैं।

ध्यान दें - अगर आपका बच्चा छह माह से कम आयु का है, तो उस पर ऐसा कोई घरेलू नुस्खा ना आज़माएँ, जिसमें उसे कुछ खिलाने-पिलाने की सलाह दी गई हो। किसी भी प्रकार की समस्या के समाधान के लिए उसे डॉक्टर के पास लेकर जाएं।

ब्लॉग में बताए गए घरेलू नुस्खों से बच्चे को बुखार से राहत मिल सकती है। मगर, इन घरेलू नुस्खों का उपयोग करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह लेना सबसे बेहतर होगा।

बच्चे का बुखार कम करने के 12 घरेलू नुस्खे

(Bache ka bukhar kam karne ke 12 gharelu nuskhe)

बच्चों के बुखार के उपचार के 12 घरेलू नुस्खे निम्नलिखित हैं -

1. बच्चे का बुखार कम करने के घरेलू उपाय : शिशु को हल्के कपड़े पहनाएं

(Bachon ke bukhar ka ilaj : Shishu ko halke kapde pehnaye)

Home remedies for baby's fever

बच्चे को बुखार होने पर ज्यादा कपड़े ना पहनाएं, क्योंकि इससे उसके शरीर का तापमान और ज्यादा बढ़ सकता है और उसके शरीर में पानी की कमी हो सकती है।

इसलिए बुखार से पीड़ित शिशु को हल्के - हवादार सूती कपड़े पहनाएं। अगर बच्चा सो रहा है, तो उसे हल्का कंबल ओढ़ा दें। इससे उसके शरीर का तापमान संतुलित रहता है और उसे राहत महसूस होती है।

2. शिशु का बुखार कम करने के घरेलू उपाय : बच्चे को ठंडे वातावरण में रखें

(Bachon ke bukhar ka ilaj : Bache ko thande mahaul me rakhe)

Home remedies for baby's fever

बच्चे को बुखार होने पर ठंडे वातावरण में रखें। इससे उसे राहत महसूस होगी और साथ ही उसके शरीर का तापमान धीरे धीरे कम हो सकता है।

इसके लिए उसे एक ठंडे कमरे में सुलाएं। इस दौरान इस बात का ध्यान रखें कि उसे पंखे के नीचे या कूलर के सामने ना सुलाएं, इससे उसे ठंड लग सकती है और वह ज्यादा बीमार हो सकता है।

3. बच्चे का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : शिशु के सिर पर ठंडे पानी में भीगी पट्टी रखें

(Bachon ke bukhar ka ilaj : Baby ke sir par thande pani me bhigi patti rakhe)

Home remedies for baby's fever

यह शिशु को बुखार होने पर उसके शरीर का तापमान नियंत्रित करने का सबसे प्रभावी उपाय है। इससे शिशु को बुखार की गर्मी से राहत मिलती है और वह ताज़गी महसूस सकता है।

तरीका- एक बड़ी कटोरी में ठंडा पानी लें (बर्फ या ज्यादा ठंडा पानी ना लें)। अब इसमें एक साफ सूती कपड़ा या तौलिया भिगोएं। इसके बाद शिशु को पीठ के बल उसके बिस्तर पर लिटाएं। फिर कटोरी में से कपड़े को निकालकर अच्छी तरह से निचोड़ें और शिशु के माथे पर रखें। करीब एक मिनट बाद कपड़े को वापिस कटोरी में डुबोकर निचोड़ें, और इस प्रक्रिया को दोहराएं।

ऐसा तब तक करें, जब तक कि शिशु के शरीर का तापमान कम ना हो। साथ ही अगर आप चाहें, तो शिशु की छाती, बगलों व पैरों पर भी ठंडे पानी में भीगा कपड़ा रख सकते हैं।

4. शिशु का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : बच्चे को स्तनपान करवाएं

(Bachon ke bukhar ka ilaj : Bache ko stanpan karvaye)

Home remedies for baby's fever

शिशु के लिए माँ के दूध से बढ़कर कोई दवा नहीं हो सकती है। माँ का दूध एंटीबायोटिक व एंटीइंफेक्टिव गुणों से भरपूर होता है और बच्चे को कई बीमारियों से सुरक्षित रखता है।

आमतौर पर छोटे बच्चों को बुखार होने पर किसी विशेष उपचार की ज़रूरत नहीं होती है, उनके लिए माँ का दूध एक प्रभावी दवा के तौर पर काम करता है। इसलिए बुखार होने पर शिशु को भरपूर मात्रा में स्तनपान करवाएं।

5. बच्चे का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : शिशु को पर्याप्त मात्रा में तरल पिलाएं

(Bachon ke bukhar ka ilaj : Shishu ko paryapt matra me taral pilaye)

Home remedies for baby's fever

बच्चे को बुखार होने पर, उसके शरीर के बढ़े हुए तापमान की वजह से उसके शरीर में पानी की कमी हो सकती है। इसलिए पानी की कमी से बचाने के लिए उसे नियमित अंतराल पर हल्के ठंडे तरल पदार्थ पिलाते रहें।

ऐसा करने से पानी की कमी से बचाव होने के साथ ही, बच्चे के शरीर का तापमान भी कम होता है और उसे बुखार से राहत मिलती है। यह नुस्खा छह महीने या इससे बड़े शिशुओं के लिए सुरक्षित है।

6. शिशु का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : बच्चे को फलों का जूस पिलाएं

(Bachon ke bukhar ka ilaj : Bache ko fruit juice pilaye)

Home remedies for baby's fever

बच्चे को बुखार होने पर, उसकी खाना खाने की इच्छा घट जाती है। ऐसे में उसे फलों का हल्का ठंडा जूस पिलाना फायदेमंद हो सकता है। प्राकृतिक मीठे स्वाद की वजह से बच्चा फलों का जूस पसंद करता है और बिना किसी ना-नुकुर के जूस पी लेता है।

फल विटामिन, ऊर्जा, एंटीऑक्सीडेंट्स और कई पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, इसलिए ये बच्चे के बुखार को जल्दी ठीक करने में मददगार साबित हो सकते हैं।

7. बच्चे का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : शिशु को प्याज का रस पिलाएं

(Bachon ke bukhar ka ilaj : Baby ko pyaj ka juice pilaye)

Home remedies for baby's fever

प्याज के रस को काफी पुराने समय से बच्चों के बुखार के इलाज के घरेलू नुस्खे के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। यह उनके शरीर के तापमान को कम करने में सहायक है और बुखार की वजह से होने वाले बदनदर्द को भी कम करता है।

तरीका - एक छोटी प्याज को बारीक कद्दूकस कर लें। इसके बाद छलनी की सहायता से प्याज के रस को एक कप में छान लें।

बच्चे को बुखार से राहत देने के लिए दो चम्मच प्याज के रस में दो चम्मच पानी मिलाकर, दिन में दो से तीन बार पिलाएं। यह नुस्खा दस माह से अधिक उम्र के शिशुओं के लिए सुरक्षित है।

8. शिशु का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : बच्चे के तलवों पर प्याज काटकर लगाएं (Bachon ke bukhar ka ilaj : Bache ke talvo par pyaj katkar lagaye)

Home remedies for baby's fever

प्याज के रस की ही तरह, इसे भी शिशु का बुखार कम करने का एक प्रभावी घरेलू नुस्खा माना जाता है।

तरीका- एक प्याज को गोल गोल टुकड़ों में काटें। अब शिशु के दाएं पैर के तलवों पर प्याज के दो-तीन टुकड़े, दो मिनट तक हल्के हाथों से घिसें। ऐसा ही उसके बाएं पैर पर भी करें।

बच्चे को बुखार होने पर इस नुस्खे को एक दिन में दो बार दोहराना चाहिए। यह नुस्खा चार महीने से बड़े शिशुओं के लिए सुरक्षित माना जाता है।

9. बच्चे का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : सरसों के तेल में लहसुन तड़का कर शिशु की मालिश करें

(Bachon ke bukhar ka ilaj : Sarso ke tel me lehsun tadka kar baby ki malish kare)

Home remedies for baby's fever

सरसों के तेल में लहसुन तड़का कर शिशु की मालिश करने से उसकी त्वचा पसीना निकालने के लिए प्रेरित होती है, इससे उसके शरीर से हानिकारक कीटाणु व विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। इसके साथ ही इससे बच्चे को आराम महसूस होता है और वह सो जाता है।

तरीका- एक कटोरी में दो से तीन चम्मच शुद्ध सरसों का तेल गर्म करें (खौला लें)। इसके बाद इसमें लहसुन की तीन-चार कलियाँ कुचलकर डालें और तेल को ठंडा होने दें। तेल के अधिक तापमान की वजह से, लहसुन के फायदेमंद गुण भी तेल में आ जाते हैं। जब तेल हल्का गुनगुना हो, तब इससे हल्के हाथों से शिशु के शरीर की मालिश करें।

बच्चे को बुखार से राहत दिलाने के लिए ऐसा दिन में एक बार करें। तीन माह से अधिक उम्र के बच्चों के लिए यह नुस्खा सुरक्षित है।

10. शिशु का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : बच्चे के शरीर को सेब के सिरके से पोंछें

(Bachon ke bukhar ka ilaj : Bache ke sharir ko seb ke sirke se ponchhe)

Home remedies for baby's fever

सेब का सिरका (एप्पल साइडर विनेगर) कीटाणुनाशक होता है, इसलिए पिछले कई दशकों से इसका उपयोग बच्चे को बुखार से राहत देने के लिए किया जाता है।

तरीका- एक बड़े कटोरे में गुनगुना पानी लें। अब इसमें पांच चम्मच सेब का सिरका डालकर अच्छी तरह से मिलाएं। फिर इस पानी में एक मुलायम कपड़ा भिगोकर अच्छी तरह से निचोड़ें और इससे शिशु के शरीर को हल्के हाथों से पौंछें। जब शिशु का पूरा शरीर ढंग से साफ हो जाए, तो उसे हल्के सूती कपड़े पहना दें।

इस दौरान इन बातों का खास ध्यान रखें, कि सिरका बच्चे के आंख, कान, नाक व मुँह में ना जाए और पानी ज्यादा गर्म ना हो।

बच्चे का बुखार ठीक होने तक इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार दोहराएं। यह नुस्खा तीन महीने से बड़े शिशुओं पर आज़माया जा सकता है।

11. बच्चे का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : शिशु को पानी में सौंठ पाउडर डालकर नहलाएं

(Bachon ke bukhar ka ilaj : Baby ko pani me saunth pawdar dalkar nehlaye)

Home remedies for baby's fever

विशेष विधि द्वारा सुखाए गए अदरक को सौंठ कहा जाता है, यह भी अदरक ही तरह ही एंटीबायोटिक व कीटाणुनाशक होती है। इसके साथ ही यह बच्चे त्वचा को पसीना बाहर निकलने के लिए प्रेरित करती है, जिससे शरीर से कीटाणु व विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। इसलिए इस नुस्खे बच्चे को वायरल बुखार से छुटकारा दिलाने में मददगार माना जाता है।

तरीका- एक टब या एक बाल्टी गुनगुने पानी में दो चम्मच बारीक पिसा हुआ सौंठ पाउडर घोलें। अब इस पानी में हाथ डालकर तापमान की जांच कर लें, कि पानी ज्यादा गर्म तो नहीं है। अगर पानी का तापमान एकदम ठीक है, तो बुखार से पीड़ित बच्चे को इस पानी में दस मिनट के लिए बिठाएं।

इस दौरान इस बात का खास ख़याल रखें, कि पानी बच्चे के कान, आंख, नाक व मुँह में ना जाए।

बच्चे को बुखार से राहत दिलाने के लिए दिन में एक बार उसे पानी में सौंठ पाउडर डालकर नहलाएं। यह नुस्खा छह माह से बड़े शिशुओं के लिए सुरक्षित है।

12. शिशु का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : बच्चे को गुनगुने पानी से नहलाएं

(Bachon ke bukhar ka ilaj : Bache ko gungune pani se nehlaye)

Home remedies for baby's fever

बच्चे को गुनगुने पानी से नहलाना, उसे बुखार से राहत देने में मददगार साबित हो सकता है। ऐसा करने से उसकी त्वचा के रोमछिद्र साफ हो जाते हैं और हानिकारक कीटाणु हट जाते हैं। इसके साथ ही जब गुनगुना पानी शिशु की त्वचा से भाप बनकर उड़ता है, तो इससे उसके शरीर का तापमान भी घट जाता है। इसलिए गुनगुने पानी से नहलाने से बच्चे को बुखार से राहत मिल सकती है।

तरीका- एक टब या एक बाल्टी में गुनगुना पानी लें, इस पानी में हाथ डालकर तापमान की जांच कर लें, कि पानी ज्यादा गर्म तो नहीं है।

छह माह से छोटे बच्चे के पूरे शरीर को इस पानी में भीगे हुए एक नर्म कपड़े से स्पंज करवाने के अंदाज़ में पौंछें। बच्चे का बुखार ठीक होने तक इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार दोहराएं।

छह माह से बड़े बच्चे को इस पानी से सामान्य ढंग से नहलाएं या उसे पांच मिनट के लिए टब या बाल्टी में बिठाएं। जब तक बच्चे का बुखार ठीक ना हो, तब तक उसे रोज़ दिन में एक बार इस प्रक्रिया को दोहराएं।

कोई भी माता-पिता अपने बच्चे को बुखार से तपता हुआ नहीं देख सकते हैं, ऐसे में उनका चिंतित होना लाज़िमी है। मगर, आप चिंतित ना हों ब्लॉग में बताए गए घरेलू नुस्खों से शिशु का बुखार नियंत्रित किया जा सकता है।

अगर बच्चे के शरीर का तापमान 101 डिग्री फॉरेनहाइट से ज्यादा है, या उसमें बुखार के साथ अन्य लक्षण जैसे सर्दी, उल्टी, दस्त आदि दिखाई दें, तो उसे तुरंत डॉक्टर के पास लेकर जाएँ।

इस ब्लॉग के विषय - बच्चे का बुखार कम करने के 12 घरेलू नुस्खे (Bache ka bukhar kam karne ke 12 gharelu nuskhe)बच्चे का बुखार कम करने के घरेलू उपाय : शिशु को हल्के कपड़े पहनाएं (Bachon ke bukhar ka ilaj : Shishu ko halke kapde pehnaye)शिशु का बुखार कम करने के घरेलू उपाय : बच्चे को ठंडे वातावरण में रखें (Bachon ke bukhar ka ilaj : Bache ko thande mahaul me rakhe)बच्चे का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : शिशु के सिर पर ठंडे पानी में भीगी पट्टी रखें (Bachon ke bukhar ka ilaj : Baby ke sir par thande pani me bhigi patti rakhe)शिशु का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : बच्चे को स्तनपान करवाएं (Bachon ke bukhar ka ilaj : Bache ko stanpan karvaye)बच्चे का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : शिशु को पर्याप्त मात्रा में तरल पिलाएं (Bachon ke bukhar ka ilaj : Shishu ko paryapt matra me taral pilaye)शिशु का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : बच्चे को फलों का जूस पिलाएं (Bachon ke bukhar ka ilaj : Bache ko fruit juice pilaye)बच्चे का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : शिशु को प्याज का रस पिलाएं (Bachon ke bukhar ka ilaj : Baby ko pyaj ka juice pilaye)शिशु का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : बच्चे के तलवों पर प्याज काटकर लगाएं (Bachon ke bukhar ka ilaj : Bache ke talvo par pyaj katkar lagaye)बच्चे का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : सरसों के तेल में लहसुन तड़का कर शिशु की मालिश करें (Bachon ke bukhar ka ilaj : Sarso ke tel me lehsun tadka kar baby ki malish kare)शिशु का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : बच्चे के शरीर को सेब के सिरके से पोंछें (Bachon ke bukhar ka ilaj : Bache ke sharir ko seb ke sirke se ponchhe)बच्चे का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : शिशु को पानी में सौंठ पाउडर डालकर नहलाएं (Bachon ke bukhar ka ilaj : Baby ko pani me saunth pawdar dalkar nehlaye)शिशु का बुखार कम करने के घरेलू नुस्खे : बच्चे को गुनगुने पानी से नहलाएं (Bachon ke bukhar ka ilaj : Bache ko gungune pani se nehlaye)
नए ब्लॉग पढ़ें