शिशुओं में मल सम्बंधी समस्याएं कौनसी हैं? (Newborn baby potty problem in hindi)

शिशुओं में मल सम्बंधी समस्याएं कौनसी हैं? (Newborn baby potty problem in hindi)

नए माता पिता के लिए नवजात शिशु की देखभाल करना एक मुश्किल काम होता है, अनुभव ना होने की वजह से उन्हें शिशु की शारीरिक समस्याओं का पता लगाने में कठिनाई होती है। नवजात शिशुओं का पाचन तंत्र बड़ों की तुलना में अविकसित होता है, ऐसे में उन्हें मल संबंधी समस्याएं (newborn baby potty problem in hindi) होना आम है। एक वर्ष से कम आयु के नवजात शिशुओं में आमतौर पर कई मल सम्बंधी समस्याएं देखने को मिलती हैं। इस ब्लॉग में हम आपको नवजात शिशुओं में दस्त (navjat shishu ko dast) जैसी पांच मल संबंधी समस्याओं की जानकारी दे रहे हैं।

1. नवजात शिशु को दस्त की समस्या

(Newborn baby potty problem in hindi: navjat shishu ko dast lagna)

Baby potty problem - dast

अगर आपके शिशु का मल बहुत ज्यादा पतला है और उसमें आपको पानी जैसा तरल पदार्थ नज़र आ रहा है, तो आपके शिशु को दस्त (navjat shishu ko dast) की समस्या हो सकती है। शिशु का मल एक दम से गैस के साथ बाहर आना या पतले मल के साथ खून आना भी शिशु को दस्त लगने का लक्षण हो सकता है।

माँ का दूध शिशु को दस्त (navjat shishu ko dast) के संक्रमण से बचाने में सहायक होता है। इसलिए बोतल से दूध पीने वाले बच्चों को स्तनपान करने वाले बच्चों की तुलना में दस्त होने का खतरा ज्यादा होता है। किसी प्रकार का संक्रमण, ज्यादा फलों के रस का सेवन, दवाई का साइड इफेक्ट आदि शिशु को दस्त लगने की वजह हो सकती है।

शिशु को दस्त (navjat shishu ko dast) से बचाने के लिए साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें। आमतौर पर शिशुओं के दस्त 24 घण्टे में अपने आप ठीक हो जाते हैं, लेकिन अगर एक दिन में शिशु के दस्त ठीक नहीं हों तो उसे डॉक्टर के पास ले जाएं।

2. नवजात शिशु को गहरे हरे रंग का मल आना

(Newborn baby potty problem in hindi: shishu ko dark green potty aana)

Baby potty problem - dark green potty aana

अगर आपका शिशु गहरे हरे रंग का मल त्यागता है, तो इसकी वजह (baby green potty reason in hindi) उसके भोजन में दुग्ध शर्करा (लैक्टोस) की मात्रा ज्यादा होना हो सकती है। माँ के स्तन में शुरुआत में कम वसा-युक्त पतला दूध आता है, जब शिशु थोड़ा दूध पी लेता है, तब माँ के स्तन में ज्यादा वसा-युक्त गाढ़ा दूध आने लगता है। शिशु को बार बार स्तन बदल कर दूध पिलाने पर शिशु को दूध पीते समय बाद में आने वाला ज्यादा वसा-युक्त दूध नहीं मिल पाता है। इससे शिशु को बार बार भूख लगती है और ज्यादा लैक्टोस की वजह से शिशु हरे रंग का मल त्याग सकता है।

फॉर्मूला दूध पीने वाले शिशुओं में फॉर्मूला दूध के ब्रांड की वजह से ऐसा हो सकता है, इसलिए अगर उनके मल का रंग हरा हो तो डॉक्टर की सलाह लेकर ब्रांड बदल कर देखें। इसके साथ ही शिशुओं में पेट का संक्रमण (stomach infection in hindi), किसी दवा के साइड इफैक्ट जैसी समस्याएं भी शिशु के मल के हरे रंग की एक वजह (baby green potty reason in hindi) हो सकती है।

अगर आपका शिशु हरे रंग का मल त्यागता है, तो उसे एक स्तन से पूरी तरह दूध खत्म होने के बाद ही दूसरे स्तन से दूध पिलायें, ताकि उसे अधिक वसा वाला गाढ़ा दूध मिल सके। अगर शिशु 24 घण्टे बाद भी हरे रंग का मल त्यागना बंद ना करे, तो उसे डॉक्टर के पास ले जायें।

3. नवजात शिशु को कब्ज की समस्या

(Newborn baby potty problem in hindi: bache ko kabj hona)

Baby potty problem - kabj hona

कब्ज के दौरान मल त्याग करते समय ज्यादातर नवजात शिशुओं का चेहरा एकदम लाल हो जाता है और उन्हें मल बाहर निकालने के लिए काफी ज़ोर लगाना पड़ता है। कब्ज की समस्या से पीड़ित शिशुओं का पेट छूने पर कठोर महसूस होता है और उनका मल काफी सूखा और ठोस होता है।

आमतौर पर स्तनपान करने वाले शिशु कब्ज की समस्या (newborn baby potty problem in hindi) से कम पीड़ित होते हैं, क्योंकि दूध में मल को नर्म बनाने वाले तत्व होते हैं और वह आसानी से पच जाता है। फार्मूला दूध पीने वाले शिशुओं को कब्ज होने की आशंका ज्यादा होती है, क्योंकि इसमें माँ के दूध से ज्यादा आयरन होता है। इसके अलावा शिशु के लिए फॉर्मूला दूध (formula milk in hindi) बनाते वक़्त ज्यादा पाउडर मिला देने से भी शिशु को कब्ज हो सकती है।

इसके अलावा बच्चे को बुखार (baby ko bukhar), पानी की कमी, खानपान में बदलाव या किसी प्रकार की दवाई की वजह से भी कब्ज (baby ko kabj) की समस्या हो सकती है।

बच्चे के लिए फॉर्मूला दूध तैयार करते समय पैकेट पर लिखे निर्देशों का पालन करें। डॉक्टर छह माह से ज्यादा उम्र के शिशुओं के भोजन में पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ शामिल करने की सलाह देते हैं। अगर शिशु ठोस आहार खाता है, तो उसके भोजन में पर्याप्त मात्रा में रेशेदार चीजें जैसे किशमिश, खुबानी, फल आदि शामिल करें। अगर शिशु को मल त्याग करने में परेशानी (newborn baby potty problem in hindi) हो रही है तो उसे डॉक्टर के पास ले जाएं।

4. नवजात शिशु के मल में खून आना

(Newborn baby potty problem in hindi: baby ki potty me khun aana)

Baby potty problem - potty me khoon

आमतौर पर ज्यादा ठोस और सूखे मल की वजह से शिशु का गुदा-द्वार छिल जाता है, और नवजात शिशु के मल में खून दिखाई देता है। इस समस्या में शिशु को बहुत दर्द होता है और वह मल त्याग करते समय बहुत ज्यादा रोता है।

पेट में किसी प्रकार का संक्रमण या एलर्जी होने की वजह से भी छोटे बच्चों के मल में खून आ सकता है। यह किसी गंभीर समस्या का लक्षण भी हो सकता है, इसलिए अगर आपको अपने बच्चे के मल में खून दिखाई दे तो उसे जल्दी ही डॉक्टर के पास ले जाएं।

5. नवजात शिशु का फीके या सफेद रँग का मल

(Newborn baby potty problem in hindi: baby ko safed poty aana)

Baby potty problem - safed potty aana

अगर आपके शिशु के मल का रंग हल्का पीला या बिल्कुल सफेद है, तो इसकी एक वजह नवजात शिशु में पीलिया (baby jaundice in hindi) की समस्या हो सकती है। आमतौर पर शिशु का पीलिया जन्म के कुछ हफ़्तों बाद ठीक हो जाता है, इसके साथ ही शिशु के मल का रंग सरसों जैसा पीला (सामान्य) होने लगता है।

शिशु का चूने जैसा सफेद मल या फीके रँग का मल (white potty in kids in hindi) उसके लिवर (यकृत) में किसी प्रकार की समस्या का अहम लक्षण है। ठोस आहार खाने वाले छोटे बच्चों में सफेद मल की समस्या की वजह ज्यादा दूध पीना या किसी प्रकार का संक्रमण हो सकता है। इसलिए शिशु के मल (baby potty in hindi) का रंग सफ़ेद नज़र आने पर उसे तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।

शायद आपको सुनने में अजीब लगे लेकिन बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य के लिए आपको उसके मल पर विशेष ध्यान देना चाहिए। नवजात शिशु के मल (baby potty in hindi) में किसी भी तरह का बदलाव उसके पेट के संक्रमण या पाचन संबंधी समस्याओं का लक्षण हो सकता है। अगर आपको ब्लॉग में बताई गई परेशानियों (newborn baby potty problem in hindi) का कोई लक्षण अपने शिशु के मल में नजर आये, तो शिशु को डॉक्टर के पास ले जाएं।

इस ब्लॉग के विषय- नवजात शिशु को डायरिया की समस्या (Newborn baby potty problem in hindi: navjat shishu ko dast lagna)नवजात शिशु को गहरे हरे रंग का मल आना (Newborn baby potty problem in hindi: shishu ko dark green potty aana)नवजात शिशु को कब्ज की समस्या (Newborn baby potty problem in hindi: bache ko kabj hona)नवजात शिशु के मल में खून आना (Newborn baby potty problem in hindi: baby ki potty me khun aana)नवजात शिशु का फीके या सफेद रँग का मल (Newborn baby potty problem in hindi: baby ko safed poty aana)
नए ब्लॉग पढ़ें