नवजात शिशुओं में त्वचा संबंधी पाँच समस्याएं व उनके उपाय (Bacho ki tvacha ki 5 problem aur unke upay)

नवजात शिशुओं में त्वचा संबंधी पाँच समस्याएं व उनके उपाय (Bacho ki tvacha ki 5 problem aur unke upay)

माँ बनने के बाद आपको अपनी सेहत के साथ ही साथ शिशु के स्वास्थ्य का भी ध्यान रखना ज़रूरी है, क्योंकि शिशु जन्म के समय बहुत ज्यादा नाज़ुक और कमज़ोर होता है। शिशु की त्वचा बहुत कोमल होती है, इसलिए शिशु को त्वचा रोग (baby skin problems in hindi) होने की ज्यादा आशंका होती है।

नवजात शिशुओं में खुजली, घमौरियां, डायपर रैश (डायपर या लँगोटी पहनने की वजह से कूल्हों व टाँगों की त्वचा छिलना या उस पर लाल दाने उभरना) आदि त्वचा सम्बंधी समस्याएं बेहद आम हैं और लगभग सभी शिशुओं को इन परेशानियों से गुजरना पड़ता है।

ऐसे में हर माँ के मन में यही सवाल रहता है कि “शिशु की त्वचा की समस्याओं (baby skin problems in hindi) से कैसे छुटकारा पायें?” इस ब्लॉग में हीलोफाई आपको नवजात शिशुओं की त्वचा में होने वाली पाँच आम समस्याओं व शिशु की त्वचा की देखभाल के घरेलू नुस्खे (baby skin care tips in hindi) बता रहा है।

नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशुओं में डायपर रैश की समस्या

(Baby skin problems in hindi - Diaper se bache ko rashes hona)

baby diaper rash

असल में डायपर रैश कोई त्वचा रोग (baby skin problems in hindi) नहीं है, बल्कि यह एक तरह का घाव होता है, जो डायपर से शिशु की त्वचा छिलने की वजह से पैदा होता है। डायपर रैश (diaper rash in hindi) की वजह से आपके शिशु की त्वचा में बहुत तेज़ जलन और दर्द हो सकता है, इसलिए शिशु का डायपर सावधानी से बदलना चाहिए।

नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु को डायपर रैश होने के लक्षण क्या हैं?

(Baby skin problems in hindi - Baby ko diaper rash hone ke lakshan kya hai)

baby diaper rash symptoms

  • डायपर से ढँकी त्वचा पर जगह जगह लाल निशान व खरोंच दिखना
  • डायपर वाली जगह हल्की सूजन आना
  • डायपर पहनाने पर शिशु का रोना

नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु को डायपर रैश क्यों होता है?

(Baby skin problems in hindi - Shishu ko diaper rash kyu hota hai)

baby diaper rash reason

  • शिशु को सही आकार का डायपर नहीं पहनाने से उसे डायपर रैश (डायपर से त्वचा छिलना) होने की आशंका होती है।
  • शिशु की त्वचा ज्यादा संवेदनशील होने की वजह से डायपर से उसकी त्वचा छिल सकती है।
  • डायपर में त्वचा के ज्यादा समय तक शौच या पेशाब के सम्पर्क में आने पर त्वचा में सूजन आ सकती है।
  • शिशु की नाज़ुक त्वचा डायपर से घिसने की वजह से उसे डायपर रैश हो सकते हैं।
  • जीवाणुओं (bacteria in hindi) का हल्का संक्रमण होने की वजह से भी डायपर रैश की समस्या हो सकती है।

नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु के डायपर रैश का उपचार कैसे करें?

(Baby skin problems in hindi - Baby ke diaper rash ka ilaj kya hai)

baby diaper rash treatment

शिशु को दूसरा डायपर पहनाने से पहले उसकी त्वचा को अच्छी तरह साफ करें। शिशु की छिली हुई त्वचा पर डायपर रैश की क्रीम लगा सकती हैं। अगर समस्या ज्यादा है, तो शिशु को डॉक्टर को दिखाएं। डॉक्टर शिशु की छिली हुई त्वचा पर लगाने के लिए रैश क्रीम देते हैं, इसे लगाने से शिशु को ठण्डक महसूस होती है और कुछ दिनों में डायपर रैश ठीक हो जाते हैं।

नवजात शिशु के रोग - शिशु को डायपर रैश से कैसे बचाएं?

(Bache ko diaper rash se safe kaise rakhe)

baby diaper rash precaution

  • हर चार से पांच घण्टे में शिशु का डायपर बदलती रहें।
  • डायपर के नीचे की त्वचा को सादा पानी से साफ करें और शिशु को नया डायपर पहनाने से पहले उसकी टाँगों और कूल्हों पर बेबी क्रीम (baby moisturizer in hindi) लगाएं।
  • शिशु को सही आकार का डायपर पहनायें।
  • अगर संभव है तो शिशु को दिन के समय डायपर की जगह सूती कपड़े की लँगोटी पहनायें और डायपर केवल रात के समय पहनायें।

नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशुओं को घमौरियों की समस्या

(Baby skin problems in hindi - Baby ko ghamori hona)

baby heat rash

घमौरियां (baby heat rash in hindi) गर्मी के मौसम में होने वाला एक आम त्वचा रोग है। नवजात शिशुओं की त्वचा में पसीने की ग्रन्थियाँ (baby sweat glands in hindi) पूरी तरह से विकसित नहीं होती हैं, और इनके छेद आसानी से बन्द हो जाते हैं। गर्मियों के समय में त्वचा के रोम छिद्र बन्द हो जाने पर पसीना त्वचा के अंदर ही इकट्ठा हो जाता है, इससे शिशु की त्वचा पर जगह जगह दाने हो जाते हैं। घमौरियों में काफी जलन और खुजली होती है, इसलिए त्वचा पर घमौरियां होने पर शिशु काफी रोता है और चिड़चिड़ा हो जाता है।

नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु को घमौरियां होने के लक्षण क्या हैं?

(Baby skin problems in hindi - Bache ko ghamori hone ke lakshan kya hai)

baby heat rash symptoms

  • शिशु की पींठ और कूल्हों पर छोटे छोटे लाल दाने उभरना (दाने शरीर के बाकी हिस्सों में भी हो सकते हैं)

नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु को घमौरियां क्यों होती हैं?

(Baby skin problems in hindi - Baby ko ghamori kyo hoti hai)

baby heat rash reason

  • गर्मी की वजह से ज्यादा पसीना आना
  • शिशु को ज्यादा गर्म कपड़े पहनाना या उसे ज्यादा कपड़ों में लपेटना
  • शिशु को तेज बुखार होना
  • बेबी क्रीम लगाने की वजह से त्वचा के रोम छिद्र बन्द होना
  • शिशु को सिंथेटिक कपड़े पहनाना

नवजात शिशु के रोग - शिशु की घमौरियों का इलाज कैसे करें?

(Baby skin problems in hindi - Shishu ki ghamoriyo ka ilaj kaise kare)

baby heat rash treatment

शिशु को दोपहर के समय ठंडे पानी से नहलाने से घमौरियां कम हो सकती हैं। अगर समस्या ज्यादा है, तो शिशु को डॉक्टर को दिखाएं। डॉक्टर शिशु की त्वचा पर घमौरियों वाली जगह लगाने के लिए दवाई देते हैं, जिससे घमौरियों के दानों में जलन कम हो जाती है और धीरे धीरे घमौरियां (heat rash in hindi) ठीक हो जाती हैं।

नवजात शिशु के रोग - शिशु को घमौरियों से बचाने के घरेलू नुस्खे क्या हैं?

(Baby ki ghamoriyo ka gharelu upchar kya hai)

baby heat rash home remedies

  • बच्चे को घमौरियों से बचाने के टिप्स (baby skin care tips in hindi) - गर्मियों के समय शिशु को हल्के व सूती कपड़े पहनाएं।
  • बच्चे को घमौरियों से बचाने के टिप्स (baby skin care tips in hindi) - शिशु को ज्यादा कपड़े ना पहनायें।
  • बच्चे को घमौरियों से बचाने के टिप्स (baby skin care tips in hindi) - शिशु के कमरे को कूलर या पंखे से ठंडा रखें।
  • बच्चे को घमौरियों से बचाने के टिप्स (baby skin care tips in hindi) - शिशु की त्वचा पर डॉक्टर द्वारा बताई गयी बेबी क्रीम ही लगाएं।
  • बच्चे को घमौरियों से बचाने के टिप्स (baby skin care tips in hindi) - शिशु को सूती कपड़े पहनायें।

नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु के सिर पर पपड़ी/क्रेडल कैप त्वचा रोग

(Baby skin problems in hindi - Baby ke sir par papdi jamna)

cradle cap

शिशु के सिर पर पपड़ी की समस्या को क्रेडल कैप (cradle cap in hindi) भी कहा जाता है। आमतौर पर शिशुओं में यह त्वचा रोग जन्म के शुरुआती हफ़्तों में होता है, लेकिन चार से छह महीने की आयु तक शिशु फिर से इस समस्या का शिकार हो सकते हैं। क्रेडल कैप की समस्या त्वचा पर फंगस या यीस्ट (yeast in hindi) के बढ़ने की वजह से होती है, यह फंगस शिशु के शरीर पर माँ के गर्भ से आता है। हालांकि कुछ मामलों में यह बच्चों की खुजली की समस्या (eczema in hindi) का शुरुआती लक्षण हो सकता है।

नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु के सिर पर पपड़ी की समस्या के लक्षण क्या हैं?

(Baby skin problems in hindi - Bache ke sir par papdi jamne ke lakshan kya hai)

cradle cap symptoms

  • सिर पर पपड़ी जैसे लाल-गुलाबी चकते उभरना
  • गर्दन, बगल और जांघों के बीच भी पपड़ीदार चकते होना

नवजात शिशु के रोग - शिशु को सिर पर पपड़ी की समस्या क्यों होती है?

(Baby skin problems in hindi - Baby ke sir par papdi kyu jamti hai)

cradle cap reason

  • शरीर की तैल ग्रन्थियों (oil glands in hindi) में ज्यादा तेल बनने की वजह से शिशु को क्रेडल कैप की समस्या हो सकती है।
  • शिशु की त्वचा पर फंगस (fungus in hindi) का संक्रमण भी शिशु के सिर पर पपड़ी की समस्या (Baby skin problems in hindi) की एक वजह होती है।

नवजात शिशु के रोग - शिशु के सिर की पपड़ी की समस्या का इलाज क्या है?

(Baby skin problems in hindi - Bache ke sir par papdi jamne ka ilaj kya hai)

cradle cap treatment

शिशु के सिर पर पपड़ी (cradle cap in hindi) की समस्या बेहद आम है, इसलिए सामान्य परिस्थितियों में शिशु की अच्छी साफ सफाई रखने से यह एक दो हफ़्तों में अपने आप सही हो जाती है। अगर समस्या ज्यादा है, तो शिशु को डॉक्टर के पास ले जाएं। क्रेडल कैप की समस्या में डॉक्टर शिशु के सिर पर लगाने के लिए एंटीफंगल क्रीम (antifungal cream in hindi) देते हैं।

नवजात शिशु के रोग - शिशु के सिर की पपड़ी दूर करने के घरेलू नुस्खे क्या हैं?

(Bache ke sir ki papdi thik karne ke gharelu upay kya hai)

cradle cap home remedies

  • सिर की पपड़ी हटाने के टिप्स (baby skin care tips in hindi) - शिशु के सिर को विशेष रूप से शिशुओं के लिए बने शैम्पू से रोज हल्के हाथों से साफ करें।

  • सिर की पपड़ी हटाने के टिप्स (baby skin care tips in hindi) - शिशु को नहलाने से एक घण्टे पहले शिशु के सिर पर सरसों या जैतून का तेल लगा दें। इससे शिशु के सिर की पपड़ी (cradle cap in hindi) धीरे धीरे छूटने लगेगी।

नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु को खुजली का त्वचा रोग

(Baby skin problems in hindi - Baby ko khujli hona)

pruritus in baby

खुजली (pruritus in hindi) नवजात शिशुओं के साथ ही साथ बड़ों की भी एक आम समस्या है। आँकड़ो के अनुसार औसत रूप से हर 100 में से 2 नवजात शिशु इस त्वचा रोग से पीड़ित होते हैं। कुछ शिशुओं में चार से पांच माह की उम्र में खुजली (pruritus in hindi) के लक्षण दिखाई देने लगते हैं। खुजली के कारण शिशु थोड़ा परेशान और चिड़चिड़ा हो सकता है, लेकिन थोड़ी सावधानी बरतने से शिशु के बड़ा होने के साथ ही खुजली की समस्या धीरे धीरे कम होने लगती है।

नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु को खुजली होने के लक्षण क्या हैं?

(Baby skin problems in hindi - Baby ko khujli hone ke lakshan kya hai)

pruritus symptoms in baby

  • कोहनियों और घुटनों पर दानेदार दाद होना
  • जगह जगह त्वचा पर लाल व ख़ुश्क धब्बे होना
  • शिशु के गाल पर दाद होना

नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु को खुजली क्यों होती है?

(Baby skin problems in hindi - Bache ko khujli kyu hoti hai)

pruritus in baby reason

  • डॉक्टर कई सालों से खुजली के कारण पता करने में जुटे हैं लेकिन, खुजली (pruritus in hindi) का असली कारण अभी तक अज्ञात है।
  • अगर परिवार में माता पिता या भाई को खुजली (pruritus in hindi) की समस्या है, तो शिशु को खुजली हो सकती है यानी खुजली आनुवंशिक रूप से फैल सकती है।
  • कुछ विशेष स्थितियों में खुजली की समस्या ज्यादा हो सकती है, जैसे धूल, ज्यादा तापमान, संक्रमण, टीकाकरण (vaccination in hindi) आदि।
  • इसके अलावा कुछ विशेष साबुन, क्रीम, शैम्पू भी शिशु की खुजली (pruritus in hindi) की समस्या को बढ़ा सकते हैं।

नवजात शिशु के रोग - बच्चों की खुजली का इलाज क्या है?

(Baby skin problems in hindi - Baby ki khujli ka ilaj kya hai)

pruritus treatment in baby

खुजली के कारण पता ना होने की वजह से खुजली का इलाज किसी के पास नहीं है, लेकिन एक बार खुजली बढ़ाने वाली चीजों का पता चल जाने पर उनसे दूरी बनाकर खुजली (pruritus in hindi) की समस्या पर नियंत्रण पाया जा सकता है। अगर शिशु खुजली या त्वचा संक्रमण (skin infection in hindi) से ज्यादा परेशान है तो उसे डॉक्टर के पास ले जाएं, डॉक्टर शिशु की त्वचा पर लगाने के लिए कुछ विशेष दवाएँ दे सकते हैं।

नवजात शिशु के रोग - बच्चों की खुजली कम करने के घरेलू नुस्खे क्या हैं?

(Bache ki khujli thik karne ke gharelu upay kya hai)

pruritus in baby home remedies

  • बच्चों की खुजली के टिप्स (baby skin care tips in hindi) - शिशु को नियमित रूप से ठंडे या हल्के गुनगुने पानी और शिशुओं के साबुन या साबुन के विकल्प (जैसे दूध बेसन आदि) से नहलाएं।

  • बच्चों की खुजली के टिप्स (baby skin care tips in hindi) - शिशु को नहलाने के बाद थपथपा कर पौंछें, उसकी त्वचा को बिल्कुल भी ना रगड़ें।

  • बच्चों की खुजली के टिप्स (baby skin care tips in hindi) - शिशु की त्वचा पर रोज शिशुओं के लिए खासतौर पर बनी क्रीम लगाएं।

नवजात शिशु के रोग - शिशु के चेहरे पर दाने या मुँहासे की समस्या

(Baby skin problems in hindi - Bache ke face par dane hona)

baby acne

जी हाँ, कील मुँहासे केवल युवाओं की ही नहीं बल्कि नवजात शिशुओं की भी एक बेहद आम समस्या है। शिशुओं के चेहरे पर दाने या कील-मुंहासे हो सकते हैं, आमतौर ये शिशु के गालों पर होते हैं, लेकिन कुछ शिशुओं की पींठ पर भी दाने हो सकते हैं। सामान्य रूप से शिशु के चेहरे पर दाने की समस्या जन्म के तीन से चार हफ़्ते बाद सामने आती है, लेकिन कुछ शिशुओं में मुँहासे जन्म से ही होते हैं।

नवजात शिशु के रोग - शिशु को चेहरे पर दाने होने के लक्षण क्या हैं?

(Baby skin problems in hindi - Baby ko pimple hone ke lakshan kya hai)

baby acne symptoms

  • चेहरे पर छोटे छोटे लाल दाने होना
  • शिशु की त्वचा पर छोटे उभार दिखाई देना

नवजात शिशु के रोग - शिशु को चेहरे पर दाने क्यों होते हैं?

(Baby skin problems in hindi - Bache ke chehre par dane kyun hote hai)

baby acne reason

  • शिशुओं की आम समस्या होने के बावजूद शिशु के चेहरे पर दाने की समस्या की वजह कोई नहीं जानता।

नवजात शिशु के रोग - शिशु के चेहरे पर दाने की समस्या कैसे ठीक होगी?

(Baby skin problems in hindi - Shishu ke chehre par dane ka ilaj kya hai)

baby acne treatment

आमतौर पर शिशु के चेहरे पर दाने की समस्या बिना किसी इलाज के ही ठीक हो जाती है। कुछ मामलों में शिशु के चेहरे के दाने कई महीनों तक ठीक नहीं होते हैं, ऐसे में डॉक्टर आपको शिशु को चेहरे पर लगाने के लिए दवाई देते हैं, जो मुँहासे को हटाने में मदद करती है।

नवजात शिशु के रोग - शिशु के चेहरे पर दाने की समस्या के उपचार के घरेलू नुस्खे क्या हैं?

(Baby ke chehre se dane hatane ke gharelu nuskhe kya hai)

baby acne home remedies

  • शिशु के दानों की देखभाल (baby skin care tips in hindi) - रोज शिशु का चेहरा गुनगुने पानी से धोयें।

  • शिशु के दानों की देखभाल (baby skin care tips in hindi) - शिशु के चेहरे की त्वचा को तौलिया या किसी अन्य चीज से ना घिसें।

  • शिशु के दानों की देखभाल (baby skin care tips in hindi) - अगर शिशु के चेहरे पर दाने हैं, तो उसकी त्वचा पर किसी भी तरह की क्रीम ना लगाएं।

  • शिशु के दानों की देखभाल (baby skin care tips in hindi) - थोड़ा सब्र करें, शिशु के चेहरे पर से दाने अपने आप ठीक हो जाएंगे, उन्हें दबाकर निकालने की कोशिश ना करें। ऐसा करने से शिशु के चेहरे पर हमेशा के लिए निशान बन सकता है और संक्रमण (baby skin infection in hindi) भी हो सकता है।

नवजात शिशुओं को खास देखभाल की ज़रूरत होती है। शिशु को त्वचा रोग (Baby skin problems in hindi) होने की आशंका ज्यादा होती है, इसलिए शिशु को नहलाते समय, कपड़े पहनाते समय या हाथ लगाते समय सावधानी रखें। जहां तक संभव हो शिशु को सूती और मुलायम कपड़े ही पहनायें।

शिशु को नहलाने के लिए पानी का आदर्श तापमान 96.6 डिग्री से 100.4 डिग्री होता है और उसकी साफ सफाई के लिए हमेशा शिशुओं के लिए खासतौर पर बने साबुन और शैम्पू का ही उपयोग करें।

शिशु की नाज़ुक त्वचा पर बेहद हल्की बेबी क्रीम लगानी चाहिए (baby skin care tips in hindi)। इन साधारण तरीकों से आप अपने शिशु की कोमल त्वचा को स्वस्थ रखकर उसे हँसता खिलखिलाता हुआ रख सकती हैं।

इस ब्लॉग के विषय - नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशुओं में डायपर रैश की समस्या (Baby skin problems in hindi - Diaper se bache ki tang chhilna), नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु को डायपर रैश होने के लक्षण क्या हैं? (Baby skin problems in hindi - Baby ko diaper rash hone ke lakshan kya hai),नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु को डायपर रैश क्यों होता है? (Baby skin problems in hindi - Shishu ko diaper rash kyu hota hai),नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु के डायपर रैश का उपचार कैसे करें? (Baby skin problems in hindi - Baby ke diaper rash ka ilaj kya hai),नवजात शिशु के रोग - शिशु को डायपर रैश से कैसे बचाएं? (Bache ko diaper rash se safe kaise rakhe),नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशुओं को घमौरियों की समस्या (Baby skin problems in hindi - Baby ko ghamori hona),नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु को घमौरियां होने के लक्षण क्या हैं? (Baby skin problems in hindi - Bache ko ghamori hone ke lakshan kya hai),नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु को घमौरियां क्यों होती हैं? (Baby skin problems in hindi - Baby ko ghamori kyo hoti hai),नवजात शिशु के रोग - शिशु की घमौरियां कैसे ठीक होंगी? (Baby skin problems in hindi - Shishu ki ghamoriyo ka ilaj),नवजात शिशु के रोग - शिशु को घमौरियों से बचाने के घरेलू नुस्खे क्या हैं? (Baby ki ghamoriyo ka gharelu upchar kya hai),नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु के सिर पर पपड़ी/क्रेडल कैप त्वचा रोग (Baby skin problems in hindi - Baby ke sir par papdi jamna),नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु के सिर पर पपड़ी की समस्या के लक्षण क्या हैं? (Baby skin problems in hindi - Bache ke sir par papdi jamne ke lakshan kya hai),नवजात शिशु के रोग - शिशु को सिर पर पपड़ी की समस्या क्यों होती है? (Baby skin problems in hindi - Baby ke sir par papdi kyu jamti hai),नवजात शिशु के रोग - शिशु के सिर की पपड़ी की समस्या का इलाज क्या है? (Baby skin problems in hindi - Bache ke sir par papdi jamne ka ilaj kya hai),नवजात शिशु के रोग - शिशु के सिर की पपड़ी दूर करने के घरेलू नुस्खे क्या हैं? (Bache ke sir ki papdi thik karne ke gharelu upay kya hai),नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु को खुजली का त्वचा रोग (Baby skin problems in hindi - Baby ko khujli hona),नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु को खुजली होने के लक्षण क्या हैं? (Baby skin problems in hindi - Baby ko khujli hone ke lakshan kya hai),नवजात शिशु के रोग - नवजात शिशु को खुजली क्यों होती है? (Baby skin problems in hindi - Bache ko khujli kyu hoti hai),नवजात शिशु के रोग - बच्चों की खुजली का इलाज क्या है? (Baby skin problems in hindi - Baby ki khujli ka ilaj kya hai),नवजात शिशु के रोग - बच्चों की खुजली कम करने के घरेलू नुस्खे क्या हैं? (Bache ki khujli thik karne ke gharelu upay kya hai),नवजात शिशु के रोग - शिशु के चेहरे पर दाने या मुँहासे का त्वचा रोग (Baby skin problems in hindi - Bache ke face par dane hona),नवजात शिशु के रोग - शिशु को चेहरे पर दाने होने के लक्षण क्या हैं? (Baby skin problems in hindi - Baby ko pimple hone ke lakshan kya hai), नवजात शिशु के रोग - शिशु को चेहरे पर दाने क्यों होते हैं? (Baby skin problems in hindi - Bache ke chehre par dane kyu hote hai),नवजात शिशु के रोग - शिशु के चेहरे पर दाने की समस्या कैसे ठीक होगी? (Baby skin problems in hindi - Shishu ke chehre par dane ka ilaj),नवजात शिशु के रोग - शिशु के चेहरे पर दाने की समस्या के उपचार के घरेलू नुस्खे क्या हैं? (Baby ke chehre se dane hatane ke gharelu nuskhe kya hai)
नए ब्लॉग पढ़ें