प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी : कारण, लक्षण और उपाय (pregnancy me cold cough : karan, lakshan aur upay)

प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी :  कारण, लक्षण और उपाय (pregnancy me cold cough : karan, lakshan aur upay)

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं, जिससे उनकी बीमारियों से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है। इससे उनके शरीर में बैक्टीरिया और वायरस का संक्रमण होने की आशंका बढ़ जाती है और उन्हें प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी (pregnancy me cold cough) हो सकती है।

हम आपको इस ब्लॉग के ज़रिए प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी से जुड़ी तमाम जानकारी दे रहे हैं।

1. प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी क्योंं होती है? (Pregnancy me sardi jukham aur khasi kyun hoti hai)

2. गर्भावस्था में सर्दी जुकाम और खांसी के लक्षण क्या हैं? (Pregnancy me sardi jukham aur khasi ke lakshan kya hai)

3. प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी होने पर डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए ? (Pregnancy me sardi jukham aur khasi hone par doctor ke pas kab jana chahiye)

4. प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी को कम करने के घरेलू उपाय क्या है? (Pregnancy me sardi jukham aur khasi ko kam karne ke gharelu upay kya hai)

5. प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी से कैसे बचें? (Pregnancy me sardi jukham aur khasi se kaise bache)

6. क्या गर्भावस्था में सर्दी जुकाम और खांसी से बेबी को नुकसान होता है? (Kya pregnancy me sardi jukham aur khasi se baby ko nuksan hota hai)

1. प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी क्योंं होती है? (Pregnancy me sardi jukham aur khasi kyun hoti hai)

प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी (pregnancy me sardi jukham aur khasi) होना बेहद आम है और इसके होने के कई कारण हो सकते हैं, जिनमेंं से कुछ प्रमुख कारण निम्नलिखित हैं -

  • बीमारियोंं से लड़ने की क्षमता कम होना।
  • सर्दी जुकाम से ग्रसित व्यक्ति के संपर्क में आना।
  • ठंड के मौसम में गर्म कपड़े न पहनना या कम कपड़े पहनना।
  • बारिश में भीग जाना।
  • गर्मियोंं के मौसम में बाहर से आने पर अचानक ठंडा पानी पी लेना।
  • ज्यादा तनाव लेना।

2. गर्भावस्था में सर्दी जुकाम और खांसी के लक्षण क्या हैं? (Pregnancy me sardi jukham aur khasi ke lakshan kya hai)

प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी (pregnancy me sardi jukham aur khasi) होने के कई लक्षण हो सकते हैं, जिनमे से कुछ लक्षण नीचे लिखे गये हैं -

  • आंखों से पानी आना।
  • लगातार छींक आना।
  • हल्का बुखार आना।
  • थकान महसूस होना।
  • खांसी आना।
  • सीने में जलन होना।
  • नाक बहना।
  • गले या छाती में बलगम जमा होना।
  • हल्का बदन दर्द होना।
  • नाक बंद होना।
  • गले में खराश होना।
  • सिरदर्द होना।
  • शरीर में ऐंठन और दर्द होना।

3. प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी होने पर डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए? (Pregnancy me sardi jukham aur khasi hone par doctor ke pas kab jana chahiye)

गर्भावस्था में खांसी जुकाम (pregnancy me cold cough) होना सामान्य है, लेकिन अगर गर्भवती महिलाएं इससे ज्यादा परेशान हैं, तो उन्हें डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। इसके अलावा अगर सर्दी जुकाम और खांसी को दो हफ्ते से ज्यादा हो गये हैं, तो यह टीबी का लक्षण हो सकता है। अगर गर्भवती महिलाओं को नीचे लिखे गये लक्षण महसूस हो तो उन्हें डॉक्टर के पास ज़रूर जाना चाहिए -

  • तेज़ खांसी होना।
  • बुखार होना।
  • गले में दर्द होना।
  • सांस लेनेे में तकलीफ़ होना।

उपरोक्त लक्षणों के आधार पर डॉक्टर गर्भवती को विभिन्न प्रकार की दवाईयां देते हैं, जिससे उन्हें प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी (pregnancy me cold cough) से आराम मिल जाता है।

4. प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी को कम करने के घरेलू उपाय क्या है? (Pregnancy me sardi jukham aur khasi ko kam karne ke gharelu upay kya hai)

प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी (pregnancy me cold cough) को दूर भगानेे में कई घरेलू उपाय कारगर हैं, जिनमें से कुछ उपायोंं के बारे में हम आपको नीचे बताने जा रहे हैं।

  • नींबू पानी पीएं- प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी (pregnancy me cold cough) से छुटकारा पाने के लिए गर्भवती महिलाओं को एक गिलास नींबू पानी में आधा चम्मच शहद और थोड़ी सी अदरक मिलाकर पीना चाहिए, इससे काफी जल्दी आराम मिल सकता है।
  • भाप लें - प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी (pregnancy me cold cough) को ठीक करने के लिए भाप कारगर है। भाप लेने के लिए सबसे पहले एक बर्तन मेंं पानी को गर्म करें, इसके बाद तौलिये से सिर को ढंकते हुए भाप लें। जुकाम का असर कम करने के लिए दिन में तीन से चार बार भाप लें।
  • तरल चीजों का सेवन करें - प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी से छुटकारा पाने के लिए तरल चीजों का सेवन करना चाहिए। गर्भवती महिलाओं को इस दौरान दिन में 8 से 10 गिलास पानी पीना चाहिए। इसके अलावा ताजे फलों के जूस पीना चाहिए, इससे प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी (pregnancy me cold cough) से जल्द आराम मिल सकता है।
  • चाय पीएं - प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी (pregnancy me cold cough) से राहत पाने के लिए चाय पीनी चाहिए। चाय में पुदीना या तुलसी का पत्ता मिलाकर पीने से काफी जल्दी आराम हो सकता है।
  • गरारें करें - सर्दी खांसी से छुटकारा पाने के लिए गर्म पानी से दिन में तीन से चार बार गरारे करें। गरारें करने से गले की खराश कम हो जाती है, जिससे खांसी और सर्दी से आराम मिल सकता है।
  • ऊंचे तकिये का इस्तेमाल करें - प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी (pregnancy me cold cough) होने पर ऊंचे तकिये का इस्तेमाल करना चाहिए, इससे बंद नाक में राहत मिलती है और साथ ही सिर भी हल्का रहता है।

ध्यान दें: ऊपर बताये गये उपाय सुरक्षित हैं, लेकिन अगर आपको किसी भी तरह की कोई आशंका हो तो इन्हें अपनाने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें।

5. प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी से कैसे बचें? (Pregnancy me sardi jukham aur khasi se kaise bache)

प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी से बचने के लिए कुछ महत्वपूर्ण सुझाव नीचे लिखे गये हैं।

  • तनाव न लें - प्रेगनेंसी के समय तनाव लेने से रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो सकती है, जिसकी वजह से गर्भवती को सर्दी, जुकाम और खांसी की समस्या पैदा हो सकती है। ऐसे में गर्भवती महिलाओं को इस दौरान तनाव-मुक्त रहना चाहिए।
  • पौष्टिक आहार खाएं - सर्दी जुकाम आदि के संक्रमण से बचने के लिए महिलाओं को गर्भावस्था में पौष्टिक आहार खाना चाहिए। इससे कैल्शियम, प्रोटीन, मैग्नीशियम और पोटैशियम आदि की भरपूर मात्रा होने पर रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और जुकाम, खांसी और सर्दी से बचा जा सकता है।
  • खूब पानी पीएं - सर्दी खांसी और जुकाम से बचने के लिए गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था की शुरूआत से ही दिन मेंं 8 से 10 गिलास पानी पीने की आदत डालनी चाहिए। पानी त्वचा को नम करने के साथ ही शरीर में मौजूद सभी हानिकारक पदार्थों को बाहर निकालता है।
  • व्यायाम करें - सर्दी खांसी से बचने के लिए गर्भवती महिलाओं को प्रतिदिन व्यायाम करना चाहिए। गर्भावस्था में जो महिलाएं रोजाना व्यायाम करती हैं, उन्हें सर्दी खांसी और जुकाम होने की संभावना कम होती हैंं। साथ ही उनके बच्चे का जन्म नॉर्मल डिलीवरी से होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • भरपूर मात्रा में आराम करें - गर्भावस्था में महिलाओं को पर्याप्त मात्रा मेंं आराम करना चाहिए, इसके लिए उन्हेंं रोजाना 8 से 9 घंटे की नींद लेनी चाहिए। गर्भवती महिलाओं को लगातार काम नहीं करना चाहिए, क्योंकि थके हुए शरीर में संक्रमण जल्दी प्रवेश करता है।
  • बीमार लोगों से दूर रहें - सर्दी जुकाम और खांसी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक जल्दी फैलती है, इसलिए गर्भवती महिलाओं को बीमार व्यक्तियों से दूर रहना चाहिए।
  • साफ सफाई का ध्यान रखें - प्रेगनेंसी में गर्भवती महिलाओं को अपने शरीर और आसपास की सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि गंदगी होने से सर्दी जुकाम और खांसी होने की संभावना ज्यादा हो सकती है।

6. क्या गर्भावस्था में सर्दी जुकाम और खांसी से बेबी को नुकसान होता है? (Kya pregnancy me sardi jukham aur khasi se baby ko nuksan hota hai)

प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी (pregnancy me sardi jukham aur khasi) की समस्या काफी सामान्य है, लेकिन इससे पीड़ित होने पर गर्भवती महिलाओं के मन में पहला सवाल यही आता है कि उनके बेबी को कुछ नुकसान तो नहीं होगा।

यूं तो प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी (pregnancy me cold cough) होने से शिशु को कोई नुकसान नहीं होता है, लेकिन अगर गर्भवती महिलाएं बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेती है, तो यह उनके शिशु के लिए हानिकारक हो सकता है, इसलिए डॉक्टर से पूछ कर ही लें।

प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी से गर्भवती महिलाओं को परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि वह ऊपर बताए गये उपायों को आजमा कर इससे छुटकारा पा सकती हैं, लेकिन अगर समस्या ज्यादा हो तो डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें।

इस ब्लॉग के विषय - 1.प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी क्योंं होती है? (Pregnancy me sardi jukham aur khasi kyun hoti hai), 2.गर्भावस्था में सर्दी जुकाम और खांसी के लक्षण क्या हैं? (Pregnancy me sardi jukham aur khasi ke lakshan kya hai), 3.प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी होने पर डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए ? (Pregnancy me sardi jukham aur khasi hone par doctor ke pas kab jana chahiye), 4.प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी को कम करने के घरेलू उपाय क्या है? (Pregnancy me sardi jukham aur khasi ko kam karne ke gharelu upay kya hai), 5.प्रेगनेंसी में सर्दी जुकाम और खांसी से कैसे बचें? (Pregnancy me sardi jukham aur khasi se kaise bache), 6.क्या गर्भावस्था में सर्दी जुकाम और खांसी से बेबी को नुकसान होता है? (Kya pregnancy me sardi jukham aur khasi se baby ko nuksan hota hai),
नए ब्लॉग पढ़ें
Healofy Proud Daughter