प्रेगनेंसी में सपने देखना : ज़रूरी बातें (Pregnancy me sapne dekhna : jaruri baaten)

प्रेगनेंसी में सपने देखना : ज़रूरी बातें (Pregnancy me sapne dekhna : jaruri baaten)

 प्रेगनेंसी में गर्भवती महिलाएं भावनात्मक रूप से काफी कमज़ोर हो जाती हैं, जिसकी वजह से उन्हें किसी मजबूत सहारे की ज़रूरत होती है। भावनात्मक रूप से कमज़ोर होने की वजह से गर्भवती महिलाओं को कई तरह की चिंताएं घेर लेती हैं और इसकी वजह से उन्हें अजीबोगरीब सपने आते हैं।

कई गर्भवती महिलाएं प्रेगनेंसी में सपने (pregnancy me sapne) आने की वजह से परेशान हो जाती हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि अब उनके साथ कुछ कुछ बुरा होने वाला है। गर्भवती महिलाओं के इन्ही तमाम सवालों के जवाब हम इस ब्लॉग में देने की कोशिश कर रहे हैं।

  1. प्रेगनेंसी में सपने क्यों आते हैं? (Pregnancy me sapne kyun aate hai)
  2. क्या प्रेगनेंसी में सपने आना सामान्य है? (Kya pregnancy me sapne aana normal hai)
  3. प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में कैसे सपने आते हैं? (Pregnancy ki pehli timahi me kaise sapne aate hai)
    1. प्रेगनेंसी में सपने: बढ़ते शिशु को देखना (pregnancy me sapne: badhte shishu ko dekhna)
    2. प्रेगनेंसी में सपने: ऊंची इमारतें और गाड़ी चलाना देखना (pregnancy me sapne: building and driving dekhna) 
    3. प्रेगनेंसी में सपने: पानी देखना (pregnancy me sapne: pani dekhna)
  4. प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही में कैसे सपने आते हैं? (Pregnancy ki dusri timahi me kaise sapne aate hai)
    1. प्रेगनेंसी में सपने: जानवर देखना (pregnancy me sapne: janwar dekhna)
    2. प्रेगनेंसी में सपने: सेक्स से जुड़ी चीज़े देखना (pregnancy me sapne: sex se judi chize dekhna)
    3. प्रेगनेंसी में सपने: पति का अफेयर देखना (pregnancy me sapne: pati ka affairs dekhna)
  5. प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में कैसे सपने आते हैं? (Pregnancy ki tisri timahi me kaise sapne aate hai)
    1. प्रेगनेंसी में सपने: खुद को दर्द में देखना (pregnancy me sapne: khud ko dard me dekhna)
    2. प्रेगनेंसी में सपने: बेबी का नामकरण देखना (pregnancy me sapne: baby ka namkaran dekhna)
    3. प्रेगनेंसी में सपने: यात्रा देखना (pregnancy me sapne: yatra dekhna)
  6. प्रेगनेंसी में सपनों से छुटकारा पाने के लिए क्या करना चाहिए?(Pregnancy me sapno se chhutkara pane ke liye kya karna chahiye)

1. प्रेगनेंसी में सपने क्यों आते हैं? (Pregnancy me sapne kyun aate hai)

प्रेगनेंसी में गर्भवती महिलाओं के शरीर में कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं, जिसकी वजह से उन्हें कई तरह के सपने दिखाई देते हैं। हालांकि, प्रेगनेंसी में सपने (pregnancy me sapne) दिखने की वजह सिर्फ हार्मोनल बदलाव ही नहीं बल्कि कई अन्य कारण भी हो सकते हैं। (1)

  • नींद टूटना- प्रेगनेंसी में रात को बार बार पेशाब जाने से गर्भवती महिलाओं की नींद टूटती है, इसलिए उन्हें सपने आते हैं। इसके अलावा बार बार करवट लेने की वजह से भी गर्भवती महिलाओं को सपने आते हैं।
  • चिंता- प्रेगनेंसी में गर्भवती महिलाओं को कई तरह की चिंताएं होती हैं, जिसकी वजह से उन्हें सपने आते हैं।
  • दिन भर की गतिविधियां- प्रेगनेंसी में गर्भवती महिलाएं दिन भर की गतिविधियों के बारे में बहुत कुछ सोचने लगती हैं, जिसकी वजह से उन्हें रात में सपने आते हैं।

2. क्या प्रेगनेंसी में सपने आना सामान्य है? (Kya pregnancy me sapne aana normal hai)

प्रेगनेंसी में सपने (pregnancy me sapne) आना पूरी तरह से सामान्य है, क्योंकि इस दौरान गर्भवती महिलाओं को अपनी और अपने होने वाले शिशु की काफी चिंता होती है। प्रेगनेंसी में सपने (pregnancy me sapne) लगभग हर गर्भवती महिला को आते हैं। गर्भवती महिलाओं को कभी खुशी तो कभी गम वाले सपने दिखते हैं, जिसकी वजह से वे काफी परेशान रहती हैं। यह पूरी तरह से उनके सपने पर निर्भर करता है। (2)

गर्भवती महिलाओं को सपने देखने के बाद डरना नहीं चाहिए, क्योंकि यह उनके दिन भर के डर का नतीज़ा होता है कि उन्हें रात में डरावने सपने दिखाई देते हैं। उदाहरण के लिए अगर गर्भवती महिलाएं दिन भर यही सोचेंगी कि उनको या उनके बच्चे को कुछ हो तो नहीं जाएगा तो उन्हें इसी तरह के डरावने सपनों का सामना करना पड़ सकता है।

3. प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में कैसे सपने आते हैं? (Pregnancy ki pehli timahi me kaise sapne aate hai)

ज्यादातर गर्भवती महिलाएं प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में नीचे बताए गए सपने देखती हैं- 

  1. प्रेगनेंसी में सपने: बढ़ते शिशु को देखना (pregnancy me sapne: badhte shishu ko dekhna)- जब महिलाएं गर्भवती होने की खबर सुुनती हैं तो उनका पूरा ध्यान इसी पर होता है कि उनका बच्चा कैसा होगा या फिर वो दिखने में कैसा होगा। इस तरह के तमाम सवाल उनके दिमाग में होते हैं, जिसकी वजह से उन्हें सपने में बढ़ता हुआ बच्चा दिखाई देता है। 
  2. प्रेगनेंसी में सपने: ऊंची इमारतें और गाड़ी चलाना देखना (pregnancy me sapne: building and driving dekhna) - प्रेगनेंसी की शुरूआत में गर्भवती महिलाओं की भावनाएं काफी ज्यादा बदल जाती हैं, जिसकी वजह से उन्हें लगता है कि वे कुछ भी कर सकती हैं। यही वजह है कि कई बार गर्भवती महिलाएं सपने में खुद को गाड़ी चलाते हुए देखती हैं। इसके अलावा कई बार गर्भवती महिलाएं सपने में ऊंची ऊंची इमारतें भी देखती हैं। दरअसल, गर्भावस्था के बढ़ने पर गर्भवती महिलाओं को सपने में तेज़ी से बढ़ती हुई चीज़े दिखाई देती हैं।
  3. प्रेगनेंसी में सपने: पानी देखना (pregnancy me sapne: pani dekhna)- गर्भावस्था की शुरूआत में गर्भवती महिलाओं को सपने में समुद्र, तालाब और नदी आदि दिखाई देते हैं। दरअसल, इस दौरान गर्भ में एम्नियॉटिक द्रव बढ़ने लगता है और इसकी वजह से गर्भवती महिला को इस तरह के सपने दिखाई देते हैं। (3)

4. प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही में कैसे सपने आते हैं? (Pregnancy ki dusri timahi me kaise sapne aate hai)

अधिकांश गर्भवती महिलाओं को प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही में अजीबोगरीब सपने आते हैं, जिनमें से कुछ निम्नलिखित हैं- 

  1. प्रेगनेंसी में सपने: जानवर देखना (pregnancy me sapne: janwar dekhna)- आमतौर पर प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही में गर्भवती महिलाओं को सपने में कुत्ते और बिल्ली आदि के बच्चे दिखाई देते हैं। कई बार ये काफी प्यारे होते हैं तो कई बार पागल होते हैं। इतना ही नहीं, कई बार इनका रूप बहुत ही ज्यादा भयानक होता है, जिसकी वजह से गर्भवती महिलाएं काफी डर जाती हैं। दरअसल, इस तरह के सपनों का यह मतलब होता है कि गर्भवती घर में आने वाले नये मेहमान के स्वभाव और स्वास्थ्य को लेकर चिंतित है।
  2. प्रेगनेंसी में सपने: सेक्स से जुड़ी चीज़े देखना (pregnancy me sapne: sex se judi chize dekhna)- प्रेगनेंसी में कई बार गर्भवती महिलाएं कामुकता से भरपूर सपने देखती हैं, जिसकी वजह से उनकी नींद रात को अचानक खुल जाती है। इस तरह के सपनों का यह मतलब है कि प्रेगनेंसी में भी आप पहले की तरह ही आकर्षित और प्यारी हैं।
  3. प्रेगनेंसी में सपने: पति का अफेयर देखना (pregnancy me sapne: pati ka affair dekhna)- कई बार गर्भवती महिलाएं सपने में देखती हैं कि उनके पति का अफेयर किसी और के साथ है या फिर उनके पति की रूचि अब उनमें नहीं रही।

दरअसल, गर्भावस्था में महिलाएं काफी ज्यादा कमज़ोर हो जाती हैं और उन्हें पति की सहानुभूति की ज़रूरत होती है, जिसकी वजह से उन्हें इस तरह के सपने दिखाई देते हैं। इसके अलावा अगर गर्भावस्था में महिला का संबंध अपने पति से ठीक नहीं रहता है तो उसे इस तरह के सपने आना सामान्य है। (4)

5. प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में कैसे सपने आते हैं? (Pregnancy ki tisri timahi me kaise sapne aate hai) प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में गर्भवती महिलाओं को नीचे बताए गए कुछ सपने आ सकते हैं- 

  1. प्रेगनेंसी में सपने: खुद को दर्द में देखना (pregnancy me sapne: khud ko dard me dekhna)- प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में गर्भवती महिलाओं के मन की हलचल तेज़ हो जाती हैं, जिसकी वजह से वे खुद को सपने में दुखी और लाचार देखती हैं। दरअसल, इस दौरान गर्भवती महिलाओं को प्रसव पीड़ा का डर सताने लगता है, जिसकी वजह से उन्हें इस तरह के सपने दिखाई देते हैं।\
  2. प्रेगनेंसी में सपने: बेबी का नामकरण देखना (pregnancy me sapne: baby ka namkaran dekhna)- जैसे जैसे डिलीवरी का समय नज़दीक आता है, वैसे वैसे घर में बेबी को लेकर काफी सारी बातें होने लगती हैं। जी हां, तीसरी तिमाही में इस पर ज्यादा बातचीत होती है कि बेबी का नाम क्या रखना है। यही वजह है कि गर्भवती महिलाएं सपने में बेबी का नामकरण देखती हैं।
  3. प्रेगनेंसी में सपने: यात्रा देखना (pregnancy me sapne: yatra dekhna)- प्रेगनेंसी के आखिरी सप्ताह में ज्यादातर गर्भवती महिलाएं लंबी या छोटी यात्रा करने के बारे में सपना देखती हैं। प्रेगनेंसी में सपने में यात्रा देखने का मतलब यह है कि गर्भवती महिलाओं की भावनाएं उन पर हावी हो रही है। इस दौरान उनके दिमाग में कई तरह के डर होते हैं, जैसे वो अस्पताल से वापस ठीक से आ पाएंगी या नहीं।

इसके अलावा अगर गर्भवती महिलाएं सपने में लंबी यात्रा देखती हैं तो इसका मतलब यह होता है कि वे काफी ज्यादा चितिंत हैं। वहीं अगर गर्भवती महिलाएं सपने में छोटी यात्रा देखती हैं तो इसका मतलब यह होता है कि वे चिंता मुक्त हैं। (5)

6. प्रेगनेंसी में सपनों से छुटकारा पाने के लिए क्या करना चाहिए (Pregnancy me sapno se chhutkara pane ke liye kya karna chahiye)

प्रेगनेंसी में सपने (pregnancy me sapne) आने पर गर्भवती महिलाएं नीचे लिखे गए सुझावों को आज़मा सकती हैं- 

  • सोचना बंद करें- प्रेगनेंसी में सपने (pregnancy me sapne) आने पर गर्भवती महिलाओं को यह सोचना बंद कर देना चाहिए कि यह सिर्फ उन्हें ही आते हैं, क्योंकि यह प्रक्रिया बेहद आम है। (6)
  • बातचीत करें- अगर गर्भवती महिलाओं को सपने काफी ज्यादा परेशान कर रहे हैं तो उन्हें अपने पति, परिजनों या फिर डॉक्टर से बातचीत करनी चाहिए। (7)
  • व्यायाम करें- गर्भावस्था की शुरूआत से ही गर्भवती महिलाओं को व्यायाम करने की आदत डालनी चाहिए, क्योंकि इससे उनका मन और दिमाग शांत रहता है।
  • संतुलित भोजन करें- प्रेगनेंसी में गर्भवती महिलाओं को संतुलित भोजन करना चाहिए, क्योंकि इससे उनका मन और स्वास्थ्य पूरी तरह से ठीक रहता है।
  • पसंदीदा काम करें- प्रेगनेंसी में चिंता मुक्त रहने के लिए गर्भवती महिलाओं को थोड़ा समय खुद के लिए भी निकालना चाहिए। इस दौरान उन्हें अपनी पसंद की चीज़ें करनी चाहिए, जिनसे उन्हें खुशी मिलती हो।

प्रेगनेंसी में सपने (pregnancy me sapne) आने की वजह से गर्भवती महिलाओं को घबराना नहीं चाहिए, क्योंकि इससे उन्हें या उनके शिशु को कोई नुकसान नहीं होता है। अगर गर्भवती महिलाओं को सपनों से ज्यादा परेशानी हो रही है तो वो ऊपर बताए गए उपायों को आज़मा सकती हैं। इसके अलावा गर्भवती महिलाएं इस बारे में काउंसलर या मनोचिकित्सक की सलाह भी ले सकती हैं।

  1. Causes of pregnancy dreams by americanpregnancy
  2. Is it normal to have dreams during pregnancy by parents
  3. Dreams during first trimester by babycentre.co.uk
  4. Dreams during second trimester by babycentre.co.uk
  5. Dreams during second trimester by webmd
  6. What you can do about pregnancy dreams by whattoexpect
  7. What you can do about pregnancy dreams by americanpregnancy

 

नए ब्लॉग पढ़ें