प्रेगनेंसी में वजन कितना बढ़ना चाहिए? (Pregnancy me vajan kitna badhna chahiye)

प्रेगनेंसी में वजन कितना बढ़ना चाहिए? (Pregnancy me vajan kitna badhna chahiye)

प्रेगनेंसी में शिशु का विकास होने की वजह से गर्भवती का वजन बढ़ना सामान्य है, लेकिन गर्भावस्था में सामान्य से कम या ज्यादा वजन बढ़ना हानिकारक हो सकता है। प्रेगनेंसी में वजन (pregnancy me vajan) कितना बढ़ना चाहिए या फिर कितना वजन बढ़ना सामान्य है, यह सभी गर्भवती महिलाओं को ज़रूर जानना चाहिए। हम आपको इस ब्लॉग में प्रेगनेंसी में वजन (pregnancy me vajan) से जुड़ी तमाम जानकारी देने जा रहे हैं।

प्रेगनेंसी में कितना वजन बढ़ना चाहिए?

(Pregnancy me kitna weight badhna chahiye)

pregnancy me weight badhna

प्रेगनेंसी में गर्भवती का कितना वजन बढ़ना चाहिए, यह पूरी तरह से उसके बॉडी मॉस इंडेक्स (body mass index, BMI in hindi) पर निर्भर करता है। बॉडी मॉस इंडेक्स यानि बीएमआई में गर्भवती के कद और उसके वजन की गणना की जाती है। इसके लिए वजन को (लंबाई×लंबाई) से भाग दिया जाता है। उदाहरण के लिए -

  • अगर आपकी लंबाई 1.5 मीटर है, तो 1.5 से 1.5 का गुणा करने पर (2.25) सेमी आया।
  • अगर आपका वजन 45 किलो है, तो 45 को 2.25 से भाग देने पर 20 बीएमआई आया।
  • आपका बीएमआई 20 है।

बीएमआई मापदंड (BMI criteria in hindi)

18.5 से कम का बीएमआई - कम वजन 18.5 से 24 तक का बीएमआई - सामान्य वजन 25 to 29.9 तक का बीएमआई - अधिक वजन 30 से अधिक का बीएमआई - मोटापा

बीएमआई मापदंड (BMI criteria in hindi) के अनुसार गर्भवती का वजन कितना बढ़ना चाहिए?

वजन वजन में आदर्श बढ़ोत्तरी (kg) पहली तिमाही के बाद प्रति हफ्ते वजन बढ़ोत्तरी (kg)
कम वजन 12.5 से 18 0.5
सामान्य वजन 11.5 से 16 0.44
अधिक वजन 7 से 11.5 0.3
मोटापा 5 से 9 0.2

गर्भवती महिलाओं का वजन बीएमआई के हिसाब से ही बढ़ता है। तो चलिए अब जानते हैं कि आखिर वजन कहां कहां बढ़ता है और कितना बढ़ता है -

  • टोटल - 11 से 15 किलो
  • जन्म के समय शिशु का वजन - 2 से 3.6 किलो
  • प्लेसेंटा - 0.90 से 1.36 किलो
  • एम्नोयोटिक द्रव्य (amniotic fluid in hindi) - 0.90 से 1.36 किलो
  • गर्भाशय - 0.90 से 2.26 किलो
  • स्तन - 0.90 से 1.36 किलो
  • बढ़े हुए रक्त की मात्रा - 1.81 किलो
  • वसा का स्तर - 2.2 से 5.9 किलो

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला का वजन औसतन 11 से 15 किलो बढ़ता है और यह पूरी तरह से उनके बीएमआईगर्भावस्था पर निर्भर करता है।

क्या प्रेगनेंसी में ज्यादा वजन बढ़ना हानिकारक है?

(Kya pregnancy me jyada vajan badhna hanikarak hai)

weight gain in pregnancy

अगर गर्भावस्था में आपका वजन ज्यादा बढ़ रहा है, तो यह आपके और आपके शिशु के लिए हानिकारक हो सकता है। प्रगेनेंसी में वजन (pregnancy me vajan) बढ़ने की वजह से आपको निम्नलिखित जटिलताओं का सामना करना पड़ सकता है -

  • शुगर (diabetes in hindi)
  • रक्त के थक्के
  • सिजेरियन डिलीवरी (cesarean delivery in hindi)
  • गर्भपात (miscarriage in hindi)
  • उच्च रक्तचाप (high blood pressure in hindi)
  • कमर दर्द
  • अधिक प्रसव पीड़ा

प्रेगनेंसी में वजन (pregnancy me vajan) बढ़ना सामान्य होता है, लेकिन अगर आपका वजन ज्यादा बढ़ रहा है तो इसे कम करने के लिए डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें, वरना ऊपर लिखी गई जटिलताओं का सामना करना पड़ सकता है।

प्रेगनेंसी में वजन नियंत्रित करने के उपाय क्या है?

(Pregnancy me vajan control karne ke upay kya hai)

weight control in pregnancy

प्रेगनेंसी में वजन (pregnancy me vajan) को नियंत्रित करने के लिए गर्भवती महिलाएं नीचे लिखे गये उपायों को डॉक्टर की सलाह से अपना सकती हैं -

प्रेगनेंसी में वजन नियंत्रित करने के उपाय: थोड़ा थोडा़ खाएं

प्रेगनेंसी में महिलाओं को एक साथ अधिक भोजन करने से बचना चाहिए, बल्कि दिन में 6 बार थोड़ा थोड़ा खाना चाहिए।

प्रेगनेंसी में वजन नियंत्रित करने के उपाय: तरल पदार्थ लें

प्रेगनेंसी में वजन (pregnancy me vajan) पर काबू पाने के लिए गर्भवती महिलाओं को खूब तरल पदार्थ लेने चाहिए, इसके लिए उन्हें दिन में 8 से 10 गिलास पानी और तीन से चार गिलास ताज़े फलों का जूस पीना चाहिए।

प्रेगनेंसी में वजन नियंत्रित करने के उपाय: भरपूर प्रोटीन लें

प्रेगनेंसी में महिलाओं को भरपूर मात्रा में प्रोटीन लेना चाहिए, इसके लिए उन्हें अपनी डाइट में मछली, अंडा, दूध, फल आदि शामिल करना चाहिए।

प्रेगनेंसी में वजन नियंत्रित करने के उपाय: व्यायाम करें

प्रेगनेंसी की शुरूआत से ही गर्भवती महिलाओं को हल्का फुल्का व्यायाम करने की आदत डालनी चाहिए, इससे वजन नियंत्रित रहता है।

प्रेगनेंसी में वजन नियंत्रित करने के उपाय: भूख बढ़ाने की कोशिश न करें

आमतौर पर गर्भावस्था में कुछ महिलाएं अधिक खाने के बाद भी अपनी भूख बढ़ाने की कोशिश करती हैं, लेकिन अगर आपका वजन बहुत ज्यादा बढ़ गया है, तो आपको अपनी भूख को बढ़ाने की ज़रूरत नहीं है।

प्रेगनेंसी में वजन नियंत्रित करने के उपाय: फास्ट फूड न खाएं

गर्भावस्था में महिलाओं को फास्ट फूड (जैसे- बर्गर, पिज्जा, सेंडविच आदि) को पूरी तरह से नज़रअंदाज़ करना चाहिए, क्योंकि इसको खाने से उनके बच्चे में बिना किसी लाभ के कैलोरी बढ़ती है और यह हानिकारक हो सकता है।

प्रेगनेंसी में वजन नियंत्रित करने के उपाय: डाइट न करें

कई गर्भवती महिलाएं वजन को कम करने के लिए डाइटिंग करने लगती हैं, जोकि उनके स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है, ऐसे में उन्हें डाइट नहीं करनी चाहिए।

क्या प्रेगनेंसी में वजन कम होना हानिकारक है?

(Kya pregnancy me vajan kam hona hanikarak hai)

weight loss during pregnancy

अगर गर्भधारण के बाद भी आपका वजन बॉडी मॉस इंडेक्स के अनुसार 18.5 से कम है, तो आपको सामान्य गर्भवती महिला की तुलना में वजन बढ़ाने की सलाह दी जाती है। दरअसल, प्रेगनेंसी में वजन कम होने की वजह से आपको और आपके शिशु को खतरा हो सकता है, इसलिए आपको वजन बढ़ाने के लिए कहा जाता है।

प्रेगनेंसी में वजन (pregnancy me vajan) कम होने की वजह से गर्भवती को नीचे लिखी गई जटिलताओं का सामना करना पड़ सकता है -

  • समय से पूर्व डिलीवरी हो सकती है।
  • प्रसव पीड़ा में जटिलताएं हो सकती हैं।
  • गर्भपात (miscarriage in hindi) हो सकता है।
  • शिशु का वजन कम हो सकता है।
  • शिशु की अचानक मृत्यु हो सकती है।

प्रेगनेंसी में वजन बढ़ाने के टिप्स क्या हैं?

(Pregnancy me vajan badhane ke tips kya hai)

प्रेगनेंसी में वजन कम होने की वजह से गर्भवती महिलाओं को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है, इसलिए वें नीचें लिखे गये उपायों को आजमा कर इससे राहत पा सकती हैं -

प्रेगनेंसी में वजन बढ़ाने के टिप्स: भूखे न रहें

गर्भावस्था में अगर महिलाएं कम वजन से परेशान हैं, तो उन्हें दिन भर कुछ न कुछ खाते रहना चाहिए, इससे उनका वजन बढ़ सकता है।

प्रेगनेंसी में वजन बढ़ाने के टिप्स: दूध पीएं

गर्भावस्था में गर्भवती महिलाओं को नियमित रूप से दूध पीना चाहिए, क्योंकि इसमें मौजूद गुण वजन बढ़ाने में सहायक होते है।

प्रेगनेंसी में वजन बढ़ाने के टिप्स: हरी सब्जियां खाएं

गर्भावस्था में वजन बढ़ाने के लिए गर्भवती महिलाओं को पालक, ब्रोकली, मेथी आदि हरी सब्जियां खानी चाहिए।

प्रेगनेंसी में वजन बढ़ाने के टिप्स: खूब जूस पीएं

गर्भावस्था में वजन बढ़ाने के लिए महिलाओं को ताज़ें फलों का जूस पीने चाहिए, इससे उनका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा।

प्रेगनेंसी में वजन बढ़ाने के टिप्स: फल खाएं

प्रेगनेंसी में वजन बढ़ाने के लिए गर्भवती को अपनी डाइट में सेब, संतरा, केला, अंगूर आदि को शामिल करना चाहिए।

प्रेगनेंसी में वजन बढ़ाने के टिप्स: नमक कम खाएं

प्रेगनेंसी में गर्भवती महिलाओं को कम नमक खाना चाहिए, क्योंकि इसको ज्यादा खाने से वजन कम होता है।

प्रेगनेंसी में वजन बढ़ाने के टिप्स: पर्याप्त आराम करें

प्रेगनेंसी में अगर आप ज्यादा काम करती हैं, तो आपको थोड़ा आराम करने की ज़रूरत है।

ध्यान दें - वजन बढ़ाते समय आप इस ग़लतफ़हमी में न रहें कि आपको दिन भर सोए या बैठे रहना है, बल्कि इस दौरान आपको थोड़ा बहुत व्यायाम करने की भी ज़रूरत होती है, इससे शिशु स्वस्थ पैदा होता है।

गर्भवती महिलाओं को प्रेगनेंसी में वजन (pregnancy me vajan) बीएमआई के मापदंड के अनुसार ही रखना चाहिए। अगर बीएमआई के मुताबिक, वजन कम या ज्यादा हो तो गर्भवती महिलाएं ऊपर बताए गये उपायों को आज़मा कर खुद को किसी भी समस्या से बचा सकती हैं। इसके अलावा अगर आपके वजन में सामान्य से ज्यादा अंतर है, तो डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें।

इस ब्लॉग के विषय - प्रेगनेंसी में कितना वजन बढ़ना चाहिए? (Pregnancy me kitna weight badhna chahiye),क्या प्रेगनेंसी में ज्यादा वजन बढ़ना हानिकारक है?(Kya pregnancy me jyada vajan badhna hanikarak hai),प्रेगनेंसी में वजन नियंत्रित करने के उपाय क्या है? (Pregnancy me vajan control karne ke upay kya hai),क्या प्रेगनेंसी में वजन कम होना हानिकारक है? (Kya pregnancy me vajan kam hona hanikarak hai),प्रेगनेंसी में वजन बढ़ाने के टिप्स क्या हैं? (Pregnancy me vajan badhane ke tips kya hai)
नए ब्लॉग पढ़ें